DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Tuesday, December 26, 2017

कौशाम्बी : ठिठुर रहे बच्चों को आस, जल्द मिलेगा स्वेटर : 28 दिसंबर को टेंडर खुलेगा, अफसरों की लापरवाही से हो रही स्वेटर मिलने में देरी

 कौशांबी : परिषदीय विद्यालयों के बच्चों को शीघ्र ही स्वेटर मिलेगा, जिसके लिए 28 दिसंबर को टेंडर खोला जाएगा। यह जानकारी बेसिक शिक्षा अधिकारी ने दी है। परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों को सरकार हर वाजिब सुविधा देने का प्रयास कर रही है। इसमें किताब, यूनिफार्म, जूता, स्वेटर आदि शामिल हैं। इन सभी सुविधाओं का लाभ छात्र व छात्रएं को दिया जाए इसके लिए शासन स्तर से शिक्षा विभाग के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी जारी किया।




 अफसरों की लापरवाही से अभी तक जनपद के परिषदीय विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र व छात्रओं को स्वेटर नहीं मिल सका। सर्व शिक्षा अभियान के तहत नौनिहालों को साक्षर बनाने के लिए जिले में 1465 परिषदीय विद्यालय संचालित किए जा रहे हैं। इन विद्यालयों में एक लाख 75 हजार बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं। इस बच्चों को बुक व यूनिफार्म तो दे दिया गया, लेकिन स्वेटर अब तक नहीं मिला। जबकि आधी ठंड बीत चुकी है। जिन व्यक्तियों के पास रुपये हैं, वे तो अपने बच्चों को स्वेटर दिला दिए, लेकिन जो गरीब तबके के अभिभावक हैं। वे अपने बच्चों को स्वेटर नहीं दिला पा रहे हैं। इसकी वजह से उनके बच्चों को बगैर स्वेटर के ही स्कूल जाना पड़ता है। 




 स्वेटर न मिलने की शिकायत भी अभिभावकों ने प्रधानाध्यापक व ग्राम प्रधान से की थी। इसके बाद भी ध्यान नहीं दिया गया।अभिभावकों का दर्द1बीआरसी सिराथू क्षेत्र के रूपनारायणपुर गोरियों गांव के राजकरन पटेल का कहना है कि उनका बेटा कालू व बेटी संगीता प्राथमिक विद्यालय में पढ़ते हैं, लेकिन उन्हें स्वेटर नहीं दिए गए। ग्राम पंचायत नारा के जितेंद्र कुमार का कहना है कि उनका रोहित प्राथमिक विद्यालय में पढ़ता है। उसे अब स्वेटर नहीं मिल सका। इसी प्रकार भोरे लाल का कहना है कि उनकी बेटी मीना प्राथमिक विद्यालय में पढ़ती है। उसे भी स्वेटर नहीं दिया गया, जिसकी वजह से बच्चों पर ठंड भारी पड़ रही है। इसकी शिकायत ग्राम प्रधान व प्रधानाध्यापक से की गई थी। इसके बाद भी बच्चों को स्वेटर नहीं दिया गया।




■ कहते हैं बीएसए

बेसिक शिक्षा अधिकारी एमआर स्वामी का कहना है कि परिषदीय विद्यालयों पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर प्राथमिक व जूनियर विद्यालय के बच्चों को स्वेटर देना था। टेंडर न हो पाने की वजह से बच्चों को स्वेटर नहीं दिया गया। टेंडर प्रक्रिया पूरी होने के बाद छात्र व छात्रओं को स्वेटर दिया जाएगा।बीएसए ने बच्चों में बांटे स्वेटर1पूर्व प्रधानमंत्री के अटल बिहारी वाजपेयी के जन्म दिवस पर बेसिक शिक्षा अधिकारी एमआर स्वामी ने प्राथमिक विद्यालय बबुरा, मूरतगंज व म्योहर में अध्यनरत करीब 300 बच्चों का स्वेटर बांटे। स्वेटर पाने के बाद बच्चों के चेहरे खुशी से खिल गए। बीएसए ने बताया कि उन्होंने अपने स्तर से स्वेटर खरीद कर बच्चों को दिए हैं।


■ बच्चों को सरकार हर वाजिब सुविधा देने का कर रही है प्रयास

■ अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर बच्चों को देना था स्वेटर


No comments:
Write comments