DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Thursday, March 31, 2016

सीतापुर : विशिष्ट बी०टी०सी०2004 के चयनित अभ्यर्थियो के मानदेय भुगतान के सम्बन्ध में वित्त एवं लेखाधिकारी ने डायट प्राचार्य को भेजा पत्र

विशिष्ट बी०टी०सी०2004 के चयनित अभ्यर्थियो के मानदेय भुगतान के सम्बन्ध में  वित्त एवं लेखाधिकारी  ने डायट प्राचार्य को भेजा पत्र

एटा : प्राथमिक विद्यालयों में मना उत्सव, मेधावियों का सम्मान



बांदा : विद्यालय संचालन का समय 8 बजे 1 बजे तक करने के सम्बन्ध में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने जारी किये आदेश

बांदा :  विद्यालय संचालन का समय 8 बजे 1 बजे तक करने के सम्बन्ध में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने जारी किये आदेश

लखनऊ : पहली बार परिषदीय विद्यालय के छात्रों को समारोह मनाकर दिया गया रिजल्ट , बच्चों में दिखी उत्साह की झलक


लखनऊ कार्यालय संवाददाता पापा मुझे गणित में खूब नम्बर मिले हैं। अरे मैं तो अपनी कक्षा में दूसरे स्थान पर हूं। चौपटियां के काजनैन सरकारी जूनियर हाईस्कूल में छोटे-छोटे बच्चों को जुबां पर बुधवार को बस रिजल्ट ही था। वहीं, प्राइमरी स्कूल लालाखेडा का माहौल भी कुछ अलग सा नजर आया। यहां कोई क्लास नहीं हुई। बल्कि बच्चों के स्कूल पहुंचने से पहले ही शिक्षा विभाग के कई अधिकारी और क्षेत्र के गणमान्य बच्चों का स्वागत करने के लिए मौजूद थे। प्रधानाध्यापिका गीता चौधरी, ग्राम प्रधान अमृता रावत तथा शिक्षा समिति के पदाधिकारियों ने स्कूल पहुंचने बच्चों को पुरस्कार दिए गए और साथ में एक रिपोर्ट कार्ड भी दिया गया। प्राइमरी स्कूल लालाखेडा ही नहीं शहर के सभी दूसरे सरकारी प्राइमरी और अपर प्राइमरी स्कूलों में बच्चों का इसी तरह से स्वागत किया गया। 

पहली बार की गई शुरुआत : ये पहली बार था जब इन बच्चों को परीक्षाओं के बाद एक रिपोर्ट कार्ड भी दिया गया। अभी तक सिर्फ पांचवीं कक्षा पास करने वाले बच्चों को ही रिजल्ट दिया जाता था। इसके साथ ही, स्कूलों में पंजीकरण बढ़ाने के लिए स्कूल चलो अभियान की भी शुरुआत की गई। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रवीण मणि त्रिपाठी, एडी बेसिक महेन्द्र सिंह राणा, खंड शिक्षा अधिकारी अजय द्विवेदी समेत अन्य अधिकारियों ने भी स्कूल में जाकर बच्चों को प्रोत्साहित किया।





कुशीनगर : विशिष्ट बीटीसी शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन जनपद कुशीनगर के बैनर तले 1 अप्रैल काला दिवस मनाएंगे शिक्षक

जागरण संवाददाता, कसया, कुशीनगर : विशिष्ट बीटीसी शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन जनपद कुशीनगर के बैनर तले 1 अप्रैल को सभी शिक्षक प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर काला दिवस मनाएंगे। यह निर्णय बुधवार को सायं ब्लाक अध्यक्ष नागेंद्र तिवारी की अध्यक्षता में शिक्षकों की शहीद पार्क में हुई बैठक में लिया गया। शिक्षक काली पट्टी बांध कर कार्य करते हुए अपना विरोध दर्ज कराएंगे। जिला महामंत्री राजेश शुक्ल ने कहा कि 1 अप्रैल ही वह दिन था जब प्रदेश सरकार द्वारा पुरानी पेंशन योजना बंद कर नई पेंशन नीति लागू कर शिक्षकों को ठगने का कार्य किया गया। मंडल महामंत्री राजेश तिवारी ने कहा कि सांसद व विधायक पुरानी व्यवस्था के तहत पेंशन ले रहे हैं तो हम लोगों के लिए यह दोहरी व्यवस्था क्यों? संचालन अमला प्रसाद ने किया। इस अवसर पर अविनाश शुक्ल, मोहम्मद आरिफ, अश्वनी सिंह, प्रमोद, रजनीश, अमिताभ पटेल, दिलीप पांडेय, राधेश्याम मिश्र, अयोध्या पांडेय आदि मौजूद रहे।

लखीमपुर खीरी : सेवानिवृत्ति में सिर्फ एक दिन था शेष , सिलबट्टे से कुचलकर शिक्षिका की हत्या , बड़े बेटे व उसकी पत्नी के खिलाफ पति ने दी तहरीर दोनों आरोपियों को हिरासत में लेकर पुलिस ने शुरू की जांच

संवादसूत्र, गोला गोकर्णनाथ/ लखीमपुर: गोला कस्बे के मुहल्ला मुन्नूगंज में प्राइमरी विद्यालय की शिक्षिका की बेरहमी से उन्हीं के घर में हत्या कर दी गई। घटना को अंजाम देने के बाद कातिल घर में बाहर से ताला डालकर भाग गए। शिक्षिका की सेवानिवृत्ति में सिर्फ एक दिन शेष था। घटना का पता बुधवार को सुबह चला जब उनका पुत्र अपनी दुकान खोलने पहुंचा। शिक्षिका के पति ने पुलिस को तहरीर देकर बडे पुत्र व बहू पर हत्या किए जाने का आरोप लगाया है।1शहर में मोहम्मदी रोड पुराने बाईपास के निकट सेवानिवृत्त शिक्षक नत्थूलाल का मकान है। उनकी करीब 60 वर्षीय पत्नी भागीरथी देवी मुहल्ला तीर्थ स्थित लोने सिंह प्राइमरी विद्यालय में शिक्षिका थीं। बुधवार की सुबह घर के अंदर उनका शव लहूलुहान हालत में पड़ा था और घर के आंगन से उसके बिस्तर तक घसीटे जाने पर खून के निशान बने हुए थे। पास ही एक सिल बट्टा और खून सने कपड़े भी पड़े थे। जिन्हें उनका छोटा बेटा सत्यप्रकाश अपने बड़े भाई के बता रहा है। आनन फानन सीओ अवनीश्वर चंद्र श्रीवास्तव, इंस्पेक्टर चंद्रभान सिंह, विधायक विनय तिवारी सहित सैकड़ों लोगों की भीड़ मौका ए वारदात पर पहुंच गई।मृतका के पति नत्थूलाल ने पुलिस को दी तहरीर में कहा है कि अपने बडे पुत्र जगतप्रकाश की हरकतों से तंग आकर वह अपने छोटे बेटे के साथ हफीजपुर में रह रहा था। मृतका की हत्या के मामले में उसका बडा पुत्र व बहू शामिल है। तहरीर व जांच के आधार पर पुलिस बडे लड़के जगतप्रकाश व उसकी पत्नी आशा को हिरासत में लेकर मामले की जांच कर रही है।शिक्षिका के छोटे बेटे सत्य प्रकाश ने बताया कि वह स्वयं घर के बाहर दवा का दुकान करता है और पत्नी व पिता के साथ ग्राम हफीजपुर में रहता है जबकि उसका भाई जगत प्रकाश घर के बाहर परचून की दुकान करता है और अपनी पत्नी आशा के साथ मां के घर पर ही रहता है। बताते है कि जगतप्रकाश की दुकान दो दिनों से बंद थी। तथा वह अपनी पत्नी के साथ अपनी ससुराल लखीमपुर गया हुआ था। सत्यप्रकाश ने बताया कि मंगलवार की देर शाम करीब आठ बजे अपनी मां के साथ खाना खाकर अपने घर हफीजपुर चला गया था। उसकी मां हमेशा घर की चाभी बाहर बनी एक दुकान पर देकर स्कूल विद्यालय चली जातीं थीं। बुधवार सुबह उसे घर का ताला बंद मिला और दुकान पर चाभी नहीं मिली तो वह मां के स्कूल गया, वहां पता चला कि भागीरथी देवी स्कूल ही नहीं पहुंची हैं। उनका फोन भी रिसीव नहीं हो रहा था। उसने वापस घर आकर ताला तुड़वाकर घर में जाकर देखा तो उसके पैरों तले की जमीन खिसक गई।

बाराबंकी : बच्चों की संख्या बढ़ाएंगे स्वयंसेवक , नेहरू युवा केंद्र में बनाई गई रणनीति बीएसए और जिला समन्वयक की अध्यक्षता में हुई बैठक , स्कूल चलो अभियान को दी गई दिशा


संवादसूत्र, बाराबंकी : परिषदीय विद्यालयों में बच्चों की संख्या नेहरू युवा केंद्र के स्वयं सेवक बढ़ाएंगे। इसके लिए बकायदा स्वयं सेवकों के साथ बैठक भी आयोजित हुई। जिसमें रणनीति तैयार की गई। बैठक जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के नेतृत्व में आयोजित हुआ। 1नवीन शैक्षिक सत्र एक अप्रैल से शुरू हो जाएगा। इसके लिए शिक्षा विभाग ने तैयारी पूरी कर ली हे। स्कूलों में बच्चों को कैसे बढ़ाया जाए और इसके लिए नेहरू युवा केंद्र की भी मदद ली जाएगी। इसके लिए बुधवार को नेहरू युवा केंद्र कार्यालय में बैठक का आयोजन हुआ जिसमें यह तय हुआ कि अध्यापकों का साथ नेहरू युवा केंद्र में स्थापित युवा और महिला मंडलों के स्वयं सेवक देंगे। गांव-गांव जाकर स्कूलों चलो अभियान को धार दी जाएगी। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी पीएन सिंह ने कहा कि एक अप्रैल से स्कूल चलो अभियान की शुरूआत कर दी जाएगी। जिसमें अध्यापक पंजीकृत बच्चों के साथ गांवों में रैली निकाल कर अभिभावकों को जागरूक करेंगे।1 इस सत्र में स्कूलों में बच्चों की संख्या अधिक बढ़ानी हैं। बैठक में नेहरू युवा केंद्र के जिला समन्वयक प्रदीप सिंह ने कहा कि मंडलों के स्वयं सेवक गांव-गांव जाकर उन बच्चों को चिन्हित करेंगे जो पढ़ने नहीं जा रहे है। इसके अलावा इन बच्चों के माता-पिता से भी बात करेंगे और जागरुक करेंगे कि बच्चों को गांव में घूमाने से कोई मतलब नहीं है, इनका यह भविष्य खराब कर रहे हैं। अभिभावकों को जागरूक करने के साथ ही बच्चों का पंजीकरण भी कराएंगे।

बलिया : ग्राम प्रधान प्रतिनिधि द्वारा की गयी पिटाई व शिक्षको का निलंबन वापस लेने को लेकर धरनारत हुए शिक्षक

बलिया : शिक्षा क्षेत्र रेवती के शिक्षक माधव यादव की ग्राम प्रधान प्रतिनिधि द्वारा की गई पिटाई व शिक्षा क्षेत्र बेलहरी अंतर्गत बहादुरपुर की प्रधानाध्यापक प्रतिमा उपाध्याय के निलंबन समाप्त करने के लिए उप्र प्राथमिक शिक्षक संघ के आह्वान पर जिले की सभी बीआरसी पर शिक्षकों ने धरना देने के साथ ही परीक्षा परिणाम वितरण समारोह का भी बहिष्कार किया। एलान किया कि उनकी मांगों को गंभीरता से नहीं लिया गया तो आंदोलन तेज करने को बाध्य होंगे। बेरुआरबारी : बीआरसी बेरुआरबारी के प्रांगण में धरना को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि जब तक इन मांगों को माना नहीं जाएगा तब तक एमडीएम का पूर्ण बहिष्कार जारी रहेगा। वक्ताओं में अध्यक्ष जितेंद्र सिंह, संजय दुबे, डा. सत्यकुमार दुबे, संतोष गुप्त, उमेश सिंह, विनय पाणडेय, अर¨वद उपाध्याय आदि मौजूद थे। अध्यक्षता विजय बहादुर सिंह व संचालन बृजमोहन प्रसाद अनारी ने किया।

गोरखपुर : आल टीचर्स इंप्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन ने 1 अप्रैल को लिया काला दिवस मनाने का संकल्प

आल टीचर्स इंप्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन ने 1 अप्रैल को लिया काला दिवस मनाने का संकल्प

महराजगंज : नियमों की अनदेखी कर बदल दिए 34 शिक्षिकाओं के विद्यालय , बीएसए से रिपोर्ट तलब

जागरण संवाददाता, महराजगंज: तृतीय बैच के प्रशिक्षु शिक्षिकाओं की मौलिक नियुक्ति में विद्यालय आवंटन में मनमानी को लेकर शिक्षकों में उबाल हैं। शिक्षकों ने बीएसए पर गुपचुप ढंग से 34 शिक्षिकाओं के विद्यालय नियमों की अनदेखी कर बदल दिए जाने का आरोप लगाते हुए जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया और ज्ञापन सौंपा। शिक्षिकाओं ने कहा कि 72825 प्रशिक्षु शिक्षक चयन भर्ती प्रक्रिया के तहत तीसरे बैच के 106 प्रशिक्षुओं को प्राथमिक विद्यालय में सहायक अध्यापक पद पर मौलिक नियुक्ति दी जानी थी।  इसमें 69 महिला प्रशिक्षुओं से विभाग ने स्कूल आवंटन के लिए तीन तीन विद्यालय का विकल्प भराया। उसी आधार पर स्कूलों का आवंटन किया गया। लेकिन 34 शिक्षिकाओं का विद्यालय गुप चुप ढंग से शिक्षिकाओं की सुविधानुसार विभाग द्वारा सुविधाशुल्क वसूल कर बदल दिया गया है। हम सभी को भी जो विद्यालय आवंटित किया गया है, वह काफी दुरूह मार्ग पर है। अधिकांश विद्यालयों पर जाने के लिए कोई साधन नहीं है। जबकि महिलाओं को सुगम मार्ग पर विद्यालय आवंटित किया जाना चाहिए। लेकिन यहां शासनादेश की अनदेखी की गई है। हम सभी के विद्यालयों को भी परिवर्तित कराया जाय। इस दौरान दीप्ति सिंह, स्वाति, कविता, उषा, नीतू कुमारी, ऋतु कांता, फरहा खानम, सना आतिया, रेनू, साबिया, पूनम गुप्ता, सीमा देवी, लक्ष्मी देवी, कंचन पटेल, तनूजा चौरसिया, रजनी निरंजन आदि कई शिक्षिकाएं उपस्थित रहीं।

मैनपुरी : विशिष्ट बी०टी०सी०2004 के चयनित अभ्यर्थियो के मानदेय भुगतान के सम्बन्ध में वित्त एवं लेखाधिकारी ने डायट प्राचार्य को भेजा पत्र

विशिष्ट बी०टी०सी०2004 के चयनित अभ्यर्थियो के मानदेय भुगतान के सम्बन्ध में  वित्त एवं लेखाधिकारी  ने डायट प्राचार्य को भेजा पत्र

फैजाबाद : दावेदारों पर भारी गुरुजी की लापरवाही , सन्देहास्पद रहा ब्लाक कार्यकारणी का चुनाव , भारी मात्रा में मत हुए अवैध

दावेदारों पर भारी गुरुजी की लापरवाही , सन्देहास्पद रहा ब्लाक कार्यकारणी का चुनाव ,भारी मात्रा में मत हुए अवैध

1100 याचियों को तैनाती देने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के सापेक्ष 862 को दी नियुक्ति, अवशेष 238 ने भी नियुक्ति के लिए शुरू किया अनशन


परिषद के प्राथमिक स्कूलों में 72825 शिक्षकों की नियुक्ति के तहत 1100 याचियों को तैनाती देने का आदेश है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर परिषद ने 862 अभ्यर्थियों को नियुक्ति दे दी है। अब 238 अभ्यर्थी भी नियुक्ति पाने के लिए शिक्षा निदेशालय में क्रमिक अनशन कर रहे हैं। युवाओं का कहना है कि 24 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट ने सभी याचियों को मौका देने को कहा है, लेकिन परिषद अभी 1100 को ही नियुक्ति नहीं दे सका है। इसमें तेजी लाई जाए।

अंबेडकरनगर : आल टीचर्स/इंपलाइज वेलफेयर एसोसिएशन के बैनर तले हुयी बैठक , पेंशन बहाली का मुद्दा उठा

संवादसूत्र, जलालपुर (अंबेडकरनगर) : आल टीचर्स/इंपलाइज वेलफेयर एसोसिएशन के बैनर तले नगर के वाजिदपुर बीआरसी परिसर में देर शाम संपन्न पेंशन बचाओ मंच के पदाधिकारियों ने सरकारी कर्मियों की बुढ़ापे की पूंजी पुरानी पेंशन बहाली का जमकर मुद्दा उठाया। मंच के जिला संयोजक रुकुमकेश ने कहा कि वर्ष 2004 के बाद से सरकारी कर्मयों को पुरानी पेंशन के तहत मिलने वाली धनराशि को रोक कर्मियों के साथ धोखा किया है। उन्होंने चेतावनी दी कि प्रदेश स्तर तक पुरानी पेंशन की बहाली तक आंदोलन छेड़ा जायेगा। बैठक में प्रमुख रूप से स्नेहलता वर्मा, शीतला प्रसाद, प्राथमिक शिक्षक संघ जलालपुर की अध्यक्ष श्वेता वर्मा, शशि, किरन चौधरी, सुमन वर्मा समेत दर्जनों ने विचार रखे। इस अवसर पर मंच के नए पदाधिकारियों का चयन कर अध्यक्ष के रूप में मंच की बागडोर अजित यादव को सौंपी गई। राकेश वर्मा मंत्री बनाये गए। बैठक में कई दर्जन सदस्यों की उपस्थित रही।

बिजनौर : एनपीआरसी की जांच रिपोर्ट को अग्रसारित कर रहे अफसर

जागरण संवाददाता, बिजनौर : यूनिफार्म वितरण में हुए भ्रष्टाचार की लपटों में प्रशासनिक अधिकारी भी आ गए है। यहीं कारण है कि ब्लाक स्तर पर यूनिफार्म वितरण की जांच के लिए बनाए गए प्रशासनिक अधिकारी भी एनपीआरसी की तैयार जांच रिपोर्ट को ही शिक्षा विभाग में अग्रसारित कर रहे हैं। हैरत की बात यह है कि प्रशासनिक अधिकारी की जांच रिपोर्ट पर एनपीआरसी के हस्ताक्षर हैं, पर नियुक्त अधिकारी के नहीं है। बेसिक शिक्षा विभाग के सचिव ने यूनिफार्म में हो रहे घालमेल पर अंकुश लगाने के लिए विभागीय अधिकारियों के साथ प्रशासनिक अधिकारियों से भी जांच कराने के निर्देश दिए थे। तत्कालीन जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने डीएम के निर्देश पर हर ब्लाक में प्रशासनिक अधिकारियों को नियुक्त किया था। विभागीय अधिकारियों की जांच रिपोर्ट में अनेक स्कूलों में यूनिफार्म रेडीमेड वितरण की गई। स्कूलों के मुख्याध्यापकों ने कपड़ा खरीदकर ट्रेलर से सिलाई कराकर बांटने की जगह माफिया से वितरण कराई है। विभागीय अधिकारियों ने जांच रिपोर्ट विभाग में काफी पहले जमा करा दी, लेकिन कई ब्लाकों के प्रशासनिक अधिकारियों ने अभी तक जांच रिपोर्ट विभाग में दी नहीं है। एक-दो ब्लाक के अधिकारियों ने विभाग में जांच रिपोर्ट जमा कराई, तो उन जांच रिपोर्ट पर एनपीआरसी के हस्ताक्षर है, लेकिन जांच अधिकारी के नहीं है। जांच नहीं आने पर विभाग ने यूनिफार्म की अवशेष धनराशि 25 प्रतिशत रोक रखी थी। 31 मार्च को बजट लैप्स होने के भय और शिक्षकों के दबाव में विभाग यूनिफार्म की अवशेष धनराशि वितरण करने में जुटा हुआ है। यानी विभाग के अधिकारी जांच की सत्यता परखे बिना ही धनराशि स्कूलों में भेजने लगे है

आगरा : जिलाधिकारी से अनुमति उपरांत , दूध नहीं तो मिल्क पाउडर पिलाइए


जागरण संवाददाता, आगरा: सरकार, बच्चों को मजबूत बनाएगी। दूध नहीं मिलने पर मिल्क पाउडर पिलाएगी। मध्याह्न भोजन योजना (एमडीएम) में ताजा दूध न मिलने की वजह से नियम बदल दिए हैं। अब बच्चों को दूध पाउडर भी दिया जा सकेगा। इसके लिए गाइडलाइन जारी कर दी गई है। सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्रों को बुधवार को दूध वितरित किया जाता है। ऐसे में एक दिन में जिले में बड़ी मात्र में ताजा दूध की आवश्यकता होती है, मगर दूध उत्पादक या दूधिया विद्यालय में दूध की सप्लाई करने से मना कर देते हैं। कुछ जगह सिंथेटिक दूध की सप्लाई की जाती है, जो बच्चों को उल्टा नुकसान कर रहा है। कई जिलों के बीएसए की ओर से शासन को ताजा दूध मिलने में दिक्कत आने की रिपोर्ट भेजी गई थी। इन रिपोर्ट को शासन ने गंभीरता से लिया। इसके बाद बेसिक शिक्षा सचिव ने अब मिड-डे मील में ताजे दूध की उपलब्धता न होने पर मिल्क पाउडर देने के आदेश दिए हैं, मगर इसके लिए कुछ सावधानियां बरती जाएंगी। मिल्क पाउडर केवल वहीं दिया जाएगा, जहां ताजा दूध उपलब्ध नहीं होगा। वितरण को स्थानीय स्तर पर डीएम की अनुमति लेनी होगी। मिल्क पाउडर केवल दुग्ध उत्पादक संघों से ही लिया जाएगा। बीएसए धर्मेद्र सक्सेना ने बताया कि जहां शुद्ध दूध नहीं मिलता, वहां यह व्यवस्था लागू करने के लिए कहा है। अगर हमारे यहां कहीं ऐसी स्थिति आती है, तो इस पर विचार किया जाएगा।

इलाहाबाद : पुरानी किताबों संग स्कूल जाएंगे नौनिहाल , नई पुस्तको के लिए जुलाई तक करना होगा इंतजार

जासं, इलाहाबाद : नया शिक्षण सत्र इस बार पुरानी किताबों से ही शुरू होगा। नई किताबें उपलब्ध कराने के विभागीय दावे हवा-हवाई साबित हुए। नई किताबों के लिए बच्चों को अबकी भी जुलाई का ही इंतजार करना पड़ेगा। दूसरी ओर बीएसए ने जिले भर के प्रधानाध्यापकों को निर्देश जारी किए हैं कि अगली कक्षा में पहुंचने वाले छात्र छात्रओं की किताबें लेकर दूसरे बच्चों को वितरित करा दी जाएं। परिषदीय स्कूलों का नया शिक्षा सत्र एक अप्रैल से कर दिया गया है लेकिन अभी नई किताबें नहीं आ सकी हैं। अधिकारी दावा कर रहे थे कि नया शैक्षिक सत्र शुरू होने के पहले पाठ्य पुस्तकें बच्चों के हाथों में होंगी लेकिन, सारे दावों की पोल खुल गई है। एक अप्रैल से नया शिक्षा सत्र शुरू होगा। लेकिन बच्चों को दी जाने वाली किताबों की आमद अभी नहीं शुरू हो सकी है। बेसिक शिक्षा अधिकारी राजकुमार ने बताया कि पुरानी किताबें लेकर निचले दर्जे के छात्र-छात्रओं को वितरित कराने के निर्देश दिए जा चुके हैं।

Wednesday, March 30, 2016

मेरठ : बीएसए ने बेसिक शिक्षा विभाग के डिजिटलीकरण की दिशा में बढाए कदम, सभी सूचनाओं को ऑनलाइन और ईमेल के माध्यम से ही आदान प्रदान के दिए निर्देश

मेरठ : बीएसए ने बेसिक शिक्षा विभाग के डिजिटलीकरण की दिशा में बढाए कदम, सभी सूचनाओं को ऑनलाइन और ईमेल के माध्यम से ही आदान प्रदान के  दिए निर्देश

एटा : सत्र 2016-17 का शैक्षिक कलेंडर बेसिक शिक्षा विभाग ने किया जारी




जौनपुर : बीटीसी प्रशिक्षण में तीन सत्र से शासन स्तर से निरंतर चल रही लेटलतीफी , करना होगा नए सत्र का इंतजार

बीटीसी प्रशिक्षण केतीन सत्र से शासन स्तर से निरंतर लेटलतीफी चल रही है। सत्र 2014 की प्रवेश प्रक्रिया इस वर्ष शुरू की गई थी। अब तक इस सत्र में प्रदेशभर के निजी संस्थानों में हजारों सीटें रिक्त हैं। इस सत्र की प्रवेश प्रक्रिया के बाद 2015 सत्र को लेकर अधिसूचना जारी किए जाने के बावत अभ्यर्थियों का इंतजार लगातार लंबा होता जा रहा है। नए सत्र की प्रवेश प्रक्रिया शुरू करने से पहले शासन सभी प्रकार की अड़चनों को दूर करना चाहता है। सत्र 2015 की अधिसूचना जारी होने के बाद चरणबद्ध तरीके से प्रवेश की औपचारिकताओं को पूरा कराया जाएगा। मार्च के तीसरे सप्ताह तक अधिसूचना जारी होने की संभावना जताई जा रही थी लेकिन अभी तक इसके लिए शासन ने जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान को कोई पत्रचार नहीं किया है। दरअसल पिछले दिनों शासन स्तर से हुई बैठक में विभागीय आला अधिकारियों ने अप्रैल में इस सत्र की प्रवेश प्रक्रिया के लिए आवश्यक कार्रवाई शुरू करने पर रजामंदी जताई है। नए सत्र में जिले में खुलने वाले 22 नए बीटीसी कालेजों के चलते सीटें भी 1150 से बढ़ कर 2250 हो गई हैं। इस संबंध में डायट के वरिष्ठ प्रवक्ता डा. आरएन यादव ने बताया कि प्रक्रिया अंतिम चरण में चल रही है।

महराजगंज : पुरानी पेंशन की मांग के समर्थन में एक अप्रैल को शिक्षक काली पट्टी बांधकर विरोध जताएंगे

महराजगंज : पुरानी पेंशन योजना लागू करने की मांग को लेकर एक अप्रैल को शिक्षक काली पट्टी बांधकर विरोध जताएंगे। मंगलवार को उक्त आशय की जानकारी भीम सेन गौतम ने दी। उन्होंने कहा कि पुरानी पेंशन के लिए एक अप्रैल को पूरे जिले के शिक्षक काली पट्टी बांधकर विरोध करेंगे। एक अप्रैल को ही मुख्यमंत्री को सम्बोधित एक ज्ञापन भी दिया जाएगा।

खबर साभार : 'अमर उजाला'

महराजगंज : पुरानी पेंशन की मांग के समर्थन में एक अप्रैल को शिक्षक काली पट्टी बांधकर विरोध जताएंगे

महराजगंज : पुरानी पेंशन योजना लागू करने की मांग को लेकर एक अप्रैल को शिक्षक काली पट्टी बांधकर विरोध जताएंगे। मंगलवार को उक्त आशय की जानकारी भीम सेन गौतम ने दी। उन्होंने कहा कि पुरानी पेंशन के लिए एक अप्रैल को पूरे जिले के शिक्षक काली पट्टी बांधकर विरोध करेंगे। एक अप्रैल को ही मुख्यमंत्री को सम्बोधित एक ज्ञापन भी दिया जाएगा।

खबर साभार : 'अमर उजाला'

महराजगंज : पिछले वर्ष नवंबर माह से प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक पद पर नियुक्त 565 शिक्षकों को पांच माह बाद मिला वेतन

महराजगंज : प्रशिक्षु शिक्षक चयन भर्ती के तहत नवंबर माह में नियुक्त हुए 565 सहायक अध्यापकों को पांच माह बाद पहली बार वेतन मिला। वेतन मिलते ही सभी शिक्षक खुशी से झूम उठे।

खबर साभार : 'दैनिक जागरण'

हरदोई : 66 शिक्षकों पर एफआईआर का आदेश ’टीइटी अंक पत्र गड़बड़ी पर हुई थी बर्खास्तगी ’ बीएसए ने बीइओ को दिया आदेश, होगी वेतन वसूली


हरदोई: परिषदीय विद्यालयों से बर्खास्त हुए शिक्षक शिक्षिकाओं की मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं। टीइटी अंक पत्र में गड़बड़ी मिलने के बाद उनकी सेवा तो समाप्त ही कर दी गई है। बर्खास्त सभी 66 शिक्षक शिक्षिकाओं के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कराई जा रही है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने खंड शिक्षा अधिकारियों को संबंधित थाने पर एफआइआर दर्ज कराने का आदेश दिया है। 1शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में वर्ष 2004 में प्रदेश में कुल 10 हजार भर्ती हुई थीं। हरदोई में 315 शिक्षक शिक्षिकाओं को नियुक्त हुए थे। अगस्त 2014 में बीएसए ने सभी को नियुक्ति पत्र जारी किए थे। भर्ती का आधार टीइटी 2011 ही थी। नियुक्ति के बाद सभी नौकरी करते चले आ रहे हैं लेकिन अभी कुछ दिन पूर्व जब फर्जीबाड़े का जिन्न बाहर निकला था तो इन सभी के अंक पत्रों का भी आन लाइन सत्यापन कराया गया। बीएसए डा. ब्रजेश मिश्र ने बताया कि सत्यापन में गड़बड़ी मिलने पर वेतन रोकते हुए नोटिस जारी किया गया था और उसी का कोई जवाब न मिलने पर सभी को बर्खास्त कर दिया गया। बीएसए डा. मिश्र ने बताया कि इन सभी को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर दिया गया था। मंगलवार को बीएसए ने इन सभी विकास खंडों के बीइओ को सभी के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कराने का आदेश दिया है। यह सभी अगस्त 2014 से नौकरी कर रहे हैं जोकि अब अवैध मानी गई है और उनसे वेतन वसूली भी की जाएगी। बीएसए ने बताया कि पूरी कार्रवाई का जिलाधिकारी से लेकर शासन तक को पत्र भेज दिया गया है।आते आते मिली नौकरी, जाते जाते बर्खास्तगी : यह संयोग ही रहा कि आते आते बीएसए ने जिन्हें नौकरी दी थी, शैक्षिक सत्र की समाप्ति पर जाते जाते वही बीएसए के हाथों से ही बर्खास्त हो गए। विभागीय जानकारों के अनुसार नियुक्ति प्रक्रिया पूर्व से ही चल रही थी। बीएसए डा. ब्रजेश मिश्र ने अगस्त 2014 में कार्यभार ग्रहण किया और एक दो दिन बाद ही शिक्षक शिक्षिकाओं को नियुक्ति पत्र दिए गए थे। वह लोग नौकरी भी करने लगे लेकिन जांच हुई तो गड़ब़ड़ी सामने आ गई। टीइटी अंक पत्रों में गड़बड़ी के आरोप में बीएसए ने उन्हें बर्खास्त कर दिया है। जानकारों का कहना है कि शैक्षिक सत्र समाप्त हो रहा है और बीएसए डा. मिश्र की भी पदोन्नति हो गई है। माना जा रहा है कि पदोन्नति के बाद उन्हें हरदोई से दूसरे ऊंचे पद पर जाना है। अब बीएसए के हाथों आते आते जिन्हें नौकरी मिली वही अब बर्खास्त हो गए हैं


साभार- दैनिक जागरण 




अधिक जानकारी हेतु सम्बन्धित लिंक का अवलोकन करे 👇🏻👇🏻
📌हरदोई : टीईटी अंक पत्रों में गड़बड़ी पर 66 शिक्षक-शिक्षिकाएं बर्खास्त , सत्यापन में टीइटी के अंक पत्रों में मिली थी गड़बड़ी 👉 http://www.primarykamaster.in/2016/03/66.html

उरई (जालौन) : पुरानी पेंशन बहाली के लिए कर्मचारी शिक्षक हुए एकजुट, राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ अटेवा के साथ 1 अप्रैल को मनायेगा काला दिवस

उरई। राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ की जिला इकाई की बैठक जिलाध्यक्ष राजेंद्र राजपूत के आवास पर आयोजित की गई। जिसमें जिला कार्यकारिणी के सभी पदाधिकारी और सदस्य व ब्लाॅक अध्यक्ष व ब्लाॅक मंत्री उपस्थित रहे।
बैठक में ब्लाॅक अध्यक्ष जालौन बृजेश श्रीवास्तव ने बताया कि पुरानी पेंशन समाप्त किये जाने के विरोध में अटेवा पेंशन बचाओ मंच द्वारा 1 अप्रैल को काला दिवस मनाया जा रहा है। इस दिन सभी कर्मचारी व शिक्षक काली पटटी बांधकर कार्य करेंगे। अपरान्ह 2 बजे तहसील गेट पर एकत्रित होकर कर्मचारियों और शिक्षकों द्वारा सभा की जायेगी। इसके बाद जुलूस निकालते हुए शिक्षक कर्मचारी जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचेगे और जिलाधिकारी को मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन सौंपेगे।
संघर्ष समिति के अध्यक्ष इलियास मंसूरी ने कहा कि पुरानी पेंशन की बहाली के लिए 1 अप्रैल को आयोजित उक्त काला दिवस को राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ ने अपना पूर्ण समर्थन देने का फैसला किया है। इस तारतम्य में सभी ब्लाॅक अध्यक्षों को निर्देश दिये गये है कि वे अपने-अपने ब्लाॅक के शिक्षक-शिक्षिकाओं को काला दिवस में शतप्रतिशत सहभागिता के लिए प्रेरित करें। बैठक में राजेंद्र राजपूत, अरविंद नगायच, बृजेश श्रीवास्तव, इलियास मंसूरी, सुरेश वर्मा, विकास गुप्ता, रमाकांत व्यास, विनय मिश्रा, नीतिश शर्मा, राकेश कुमार और अरविंद स्वर्णकार, संतोष विश्वकर्मा उपस्थित रहे।
उधर माहिल तालाब पर अटेवा पेंशन बजाओ मंच की बैठक आयोजित हुई। जिसमें उक्त विरोध प्रदर्शन की सफलता के लिए रणनीति को अंतिम रूप दिया गया। संपूर्णानंद गौतम, बृजेश श्रीवास्तव, उदयवीर निरंजन, सिद्धार्थ उदयवीर, सौरभ खरे, प्रताप भानु, विकास श्रीवास्तव, विक्रम सिंह, अवनीश विश्वकर्मा, पंकज बाजपेयी आदि उपस्थित रहे।






अपने पदों को स्थाई करने हेतु प्रदेश भर के सहसमन्वयकों ने अपने अपने बीएसए को सौंपा ज्ञापन, पद और कद बदलने की चाह में चलाया प्रदेश भर में अभियान


शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने हेतु बीआरसी पर तैनात 21 विकास खंड के सह समन्वयकों ने मंगलवार को जिलाध्यक्ष सत्य प्रकाश पांडेय एवं प्रांतीय कोषाध्यक्ष सुशील उपाध्याय की उपस्थिति में प्रभारी बीएसए एसपी सिंह को मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में उन्होंने शैक्षिक गुणवत्ता संवर्धन को देखते हुए अपने पदों को स्थाई करने, बीटीसी प्रशिक्षण बीआरसी पर कराने व योग्यता के सापेक्ष विभागीय पदों पर होने वाली भर्तियों में सह समन्वयकों को वरीयता प्रदान करने तथा ज्ञानोदय अनुश्रवण एसोसिएशन उप्र को विभागीय मान्यता प्रदान करने की मांग की। इस दौरान सह समन्यवक डा.संतोष तिवारी, शिवाकांत तिवारी, डा.जेपी यादव, शैलेष चतुर्वेदी, डा.अर¨वद सिंह, अंजुम, संजीव अस्थाना, धनंजय सिंह, रवी प्रकाश मिश्र आदि रहे।

जौनपुर : रसोइयों ने दिखाई एकता किया तहसील में प्रदर्शन , नौ माह से नहीं मिला मानदेय , भुखमरी की नौबत

बदलापुर (जौनपुर): बदलापुर रसोइया संघ के लोगों ने मंगलवार को अध्यक्ष गुड्डी शुक्ला की अगुवाई में उप जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन किया। दस सूत्रीय मांगों से संबंधित पत्रक एसडीएम ममता मालवीय को सौंपा। सैकड़ों की संख्या में तहसील परिसर में पहुंचे रसोइयों ने संघ जिंदाबाद के नारे लगाते हुए प्रदर्शन किया। वक्ताओं ने कहा कि हम सभी की तैनाती प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में गरमागरम पका पकाया भोजन बच्चों को देने के लिए की गई है। जहां हम सभी अपनी जिम्मेदारी का बखूबी निर्वहन कर रहे हैं। किंतु सरकार हमें हमारा मानदेय नहीं दे रही है। 1जुलाई 2015 से अभी तक मानदेय नहीं मिला है। नौ माह से मानदेय न मिलने पर परिवार भुखमरी के कगार पर है। अगर शीघ्र भुगतान नहीं किया गया तो हम सभी आंदोलन करने को बाध्य होंगे। एसडीएम को इस आशय का ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन देने वालों में सविता, संगीता, मीना, ¨पटू, अमरावती, फूलमती, सुनीता, शकुंतला आदि रही