DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Tuesday, February 20, 2018

अब मुख्यालय से ही यूपी बोर्ड परीक्षा की निगरानी, हर केंद्र पर सीसीटीवी और इंटरनेट के प्रयोग से बेहतर निगरानी

इलाहाबाद : यूपी बोर्ड का मुख्यालय अब परीक्षा केंद्र में हो रही हर गतिविधि सीधे देख सकेगा। इसके लिए उसे सीसीटीवी कैमरे की क्लिप निकलवाने की भी जरूरत नहीं है। यदि किसी केंद्र पर नकल या फिर अन्य गड़बड़ी हो रही है तो सूचना मिलते ही मुख्यालय के अफसर वहां की गतिविधि देख सकेंगे। इस प्रयोग पर अमल शुरू हो गया है। आगे से शासन के बड़े अधिकारी व मुख्यालय परीक्षा का नजारा कार्यालय में बैठकर देखेगा।




माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड प्रशासन इधर नित-नए प्रयोग कर रहा है। परीक्षा सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में हो रही है। बोर्ड ने इससे भी एक कदम आगे बढ़ाते हुए कैमरे की बिना क्लिप हासिल किए ही परीक्षा का नजारा देखने की पहल की है। असल में शासन ने इस बार परीक्षा नीति में ही हर केंद्र पर इंटरनेट, जेनरेटर, कंप्यूटर, ऑपरेटर और सीसीटीवी कैमरा आदि अनिवार्य किया है। इन संसाधनों का ही बेहतर इस्तेमाल शुरू हुआ है।



बोर्ड के हरिश्चंद्र शर्मा ने प्रदेश के बुलंदशहर जिले के शिवकुमार जनता इंटर कालेज जहांगीराबाद को सोमवार को वेब कॉस्टिंग के जरिए जोड़कर बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव, अपर सचिव क्षेत्रीय कार्यालय प्रदीप कुमार सिंह को सीधे केंद्र से रूबरू कराया। शर्मा ने बताया कि इसमें सीसीटीवी कैमरे का लॉगइन पासवर्ड का इस्तेमाल किया गया है। अन्य केंद्रों के कैमरों को भी इसी प्रक्रिया के तहत जोड़ा जा सकता है। इससे सैकड़ों किलोमीटर दूर से बैठकर पूरी परीक्षा का हाल जाना जा सकता है। किसी केंद्र पर नकल या फिर अन्य गड़बड़ी हो रही है तो तत्काल सूचना मिलने पर उस केंद्र का हाल अब अफसर सीधे देख सकेंगे। सचिव ने कहा कि बोर्ड के आइटी सेक्शन के जरिए यह प्रयोग शुरू हुआ है, कुछ चुनिंदा केंद्रों को जल्द ही और जोड़ा जाएगा। आगे से सभी केंद्रों में लगे कैमरे का पासवर्ड परीक्षा से पहले ही मंगा लिया जाएगा।

■ अंग्रेजी परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न : यूपी बोर्ड ने इस वर्ष से इंटर में अंग्रेजी की परीक्षा के लिए अनूठा प्रयोग किया है। कला, वाणिज्य व व्यावसायिक वर्ग व विज्ञान वर्ग के परीक्षार्थियों की अलग-अलग परीक्षा होनी है। सोमवार को कला आदि विषयों की परीक्षा प्रदेश भर में शांतिपूर्वक हो गई है, विज्ञान वर्ग की परीक्षा आगे होगी। कहीं परीक्षक गलत प्रश्नपत्र न खोल दें लेकिन, शाम तक ऐसी शिकायतें नहीं मिली हैं।

No comments:
Write comments