DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Sunday, April 16, 2017

प्रिंट मीडिया ने किया शिक्षकों पर कटाक्ष : छुट्टी में कटौती की आशंका से गुरू जी खासे परेशान, गुरू जी के पीछे पड़ गया बाबा जी का डंडा

भइया इन दिनों बाबा जी का डंडा गुरुजी के पीछे पड़ गया है। पहले परीक्षाओं में गुरुजी की पोल खोली, नकल करते और कराते धरे गए गुरू जी। अब स्कूलों की छुट्टी में कटौती की आशंका से गुरू जी खासे परेशान हैं। पहले तो साल में डेढ़ पौने दो सौ छुट्टी मिल जाया करती थीं जिससे मौज ही मौज थी लेकिन अब बाबा जी ने महापुरुषों के नाम पर होने वाली छुट्टी में अपनी राय जोड़ दी है।

वो दिन दूर नहीं जब इस बात के आदेश भी हो जाएंगे कि अब गुरू जी महापुरुषों के जन्म दिन पर स्कूल कालेजों में दो घंटे अतिरिक्त पढ़ाएंगे। पढ़ायें भी क्यों न गुरू जी अब मौज के दिन लद गए हैं। बाबा जी का डंडा शिक्षा विभाग पर भी चल रहा है। इतना ही नहीं बाबा के मंत्री तो अब स्कूलों में जा-जाकर शिष्यों से सवाल भी पूछ रहे हैं। गुरू जी से भी सवाल-जवाब किए जा रहे हैं। कल तक जो बच्चों पर डंडा चलाते थे अब बाबा जी का डंडा उन्हीं पर चलने लगा है।

गुरू जी परेशान हैं, सुना है बाबा जी स्कूलों में हाजिरी मशीन भी लगवाने जा रहे हैं, पहले तो गुरू जी बच्चों की हाजिरी लिया करते थे अब खुद हाजिरी भरवाने से परेशान हैं गुरू जी। और तो और अब बाबा जी गुरू जी को इतिहास, भूगोल के साथ-साथ योग का भी प्रशिक्षण देने के लिए आदेश करने वाले हैं।

बाबा जी का मानना है कि गुरू जी जब स्वस्थ होंगे तो बच्चे अपने आप स्वस्थ होंगे और उनका दिमाग भी खूब चलेगा। अब यह दिमाग कहां पर चलेगा यह तो आने वाला समय ही बताएगा, परंतु इतना तय है कि गुरू जी इन दिनों बेहद परेशान हैं। ऐसी सरकार उन्होंने पहले कभी नहीं देखी। जीवन के अंतिम बसंतों में अब इतनी कवायदें करनी पड़ेगीं यह तो उन्होंने कभी सोचा ही नहीं था, सोचें भी क्यों अभी तक गुरू जी का सोसायटी में सम्मान जो होता आया है।

जय हो बाबा जी की..इटावा : भइया इन दिनों बाबा जी का डंडा गुरुजी के पीछे पड़ गया है। पहले परीक्षाओं में गुरुजी की पोल खोली, नकल करते और कराते धरे गए गुरू जी। अब स्कूलों की छुट्टी में कटौती की आशंका से गुरू जी खासे परेशान हैं। पहले तो साल में डेढ़ पौने दो सौ छुट्टी मिल जाया करती थीं जिससे मौज ही मौज थी लेकिन अब बाबा जी ने महापुरुषों के नाम पर होने वाली छुट्टी में अपनी राय जोड़ दी है। वो दिन दूर नहीं जब इस बात के आदेश भी हो जाएंगे कि अब गुरू जी महापुरुषों के जन्म दिन पर स्कूल कालेजों में दो घंटे अतिरिक्त पढ़ाएंगे। पढ़ायें भी क्यों न गुरू जी अब मौज के दिन लद गए हैं। बाबा जी का डंडा शिक्षा विभाग पर भी चल रहा है। इतना ही नहीं बाबा के मंत्री तो अब स्कूलों में जा-जाकर शिष्यों से सवाल भी पूछ रहे हैं। गुरू जी से भी सवाल-जवाब किए जा रहे हैं। कल तक जो बच्चों पर डंडा चलाते थे अब बाबा जी का डंडा उन्हीं पर चलने लगा है।

गुरू जी परेशान हैं, सुना है बाबा जी स्कूलों में हाजिरी मशीन भी लगवाने जा रहे हैं, पहले तो गुरू जी बच्चों की हाजिरी लिया करते थे अब खुद हाजिरी भरवाने से परेशान हैं गुरू जी। और तो और अब बाबा जी गुरू जी को इतिहास, भूगोल के साथ-साथ योग का भी प्रशिक्षण देने के लिए आदेश करने वाले हैं।

बाबा जी का मानना है कि गुरू जी जब स्वस्थ होंगे तो बच्चे अपने आप स्वस्थ होंगे और उनका दिमाग भी खूब चलेगा। अब यह दिमाग कहां पर चलेगा यह तो आने वाला समय ही बताएगा, परंतु इतना तय है कि गुरू जी इन दिनों बेहद परेशान हैं। ऐसी सरकार उन्होंने पहले कभी नहीं देखी। जीवन के अंतिम बसंतों में अब इतनी कवायदें करनी पड़ेगीं यह तो उन्होंने कभी सोचा ही नहीं था, सोचें भी क्यों अभी तक गुरू जी का सोसायटी में सम्मान जो होता आया है। जय हो बाबा जी की..

No comments:
Write comments