DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Sunday, July 30, 2017

सहारनपुर : शिक्षामित्र धरने पर पहुंचे एमएलसी व नगर विधायक, शिक्षमित्रों ने कहा : पीएम व सीएम को नहीं मालूम है गृहस्थी

केंद्र व प्रदेश सरकार से अध्यादेश लाकर शिक्षा मित्रों की बहाली की मांग को लेकर शिक्षा मित्र जमकर गरजे। शिक्षा मित्रों ने कहा कि पीएम और सीएम को नही मालूम गृहस्थी कैसे चलती है। हमारे परिवार भूखों मरने के कगार पर खड़े हैं, लेकिन सरकार कुंभकर्णी नींद में सोई है। एमएलसी व नगर विधायक ने धरने पर पहुंचकर उनकी मांगों का समर्थन किया। धरने के दौरान एक शिक्षा मित्र बेहोश हो गई। शिक्षा मित्रों ने चेतावनी दी यदि भाजपा विधायक और सांसद उनके बीच नही आएंगे तो उन्हें घरों में नजरबंद कर प्रदर्शन किया जाएगा।

शनिवार को बेरीबाग स्थित बीएसए कार्यालय पर भीषण गर्मी के बावजूद सैकड़ों की संख्या में पहुंचे शिक्षा मित्रों में सरकार के खिलाफ गहरा आक्रोश था। अनहोनी की आशंका के चलते सुबह से ही धरना स्थल और उसके आसपास के क्षेत्र को आरएएफ ने अपने सुरक्षा घेरे में ले रखा था।

आदर्श समायोजित शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन की जिलाध्यक्ष व उप्र प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ के जिलाध्यक्ष नरेश कुमार ने पिछले चार दिनों से प्रदेश भर में शिक्षा मित्र आंदोलित है ,लेकिन सरकार के कान पर जूं तक नही रेंग रही है। यदि यही स्थिति बनी रही तो उनके सब्र का बांध टूट सकता है। पीएम और सीएम को नही मालूम कि गृहस्थी कैसे चलती है?

धरने पर पहुंचे एमएलसी हेम सिंह पुंडीर ने शिक्षा मित्रों की मांगों से सहानुभूति जताई। उनका कहना था कि संगठन के माध्यम से विधान परिषद में मांग उठाई गई है। पूरी मजबूती के साथ सरकार से शिक्षा मित्रों को न्याय दिलाने का प्रयास किया जायेगा। नगर विधायक संजय गर्ग ने कहा कि सपा सरकार ने शिक्षा मित्रों को नियमित करने का काम किया था। मौजूदा सरकार की लचर पैरवी के चलते आज शिक्षा मित्र विकट स्थिति में है। प्रदेश उपाध्यक्ष नौशाद अहमद व जिला संरक्षक गुरदीप सिंह ने मथुरा व गोरखपुर में हुए लाठीचार्ज के दोषियों पर कार्यवाही की मांग की। उनकी 17 वर्षों की मेहनत को सरकार लगातार नजरअंदाज कर रही है लेकिन संगठन किसी भी कीमत पर चुप नही बैठेगा। यदि भाजपा विधायकों व सांसद ने उनके बीच आकर मांगों को समर्थन नही किया तो उनके घरों का घेराव कर उन्हें नजरबंद करने का काम होगा। धरने पर कुलदीप, मोहसिन, शिव कुमार, रामकुमार, संजीव कुमार, मशरूर अहमद, मिथलेश, बिलकिश बानो, आतिया, जनक सिंह, धीरेन्द्र, रईस अहमद, धर्मवीर, शमीम अहमद, देशराज, निरंजन कश्यप, रफल सिंह, अंजू यादव, चन्द्रपाल, नीतू कपूर, सुनीता, निशा धीमान थे।
एबीआरसी-बीईओ को नहीं छोड़ेंगे: शिक्षा मित्र तहसीन अली व अहसान मलिक ने कहा कि बीएसए कार्यालय का घेराव व स्कूलों की तालाबंदी लगातार जारी रहेगी। शिक्षा मित्रों का उत्पीड़न करने वाले प्रधानाध्यापकों, एबीआरसी व बीईओ को बख्शा नही जायेगा।
धरने पर शिक्षा मित्र बेहोश:बीएसए कार्यालय पर धरने के दौरान शिक्षा मित्र रेनू भीषण गर्मी के कारण बेहोश हो गई। आनन-फानन में उसे एंबुलेंस से जिला अस्पताल भेजा गया।

No comments:
Write comments