DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Sunday, August 6, 2017

देश में 20 वर्ल्ड क्लास विवि स्थापित होंगे, नौवीं कक्षा में 20 फीसदी छात्रों का शिक्षा से ड्रॉप आउट होना चिंता का विषय : जावड़ेकर

देश में 20 र्वल्ड क्लास विवि स्थापित होंगे : जावड़ेकर
केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि देश में प्राथमिक शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए अब 5वीं और आठवीं कक्षा की परीक्षाएं मार्च में आयोजित की जाएंगी। उसमें अनुत्तीर्ण होने वालों को एक माह बाद पुन: अवसर दिया जाएगा। यह नई व्यवस्था देश में जल्द लागू होगी। इसके लिए नई नीति पर देश के 24 राज्यों ने अपनी सहमति प्रकट कर दी है। उन्होंने कहा कि मौजूदा स्थिति में 20 फीसद छात्र 9वीं कक्षा में ड्राप आउट हो रहे है। यह देश के लिए चिंता का विषय है। इसके सुधार के लिए ही राजस्थान के शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी की अध्यक्षता में बनी राज्यों के शिक्षा मंत्रियों की समिति की पांच सूत्रीय सिफारिशों को केंद्र ने मान लिया है। इसी आधार पर देश की नई शिक्षा नीति बनाई जा रही है।जावड़ेकर ने यह बात शनिवार को यहां शुरू हुए दो दिवसीय फेस्टिवल ऑफ एजुकेशन में कही। उच्च शिक्षा में शोध की आवश्यकता बताते हुए जावड़ेकर ने कहा कि आने वाले समय में देश में 20 र्वल्ड क्लास विविद्यालय स्थापित किए जाएंगे। जावड़ेकर ने सीएम वसुंधरा राजे की प्रशंसा करते हुए कहा कि राजस्थान ने शिक्षा के क्षेत्र में नए- नए प्रयोग किए हैं। यूएई के संस्कृति एवं शिक्षा विकास मंत्री शेख नाहयान मुबारक ने कहा कि भारत के लोग शिक्षा के लिए कमिटेड हैं। भारत के युवाओं की दुनियाभर में धाक है। उन्होंने आह्वान किया कि इनोवेशन से दुनिया बदली जा सकती है। सीएम वसुंधरा राजे ने कहा कि पहली बार हम शिक्षा पर महाउत्सव कर रहे हैं। इस मौके पर उन्होंने ज्ञान संकल्प पोर्टल का शुभारंभ भी किया। इस कार्यक्रम से देश के अन्य प्रदेश भी प्रोत्साहित होंगे। कार्यक्रम में आए छात्र-छात्राओं में अपार उत्साह देखने को मिला। प्रदेश के कई जिलों से इस फेस्टीवल में हिस्सा लेने के लिए आए बच्चों के चेहरों पर मुस्कान के साथ कुछ नया सीखने की लालसा स्पष्ट दिखाई दे रही थी। फेस्टीवल में देश-विदेश में शिक्षा के क्षेत्र में हो रहे नवाचारों और सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी से शिक्षण की सुगमता से संबंधित विशेष प्रदर्शनी आयोजित की गई है। सहारा इंडिया परिवार के प्रबंध कार्यकर्ता एवं चेयरमैन सहाराश्री सुब्रत रॉय सहारा ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि शिक्षा की पहल ऐसी पहल है जो न सिर्फ एक छात्र को.. न सिर्फ एक व्यक्ति को.. बल्कि पूरे परिवार और समाज को समृद्ध और सुसंस्कृत बनाती है.. लिहाजा वसुंधरा सरकार की ये पहल अनूठी और काबिले तारीफ है। उन्होंने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के कार्यो की प्रशंसा करते हुए कहा कि राजे हमेशा ही नवाचार करती रहती हैं। कार्यक्रम में सहारा इंडिया परिवार के डिप्टी मैनेजिंग वर्कर श्री जेबी रॉय और श्री ओपी श्रीवास्तव भी मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि राजस्थान सरकार और जेम्स एज्यूकेशन इंडिया के संयुक्त तत्वावधान में सीतापुरा स्थित जेईसीसी में हो रहे फेस्टीवल ऑफ एज्यूकेशन का उद्देश्य शिक्षा में चल रहे नवाचारों की बात करना है। हाउस ऑफ लॉडर्स, यूके की सदस्य और ब्रिटिश काउन्सिल की उपाध्यक्ष ब्रोनेस उषा पाराशर, भारत सरकार के मानव संसाधन विकास विभाग के सचिव अनिल स्वरूप, जेम्स के समूह प्रधान टोनी लिटल, केनेडियन एजूकेशन सेंटर की पूर्व निदेशक मारिया मथई, स्टार्ट अप विलेज के संस्थापक अध्यक्ष संजय विजय कुमार, हाउस ऑफ लॉर्ड्स के सदस्य और यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्ट लंदन के कुलपति प्रोफेसर लॉर्ड पटेल, सेंट मेरी यूनिवर्सिटी के प्रो. सर माइकल विल्स, स्टडी हाल एजूकेशन फाउंडेशन की संस्थापक अध्यक्ष उर्वशी साहनी, वसंत वेली स्कूल के निदेशक डॉ. अरूण कपूर, सुप्रसिद्ध लेखक और मोटिवेटर डायना मार्टिन आदि ने शैक्षिक परिवर्तनों, भविष्य की शिक्षा पर विचार व्यक्त किया।

No comments:
Write comments