DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Thursday, July 20, 2017

सीतापुर : समय से स्कूल आने को कहा तो दबंगई पर उतरी शिक्षिका, सहायक अध्यापिका ने हेड मास्टर को दांत से काटा

दबंगई
पति, ससुर समेत शिक्षिका के खिलाफदर्ज कराया केस
शिक्षामित्र से सहायक अध्यापिका बन गांव के स्कूल में ही तैनाती

प्राथमिक विद्यालय चढ़रा में कार्यरत प्रधानाध्यापिका विनीता सिंह ने महोली कोतवाली में सहायक अध्यापिका शालिनी त्रिवेदी उसके पति आदर्श त्रिवेदी और ससुर विष्णुदयाल त्रिवेदी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। विनीता सिंह ने पुलिस प्रशासन से जानमाल की सुरक्षा भी मांगी है। विनीता ने कहा है कि शिक्षामित्र से सहायक अध्यापिका बनी शालिनी इसी गांव की है। इसीलिए समय से ड्यूटी न आकर दबंगई दिखाती है। एक तो चोरी ऊपर से सीनाजोरी: प्राथमिक विद्यालय चढ़रा में लगभग सौ बच्चों को पढ़ाने के लिए प्रधानाध्यापिका समेत तीन शिक्षिकाएं है। वर्ष 2015 में महोली के चड़रा गांव की ही शालिनी त्रिवेदी का समायोजन शिक्षामित्र से सहायक अध्यापिका पद के लिए हो गया था। प्रधानअध्यापिता विनीता सिंह ने बताया कि शिक्षामित्र का काम करते समय भी शालिनी अनुशासन का ध्यान नहीं रखती थीं। दोपहर में विद्यालय आती थीं। कुछ देर बैठकर चली जाती थीं। सरकार बदली। माहौल बदला। ऐसे में जब शालिनी पर काम का दबाव डाला गया। समय से आने के लिए कहा गया। तब वह आक्रामक हो उठी। हाजिरी रजिस्टर फाड़ने का आरोप : मन मुताबिक तरीके से नौकरी करने, समय से विद्यालय न आने पर प्रधानध्यापिका विनीता ने शालिनी से उपस्थिति पंजिका पर हस्ताक्षर करने को कहा तो नाराज होकर शलिनी ने विनीता के हाथ में काट लिया। मारपीट पर अमादा हो गई। मामले की जानकारी एसडीआई ईश्वरकांत मिश्र को विनीता ने दी। आरोप-पति और ससुर ने भी दी धमकी: एसडीआई से शिकायत होने के बाद विपक्षियों के हौसले कम नहीं हुए। विनीता सिंह को जान से मारने की, डय़ूटी करने गांव में न घुसने देने की, अपहरण तक की धमकी शालिनी त्रिवेदी के पति आदर्श और ससुर विष्णु दयाल ने दी है। धमकियों के बाद विनीता ने संबंधित थाने में सूचना दी। उसके बाद मेडिकल परीक्षण भी कराया है।
फटा रजिस्टर दिखातीं प्रधानाध्यापिका

No comments:
Write comments