DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Saturday, June 3, 2017

एडेड डिग्री कॉलेजों के शिक्षकों के प्रमोशन का रास्ता साफ, 28 मई 2015 की कट ऑफ डेट के बाद ओरियंटेशन और रिफ्रेशर कोर्स पूरा करने वाले प्रमोशन के सभी लाभ पा सकेंगे

लखनऊ : अशासकीय सहायताप्राप्त (एडेड) महाविद्यालयों के जो शिक्षक 28 मई 2015 की कट ऑफ डेट के बाद ओरियंटेशन और रिफ्रेशर कोर्स पूरा करेंगे, उन्हें प्रमोशन के सभी लाभ देयता तिथि यानी 28 मई 2015 से दिये जाएंगे। शुक्रवार को सचिवालय में उप मुख्यमंत्री डॉ.दिनेश शर्मा के साथ लखनऊ विश्वविद्यालय सहयुक्त महाविद्यालय शिक्षक संघ ‘लुआक्टा’ के पदाधिकारियों की बैठक में इस पर सहमति बनी है। इससे एडेड कॉलेजों के शिक्षकों के प्रमोशन की बाधा दूर होगी।



⚫ प्रोन्नति में ओरियंटेशन व रिफ्रेशर कोर्स का लाभ कट ऑफ डेट से
⚫ उप मुख्यमंत्री संग लुआक्टा पदाधिकारियों की बैठक में सहमति




बैठक में शिक्षकों के परीक्षा पारिश्रमिक की वर्तमान दरों को वित्त विभाग की सहमति के बाद दोगुना किये जाने पर भी सहमति बनी। उप मुख्यमंत्री ने लुआक्टा को आश्वस्त किया कि राज्य कर्मचारियों की ही तरह उच्च शिक्षा विभाग के जो शिक्षक जनवरी 2006 से जून 2006 के बीच नियुक्त हुए हैं, उन्हें एक अतिरिक्त वेतन वृद्धि दिये जाने पर राज्य सरकार विचार करेगी। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि अप्रैल 2005 के बाद नियुक्त शिक्षकों के सीपीएफ की कटौती यथाशीघ्र की जाएगी।


अशासकीय महाविद्यालयों तथा विश्वविद्यालयों के शिक्षकों के लिए लागू सामूहिक जीवन बीमा योजना में की जाने वाली कटौती की आयु 60 वर्ष से बढ़ाकर 62 वर्ष तक की जाएगी। नैक से ‘ए’ ग्रेड प्राप्त महाविद्यालयों में यूजीसी का वेतनमान जारी रहेगा। महाविद्यालयों के शिक्षकों को प्रोफेसर का पदनाम दिये जाने, विनियमितीकरण से वंचित मानदेय शिक्षकों को विनियमित करने, कैशलेस चिकित्सीय सुविधा आदि दिये जाने की मांग पर उप मुख्यमंत्री ने इस पर सकारात्मक रूप से विचार करने का आश्वासन दिया। बैठक में लुआक्टा के अध्यक्ष डॉ.मनोज पांडेय, विशेष सचिव उच्च शिक्षा मधु जोशी व शंभु कुमार, निदेशक उच्च शिक्षा आरपी सिंह भी मौजूद थे।

No comments:
Write comments