DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Thursday, February 25, 2016

सिद्धार्थनगर : बीता सत्र, नहीं बना विद्यालय,चार वर्ष से बंद पड़ा विद्यालय का निर्माण कार्य

जागरण संवाददाता, खेसरहा, बांसी, सिद्धार्थनगर : गरीब की बच्चियों को बेहतर शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए लागू योजनाओं पर जिम्मेदार लापरवाह बने हुए हैं। इन्हें भी निश्शुल्क आवासीय शिक्षा प्रदान हो इसके लिए चल रही बालिका शिक्षा योजना विभाग की शिथिलता से परवान नहीं चढ़ पा रही है। योजना की शुरूआत जनपद में वर्ष 2004-05 में हुई। तहसील के तीन विकास खंडों में से बांसी व मिठवल में यह विद्यालय चार वर्ष पूर्व स्थापित तो हो गये पर खेसरहा का विद्यालय एक दशक बाद भी नहीं बन सका। विकास खंड के कड़जा प्राथमिक विद्यालय परिसर में बन रहे इस विद्यालय भवन का निर्माण कार्य तीन वर्ष से बंद पड़ा है। 36 लाख की लागत से बनने वाले इस विद्यालय भवन को वर्ष 2009 में ही तैयार हो जाना था, पर जिम्मेदारों की अनदेखी से आधा अधूरा कार्य कर ठेकेदार काम बंद कर फरार हो गया। नतीजतन यह विद्यालय 15 किमी दूर बांसी स्थित डायट के छात्रवास में आज भी चल रहा है। विद्यालय के दूर होने से ब्लाक क्षेत्र की अधिकांश बच्चियां शिक्षा के अधिकार से वंचित रह जा रही हैं। क्षेत्र के रामदीन, दयाराम, बुद्धिराम, विक्रम, मोलहु, शांति, रूकमणी, विद्यावती आदि का कहना है जब यहां विद्यालय भवन बनकर तैयार हो जायेगा तब हम अपनी लड़कियों का नामांकन उसमें करायेंगे।निर्माणाधीन खेसरहा का कस्तूरबा विद्यालय। जागरणकार्य करवा रही कार्यदायी संस्था के खिलाफ बहुत पहले ही कार्रवाई हो चुकी है। बंद निर्माण कार्य को शुरु कराने के लिए उच्चाधिकारी लगे हुए हैं, जल्द ही कार्य शुरु होने की उम्मीद है।

No comments:
Write comments