DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Friday, July 28, 2017

रामपुर : पेंशन दिलाने को लिपिक ने मांगी घूस, जनता दर्शन में पीड़ित ने डीएम को सुनवाई रिश्वत मांगने की रिकॉर्डिंग, केस दर्ज

रामपुर कार्यालय संवाददाताशिक्षा विभाग के एक सेवा निवृत्त लिपिक ने अपने ही स्कूल से रिटायर्ड होने वाली शिक्षिका से घूस मांगी। पेंशन दिलाने के नाम पर 95000 की रिश्वत मांगी गई, जिसकी शिक्षिका के पति ने रिकार्डिंग कर ली। जनता दर्शन में डीएम ने आरोपी रिटायर्ड लिपिक के सामने जब इस रिकार्डिंग को सुना तो उन्होंने बीएसए के वित्त एवं लेखाधिकारी को तलब कर लिया। डीएम के आदेश पर वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा की ओर से आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।मंगलवार को जिलाधिकारी शिव सहाय अवस्थी के समक्ष जनता दर्शन के दौरान इमानुएल जौहरी निवासी मोहल्ला चक तहसील स्वार अपनी शिकायत लेकर आए थे। उन्होंने बताया कि उनकी पत्नी ग्रेस गम्मन मसीह बालिका जूनियर हाई स्कूल स्वार में सहायक अध्यापिका थीं, जो सेवा निवृत्त हो गई हैं। आरोप लगाया कि उनकी पेंशन बनवाने के नाम पर इसी विद्यालय से सेवानिवृत्त लिपिक सतीष चन्द्र सक्सेना पैसे मांग रहे हैं। जिलाधिकारी मामले को गंभीरता से लेते हुए बुधवार को शिकायतकर्ता और आरोपी लिपिक दोनों को बुलवा लिया। जिसमें शिकायत कर्ता द्वारा अवैध वसूली के सम्बन्ध में की गयी रिकार्डिंग को आरोपी सतीश चन्द्र सक्सेना के सामने सुना। डीएम द्वारा पूछे जाने पर आरोपी ने स्वीकार की रिकार्डिंग उन्हीं की है। डीएम के अनुसार आरोपी ने पीड़ित से 95000 की मांग की गयी जिसमें खण्ड शिक्षा अधिकारी, बेसिक शिक्षा अधिकारी, लेखाधिकारी तथा पेंशन स्वीकृतकर्ता अपर निदेशक मुरादाबाद के नाम से मांग की गयी। जबकि, मुरादाबाद से यह पेंशन 27 अप्रैल को जारी की जा चुकी है। डीएम ने आरोप सही पाए जाने पर बेसिक शिक्षा विभाग के लेखाधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। जिस पर लेखाधिकारी ने आरोपी के खिलाफ सिविल लाइंस कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है।

’ जनता दर्शन में पीड़ित ने डीएम को सुनवाई रिश्वत मांगने की रिकार्डिंग’ बालिका जूनियर हाईस्कूल स्वार की सेवानिवृत्त शिक्षिका से मांगी घूस

रिटायर्ड लिपिक द्वारा पेंशन बनवाने के नाम पर सुविधा शुल्क मांगे जाने का मामला प्रकाश में आया। जिलाधिकारी को मिली शिकायत में इसकी पुष्टि हुई, जिसकी रिकार्डिंग की सीडी के साथ सिविल लाइंस कोतवाली में आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।-श्याम लाल जायसवाल, वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा

No comments:
Write comments