DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Saturday, April 30, 2016

फैजाबाद : काउंसलिंग के बाद 162 प्राथमिक के सहायक शिक्षकों की पदोन्नति सूची जारी, सप्ताह भर के अंदर कार्यभार ग्रहण के निर्देश


: काउंसलिंग के बाद 162  प्राथमिक के सहायक शिक्षकों की पदोन्नति सूची जारी, सप्ताह भर के अंदर कार्यभार ग्रहण के निर्देश







काउंसलिंग के बाद 162  प्राथमिक के सहायक शिक्षकों की पदोन्नति सूची जारी, सप्ताह भर के अंदर कार्यभार ग्रहण के निर्देश

फतेहपुर : प्रा०वि०में कार्यरत सहायक अध्यापकों की पदोन्नति हेतु काउन्सिलिंग दिनांक- 03/ 05 /2016 व 04 / 05 / 2016 को सम्पन्न कराने के सम्बन्ध में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने समस्त खंड शिक्षा अधिकारी को किया निर्देशित, जारी की विज्ञप्ति

PASTE NEWS OVER ME
फतेहपुर : प्रा०वि०में कार्यरत सहायक अध्यापकों की पदोन्नति हेतु काउन्सिलिंग दिनांक- 03/ 05 /2016 व 04 / 05 /  2016 को सम्पन्न कराने के सम्बन्ध में  जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने समस्त खंड शिक्षा अधिकारी को किया निर्देशित,  जारी की विज्ञप्ति


महराजगंज : बीएसए ने खण्ड शिक्षा अधिकारियों से मांगी परिषदीय विद्यालयों में उर्दू पढ़ने वाले बच्चों की सूचना

महराजगंज : बीएसए ने खण्ड शिक्षा अधिकारियों से मांगी परिषदीय विद्यालयों में उर्दू पढ़ने वाले बच्चों की सूचना।

बलरामपुर : अटेवा ने की पुरानी पेंशन बहाल करने की मांग, लखनऊ में धरना कल

अटेवा ने की पुरानी पेंशन बहाल करने की मांग, लखनऊ में धरना  कल

महराजगंज : निलंबित अध्यापकों को मूल पंजिका में हस्ताक्षर नहीं करने, सम्पूर्ण प्रभार सीनियर अध्यापक को हस्तगत करने के सम्बन्ध में बीएसए का निर्देश

महराजगंज : निलंबित अध्यापकों को मूल पंजिका में हस्ताक्षर नहीं करने, सम्पूर्ण प्रभार सीनियर अध्यापक को हस्तगत करने के सम्बन्ध में बीएसए का निर्देश।

ललितपुर : लेखा परीक्षा दल के सदस्यों द्वारा बी०आर०सी / एन०पी०आर०सी० / विद्यालय प्रबन्ध समितियों के आडिट के सम्बन्ध में लेखा अधिकारी ने जारी किये आदेश

 लेखा परीक्षा दल के सदस्यों द्वारा बी०आर०सी / एन०पी०आर०सी० / विद्यालय प्रबन्ध समितियों के आडिट के सम्बन्ध में लेखा अधिकारी ने जारी किये आदेश
PASTE NEWS OVER ME
 लेखा परीक्षा दल के सदस्यों द्वारा बी०आर०सी / एन०पी०आर०सी० / विद्यालय प्रबन्ध समितियों के आडिट के सम्बन्ध में लेखा अधिकारी ने जारी किये आदेश

कन्नौज : जिलाधिकारी के निर्देश के क्रम में बीएसए ने जारी किया आदेश, दिनांक 2/5/16 से समस्त विद्यालय प्रातः 8 बजे से 1 बजे तक होंगे संचालित

जिलाधिकारी के निर्देश के क्रम में बीएसए ने जारी किया आदेश, दिनांक 2/5/16 से समस्त विद्यालय प्रातः 8 बजे से 1 बजे तक होंगे संचालित

महराजगंज : 81 नवनियुक्त शिक्षक-शिक्षिकाओं का वेतन भुगतान आदेश जारी

महराजगंज : जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जावेद आलम आलम आजमी ने शुक्रवार को 81 नवनियुक्त शिक्षकों को वेतन भुगतान करने हेतु सम्बन्धित बीईओ और वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा को आदेश जारी कर दिया है। खबर सुन नवनियुक्त शिक्षकों में खुशी की लहर व्याप्त है।

खबर साभार : 'दैनिक जागरण'

चित्रकूट : बीएसए को जिलाधिकारी ने दिया निर्देश बनाएं चेकलिस्ट, स्कूल को घर व विद्यार्थी को पुत्र समझे शिक्षक, सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले शिक्षकों को करें सम्मानित : जिलाधिकारी

पालेश्वर नाथ इंटर कालेज पहाड़ी में शुक्रवार को जिलाधिकारी की अध्यक्षता में ब्लाक स्तरीय शैक्षिक उन्नयन संगोष्ठी का आयोजन किया गया। डीएम ने कहा कि शिक्षक स्कूल को घर व विद्यार्थियों को अपने बच्चे की तरह समङों तभी शिक्षा व्यवस्था में सुधार होगा।  शैक्षिक उन्नयन संगोष्ठी को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी मोनिका रानी ने कहा कि बच्चों को शुरुआती सालों में शिक्षा रूपी अच्छी खाद व पानी दे दिया जाए तो उसे वृक्ष बनने और फल देने से कोई नहीं रोक सकता है। आहवान किया कि शिक्षक बच्चों की कमियों को नियमित चेक करें। आह्वान किया कि शिक्षक स्कूल को घर व विद्यार्थियों को अपने पुत्र के समान समङों तभी तनमयता के साथ काम हो सकेगा। यदि प्राइवेट स्कूलों में ज्यादा नामांकन होंगे तो शिक्षक के अस्तित्व पर खतरा उत्पन्न हो जाएगा। बीएसए को निर्देश दिया कि चेकलिस्ट बनाएं जिसमें शैक्षिक वातावरण का पूरा ब्योरा हो। सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले शिक्षक को सम्मानित किया जाए। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी आनंद प्रकाश शर्मा ने कहा कि शिक्षकों को स्कूल में जल्दी आना देर से जाना तर्ज पर काम करना होगा तभी सम्मान वापस हो सकता है। जबकि देर से आना जल्दी जाना के तर्ज पर काम हो रहा है जो ठीक नहीं है। विद्यालय के बच्चों के साथ पुत्र जैसा व्यवहार करें शिक्षक को सम्मान अपने आप मिलेगा। बीएसए ने खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिया कि विद्यालय के समय में बैठकें न करें। संगोष्ठी में ब्लाक के सभी शिक्षकों को बुलाया गया था।

बागपत : विगत दिनों स्कूल में हुए प्रधानाध्यापक हत्या मामले में हुआ खुलासा, प्रधानाध्यापक की पत्नी और बेटे की भी होनी थी हत्या

सिंघावली अहीर गांव में भाड़े के हत्यारों की योजना प्रधानाध्यापक के साथ-साथ उनकी पत्नी और बेटे को मारने की भी थी, लेकिन ¨खदौड़ा गांव में एक बदमाश की हत्या के बाद बदमाशों का उनकी पत्नी और बेटे की हत्या का प्लान विफल हो गया था। हत्याकांड में मेरठ जेल में बंद बदमाश अमरपाल और अनिल सूप को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी। सिंघावली अहीर गांव निवासी सत्यपाल शर्मा ¨खदौड़ा गांव के प्राइमरी स्कूल में प्रधानाध्यापक थे। भाड़े के तीन हत्यारों ने 23 अप्रैल को स्कूल में ही सत्यपाल शर्मा को मौत के घाट उतार दिया था। इसके बाद ग्रामीणों ने शिशुपाल नाम के बदमाश को पीट-पीटकर मार डाला था। घटना के बाद पकड़े गए बदमाश गौरव से पुलिस ने पूछताछ की थी। एसपी रवि शंकर छवि ने बताया कि बदमाश 22 अप्रैल की रात ही ¨खदौड़ा गांव में पहुंच गए थे और रात में ही बदमाश प्रधानाध्यापक के साथ-साथ उनकी पत्नी उर्मिला और बेटे सोनू शर्मा को भी मारना चाहते थे, जिससे यह लगे कि डकैती के दौरान वारदात को अंजाम दिया गया लेकिन घर में उन्हें घुसने का रास्ता नहीं मिल पाने के कारण उनका प्लान बदल गया। अगले दिन बदमाशों की योजना पहले प्रधानाध्यापक की रास्ते में हत्या और फिर सिंघावली लौटकर उर्मिला और सोनू को मारने की थी। सत्यपाल शर्मा को बदमाश रास्ते में नहीं मार सके जिसके बाद बदमाशों ने उन्हें स्कूूल के अंदर मौत के घाट उतार दिया। प्रधानाध्यापक की हत्या के बाद क्षुब्ध ग्रामीणों ने बदमाश शिशुपाल की पीट-पीट कर हत्या कर दी थी। इसी के बाद बदमाशों का उर्मिला और सोनू की हत्या करने का प्लान विफल हो गया और गौरव व रोहित ही किसी तरह अपनी जान बचाकर भाग निकले थे। अमरपाल व अनिल सूप रिमांड पर आएंगे एसपी ने बताया कि भाड़े के हत्यारों को सुपारी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका मेरठ जेल में बंद अमरपाल शेरपुर लुहारा व अनिल सूप ने निभाई है। दोनों के खिलाफ इस घटना में साजिश का मुकदमा भी कायम कराया गया है। दोनों को जल्द ही रिमांड पर लाकर पूछताछ की जाएगी। मेरठ जेल में बंद आनन्द ने ही अनिल और अमरपाल के माध्यम से भाड़े के हत्यारों से हत्या का सौदा 6.50 लाख रुपए में तय किया था। ये चल रहे हैं फरार सत्यपाल हत्याकांड में राजकरण, पंकज पाराशर, दीपक, रामकिशन, अवनीश, कौशल्या, महेश, बबली, ईशान, रोहित उर्फ टिंकू और रोहित फरार चल रहे हैं जबकि पूजा, रोहित, किरण उर्फ बाबू, गौरव को गिरफ्तार किया जा चुका है। आनन्द, मोहित, अमरपाल व अनिल सूप मेरठ जेल में बंद हैं। भाड़े का हत्यारा शिशुपाल मारा जा चुका।

फैजाबाद : उपश्रमायुक्त ने जारी किया निर्देश,दाखिले के लिए चिन्हित किए जाएंगे बाल श्रमिक

दुकानों व होटलों में काम करने वाले बाल श्रमिकों को चिन्हित कर स्कूलों में दाखिला दिलाया जाएगा। इस बाबत उपश्रमायुक्त डॉ. डीएस त्रिपाठी ने तीन श्रम प्रवर्तन अधिकारियों को दायित्व सौंपा है। यह निर्देश जारी किया गया है कि बच्चों को चिन्हित कर उनका दाखिला स्कूलों में कराया जाएगा। गौरतलब है कि बड़ी संख्या में ऐसे बाल श्रमिक हैं, जिन्हें स्कूल में दाखिला नहीं मिल सका है। न तो सरकारी और न ही निजी स्कूलों में ऐसे बच्चों को दाखिला मिला है। निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ आंदोलन छेड़ने वाले आम आदमी पार्टी के अवध जोन के प्रवक्ता सभाजीत सिंह ने इस मामले को भी उठाया था। उन्होंने बीती 23 अप्रैल को उपश्रमायुक्त को पत्र देकर होटलों व दुकानों में काम करने वाले 6 से 14 आयु वर्ग के बच्चों को चिन्हित करने व ऐसे बच्चों का दाखिला निजी स्कूलों में कराने की मांग की थी। उन्होंने पत्र में कहा था कि शिक्षा के बाजारीकरण की वजह से ही ऐसे बच्चों को निजी स्कूलों में दाखिला नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में यह आवश्यक है कि इन्हें चिन्हित कर अच्छे स्कूलों में प्रवेश दिलाया जाए। वहीं अब इस ओर प्रशासन का ध्यान भी गया है। उपश्रमायुक्त ने श्रम प्रवर्तन अधिकारी एसके कुरील, संतोष कुमार व मनोज कुमार को इस बाबत निर्देश जारी किए हैं। साथ ही बेसिक शिक्षा अधिकारी को भी पत्र भेजा है, जिससे होटलों व दुकानों पर काम करने वाले बच्चों को स्कूलों भेजा जा सके।सिविल लाइंस स्थित एक दुकान पर धूप में बैठकर बर्तन साफ करता बच्चा

अंबेडकरनगर : भोजन एवं ड्रेस खरीद को कराएं टेंडर, डीएम ने लिया आश्रम पद्धति विद्यालय का जायजा, शिक्षिकाओं को भी दी गई स्कूल की जिम्मेदारी

राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय को लेकर प्रशानिक जांच का दौर शुक्रवार को जिलाधिकारी के पहुंचने के बाद थमता नजर आ रहा है। गत मंगलवार को जिला युवा कल्याण अधिकारी जेपी सिंह की जांच आख्या पर एसडीएम नरेंद्र सिंह ने गत गुरुवार को विद्यालय का जायजा लिया था। एसडीएम की जांच आख्या के आधार पर जिलाधिकारी विवेक ने विद्यालय में पहुंचकर विद्यालय प्रशासन और अधिकारियों के साथ क्रय समिति की बैठक की। इसमें उक्त विद्यालय में खामियों को लेकर मिली शिकायत के आधार पर जांच शुरू हुई तो विद्यालय प्रशासन की मुश्किलें बढ़ने लगी थीं। यहां साफ-सफाई से लेकर अनुशासन, छात्रओं को भोजन तथा ड्रेस दिए जाने में कमियां मिलीं थीं। एसडीएम की जांच आख्या को देखते हुए डीएम ने शुक्रवार को आश्रम पद्धति विद्यालय का जायजा लिया। छात्रओं की आवासीय सुविधा से लेकर भोजन दिए जाने, शौचालय, कक्षा कक्ष तथा अन्य सुविधाओं का बारीकी से निरीक्षण किया। तदुपरांत यहां क्रय समिति की बैठक करते हुए छात्रओं के भोजन और ड्रेस की खरीद के लिए टेंडर कराने को निर्देशित किया। छात्रओं के कपड़ों की धुलाई के लिए अलग इंतजाम करने के साथ ही नियमित तौर पर निर्धारित मेन्यू से भोजन तथा फल व दूध देने को कहा। विद्यालय की व्यवस्था को संभालने में अधीक्षिका पर अतिरिक्त बोझ को देखते हुए डीएम ने शिक्षिकाओं में कार्य का वितरण करने को कहा। ऐसे में जिला समाज कल्याण अधिकारी केएल गुप्त ने शिक्षिकाओं को कार्यों का आवंटन किया। व्यवस्था को और चाक-चौबंद करने को निर्देशित किया गया। इस दौरान उप जिलाधिकारी नरेंद्र सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी केएल गुप्त, जिला पूर्ति अधिकारी उवैदुर्रहमान, समाज कल्याण अधिकारी विकास विपिन चंद्र श्रीवास्तव, प्रधानाचार्य ऊषा चौधरी समेत शिक्षिकाएं मौजूद रहीं।

गोंडा : मौसम की मार, स्कूल लाचार , स्कूलों में घट गई छात्रों की उपस्थिति

केस एक- कंपोजिट स्कूल पंतनगर में वैसे तो पंजीकृत छात्रों की संख्या 143 है। शुक्रवार को यहां पर सुबह साढ़े दस बजे तीस बच्चे उपस्थित मिले। शिक्षिकाओं ने बताया कि यहां पर सुबह 55 बच्चे आए थे। शुक्रवार को जुमे की नमाज होने के कारण मिड डे मील खाने के बाद शेष बच्चे चले गए। आंगनबाड़ी केंद्र भी इसी परिसर में चलता है लेकिन वहां पर कोई भी बच्च नहीं था। कार्यकत्रियां तो मौजूद थीं लेकिन बच्चे आकर चले गए थे। केस दो- प्राथमिक विद्यालय पुलिस लाइन का हाल बेहाल है। यहां पर कुल 72 बच्चे पंजीकृत है। यहां पर तैनात शिक्षिका किरनलता श्रीवास्तव ने बताया कि 35 बच्चे आए थे लेकिन पूर्वाह्न 11 बजे यहां पर एक भी बच्च नहीं था। यहां पर अकेले शिक्षिका बैठी हुई थी। उसका कहना था यहां स्कूल परिसर में लगे पेड़ से कीड़े बच्चों को परेशान करते हैं। बच्चे घर चले गए हैं। 1यह दो मामले स्कूलों में छात्रों की उपस्थिति का सच उजागर कर रहे हैं। आए दिन सरकारी स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति कम होने की शिकायतें आ रही है। पिछले दिनों डीएम आशुतोष निरंजन ने बिरवा बभनी गांव का औचक निरीक्षण किया था, जहां पर बच्चों की संख्या कम मिली। इस पर खंड शिक्षा अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की गई। इसके अलावा गुरुवार को सीएमओ ने कर्नलगंज क्षेत्र का औचक निरीक्षण किया तो वहां पर एक स्कूल में मात्र चार बच्चे ही मौजूद मिले। बताया गया कि गांव में शादी समारोह होने के कारण बच्चे नहीं आए हैं। शिक्षकों का कहना है कि एक तो सहालग का दौर, दूसरा मौसम की मार। इससे स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति बेहद कम है। अभिभावकों का कहना है कि प्रशासन को गर्मी को देखते हुए स्कूलों का समय पूर्वाह्न 11 बजे तक किया जाना चाहिए। खंड शिक्षा अधिकारी एके राय का कहना है कि शत प्रतिशत छात्रों की उपस्थिति सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है। इसका औचक निरीक्षण कर जायजा लिया जा रहा है। ताकि इसको सुचारु रूप से संचालित किया जा सके।पुलिस लाइन स्थित प्राथमिक विद्यालय में अकेले बैठी रजिस्टर भरती शिक्षिकागोंडा के कम्पोजिट विद्यालय पंतनगर में कक्षा के बाहर लगे हैंडपम्प से टिफिन में पानी भरता बच्चा जागरणगोंडा के कम्पोजिट विद्यालय में कक्षा में बैठे बच्चे

सीतापुर : रैली निकाल शिक्षा के प्रति किया जागरूक, अभिभावकों को स्कूलों में दाखिला कराने का दिया संदेश

रैली निकाल शिक्षा के  प्रति किया जागरूक, अभिभावकों को स्कूलों में  दाखिला कराने का दिया संदेश

सीतापुर : गुरुजी बोलेंगे हैप्पी बर्थ डे, देंगे तोहफा, स्कूलों में मनाया जायेगा इस माह जन्मे बच्चों का जन्मदिन

गुरुजी बोलेंगे हैप्पी बर्थ डे, देंगे तोहफा, स्कूलों में मनाया जायेगा इस माह जन्मे बच्चों का जन्मदिन

सीतापुर : बुनियादी संसाधनो की कमी से जूझ रहे प्रेरक, प्रशिक्षण व जरूरी सामग्री का आभाव, डेढ़ साल से नही मिला मानदेय

बुनियादी संसाधनो की कमी से जूझ रहे प्रेरक, प्रशिक्षण व जरूरी सामग्री का आभाव, डेढ़ साल से नही मिला मानदेय

शाहजहाँपुर : बरात के लिए जबरन छुट्टी न करने पर दबंगों का उत्पात, इन्कार पर अध्यापक को धुना, दहशत से रोते रहे बच्चे

विद्यालय में बरात रोकने के लिए दस बजे छुट्टी कराना चाहते थे, इन्कार पर अध्यापक को धुना
खौफजदा अध्यापक और बच्चे कक्षा में छिपे, पुलिस के पहुंचने पर आए बाहर
बरात के लिए जबरन छुट्टी न करने पर दबंगों का उत्पात, इन्कार पर अध्यापक को धुना, दहशत से रोते रहे बच्चे
विद्यालय में बरात रोके के लिए दस बजे छुट्टी कराना चाहते थे, इन्कार पर अध्यापक को धुनाखौफजदा अध्यापक और बच्चे कक्षा में छिपे, पुलिस के पहुंचने पर आए बाहर

गोंडा : बीएसए ने ‘डिस्पैच’ में हो रहे खेल को पकड़ा, जांच के दौरान बीच के 40 नंबर मिले खाली, लिपिक से मांगा स्पष्टीकरण

पहले भी आ चुके हैं मामले बीएसए कार्यालय में अधिकारियों के फर्जी आदेश से नियुक्ति पत्र जारी करने का मामला सामने आ चुका है। यहां पर कई चतुर्थ श्रेणी कर्मियों की नियुक्ति मेमो के आधार पर जारी पत्र से हो चुकी है। जब उसकी जांच कराई गई तो पाया गया कि कार्यालय में कोई पत्र ही नहीं मौजूद है। इस पर कई की सेवा समाप्त हो चुकी है। आ रही थीं शिकायतें- प्रशिक्षु शिक्षकों के सत्यापन को लेकर भी डिस्पैच नंबर का खेल सामने आया था। इसको लेकर वसूली की शिकायतें भी सामने आई थी। उस वक्त अधिकारियों ने कार्रवाई की थी। इसके बाद भी हाल सुधरा नहीं। प्रकरण गंभीर है। बीच के 40 डिस्पैच नंबर छोड़ दिए गए थे। जिस पर कार्रवाई की जा रही है। लिपिक से स्पष्टीकरण मांगा जा रहा है। ’

बेसिक शिक्षा विभाग में डिस्पैच रजिस्टर में खेल का एक बड़ा मामला पकड़ में आया है। जिस पर संबंधित विभागीय कर्मी के खिलाफ कार्रवाई शुरू हो गई है। दरअसल, विभाग में इससे पहले भी डिस्पैच के कई मामले सामने आ चुके हैं। इस खुलासे को लेकर विभाग में खलबली मची हुई है। बीएसए कार्यालय से जारी होने वाले सभी पत्रों को एक रजिस्टर पर दर्ज किया जाता है। जिस पर संबंधित तिथि के साथ ही पत्रंक जारी किया जाता है। इसमें संबंधित प्रकरण का हवाला भी दिया जाता है। जिससे अगर कभी भी कोई जानकारी करनी हो तो पत्रंक नंबर से उसे खोजा जा सके। इसके बाद भी बीएसए कार्यालय के डिस्पैच रजिस्टर से आए दिन खेल होने की शिकायतें अधिकारियों को मिल रही थी। पिछले दिनों बीएसए डॉ. फतेह बहादुर सिंह ने अपने कार्यालय से जारी होने वाले पत्रों का डिस्पैच रजिस्टर चेक किया तो कई खुलासे हो गये। पिछली तिथियों में एक दो नहीं करीब 40 स्थान खाली छोड़ दिए गये थे, जिस पर कोई भी टिप्पणी अंकित नहीं थी। इसके आगे पत्रंक जारी किए गए थे, बीच में अधूरा रजिस्टर होने पर जब संबंधित बाबू से पूछताछ की गई तो वह कोई सटीक जानकारी नहीं दे पाया। इस पर संबंधित लिपिक आलोक से बीएसए ने स्पष्टीकरण मांगा है। इसको लेकर खलबली मची हुई है।

हरदोई : बीआरसी को पाई-पाई का देना होगा हिसाब , डायट प्राचार्या ने सख्त रुख अपनाते हुए सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को लिखा पत्र

ब्लाक संसाधन केंद्रों पर शिक्षकों के प्रशिक्षण के लिए भेजी गई धनराशि का खंड शिक्षा अधिकारियों को अब पाई-पाई का हिसाब देना होगा। डायट ने ब्लाक संसाधन केंद्रों पर भेजी गई चार लाख 18 हजार सभी खंड शिक्षा अधिकारियों से हिसाब मांगा है। तीन दिन के अंदर हिसाब न देने पर उनके विरुद्ध कार्रवाई की संस्तुत करने की चेतावनी दी है। बताते चलें कि ब्लाक संसाधन केंद्रों पर विज्ञान और गणित विषय को और बेहतर ढंग से विद्यालय में पढ़ाने के लिए परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों का ब्लाक संसाधन केंद्रों पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया था। ब्लाक संसाधन केंद्र पर शिक्षकों को प्रशिक्षण देने के लिए जिला एवं शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान की ओर से प्रशिक्षण की धनराशि स्थानांतरित की गई है।जिसमें शिक्षकों को प्रशिक्षण के दौरान स्वल्पाहार व स्टेशनरी आदि की व्यवस्था कराई गई थी। जिले के सभी ब्लाक संसाधन केंद्रों पर कुल चार लाख 18 हजार रुपये भेजे गए थे। ब्लाक संसाधन केंद्रों पर शिक्षकों का प्रशिक्षण तो करा दिया गया और उसकी धनराशि भी व्यय कर दी गई मगर उसका विवरण डायट को ब्लाक संसाधन केंद्र प्रभारी ने उपलब्ध नहीं कराया। इस संबंध में डायट की ओर से कई पत्र जारी किए गए, मगर अभी तक विवरण नहीं दिया गया है। तीन दिन में जमा करें विवरण डायट प्राचार्या डा. मीरा पाल सख्त रुख अपनाते हुए सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेज कर तीन दिन के अंदर खर्च की गई धनराशि का विवरण उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। धनराशि का विवरण निर्धारित समय से उपलब्ध न कराने पर खंड शिक्षा अधिकारियों को कार्रवाई के लिए लिखने की चेतावनी दी है।

फतेहपुर : डीएम ने तलब किये सभी बीईओ के आवासीय पते, तीन दिन में सूचना उपलब्ध कराने के निर्देश, प्रतिदिन की आवाजाही से हैं खफा है जिलाधिकारी

डीएम ने तलब किये सभी बीईओ के आवासीय पते, तीन दिन में सूचना उपलब्ध कराने के निर्देश, प्रतिदिन की आवाजाही से हैं खफा है जिलाधिकारी

लखनऊ : बीएसए ने चार स्कूलों का किया निरीक्षण, खुली अटेंडेंस की पोल, एक महीना बीता, अब तक ऑनलाइन अपडेट नहीं हो रही स्कूलों के निरीक्षण की रिपोर्ट

बीएसए ने चार स्कूलों का किया निरीक्षण, खुली अटेंडेंस की पोल

100 में से 92 बच्चे मेले में गए

• एक महीना बीता, अब तक ऑनलाइन अपडेट नहीं हो रही स्कूलों के निरीक्षण की रिपोर्ट
•अधिकारियों को हर तीन दिन के निरीक्षण का ब्योरा करना था अपडेट

प्राइमरी स्कूलों में व्यवस्था का जायजा लेने के लिए सह बेसिक शिक्षा निदेशक ने एक अप्रैल से सभी अधिकारियों को स्कूलों के निरीक्षण का ब्यौरा हर तीन दिन में ऑनलाइन अपडेट करने का आदेश दिया था। हाल यह है कि 29 अप्रैल तक बीएसए सहित किसी अधिकारी ने निरीक्षण की डिटेल अपडेट नहीं की है। बीते 25 अप्रैल को इस व्यवस्था को लेकर सह शिक्षा निदेशक बेसिक कार्यालय में ट्रेनिंग भी हो चुकी है। उसके बावजूद एक भी निरीक्षण की रिपोर्ट अपडेट नहीं हुई है। बीएसए ने शुक्रवार को चार स्कूलों का दौरान किया। उसकी भी रिपोर्ट अपलोड नहीं की गई। 

बीएसए प्रवीणमणि त्रिपाठी ने शुक्रवार को चार स्कूलों का दौरा किया। उन्होंने बताया कि निरीक्षण के दौरान सरोजनी नगर के स्कूटर इंडिया निकट प्राथमिक विद्यालय में 125 छात्र उपस्थित मिले। वहीं मिरानपुर पिलवट के प्राथमिक विद्यालय में 68 छात्र मौजूद थे। 

जबकि औरंगाबाद के प्राथमिक विद्यालय 102 में से सिर्फ 8 बच्चे ही उपस्थित थे। पूछने पर शिक्षक ने बताया कि पास के गांव में मेला लगा है, बच्चे वहीं गए हैं। इसके अलावा औरंगाबाद के ही पूर्व प्राथमिक विद्यालय में 155 में से 9 बच्चे ही स्कूल में मौजूद मिले। 

50 में से एक भी नहीं 

हुआ अपडेट

सह शिक्षा निदेशक महेंद्र सिंह राणा के मुताबिक बेसिक शिक्षा निदेशक की ओर से मिले निर्देश के मुताबिक एक अप्रैल से हर तीन दिन में बीएसए, एडी बेसिक को 10 और बीएलओ को 20 निरीक्षण का ब्यौरा वेबसाइट पर अपलोड करना था। एक अप्रैल से प्राथमिक विद्यालय और पूर्व प्राथमिक विद्यालयों में नये सत्र की शुरुआत हो गई है। इस वजह से वक्त नहीं मिला पाया। जल्द ही सारा डेटा ऑनलाइन अपलोड करवा दिया जाएगा।

बीटीसी टीईटी उत्तीर्ण अभ्यर्थियों ने नवसृजित सप्लीमेंट्री प्लान के तहत रिक्त पदों को जोड़ने की मांग को लेकर किया प्रदर्शन, की नारेबाजी


बीटीसी टीईटी उत्तीर्ण अभ्यर्थियों ने शुक्रवार को धूप में खड़े होकर लक्ष्मण मेला स्थल पर नारेबाजी की। उनकी मांग है कि बेसिक शिक्षा परिषद इलाहाबाद की 15 हजार सहायक अध्यापक भर्तियों में नवसृजित सप्लीमेंट्री प्लान के तहत रिक्त 16,448 पदों को भी जोड़ा जाए।

Friday, April 29, 2016

सहारनपुर : जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने समस्त खंड शिक्षा अधिकारी को किया निर्देशित , पूर्व की भाँति बनी रहेगी रसोईयों की स्थिति, नवीन चयन व किसी रसोईये को हटाने पर प्र०अ०/ इ०प्र०अ० के विरूद्ध होगी कार्यवाही

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने समस्त खंड शिक्षा अधिकारी को किया निर्देशित , पूर्व की भाँति बनी रहेगी रसोईयों की स्थिति, नवीन चयन व किसी रसोईये को हटाने पर प्र०अ०/ इ०प्र०अ० के विरूद्ध होगी कार्यवाही

महराजगंज : स्कूल चलो अभियान की जनपद स्तरीय रैली कल 30 अप्रैल को

महराजगंज: स्कूल चलो अभियान की जनपद स्तरीय रैली आगामी 30 अप्रैल को प्रातः 8 बजे से पूर्व माध्यमिक विद्यालय महराजगंज परिसर से निकाली जाएगी। रैली मुख्य चौराहा से होते हुए फरेन्दा रोड पर बीडीओ कार्यालय तक जाएगी।

खबर साभार : 'दैनिक जागरण'