DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Monday, April 10, 2017

गोरखपुर : कैलेंडर से नहीं हुई पढ़ाई तो होगी कार्रवाई, मंडलीय शिक्षा निदेशक भी करेंगे विद्यालयों का दौरा

शैक्षिक गुणवत्ता परखने के लिए बेसिक शिक्षा अधिकारी के अलावा मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक भी विद्यालयों का दौरा करेंगे और अपनी रिपोर्ट शासन को भेजेंगे। इसमें विद्यालय में शैक्षिक प्रगति की स्थिति और छात्रों में विषय के प्रति समझ का अनिवार्य रूप से उल्लेख करना होगा

परिषदीय स्कूलों की शिक्षा व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए प्रदेश सरकार ने शैक्षिक कैलेंडर जारी किया है। वैसे तो शैक्षिक कैलेंडर जारी करने औपचारिकता हर साल पूरी की जाती है लेकिन इस बार कैलेंडर के अनुसार पाठ्यक्रम पूरा कराने की सख्त हिदायत दी गई है। परिषदीय शिक्षा सचिव ने सभी जिलों के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र लिखकर शैक्षिक कैलेंडर विद्यालयों में अविलंब भेजने तथा उसके अनुसार पठन-पाठन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया है

शैक्षिक सत्र एक अप्रैल से शुरू हो गया है। विद्यालयों में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के उद्देश्य से इस शैक्षिक सत्र में पाठ्यक्रम पूरा करने में शैक्षिक कैलेंडर का अनुपालन कराने पर शासन का विशेष जोर है। विद्यालयों में कैलेंडर के अनुसार पठन-पाठन कराने के लिए शासन ने सीधे तौर पर बेसिक शिक्षा अधिकारियों को जिम्मेदार बनाया है। वह खुद विद्यालयों का औचक निरीक्षण कर इस बात की तस्दीक करेंगे कि कैलेंडर के अनुसार पढ़ाई हो रही है कि नहीं।

शैक्षिक कैलेंडर को पूरी तरह से लागू कराने में खंड शिक्षा अधिकारियों (बीइओ) को अहम जिम्मेदारी दी गई है। हर खंड शिक्षा अधिकारी को प्रत्येक माह कम से कम 20 विद्यालयों का निरीक्षण कर बेसिक शिक्षा अधिकारी को रिपोर्ट भेजनी होगी। खंड शिक्षा अधिकारी ही हर कक्षा में शैक्षिक कैलेंडर के अनुसार पठन-पाठन होने, उत्तर पुस्तिकाओं की जांच होने तथा विषय के प्रति बच्चों की समझ के संबंध में निर्धारित प्रारूप में रिपोर्ट तैयार कर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को भेजेंगे। उनकी रिपोर्ट के आधार पर जरूरी कदम उठाए जाएंगे।

खंड शिक्षा अधिकारी को अपनी रिपोर्ट में वे विद्यालय में शैक्षिक प्रगति की स्थिति और मूल्यांकन से संबंधित टिप्पणी स्वयं दर्ज करेंगे। बेसिक शिक्षा अधिकारियों को भेजे गए पत्र में परिषदीय शिक्षा सचिव ने इस काम में खंड शिक्षा अधिकारियों की किसी तरह की लापरवाही या शिथिलता मिलने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है। बीएसए व बीइओ करेंगे सभी विद्यालयों का निरीक्षण’
निर्धारित प्रारूप में रिपोर्ट तैयार कर भेजेंगे खंड शिक्षा अधिकारी

No comments:
Write comments