DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Monday, February 29, 2016

मुरादाबाद : गरीब बच्चों का अग्रेजी स्कूलो में निःशुल्क प्रवेश का है अधिकार-बीएसए

बेसिक शिक्षा की गुणवत्ता को लेकर बीएसए ने बताये कदम शिक्षा के अधिकार से मांटेसरी और कांवेंट स्कूलों में होगा दाखिला बेसिक शिक्षा की खराब छवि को सुधारने के लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। चाहे शिक्षा का अधिकार कानून के तहत बालकों का प्रवेश हो या फिर बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में शिक्षा की गुणवत्ता को ठीक करने की बात। शिक्षा प्रणाली को सुधारने के लिए हेल्पलाइन खोले जाने से लेकर शिक्षकों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। शिक्षा के अधिकार से प्रवेश की प्रक्रिया, बेसिक शिक्षा में होने वाले सुधारों को लेकर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी मुन्ने अली से हमारे संवाददाता तेजप्रकाश सैनी ने विस्तृत चर्चा की। उन्होंने बेसिक शिक्षा से जुड़े सवालों के जवाब दिए।

महराजगंज : टीईटी अभ्यर्थियों ने 24 फरवरी के सुप्रीम कोर्ट के अन्तरिम आदेश को ऐतिहासिक बताया

महराजगंज : टीईटी उत्तीर्ण संघर्ष मोर्चा जनपद महराजगंज की जिला स्तरीय मीटिंग जिला परिषद मार्केट गांधी पार्क में आयोजित की गई। जिसमें 24 फरवरी के सुप्रीम कोर्ट के अन्तरिम आदेश को ऐतिहासिक बताया गया। इस आदेश में सभी याचियों को लाभ देते हुए आठ सप्ताह के अन्दर नियुक्ति का आदेश दिया गया है।

       खबर साभार : 'दैनिक जागरण'

इलाहाबाद : केन्द्र सरकार के अनुभाग अधिकारी/अनु०सचिव स्तर के अधिकारियो के जनपद भ्रमण व विद्यालयो के निरीक्षण को दृष्टिगत रखते हुए bsa ने समस्त beo को जारी किया आदेश

केन्द्र सरकार के अनुभाग अधिकारी/अनु०सचिव स्तर के अधिकारियो के जनपद भ्रमण व विद्यालयो के निरीक्षण को दृष्टिगत रखते हुए bsa ने समस्त beo को जारी किया आदेश

देवरिया : बैठक कर टीईटी अभ्यर्थियों ने जताई उम्मीद , कहा- न्यायालय के निर्णय से खुलेगा नियुक्ति का मार्ग


जागरण संवाददाता, देवरिया : उत्तर प्रदेश टीईटी संघर्ष मोर्चा की बैठक रविवार को टाउनहाल प्रांगण में हुई, जिसमें उच्चतम न्यायालय द्वारा याचियों के हित में लिए गए निर्णय पर हर्ष व्यक्त किया गया। पदाधिकारियों ने कहा कि न्यायालय के इस निर्णय से वर्ष-2011 के टीईटी उत्तीर्ण अभ्यर्थी की नियुक्ति का मार्ग प्रशस्त होगा।दीनानाथ जायसवाल ने कहा कि 2011 के टीईटी उत्तीर्ण समस्त अभ्यर्थी जो अब तक याची नहीं बने हैं, वे सभी यथाशीघ्र याची बन जाएं। जो याची बन गए हैं, वह मोर्चा से संपर्क कर आगे की प्रक्रिया की जानकारी ले लें। उन्होंने कहा कि मोर्चा के सभी सदस्य धैर्य बनाए रखें, क्योंकि आने वाले दिनों में समस्त याचियों की नियुक्ति होनी तय है। विधिक सलाहकार रूपेश मिश्र ने कहा कि न्यायपालिका द्वारा याचियों की नियुक्ति का आदेश जारी करने से वर्ष-2011 के टीईटी उत्तीर्ण समस्त अभ्यर्थियों की नियुक्ति का मार्ग प्रशस्त हो गया है। उन्होंने न्यायपालिका के इस निर्णय की भूरि-भूरि प्रशंसा की।मोर्चा पदाधिकारी गौरीशंकर पाठक ने कहा कि 24 फरवरी कि शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत प्रदेश में चार लाख शिक्षकों की नियुक्ति होनी है। जयप्रकाश सिंह, चंद्रप्रकाश कुशवाहा, फतेह बहादुर, द्विजेंद्र मिश्र, सुनील जायसवाल, लव-कुश मद्धेशिया, विपिन सिंह, सुधाकर मिश्र, सत्यम गुप्ता, मनोज राय, अनिल शर्मा, संतोष चौबे तथा योगेश आदि मौजूद रहे।

देवरिया : समायोजित शिक्षकों को न्याय दिलाएगा संगठन , दूरस्थ बीटीसी शिक्षक संघ की बैठक में आयकर फार्म भरने पर भी हुई चर्चा

जागरण संवाददाता, देवरिया : उत्तर प्रदेश दूरस्थ बीटीसी शिक्षक संघ समायोजित शिक्षकों का मान-सम्मान कायम रखेगा। 29 फरवरी तक सभी शिक्षक आयकर फार्म भर दें, ताकि समय से वेतन भुगतान हो सके।1यह बातें संघ के प्रदेश मंत्री विद्यानिवास यादव ने कही। वह रविवार को बीआरसी स्थित कैंप कार्यालय पर बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय में चल रहे मुकदमें के लिए सभी का सहयोग अपेक्षित है, जिससे कि संघ सभी को न्याय दिला सके।जिला मंत्री विशुनदेव प्रसाद ने कहा कि तीसरे बैच में प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके जनपद के लगभग चार सौ शिक्षामित्रों का परीक्षाफल घोषित कराते हुए समायोजन कराने के लिए संगठन कटिबद्ध है।1मंडल अध्यक्ष कौशल किशोर यादव ने कहा कि जल्द ही मंडल के जिलों की समीक्षा कर निष्क्रिय पदाधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा तथा जुझारू व कर्मठ सदस्यों को नई जिम्मेदारी देने के लिए संगठन विचार कर रहा है। 1उन्होंने कहा कि जनपद की समीक्षा बैठक 6 मार्च को शिविर कार्यालय पर होगी, जिसमें जनपद के सभी जिला व ब्लाक के पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे। बैठक में जय प्रकाश, सत्येंद्र, प्रशांत, सत्यप्रकाश मिश्र, उमेश यादव, हरेराम यादव, राजेश, ईशु अली अंसारी तथा सत्रजीत शर्मा आदि मौजूद रहे।

बिजनौर : नए-पुराने ग्राम प्रधानों के फेर में फंसा मिड-डे मील

जागरण संवाददाता, बिजनौर : नए-पुराने ग्राम प्रधानों के आपसी मतभेद में जिले के अनेक परिषदीय स्कूलों में छात्र-छात्रओं को मिड-डे-मील वितरण नहीं हो रहा है। कई स्कूलों में पुराने ग्राम प्रधानों ने नए को मिड-डे-मील बनाने के संसाधन उपलब्ध नहीं कराएं हैं, तो किन्ही स्कूलों को सिलेंडर नहीं मिले है। जहां रसोइया मिट्टी के चूल्हों पर खाना बनाकर छात्र-छात्रओं को उपलब्ध करा रही है। इसका खुलासा जिलाधिकारी के निर्देश पर हुए प्रशासनिक अधिकारियों व बीएसए के निरीक्षण में परिषदीय स्कूलों में सामने आया है। जांच की रिपोर्ट के बाद शिक्षा अधिकारियों ने नियमित मिड-डे-मील बनाकर छात्रों को वितरण करने का नोटिस जारी किया है। 1त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव होने के बाद कई ग्राम पंचायतों में नई सरकार बनी है। चुनाव में नए-पुराने ग्राम प्रधानों में मतभेद भी पैदा हो गए है। राजनीति इस रंग का असर जिले के परिषदीय स्कूलों में दिखाई दे रहा है। इसी सप्ताह जिलाधिकारी वीके आनंद ने स्वयं और कई टीमें बनाकर परिषदीय स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता आदि का निरीक्षण कराया था। 1बीएसए समेत टीम में शामिल कई अधिकारियों की जांच रिपोर्ट में साफ हुआ है कि स्कूलों में साफ-सफाई कम मिली। यहीं नहीं स्कूलों में शिक्षा का स्तर भी संतोषजनक नहीं पाया गया था। जिले चार-पांच स्कूलों में स्कूली छात्र-छात्रओं को मिड-डे-मील भी नियमित नहीं मिलने की रिपोर्ट आई थी। शिक्षा विभाग के जिला समन्वयक रासु कुमार ने बताया कि मिड-डे-मील नहीं वितरण करने वाले स्कूलों के मुख्य अध्यापक व ग्राम प्रधान को विभाग से नोटिस जारी किया है, जिसमें हर हाल में स्कूलों में नियमित मिड-डे-मील वितरण कराने तथा जो पुराने प्रधान समान नहीं दे रहे उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

सिद्धार्थनगर : बीएसए पर अभद्र व्यवहार, अकारण कार्रवाई समेत अन्य आरोपों को लगाते हुए शिक्षकों ने किया विधायक का घेराव

सिद्धार्थनगर : बीएसए पर अभद्र व्यवहार, अकारण कार्रवाई समेत अन्य आरोपों को लगाते हुए आक्रोशित शिक्षकों ने सदर विधायक का घेराव किया। उनके आश्वासन के बाद शिक्षकों का गुस्सा शांत हुआ।शिक्षक नेता अष्टभुजा प्रसाद पांडेय व सतीश चन्द्र त्रिपाठी की अगुवाई में प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों ने रविवार को पकड़ी स्थित सदर विधायक विजय पासवान के आवास पर पहुंचे, जहां सभी ने बीएसए की कार्यप्रणाली से अवगत कराया। विधायक ने बताया कि मुख्यमंत्री से हुई शिकायत पर उच्च स्तरीय जांच कमेटी भेजने का आश्वासन दिया गया है। कलीमुल्लाह, विनयकांत, निसार अहमद, विद्या भूषण, श्याम बिहारी चौधरी, विजय कुमार गुप्ता, अब्दुल अजीज, राधारमण पाठक, कृष्णचंद, मदन चन्द्र आदि की मौजूदगी रही। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष राधेरमण त्रिपाठी ने कहा कि शिक्षकों की समस्याओं के प्रति संगठन सदैव संवदेनशील रहता है। संगठन समायोजित व नवनियुक्त शिक्षकों के वेतन भुगतान में लगा है, जिसमें विभागीय अधिकारियों का पूरा सहयोग है। रही बात कुछ शिक्षकों के विधायक से मिलने की तो वह अपनी व्यक्तिगत समस्या को लेकर मिले होंगे। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अजय कुमार सिंह ने कहा कि शिक्षकों की समस्याओं के संज्ञान में आते ही फौरी तौर पर निस्तारण किया जाता है। सभी कार्य विभागीय नियमानुसार ही होता है। नियमों का पालन कराने व शिक्षकों की मौजूदगी समय से स्कूलों में सुनिश्चित करना उनका दायित्व है वह अपने दायित्व का निर्वहन करते रहेंगे।

रामपुर : अम्बेडकर पार्क में शिक्षामित्रों की बैठक, जिलाध्यक्ष ने कहा निष्क्रिय होकर घर न बैठें समायोजित शिक्षक

जागरण संवाददाता, रामपुर : आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष सैय्यद जावेद मियां ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट में मजबूत पैरवी की जा रही है। जाने माने वकीलों का पैनल खड़ा किया गया है। किन्तु, वेतन और एरियर मिलने के बाद से कुछ सदस्य निष्क्रिय हो गए हैं। यह ठीक नहीं है। सभी समायोजित शिक्षक संगठन को मजबूत बनाने पर ध्यान दें। वह अंबेडकर पार्क में हुई बैठक में बोल रहे थे।उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट के फैसले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में मुकदमा चल रहा है, उसमें संगठन ने सरकारी वकीलों के साथ देश के जाने माने वकीलों का पैनल खड़ा किया है। सर्विस मैटर के सबसे टॉप वकील पीएन मिश्र, पीपी रॉव, पीएन मिश्र, हरीश साल्वे, के एल जनजानी, पल्लव सिसोदिया समेत दर्जनों अधिवक्ताओं का पैनल समायोजित शिक्षकों की बात न्यायालय के समक्ष रख रहा है। पैरवी में किसी भी प्रकार की कमी नहीं बरती जा रही है, लेकिन कुछ समायोजित शिक्षक वेतन और एरियर पाकर नि¨श्चत होकर घर बैठ गए हैं। संगठन में उनकी सक्रियता कम हो गई है। सभी सदस्यों को संगठन की मजबूती पर ध्यान देने की आवश्यकता है। सुप्रीम कोर्ट में हमारी जीत तय है। कहा कि दूसरे बैच के समायोजन, तीसरे बैच के चतुर्थ सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम को लेकर प्रदेश अध्यक्ष से वार्ता की जाएगी और दो मार्च तक परिणाम जारी कराने की कोशिश होगी।इस अवसर पर महामंत्री अर¨वद गोस्वामी, हरीश कुमार कुर्मी, राकेश जोशी, दाऊद हसन, रहमत अली, अर¨वद कश्यप, रामप्रताप सिंह, उमेश यादव, तौकीर अहमद, जाने आलम, करतार सिंह, कविता रानी, मेहरबान अली, गुड्डू यादव, निसार अहमद, युसूफ अली, दिनेश कुमार, भोलानाथ आदि उपस्थित रहे।अम्बेडकर पार्क में शिक्षामित्रों की बैठक में बोलते सैयद जावेद मियां।जागरण

बलरामपुर : बैठक कर बनाई रणनीति चार मार्च को लखनऊ जाएंगे शिक्षक, अंतरजनपदीय स्थानांतरण की मांग को लेकर लखनऊ में प्रदर्शन

संवादसूत्र, बलरामपुर : संघ द्वारा लगातार शिक्षकों का अंतरजनपदीय स्थानांतरण और पुरानी पेंशन नीति को बहाल किए जाने की मांग की जा रही है। इन्हीं मांगों के समर्थन में संघ द्वारा चार मार्च को लखनऊ में धरना प्रदर्शन किया जाएगा। यह बातें प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षित स्नातक एसोसिएशन के उपाध्यक्ष राघवेंद्र उपाध्याय ने कही। कहा कि इस धरने को सफल बनाने के लिए जिला से बड़ी संख्या में शिक्षक इसमें शामिल हो रहे हैं। जिससे सरकार पर अपनी मांगों को पूरा किए जाने का दबाव बनाया जा सके। कहा कि शिक्षक कई वर्षो से अपने घर से दूर अन्य जनपदों में रहकर शिक्षण कार्य कर रहे हैं लेकिन प्रदेश सरकार को इनकी कोई परवाह नहीं है। सरकार द्वारा आश्वासन दिए जाने के बाद भी अबतक अंतरजनपदीय स्थानांतरण के संबंध में कोई नीति निर्धारण नहीं किया गया है। कार्यक्रम का संचालन कर रहे संयोजक सच्चिदानंद ने कहा कि अंतरजनपदीय स्थानांतरण के संबंध में सरकार द्वारा टालमटोल किए जाने से शिक्षकों के रोष बढ़ता ही जा रहा है। जिसका परिणाम सरकार को आने वाले चुनाव में भुगतना पड़ेगा। तुलसीपार्क में आयोजित इस बैठक में अन्य पदाधिकारियों ने भी अपने विचार व्यक्त किए। मौके पर दिनेश यादव, संतोष निषाद, आकाश मल्होत्र, चंद्रशेखर, संदीप विकास, विनोद विजयपाल आदि लोग उपस्थित रहे।

कुशीनगर : आदर्श शिक्षा मित्र वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष जितेंद्र शाही के आवास पर शिक्षामित्रो ने रखी अपनी बात, मांगा हक

जागरण संवाददाता, सिंगहा, कुशीनगर: द्वितीय व तृतीय बैच के शेष शिक्षा मित्रों को शिक्षक पद पर समायोजित करने, महीनो से मानदेय नहीं मिलने की मांग को लेकर रविवार को आदर्श शिक्षा मित्र वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष जितेंद्र शाही के आवास पर पहुंचे महराजगंज, सिद्धार्थनगर व कुशीनगर के शिक्षा मित्रों ने उच्चधिकारियों से संपर्क कर समाधान कराने की मांग की। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष शाही द्वारा दूरभाष पर बेसिक शिक्षा सचिव आशीष गोयल से संपर्क कर शिक्षा मित्रों के लगभग नौ माह से मानदेय नहीं मिलने की बात कही। इस पर उन्होंने तत्काल अपने ह्वाट्स एप पर मैसेज देने को कहा। कहा कि किसी भी अधिकारी द्वारा लापरवाही की गई है तो कार्रवाई की जाएगी। शाही ने कहा कि तृतीय बैच का परीक्षा परिणाम 29 फरवरी से 2 मार्च के बीच आने की संभावना है। इसके बाद समायोजन हो जाएगा। इस दौरान मिंटू मिश्र, दिनेश शर्मा, जितेंद्र यादव, हरेराम भारती, मोहन गुप्ता, बृजेश पाल, विशुन, सहरता राव, मंजू देवी, संध्या वर्मा, ममता तिवारी, सुमन कुशवाहा, मीरा सिंह, मसीबुन नेशा, राधामोहन आदि मौजूद रहे।

सीतापुर : बेसिक शिक्षक महासंघ की बैठक में की मांग पदोन्नति में आरक्षण व्यवस्था बहाल की जाए


जासं, सीतापुर : उत्तर प्रदेशीय अनुसूचित जाति, जनजाति बेसिक शिक्षक महासंघ के संयोजक मंडल की बैठक नेहरू पार्क लोहारबाग में आयोजित की गई। बैठक में 8 व 17 फरवरी को प्रदेश के सभी जनपदीय इकाइयों द्वारा मुख्यमंत्री को संबोधित दस सूत्रीय मांग पत्र जो सौंपा गया था, उस पर विचार-विमर्श किया गया। मांग पत्र द्वारा संघ ने उत्तर प्रदेश में सर्वोच्च न्यायालय के आदेश की गलत व्याख्या कर अनुसूचित जाति व जनजाति शिक्षकों की जा रही पदावनति पर रोक लगाई जाए। प्रदेश के जिन जनपदों में शिक्षकों की गलत ढंग से पदावनति की जा चुकी है, उसे तत्काल निरस्त करते हुए उन शिक्षकों को उनके पूर्व पद पर पदास्थापित किया जाए तथा उनकी ज्येष्ठता ज्यों की त्यों रखी जाए। पदोन्नति में आरक्षण व्यवस्था बहाल करते हुए रोस्टर व्यवस्था लागू किया जाए। एक अप्रैल 2005 व उसके बाद नियुक्त सभी शिक्षकों को पुरानी पेंशन का लाभ दिया जाए सहित अन्य मांगें प्रमुख थी। संयोजक मंडल द्वारा बताया गया कि उपरोक्त मांगों का निस्तारण न किए जाने की स्थिति में उत्तर प्रदेशीय अनुसूचित जाति, जनजाति बेसिक शिक्षक महासंघ के आवाहन पर समस्त जनपदों के शिक्षकों द्वारा दो मार्च को लखनऊ में धरना प्रदर्शन किया जाएगा। विनोद कुमार रावत, जगदीश कुमार, गया प्रसाद प्रभाकर, रामकुमार चौधरी, मदनलाल गौतम, सुनील नागर, सुरेश प्रकाश, चंद्रप्रकाश आदि थे।लोहारबाग पार्क में बैठक करते शिक्षक

गोरखपुर : वित्त एव लेखाधिकारी ने आयकर आगणन रिपोर्ट 10 मार्च तक प्रस्तुत करने को किया निर्देशित

वित्त एव लेखाधिकारी ने आयकर आगणन रिपोर्ट 10 मार्च तक प्रस्तुत करने को किया निर्देशित

रायबरेली : जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने पदोन्नति काउंसलिंग स्थल पर बैठक व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु जारी किया आदेश

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने पदोन्नति काउंसलिंग स्थल पर बैठक व्यवस्था सुनिश्चित करने हेतु जारी किया आदेश

अंबेडकरनगर : टीईटी मेरिट के आधार पर 72 हज़ार 825 मामले में कोर्ट से नौकरी मिलने की जगी उम्मीद

कोर्ट से नौकरी मिलने की जगी उम्मीद

आजमगढ़ : समायोजन को लेकर शिक्षामित्रों ने भरी हुंकार,रिक्शा स्टैंड पर बैठक कर बनाई रणनीति

आजमगढ़ : समायोजन को लेकर संघर्षरत शिक्षामित्रों ने रविवार को जिला मुख्यालय पर बैठक कर संगठन के एकजुटता के प्रति हुंकार भरी। नगर के कलेक्ट्रेट क्षेत्र स्थित रिक्शा स्टैंड चौराहे पर आयोजित बैठक को आदर्श शिक्षा मित्र वेलफेयर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष हरेंद्र कुमार सिंह सहित अन्य वक्ताओं ने संबोधित किया।संगठन के संयुक्त मंत्री हनुमान राय ने कहा कि आगामी चार मार्च को सर्वोच्च न्यायालय में विचाराधीन मुकदमे को मजबूत पैरवी करके समायोजन के वंचित शिक्षामित्रों के भविष्य को बचाने का प्रयास किया जाएगा। मनेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि जनपद में नियुक्त शिक्षामित्र तन-मन-धन से संगठन का सहयोग करें। ताकि सुप्रीम कोर्ट में समायोजन की लड़ाई में विजय मिल सके। जिलाध्यक्ष हरेंद्र सिंह ने कहा कि संगठन की प्रदेश कार्यकारिणी द्वारा सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ताओं को नामित करके पैरवी करने की तैयारी है। ऐसे में हम सभी की एकजुटता ही संगठन को बल प्रदान करेगा। संचालन नागेंद्र सिंह ने किया। इस मौके पर सुभाष सिंह, सब्बीर अहमद, विपिन सिंह, संतोष यादव, सुधाकर सिंह, पूजा, ऊषा, सुनीता, किरन, गुलजार, साहिना, रोशन, मंजूलता, फरहाना, मनीष सिंह, अरुण सिंह, अशोक चंद आदि उपस्थित रहे

बदायूं : आदर्श बनाए जाएंगे बेसिक शिक्षा विभाग के दस विद्यालय स्वच्छ विद्यालय व बाल स्वच्छता मिशन के अंतर्गत चयनित किए जाएंगे आठ परिषदीय व दो बा विद्यालय,सर्व शिक्षा अभियान की परियोजना ने जारी किया फरमान, उपलब्ध कराया बजट

जासं बदायूं : बच्चों का खाने से पहले वॉशवेशन पर हाथ धोना, छात्र-छात्रओं के लिए अलग-अलग शौचालय होना, पेयजल की सुचारू व्यवस्था, मीना मंच व बाल संसद का गठन, स्वच्छता अभियान के कार्यक्रम आदि। सभी कार्य व्यवस्थित ढंग से होना। ऐसे हों जिले के आठ उच्च प्राथमिक विद्यालय व दो कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय। विद्यालय की व्यवस्थाओं में बदलाव करके अन्य विद्यालयों के लिए आदर्श बनाया जाएगा। जिसके लिए सर्व शिक्षा अभियान की ओर से जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को बजट उपलब्ध करा दिया गया है। सत्र के समाप्त होने तक कार्रवाई पूरी कर ली जाएगी और परियोजना को रिपोर्ट भेजी जाएगी।स्वच्छ विद्यालय व बाल स्वच्छता मिशन के अंतर्गत छात्र-छात्रओं की सौ से ज्यादा संख्या वाले जिले के कुल दस विद्यालयों का चयन करने के बाद व्यवस्था में बदलाव किया जाएगा। हाथ धोने के लिए वॉशवेशन लगाया जाएगा, जहां एक बार में दस विद्यालय हाथ धो सकेंगे। छात्र-छात्रओं के लिए अलग-अलग शौचालय बनाए जाएंगे, कांवेंट विद्यालय की तर्ज पर इन शौचालयों में स्वच्छता रहेगी। शौचालय प्रयोग की विधि, हाथ धोने का तरीका व स्वच्छता संबंधी नारों का दीवार लेखन किया जाएगा। रोज स्वच्छता संबंधी गतिविधियां कराई जाएंगी। महीने में एक बार विद्यालय परिसर व आसपास के क्षेत्र में साफ-सफाई कराकर संबंधित सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। योजनाओं का संचालन बेहतरीन ढंग से किया जाएगा। विद्यालयों में नियमित सफाई कर्मचारियों की नियुक्ति की जाएगी। रख-रखाव प्रबंध समिति व अभिभावकों के सहयोग से किया जाएगा। प्रार्थना के समय स्वच्छता को लेकर चर्चा होगी। शिक्षिकाएं छात्रओं को महावारी संबंधी स्वच्छता की जानकारी देंगी। हर विद्यालय में ओवरहेड टैंक पर 12 हजार रुपये, ग्रुप हैंड वा¨शग सिस्टम पर 13 हजार रुपये खर्च होंगे। साबुन, सफाई आदि पर 42 सौ रुपये खर्च किए जाएंगे। योजना के तहत बेसिक शिक्षा विभाग को 4 लाख 97 हजार रुपये का बजट जारी किया गया है। 31 मार्च तक गतिविधियों का संचालन किया जाएगा और बजट का उपभोग प्रमाण पत्र सर्व शिक्षा अभियान की परियोजना को भेजा जाएगा।उत्तम स्वच्छता व्यवहार और योजनाओं के संचालन व रखरखाव में भागीदारी में सर्वश्रेष्ठ उदाहरण प्रस्तुत करने वाले तीन सर्वश्रेष्ठ विद्यालयों को पुरस्कृत किया जाएगा। हर विद्यालय को पुरस्कार स्वरूप दस हजार रुपये की धनराशि दी जाएगी। पुरस्कार के लिए विद्यालय का चयन करने से पहले विद्यालय की व्यवस्थाओं के साथ-साथ छात्र-छात्रओं के व्यवहारिक जीवन को देखा जाएगा।निर्मल विद्यालय योजना में पुरस्कृत होंगे विद्यालय


गोरखपुर : 700 परिषदीय स्कूलो में हेडमास्टर नही,पदोन्नति न होने से शिक्षक परेशान

700 परिषदीय स्कूलो में हेडमास्टर नही,पदोन्नति न होने से शिक्षक परेशान,सहायक अध्यापक को मिल रहा अतिरिक्त प्रभार

जौनपुर : बीएसए के मकान मालिक और ग्राम प्रधान पर शिक्षिकाओं ने लगाए गंभीर आरोप, कमिश्नर को पत्र देकर की कार्यवाही की मांग, संगठन ने दी आंदोलन की चेतावनी

📌 कमिश्नर वाराणसी को दिए शिकायती पत्र में महिला शिक्षकों ने ग्राम प्रधान और बीएसए के मकान मालिक पर लगाये गम्भीर आरोप ।

📌 कार्रवाई न होने पर शिक्षक संघ् ने जिले भर के स्कूलों को बन्द करने की चेतावनी दी ।

📌 कमिश्नर ने AD बेसिक वाराणसी से जाँच कराणे की बात कही ।

📌 ग्राम प्रधान की हरकत से महिला शिक्षकों में  दहशत ।

जौनपुर । जिले के करंजाकला ब्लॉक अंतर्गत मुरादगंज ग्राम सभा में स्थित प्राइमरी  स्कुल की अध्यापिकाओं ने आज वाराणसी के कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण से मिलकर बीएसए  के मकान मालिक  व ग्राम प्रधान द्वारा स्कुल की महिला शिक्षकों के साथ अभद्र , अश्लील अमर्यादित आचरण करने तथा चारित्रिक शोषण व् उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है । इस बावत  बीएसए और  उनके मकान   मालिक के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है ।इस मामले में आयुक्त श्री गोकर्ण ने एड़ी बेसिक वाराणसी से जाँच कराने के बाद कार्रवाई की बात कही ।

स्कुल की प्रधानाध्यापिका साधना बिन्द व् सहायक अध्यापिका अनीता देवी अर्चना  व् अनीता ने शिकायती पत्र में कहा है कि ग्राम प्रधान मुरादगंज श्री नाथ यादव अपने साथियों के साथ आये दिन विद्यालय में आकर महिला शिक्षकों के साथ अमर्यादित व्यवहार करते हैं । उनका आरोप है कि शिकायत करने की बात पर ग्राम प्रधान द्वारा  बीएसए  से कार्रवाई कराने की धमकी देते हैं ।

इस मामले में शिक्षक संघ् अध्यक्ष अमित सिंह व् मंत्री संजय सिंह ने कहा कि अगर उत्पीड़न करने वाले ग्राम प्रधान के खिलाफ कार्रवाई नही की गयी तो जिले भर में आंदोलन होगा । ग्राम प्रधान श्री नाथ यादव ने आरोपों को सिरे से नकारते हुए शिक्षकों पर समय से न आने का आरोप लगाया साथ ही बीएसए का मकान मालिक होने की बात स्वीकार की और स्कुल में जाकर जाँच करने की बात मानी ।

उधर बीएसए  परमहंश यादव ने   इस बावत पूछे जाने पर कहा कि मैं श्रीनाथ यादव के मकान में किराये पर रहता हु शेष आरोप के बारे में अनभिज्ञता जताई ।

समायोजन से बचे 14 हजार शिक्षामित्रों के समायोजन की मांग, समायोजन न होने से आर्थिक दशा खराब

समायोजन से बचे 14 हजार शिक्षामित्रों के समायोजन की मांग, समायोजन न होने से आर्थिक दशा खराब

इलाहाबाद : यूनिफार्म का रंग बदलने की मांग, आदर्श शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन ने की बैठक

इलाहाबाद : यूनिफार्म का रंग बदलने की मांग, आदर्श शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन ने की बैठक
खबर साभार : हिन्दुस्तान



15 हजार सहायक अध्यापक भर्ती : अनशन कर रहे अभ्यर्थियों ने पद न बढ़ाने पर लिया सर्टिफिकेट वापसी का निर्णय

15 हजार सहायक अध्यापक भर्ती : अनशन कर रहे अभ्यर्थियों ने पद न बढ़ाने पर लिया सर्टिफिकेट वापसी का निर्णय

खबर साभार : हिन्दुस्तान



सीतापुर : जौनपुर निवासी लापता प्राथमिक शिक्षक का शव अमेठी में मिला, सीतापुर में थे पद्स्थापित

जौनपुर : बदलापुर थाना क्षेत्र के अटौली गांव निवासी लापता शिक्षक राकेश यादव की लाश 12 दिन बाद रविवार को सुबह अमेठी जिले में मिली। वे सीतापुर जिले के रेउवां ब्लाक के राजपुर उच्च प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक थे। राकेश यादव अवकाश में घर आए थे। वह 17 फरवरी को सीतापुर के लिए रवाना हुए थे। दो दिनों तक परिवार से संपर्क नहीं हुआ तो खोजबीन के बाद भाई राजेश ने 19 फरवरी को सिंगरामऊ थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई। पुलिस ने इसकी जानकारी आसपास के जिलों को दे दी थी। अमेठी के मुसाफिरखाना में रविवार की सुबह शव पाए जाने की सूचना पर यहां से गए ग्राम प्रधान और राजेश ने शव की पहचान राकेश के रूप में की। राजेश का आरोप है कि उसके भाई की हत्या कर शव छिपाने के लिए उसे जंगल में पेड़ से लटका दिया गया था। थानाध्यक्ष मामले की जांच के लिए मुसाफिरखाना गए हैं। 

आरटीई पर किये संशोधनों पर निजी स्कूलों के प्रबंधकों और उनके एसोशियेशनों ने खड़े किये सवाल, बताया ऐसे प्रारूपों को अवैधानिक

आरटीई पर किये संशोधनों पर निजी स्कूलों के प्रबंधकों और उनके एसोशियेशनों ने खड़े किये सवाल, बताया ऐसे प्रारूपों को अवैधानिक

पदावनति से दलित अध्यापकों में रोष : हड़ताल पर जाने की धमकी के साथ प्रदेश के 50 हजार दलित बेसिक शिक्षा अध्यापकों को गुपचुप तरीके से पदावनत करने का आरोप

  • 50 हजार का मामला
  • दलित शिक्षक पदावनत भड़की संघर्ष समिति
  • ’निदेशक बेसिक शिक्षा से आज होगी बातचीत
  • बेसिक शिक्षा कार्यालय जाम करने की चेतावनी
लखनऊ। आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति ने आरोप लगाया है कि प्रदेश के पचास हजार दलित बेसिक शिक्षकों को गुपचुप तरीके से पदावनत किए जाने की कार्यवाही शुरू कर दी गयी है। शनिवार देर रात बैकलाग के तहत पदोन्नति पाए गाजियाबाद के साठ सहायक अध्यापक, जो पूर्व माध्यमिक विद्यालय में कार्यरत थे और प्राइमरी स्कूल में प्रधानाचार्य के समकक्ष थे, उन्हें गलत तरीके से वहां के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा.प्रवेश यादव ने पदावनत कर प्राइमरी स्कूल में सहायक अध्यापक बना दिया है। समिति के अनुसार अन्य कई जिलों में ऐसी सूचियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।गाजियाबाद में हुई इस पदावनति के विरोध में बड़े पैमाने पर शिक्षक नेता संघर्ष समिति कार्यालय पहुंचे और उन्होंने समिति के नेताओं से इसकी शिकायत की। समिति के नेताओं ने कहा है कि अगर प्रदेश सरकार ने इस गलत प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं किया तो जल्द ही निदेशालय का चक्का जाम कर दिया जाएगा और विवश होकर प्रदेश के शिक्षक हड़ताल पर चले जाएंगे। समिति के नेता इस बाबत सोमवार को बेसिक शिक्षा निदेशक से मिलेंगे और उनसे गाजियाबाद की पूरी स्थिति से अवगत करवाया जाएगा। इसके बाद चार मार्च को आर पार की लड़ाई का एलान किया जाएगा जिसके प्रदेश स्तरीय बैठक बुलायी गयी है।


लखनऊ : आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति ने आरोप लगाया है कि प्रदेश के 50 हजार दलित बेसिक शिक्षा अध्यापकों को गुपचुप तरीके से पदावनत किया जा रहा है जिससे दलित अध्यापकों में रोष है और वे हड़ताल पर जा सकते हैं।
आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक अवधेश कुमार वर्मा ने बताया कि गाजियाबाद में माध्यमिक विद्यालय में कार्यरत 60 सहायक अध्यापकों को पदावनत कर प्राइमरी स्कूल में सहायक अध्यापक बना दिया गया है। दलित अध्यापकों के साथ इस नाइंसाफी से सोमवार को बेसिक शिक्षा निदेशक को अवगत कराया जाएगा। मामले से विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष स्वामी प्रसाद मौर्या को भी अवगत कराया गया है।

Sunday, February 28, 2016

रामपुर : हंगामे के बाद फीडिंग को जमा हुईं शिक्षकों की फाइलें मिलक की 167 और बिलासपुर की 23 फाइलें जमा

जागरण संवाददाता, रामपुर : हंगामे के बाद 72825 भर्ती के शिक्षकों की फाइलें फी¨डग के लिए जमा होने लगी हैं। मिलक की 167 और बिलासपुर की 23 फाइलें जमा हो गई हैं। वहीं, विभाग की ओर से भी फी¨डग का कार्य जल्द शुरू करा दिया जाएगा।1प्रदेश सरकार की ओर से 72825 शिक्षकों की भर्ती हुई थी। इसके तहत रामपुर जिले में 411 शिक्षक और शिक्षिकाओं का चयन किया गया था। वहीं, सत्यापन न होने की वजह से शिक्षकों को तैनाती के बाद से वेतन नहीं मिल सका है। ऐसे में शिक्षकों के समक्ष आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। लिहाजा, शासन ने दो सत्यापन के बाद शिक्षकों का वेतन जारी करने के निर्देश दे दिए। इसके बाद जिला बेसिक शिक्षाधिकारी ने सभी खंड शिक्षाधिकारियों को प्रशिक्षु शिक्षकों की फाइलें तैयार करने के लिए निर्देशित किया था। मिलक ब्लॉक से 167 शिक्षकों की फाइलें तैयार हो चुकी हैं। ब्लॉकाध्यक्ष रवेन्द्र गंगवार और जाकिर खां शुक्रवार को बीएसए दफ्तर में फाइलें जमा करने के लिए पहुंचे, लेकिन इस दौरान हंगामा हो गया और बाबू ने फाइलें जमा करने से इंकार कर दिया। शिक्षकों के तल्ख तेवर देखते हुए शनिवार को फाइलें जमा करने का सिलसिला शुरू हो गया। मिलक ब्लॉक के 167 फाइलों के साथ ही बिलासपुर की भी 23 फाइलें जमा हो गईं। वित्त एवं लेखाधिकारी श्यामलाल जायसवाल ने बताया कि शिक्षकों की फाइलें जमा हो रही हैं। उन्होंने हंगामे को लेकर कहा कि कुछ लोग लोकप्रियता पाने और खबरों में बने रहने के लिए ऐसी हरकतें कर रहे हैं। हंगामे जैसी कोई बात नहीं थी।