DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Thursday, September 21, 2017

रामपुर : ब्लॉक में मॉडल बना प्राथमिक विद्यालय सींगन खेड़ा, एसडीएम एवं बीएसए ने शिक्षकों की थपथपाई पीठ

जागरण संवाददाता, रामपुर : सफाई और बच्चों की पढ़ाई के मामले में सींगनखेड़ा का प्राथमिक विद्यालय ब्लाक में मॉडल स्कूल बन गया है। वर्तमान सत्र में भी विद्यालय में ढाई सौ से ज्यादा छात्र-छात्रएं शिक्षा ग्रहण कर रही हैं। विद्यालय का साफ-सुथरा वातावरण बच्चों के लिए आकर्षण का केंद्र बन रहा है। 1 प्रधानमंत्री देश को नीट एंड क्लीन बनाना चाहते हैं। इसके लिए वह स्वयं सफाई कर देशवासियों को सफाई के प्रति न सिर्फ जागरूक और प्रेरित कर रहे हैं, बल्कि सफाई की अहमियत भी बता रहे हैं। प्रधानमंत्री के स्वच्छ अभियान का असर परिषदीय विद्यालयों में साफ तौर पर नजर आने लगा है। जिन विद्यालयों के आसपास कूड़े के ढेर लगे देखे जाते थे, वह आज चमचमा रहे हैं। विद्यालय के आकर्षक, सुसज्जित भवन और हरा-भरा वातावरण बच्चों को खूब भा रहा है। इसी का नतीजा है कि इस विद्यालय में दो वर्ष पहले 177 बच्चे थे, जो अगले साल बढ़कर इनकी संख्या 201 हो गई, जबकि वर्तमान में यहां बच्चों की संख्या 255 को पार कर गई है। इसका श्रेय यहां के शिक्षक और शिक्षिकाओं को जाता है। अपनी अथक प्रयास और मेहनत के बल पर यहां तक पहुंचाया। इस विद्यालय के शिक्षक दूसरों के लिए मिसाल हैं। यहां अध्ययनरत बच्चे खेल के साथ ही विभिन्न प्रतियोगिताओं में जिले, मंडल और राज्य स्तर पर विद्यालय का नाम रोशन कर चुके हैं। विद्यालयों में शैक्षिक संवर्धन एवं नवाचार कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दी जा रही है। आज हम बात कर रहे हैं सैदनगर ब्लाक के सींगनखेड़ा प्राथमिक विद्यालय की। यहां तैनात शिक्षक मोहम्मद अजहर और उनके स्टाफ की, जिन्होंने अपनी मेहनत और लगन के बल पर विद्यालय को आकर्षक और सुन्दर बनाया। आज यह विदयालय ब्लाक का मॉडल विद्यालय बन गया है। एक सप्ताह पूर्व उपजिला अधिकारी गजेंद्र कुमार एवं जिला बेसिक शिक्षाधिकारी सर्वदानंद विद्यालय पहुंचकर न सिर्फ शिक्षकों की पीठ थपथपाई, बल्कि उनको सम्मानित भी किया। खंड शिक्षाधिकारी प्रेम सिंह का कहना कि विद्यालय के शिक्षक मेहनती हैं। मेहनत, लगन से ही शिक्षकों ने विद्यालयों को आदर्श विद्यालय बनाया है।जागरण संवाददाता, रामपुर : सफाई और बच्चों की पढ़ाई के मामले में सींगनखेड़ा का प्राथमिक विद्यालय ब्लाक में मॉडल स्कूल बन गया है। वर्तमान सत्र में भी विद्यालय में ढाई सौ से ज्यादा छात्र-छात्रएं शिक्षा ग्रहण कर रही हैं। विद्यालय का साफ-सुथरा वातावरण बच्चों के लिए आकर्षण का केंद्र बन रहा है। 1 प्रधानमंत्री देश को नीट एंड क्लीन बनाना चाहते हैं। इसके लिए वह स्वयं सफाई कर देशवासियों को सफाई के प्रति न सिर्फ जागरूक और प्रेरित कर रहे हैं, बल्कि सफाई की अहमियत भी बता रहे हैं। प्रधानमंत्री के स्वच्छ अभियान का असर परिषदीय विद्यालयों में साफ तौर पर नजर आने लगा है। जिन विद्यालयों के आसपास कूड़े के ढेर लगे देखे जाते थे, वह आज चमचमा रहे हैं। विद्यालय के आकर्षक, सुसज्जित भवन और हरा-भरा वातावरण बच्चों को खूब भा रहा है। इसी का नतीजा है कि इस विद्यालय में दो वर्ष पहले 177 बच्चे थे, जो अगले साल बढ़कर इनकी संख्या 201 हो गई, जबकि वर्तमान में यहां बच्चों की संख्या 255 को पार कर गई है। इसका श्रेय यहां के शिक्षक और शिक्षिकाओं को जाता है। अपनी अथक प्रयास और मेहनत के बल पर यहां तक पहुंचाया। इस विद्यालय के शिक्षक दूसरों के लिए मिसाल हैं। यहां अध्ययनरत बच्चे खेल के साथ ही विभिन्न प्रतियोगिताओं में जिले, मंडल और राज्य स्तर पर विद्यालय का नाम रोशन कर चुके हैं। विद्यालयों में शैक्षिक संवर्धन एवं नवाचार कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दी जा रही है। आज हम बात कर रहे हैं सैदनगर ब्लाक के सींगनखेड़ा प्राथमिक विद्यालय की। यहां तैनात शिक्षक मोहम्मद अजहर और उनके स्टाफ की, जिन्होंने अपनी मेहनत और लगन के बल पर विद्यालय को आकर्षक और सुन्दर बनाया। आज यह विदयालय ब्लाक का मॉडल विद्यालय बन गया है। एक सप्ताह पूर्व उपजिला अधिकारी गजेंद्र कुमार एवं जिला बेसिक शिक्षाधिकारी सर्वदानंद विद्यालय पहुंचकर न सिर्फ शिक्षकों की पीठ थपथपाई, बल्कि उनको सम्मानित भी किया। खंड शिक्षाधिकारी प्रेम सिंह का कहना कि विद्यालय के शिक्षक मेहनती हैं। मेहनत, लगन से ही शिक्षकों ने विद्यालयों को आदर्श विद्यालय बनाया है।मॉडल बना सिंगनखेड़ा का प्राथमिक विद्यालय ’ जागरणस्वच्छ1स्वस्थशिक्षक मोहम्मद अजहर।


No comments:
Write comments