DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Friday, July 14, 2017

बरेली DIVISION : रुहेलखंड के दस हजार स्कूलों से विदा हो गया ‘पी-ए’, हाजिरी रजिस्टर में अब नहीं लिखा जाएगा ए और पी, बेसिक स्कूलों के 11.66 लाख बच्चे हस्ताक्षर से लगाएंगे हाजिरी

अंग्रेजों के जमाने से लेकर अब तक नौकरी के लिए हाजिरी में पी (प्रजेंट) और ए (अब्सेंट)अक्षर का प्रयोग होता आ रहा है। स्कूलों में बच्चों की हाजिरी भी इसी अक्षर के जरिये शिक्षक रजिस्टर में दर्शाते हैं लेकिन 60 साल से चली आ रही यह व्यवस्था अब स्कूलों से विदा होने जा रही है। रुहेलखंड के दस हजार से अधिक स्कूल इसके लिए सूबे में नजीर बनेंगे। हाजिरी रजिस्टर में पी और ए की जगह अब बच्चे हर दिन स्कूल में जाकर हस्ताक्षर करेंगे। कमिश्नर पीवी जगन मोहन ने इसके लिए आदेश जारी कर दिए हैं।

बेसिक स्कूलों में कक्षा दो से लेकर आठ तक के बच्चे अपने हस्ताक्षर करेंगे। कक्षा एक के बच्चे अपने नाम का पहला अक्षर लिखेंगे। एक माह तक पहला अक्षर रजिस्टर में लिखेंगे। उसके बाद नाम दो अक्षर दूसरे महीने में लिखेंगे। जब तक पूरा नाम बच्चे नहीं सीख लेते तब तक हर माह अक्षर लिखते रहेंगे। विशेषज्ञों का मानना है कि कक्षा एक के बच्चे तीन माह में हस्ताक्षर सीख लेंगे। यदि किसी का नाम अनिल है तो वह पहले माह में अ, दूसरे माह में नि व तीसरे माह में ल लिखेंगे। चौथे माह में वह पूरे हस्ताक्षर अनिल के रूप में करेगा।141 हजार रजिस्टर की खपत : सीडीओ बरेली सत्येंद्र कुमार हर कक्षा के लिए नाम वाले रजिस्टर तैयार करवा रहे हैं। हर कक्षा के लिए एक रजिस्टर होगा। बच्चे हस्ताक्षर पूरा करेंगे तो जगह उसे पर्याप्त चाहिए। उसी फोरमेट में वह रजिस्टर तैयार होगा।

बरेली मंडल के 10142 स्कूलों के 11.66 लाख बच्चों की हाजिरी के लिए हर साल 41 हजार रजिस्टर की जरूरत होगी। इस रजिस्टर की खरीद स्कूल प्रबंध कमेटी के खाते से होगा। 1कमिश्नर डॉ. पीवी जगनमोहन ने सभी बेसिक स्कूलों में यह नई व्यवस्था लागू करने के आदेश जारी कर दिए हैं। इससे बच्चे हस्ताक्षर करना जानेंगे। साथ ही फर्जीवाड़े पर भी लगाम लग सकेगी।1सत्येंद्र कुमार, सीडीओसीडीओ बरेली के दिमाग की उपज सीडीओ बरेली सत्येंद्र कुमार ने यह पूरी योजना बनाई है। उनके दिमाग की उपज है कि बच्चे हर दिन हस्ताक्षर करेंगे तो नाम लिखना आएगा। साथ ही फर्जीवाड़ा रुकेगा। मिड डे मील के रजिस्टर में भी हस्ताक्षर होंगे। हाजिरी रजिस्टर से उसका मिलान होगा तो भ्रष्टाचार का खात्मा इसके जरिए होगा। उन्होंने यह प्रस्ताव कमिश्नर पीवी जगन मोहन के सामने रखा। बरेली में लागू करने के आदेश करने को कहा। कमिश्नर को यह योजना पसंद आई और पूरे मंडल में इसे लागू करने के आदेश कर दिए।

प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में भेजे जा रहे रजिस्टर, बरेली मंडल के स्कूलों में कमिश्नर के आदेश जारी, सूबे में इस व्यवस्था को लागू करने के लिए भेजा जाएगा सुझाव

No comments:
Write comments