DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Monday, July 3, 2017

रामपुर : पद बचाने के लिए शिक्षकों को बढानी होगी बच्चों की संख्या, पंद्रह तक चलेगा स्कूल चलो अभियान

रामपुर निज संवाददाताप्राइमरी शिक्षकों को पद बचाने के लिए अब स्कूलों में बच्चों की संख्या बढ़ाना होगी। कम बच्चों पर वे मौज नहीं कर सकेंगे। विभाग ने शिक्षकों को शतप्रतिशत बच्चों का नामांकन कराने की हिदायत दी है। प्राइमरी शिक्षकों को माध्यमिक शिक्षा विभाग में समायोजित किए जाने की तैयारी की जा रही है। परिषदीय स्कूलों में बच्चों की संख्या कम होती जा रही है। शिक्षक भी बच्चों के नामांकन पर जोर नहीं दे रहे हैं। शिक्षकों का जोर सड़क किनारे के स्कूल में तैनाती कराने पर है। निजी स्कूलों में बच्चों की संख्या बढ़ रही है। निजी स्कूलों कर छवि और उनका पढ़ाई भी स्तर भी परिषदीय स्कूलों से बेहतर है। इसलिए शिक्षकों को साफ तौर पर चेता दिया गया है कि वे स्कूलों में कुर्सी पर बोझ न बने, बल्कि गांव-बस्ती में घर-घर घूमे।

रामपुर। बेसिक शिक्षा विभाग ने शिक्षकों को स्कूल चलो अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। स्कूल खुलने के पहले दिन से ही शिक्षकों को घर-घर जाना होगा। देखना होगा कि कौन सा बच्च स्कूल जाने के लायक हो गया है। उसका नामांकन स्कूल में करना होगा, जिसकी समीक्षा की जाएगी। रैली भी निकाली जायेंगी।
रामपुर। बेसिक शिक्षा विभाग ने शिक्षकों को स्कूल चलो अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। स्कूल खुलने के पहले दिन से ही शिक्षकों को घर-घर जाना होगा। देखना होगा कि कौन सा बच्च स्कूल जाने के लायक हो गया है। उसका नामांकन स्कूल में करना होगा, जिसकी समीक्षा की जाएगी। रैली भी निकाली जायेंगी।
बच्चों का नामांकन बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। स्कूल चलो अभियान के तहत बच्चों को चिंहित किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। -सर्वदानंद, बीएसए

No comments:
Write comments