DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Saturday, October 14, 2017

शिक्षा में सुधार की कवायद, एसडीएम,तहसीलदार लेंगे प्राइमरी स्कूलों की परीक्षा : धर्मपाल


एसडीएम,तहसीलदार लेंगे प्राइमरी स्कूलों की परीक्षा : धर्मपाल

ड्रोन कैमरे से होगी नहरों के सिल्ट सफाई की मानीटरिंगरामगढ़ताल सहित गोरखपुर के अन्य पर्यटन स्थलों के सुन्दरीकरण का प्लान तैयार
ड्रोन कैमरे से होगी नहरों के सिल्ट सफाई की मानीटरिंगरामगढ़ताल सहित गोरखपुर के अन्य पर्यटन स्थलों के सुन्दरीकरण का प्लान तैयार
गोरखपुर (एसएनबी)। प्रदेश के सिंचाई एवं गोरखपुर के प्रभारी मंत्री धर्मपालंिसंह ने कहा कि प्राइमरी स्कूलों की शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए एक नई व्यवस्था की जा रही है। अब उप जिलाधिकारी और तहसीलदार स्तर के अधिकारी इन स्कूलों की परीक्षा लेंगे। कमी मिलने पर शिक्षकों पर भी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि पूर्वाचल खासकर गोरखपुर को पर्यटन मानचित्र पर स्थापित करने के लिए रामगढ़ताल सहित अन्य सांस्कृतिक केंद्रों के विकसित करने की प्लानिंग तैयार की जा चुकी है। भ्रष्टाचार रोकने के लिए नहरों के सिल्ट सफाई की मॉनीटरिंग ड्रोन कैमरे से करायी जाएगी।श्री सिंह, शुक्रवार को विकास और कानून व्यवस्था की समीक्षा के बाद सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विकास और हर नागरिक की सुरक्षा सरकार की प्राथमिकता है। दोनों मुद्दों पर सरकार बढ़ रही है। अपराधियों पर नकेल कसी जा रही है। सरकार का फोकस पर्यटन के विकास पर है। उप्र खासकर पूर्वी उप्र में इसकी अपार संभावनाएं हैं। गोरखपुर के सांस्कृतिक स्थलों के साथ ही उप्र के सबसे बड़े रामगढ़ताल में पर्यटन की सुविधाएं बढ़ाने की योजना तैयार कर ली गई। प्राथमिक शिक्षा में सुधार और यहां पढ़ने वाले बच्चों को स्वेटर, जूते दिये जाएंगे। तहसील स्तरीय अधिकारी इन स्कूलों की परीक्षा लेंगे। दिवाली त्योहार पर बिजली की कटौती नहीं होगी। गोरखपुर शहर को 24 घंटे बिजली मिलेगी। ग्रामीण और नगरीय क्षेत्रों में भी बिजली की आपूत्तर्ि सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने बताया कि धान खरीद के लिए इस बार 102 धान क्रय केंद्र खोले गए हैं पिछली बार यह संख्या 75-80 थी। धान के समर्थन मूल्य का भुगतान 72 घंटे में किया जाएगा। हर खेत तक पानी पहुंचाने की मुकम्मल व्यवस्था की जा रही है। यांत्रिक गड़बड़ी से खराब पड़े सरकारी नलकूपों को 72 और बिजली गड़बड़ी से बंद पड़े नलकूपों को 24 घंटे में ठीक करने के निर्देश दिए गए है। सिल्ट सफाई में गड़बड़ी रोकने के लिए इस बार ड्रोन कैमरे से निगरानी होगी। अवैध कुलावे हटाए जाएंगे। प्रभारी मंत्री धर्मपाल ने बताया कि बाढ़ के दौरान क्षतिग्रस्त सड़कों व बंधों की मरम्मत को धन आवंटित कर दिए गए हैं। मुख्यमंत्री स्वयं 17 अक्टूबर को तरकुलानी बांध का शिलान्यास करेंगे।ट्रैफिक जाम के प्वाइंट चिह्नित : प्रभारी मंत्री ने बताया कि त्योहारों पर गोरखपुर महानगर और नगर पंचायतों में ट्रैफिक जाम के स्थल चिह्नित किये गए हैं। एसएसपी, एसपी ट्रैफिक और एसपीआरए इसकी मॉनीटरिंग करेंगे ताकि त्योहार पर जाम से मुक्ति मिल -शेष पेज 2
गोरखपुर (एसएनबी)। प्रदेश के सिंचाई एवं गोरखपुर के प्रभारी मंत्री धर्मपालंिसंह ने कहा कि प्राइमरी स्कूलों की शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए एक नई व्यवस्था की जा रही है। अब उप जिलाधिकारी और तहसीलदार स्तर के अधिकारी इन स्कूलों की परीक्षा लेंगे। कमी मिलने पर शिक्षकों पर भी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि पूर्वाचल खासकर गोरखपुर को पर्यटन मानचित्र पर स्थापित करने के लिए रामगढ़ताल सहित अन्य सांस्कृतिक केंद्रों के विकसित करने की प्लानिंग तैयार की जा चुकी है। भ्रष्टाचार रोकने के लिए नहरों के सिल्ट सफाई की मॉनीटरिंग ड्रोन कैमरे से करायी जाएगी।श्री सिंह, शुक्रवार को विकास और कानून व्यवस्था की समीक्षा के बाद सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विकास और हर नागरिक की सुरक्षा सरकार की प्राथमिकता है। दोनों मुद्दों पर सरकार बढ़ रही है। अपराधियों पर नकेल कसी जा रही है। सरकार का फोकस पर्यटन के विकास पर है। उप्र खासकर पूर्वी उप्र में इसकी अपार संभावनाएं हैं। गोरखपुर के सांस्कृतिक स्थलों के साथ ही उप्र के सबसे बड़े रामगढ़ताल में पर्यटन की सुविधाएं बढ़ाने की योजना तैयार कर ली गई। प्राथमिक शिक्षा में सुधार और यहां पढ़ने वाले बच्चों को स्वेटर, जूते दिये जाएंगे। तहसील स्तरीय अधिकारी इन स्कूलों की परीक्षा लेंगे। दिवाली त्योहार पर बिजली की कटौती नहीं होगी। गोरखपुर शहर को 24 घंटे बिजली मिलेगी। ग्रामीण और नगरीय क्षेत्रों में भी बिजली की आपूत्तर्ि सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने बताया कि धान खरीद के लिए इस बार 102 धान क्रय केंद्र खोले गए हैं पिछली बार यह संख्या 75-80 थी। धान के समर्थन मूल्य का भुगतान 72 घंटे में किया जाएगा। हर खेत तक पानी पहुंचाने की मुकम्मल व्यवस्था की जा रही है। यांत्रिक गड़बड़ी से खराब पड़े सरकारी नलकूपों को 72 और बिजली गड़बड़ी से बंद पड़े नलकूपों को 24 घंटे में ठीक करने के निर्देश दिए गए है। सिल्ट सफाई में गड़बड़ी रोकने के लिए इस बार ड्रोन कैमरे से निगरानी होगी। अवैध कुलावे हटाए जाएंगे। प्रभारी मंत्री धर्मपाल ने बताया कि बाढ़ के दौरान क्षतिग्रस्त सड़कों व बंधों की मरम्मत को धन आवंटित कर दिए गए हैं। मुख्यमंत्री स्वयं 17 अक्टूबर को तरकुलानी बांध का शिलान्यास करेंगे।ट्रैफिक जाम के प्वाइंट चिह्नित : प्रभारी मंत्री ने बताया कि त्योहारों पर गोरखपुर महानगर और नगर पंचायतों में ट्रैफिक जाम के स्थल चिह्नित किये गए हैं। एसएसपी, एसपी ट्रैफिक और एसपीआरए इसकी मॉनीटरिंग करेंगे ताकि त्योहार पर जाम से मुक्ति मिल -शेष पेज 2

No comments:
Write comments