DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Thursday, September 7, 2017

दो साल से मिड डे मील सप्लाई कर रहा था एनजीओ, स्कूलों में बांट रहे थे सिंथेटिक दूध, अमरोहा भाजपा नगर अध्यक्ष की शिकायत पर एसडीएम ने छापा मारा


सिंथेटिक दूध के नमूने लिए : सीएफओ
एनजीओ पर मुकदमे के आदेश : एसडीएम

अमरोहा-हसनपुर हिन्दुस्तान संवादमिड डे मील के नाम पर बच्चों के सेहत से खिलवाड़ हसनपुर में किया जा रहा था। इसका खुलासा बुधवार को हसनपुर एसडीएम गंभीर सिंह की छापेमारी में हुआ। छापेमारी से शिक्षा विभाग के अफसरों की भी पोल खुल गई। एसडीएम ने यह कार्रवाई भाजपा नगर अध्यक्ष की शिकायत पर की। यह गड़बड़ी एनजीओ द्वारा की जा रही थी। इससे बड़ी संख्या में बच्चे प्रभावित हो रहे थे।1200 बच्चों की सेहत से हो रहा था खिलवाड़: एसडीएम ने मिड डे मील तैयार करने व सप्लाई करने वाले एनजीओ की रसोई पर छापा मारा तो रसोई में सिंथेटिक दूध तैयार होता मिला। तहरी के नाम पर मोटे चावल देकर खानापूर्ति की जा रही थी। एनजीओ हसनपुर व उझारी नगर के 28 स्कूलों के करीब 1200 बच्चों को दो वर्ष से मिड डे मील सप्लाई कर रहा था। एसडीएम ने दूध व तहरी के सैंपल उठवाते हुए खंड शिक्षा अधिकारी को मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं। भाजपा नेता से मिले थे अभिभावक: मिड डे मील के इस खेल का खुलासा तब हुआ जब बुधवार दोपहर मोहल्ला कायस्थान व खेवान के अभिभावक भाजपा नगर अध्यक्ष अतुल गर्ग के पास पहुंचे। बताया कि मोहल्ला कायस्थान में चल रहे उच्च प्राथमिक विद्यालय व प्राथमिक विद्यालय शिव मंदिर कोट के बच्चों को बेहद घटिया मिड डे मील दिया जा रहा है। अतुल गर्ग स्कूल में पहुंचे तो दूध व तहरी बच्चों को बांटी जा रही थी। दूध व खाने की हालत देखकर नगर अध्यक्ष ने एसडीएम गंभीर सिंह को हकीकत से वाफिक कराया। तहरी की हाल और भी खराब मिली: एसडीएम अपने संग सीओ अजय कुमार को लेकर मिड डे मील तैयार करने वाले एनजीओ की अस्पताल रोड स्थित रसोई पहुंच गए। यहां का मंजर देखकर अफसरों की आंख फटी की फटी रह गईं। पानी में थोड़ा पाउडर डालकर तैयार किया गया दूध बड़े भगोने में भरा रखा था। मोटे पीले चावलों की तहरी की हालत तो और भी खराब थी। खाना व दूध स्कूलों को रिक्शे से सप्लाई करने वाला कारिंदा अफसरों ने मौके पर पकड़ लिया। सामने आया कि मिड डे मील तैयार व सप्लाई करने का ठेका जोया के मोहल्ला इकबाल नगर निवासी बहार हुसैन एजुकेशनल सोशल वेलफेयर सोसाइटी पर है।
’छापेमारी से शिक्षा विभाग की पोल खुली
मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी पंकज कुमार गुप्ता के नेतृत्व में विभागीय टीम ने ताहरी व दूध के सैंपल उठाए। उन्होंने बताया कि मौके से सिंथेटिक दूध के पाउच मिले हैं। सैंपल प्रयोगशाला भेजे जा रहे हैं।
खंड शिक्षा अधिकारी अमरेश कुमारी मौके पर पहुंच गईं। बताया कि उक्त एनजीओ वर्ष 2015 से हसनपुर नगर पालिका क्षेत्र के 19 व उझारी नगर पंचायत के 9 प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों के करीब 1200 बच्चों को मिड डे मील सप्लाई कर रहा है।
एसडीएम हसनपुर गंभीर सिंह ने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया गया है कि एनजीओ के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराएं। उन्होंने कहा कि इससे न सिर्फ सरकारी योजना को पलीता लग रहा है, बल्कि बच्चों के स्वास्थ्य से भी खिलवाड़ हो रहा था।
’रसोई में सिंथेटिक दूध तैयार होता मिला

No comments:
Write comments