DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Saturday, February 27, 2016

रामपुर : बाबू ने फेक दी शिक्षक की फाइल, पटल बाबू को हटाने की मांग, दी आंदोलन की चेतावनी,बीएसए कार्यालय में शिक्षकों ने किया हंगामा

जागरण संवाददाता, रामपुर : जिला बेसिक शिक्षाधिकारी कार्यालय में फी¨डग के लिए फाइलें जमा कराने आए शिक्षकों की फाइलें बाबू ने फेंक दीं। इस पर शिक्षक भड़क गए। गुस्साए शिक्षकों ने नारेबाजी कर प्रदर्शन शुरू कर दिया। शिक्षकों पटल बाबू को हटाने की मांग की है।1शासन ने 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों का दो सत्यापन के बाद वेतन जारी करने के निर्देश दे दिए हैं। इस पर पिछले दिनों जिला बेसिक शिक्षाधिकारी ने सभी खंड शिक्षाधिकारियों को शिक्षकों की फाइलों की फी¨डग कराने के निर्देश दिए थे। मिलक ब्लॉक में 167 शिक्षकों की फाइलें तैयार हो चुकी हैं। खंड शिक्षाधिकारी से फाइलें प्रमाणित कराने के बाद मिलक ब्लॉक अध्यक्ष रवेन्द्र गंगवार और जाकिर रजा खां शुक्रवार को फाइलों की फी¨डग कराने के लिए जिला बेसिक शिक्षाधिकारी कार्यालय आ गए। आरोप है कि पटल बाबू अर¨वद कुमार से फाइलें चेक कर फी¨डग कराने की बात कही, जिस पर बाबू ने फाइलें लेने से इंकार कर दिया। शिक्षकों ने दबाव बनाया तो बाबू ने फाइलें फेंक दीं। इस पर शिक्षक भड़क गए और हंगामा करने लगे। शिक्षकों ने नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। इसके बाद उन्होंने वित्त एवं लेखाधिकारी श्यामलाल जायसवाल से मुलाकात की। उन्होंने फाइलें चेक कराने और फी¨डग कराने का आश्वासन दिया, लेकिन लेखाधिकारी पहले ही ऑफिस से निकल गए। शिक्षकों का कहना है कि बीएसए दफ्तर में भ्रष्टाचार चरमसीमा पर पहुंच गया है। कुछ बाबू एक एक पटल पर वर्षों से काबिज हैं, जिसके चलते बाबुओं की मनमानी बढ़ती जा रही है। लेखाधिकारी और बाबुओं पर अफसरों का कोई नियंत्रण नहीं है। उन्होंने पटल बाबू को हटाने की मांग की। साथ ही फाइलों की फी¨डग और बाबू को न हटाने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। इस दौरान महेश कुमार, वरूण आर्य, डॉ. राजेश कुमार, नरेन्द्र पाठक, रिसालत अली खां, आफाक खां, दिनेश गंगवार, नादिर खां, अनिल कुमार, मनोज कुमार, अनुज प्रसाद, हिमांशु यादव, पंकज पाठक, मनोज सैनी, आशीष कुमार, अजय कश्यप, देवेन्द्र कुमार, ललित कुमार आदि उपस्थित रहे।


No comments:
Write comments