DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Saturday, July 22, 2017

बरेली : समायोजन सूची में फर्जीवाड़ा, प्रा0शि0संघ के आरोपों पर डीएम ने दिया जांच का आश्वासन, समायोजन प्रक्रिया हो सकती है रद्द

जागरण संवाददाता, बरेली : राजकीय माध्यमिक सरप्लस शिक्षकों की समायोजन सूची के पुन: परीक्षण में तीन शिक्षक बाहर हो गए है। शिक्षकों के आरोपों की पुष्टि हुई है और इसे तैयार करने में किए गए ‘खेल’ का खुलासा हो गया है। हालांकि पुन: परीक्षण के बाद 6 नाम और शामिल हुए हैं। 1 शहर में जीआइसी से 11 शिक्षक इस सूची में शामिल थे। जब सूची वेबसाइट पर सार्वजनिक हुई तो शिक्षकों ने आपत्ति जताई। राजकीय माध्यमिक शिक्षक संघ ने मामले को उप मुख्यमंत्री व शिक्षामंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के दरबार में उठाया। दैनिक जागरण ने भी प्रमुखता से मामला उजागर किया। इस पर निदेशक ने सभी जिला विद्यालय निरीक्षक को इस सूची का पुन: परीक्षण कराने के निर्देश दिए। जब शुक्रवार को पुन: परीक्षण हुआ तो तीन शिक्षकों के दावे सही साबित हुए। इनका नाम इस सूची से हटाया गया। वहीं, 6 शिक्षक और सरप्लस श्रेणी में आ गए। 17 सरप्लस शिक्षकों की सूची तैयार करके अधिकारियों के पास भेजी गई। निदेशालय से इस सूची को वेबसाइट पर सार्वजनिक किया जाएगा।जागरण संवाददाता, बरेली : फरीदपुर डायट पर गुरुवार को काउंसलिंग शुरू हुई तो शिक्षकों ने हंगामा काटा और नाराज शिक्षकों ने मामला डीएम दरबार में उठा दिया। शिक्षकों ने बेसिक शिक्षा विभाग के अफसरों की खामियां गिनाई, कई आरोप मढ़े। शिक्षकों ने समायोजन सूची में गड़बड़ी होने की बात पहले ही कही थी। 1डीएम ने शुक्रवार को बीएसए व शिक्षकों को एक साथ वार्ता के लिए बुला लिया। प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष नरेश गंगवार के नेतृत्व में शिक्षक पहुंचे। बीएसए चंदना राम इकबाल यादव डीएम से मिलकर निकल गई। बाद में शिक्षक जब डीएम से मिले तो डीएम ने उनसे कहा, चिंता न करे समायोजन का अंतिम निर्णय मैं ही लूंगा। समायोजन सूची से लेकर काउंसलिंग प्रक्रिया की खुद करूंगा। 1समायोजन प्रक्रिया हो सकती है रद : जिलाधिकारी की सख्ती के बाद यदि प्रक्रिया की गहनता से हुई तो हकीकत उजागर होगी। ऐसे में समायोजन प्रक्रिया रद्द होने की संभावनाएं बढ़ गई है। पूरे दिन विभाग से लेकर जिले में काउंसलिंग प्रक्रिया रद होने की चर्चा होती रही। 1यह लगाए आरोप : समायोजन सूची में शिक्षकों ने अफसरों पर आरोप लगाया। किसी स्कूल में शिक्षकों के मुकाबले छात्र संख्या कम तो किसी में अधिक दिखाई है। मृतक आश्रितों की नियुक्ति तिथि के स्थान पर प्रशिक्षिण प्राप्त करने की तिथि को आधार बनाया गया है। महिला के स्थान पर पुरूष दर्शाए गए हैं। दिव्यांगों को भी कोटे के अनुसार वंचित किया गया है।’>>प्राथमिक शिक्षकों ने नियमों का पालन नहीं करने का लगाया आरोप1’>>आरोप सुनकर डीएम ने कहा, न करे चिंता अंतिम निर्णय मैं ही लूंगा’>>राजकीय माध्यमिक शिक्षकों ने आरोप लगाकर दर्ज कराई थी शिकायत1’>>उप मुख्यमंत्री दरबार में गूंजा था मामला, जागरण ने प्रमुखता से किया था उजागरनिदेशक का आदेश मिलने के बाद सरप्लस सूची का पुन: परीक्षण किया गया। शिक्षकों के प्रत्यावेदन के आधार पर तीन शिक्षक इससे बाहर हुए है, लेकिन 6 नाम और बढ़े हैं।1अचल कुमार मिश्र, डीआइओएस


No comments:
Write comments