DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Tuesday, April 11, 2017

सर्व शिक्षा अभियान की पक्षपात पूर्ण नीति पर उठे सवाल, बा विद्यालयों में समान संवर्ग में उर्दू विषय के शिक्षकों को अन्य विषयों के शिक्षकों से अधिक मानदेय मिलने का मामला

नगर विकास मंत्री के समक्ष शिक्षकों ने उठाया मुद्दा
सर्व शिक्षा अभियान की पक्षपात पूर्ण नीति पर सवाल उठाए। कहा, समान संवर्ग में उर्दू विषय के शिक्षक को ज्यादा मानदेय और अन्य विषयों के शिक्षकों को कम
जागरण संवाददाता, शाहजहांपुर : कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय के शिक्षक व शिक्षिकाओं ने सोमवार को नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना से उनके आवास पर मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने सर्व शिक्षा अभियान की पक्षपात पूर्ण नीति पर सवाल उठाए। कहा, समान संवर्ग में उर्दू विषय के शिक्षक को 12 हजार मानदेय दिया जाता है, जबकि अन्य विषयों के शिक्षकों को मात्र पांच हजार ही मानदेय नियत है। 1शिक्षकों ने इसे गत सरकार का पक्षपातपूर्ण रवैया बताया। कहा कि बा विद्यालयों के शुरू होने पर समान रूप से चार हजार और 2008 में वृद्धि कर 7200 मानदेय किया गया। 2014 में उर्दू शिक्षकों के मानदेय में 66 फीसद वृद्धि करके 12000 रुपये मानदेय कर दिया गया, लेकिन अन्य विषयों के शिक्षकों का मानदेय 31 फीसद घटा दिया गया। नतीजतन 2014 के बाद से अन्य शिक्षकों को 7200 के सापेक्ष 5000 रुपये मानदेय मिल रहा है। शिक्षकों ने बताया कि वार्डन के मानदेय में 127 फीसद, फुल टाइम टीचर के मानदेय में 117 फीसद, पार्ट टाइम टीचर उर्दू में 66 फीसद एवं लेखाकार 67 फीसद बढ़ाया गया, सिर्फ पार्ट टाइम टीचर (उर्दू विषय छोड़कर) का मानदेय ही घटा दिया गया। उन्होंने समान संवर्ग में समान मानदेय दिए जाने और नियमित किए जाने की की।

No comments:
Write comments