DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कैसरगंज कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महाराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फर नगर मुजफ्फरनगर मुज़फ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी मैनपूरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Wednesday, November 1, 2017

महराजगंज : रसोइया मानदेय स्थानांतरण सीट तैयार कर रसोइयों के खाते में मानदेय स्थानांतरित करने के सम्बन्ध में बीएसए ने दिया आवश्यक दिशानिर्देश

महराजगंज : बेसिक शिक्षा विभाग ने रसोइयों को मानदेय के लिए चेक काटकर दिए जाने की प्रथा बंद करने का निर्देश दिया है। विभाग ने सभी शिक्षाधिकारियों व प्रधानाध्यापकों को रसोइयों का मानदेय उनके बचत खाते में स्थानांतरित कराए जाने की बात कही है। ऐसा न किए जाने की स्थिति में संबंधित प्रधानाध्यापक को निलंबित करते हुए दंडात्मक कार्यवाही करने का भी निर्देश जारी किया गया है। मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण उत्तर प्रदेश के पास निरंतर यह सूचना जा रही थी कि प्रधानाध्यापकों द्वारा चेक काटकर रसोइयों को यह कहकर दे दिया जाता है कि वह प्रधान से हस्ताक्षर कराकर अपने खाते में चेक की धनराशि जमा करें। चेक लेकर जब रसोइया प्रधान के पास पहुंचती थी तो प्रधानों द्वारा चेक पर हस्ताक्षर नहीं किया जाता था, जिससे उनकी परेशानी बढ़ जा रही थी। रसोइयों की परेशानी को देखते हुए मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण ने बेसिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजकर रसोइयों के मानदेय का भुगतान सीधे उनके बचत खाते में स्थानांतरित कराने का निर्देश दिया है। कहा गया है प्रधानाध्यापक रसोइया मानदेय स्थानांतरण शीट तैयार कर स्वयं एवं प्रधान का हस्ताक्षर करा कर उसे खातों में स्थानांतरित कराना सुनिश्चित करें।
      जिले के परिषदीय विद्यालयों में कुल 5958 रसोइया कार्यरत है। इसमें से 4216 रसोइया प्राथमिक विद्यालयों पर तथा 1742 रसोईया उच्च प्राथमिक विद्यालयों पर तैनात हैं तथा स्कूलों में अध्ययनरत बच्चों को मध्यान्ह भोजन उपलब्ध कराने में अहम भूमिका निभाती हैं।


No comments:
Write comments