DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Friday, February 16, 2018

यूपी बोर्ड : अब एसएमएस से परीक्षार्थियों की हाजिरी पर नकेल, समय से सूचना अपडेट नहीं करने वालों पर कार्यवाही की तलवार

इलाहाबाद : यूपी बोर्ड परीक्षा में इम्तिहान छोड़ने का सिलसिला जारी है। आठवें दिन भी 938 परीक्षार्थियों ने इम्तिहान से किनारा कर लिया है, जबकि प्रदेश भर में नौ परीक्षार्थी नकल करते पकड़े गए हैं। बोर्ड परीक्षा में गुरुवार को हाईस्कूल में रंजन कला व इंटर में सैन्य विज्ञान, भौतिक विज्ञान आदि का प्रश्नपत्र था। इसमें प्रदेश भर में हाईस्कूल में तीन बालक व चार बालिकाओं सहित सात और इंटर में दो बालक सहित कुल नौ परीक्षार्थी नकल करते पकड़े गए हैं। ऐसे में अब तक हाईस्कूल में 244 बालक, 99 बालिका और इंटर में 115 बालक, 56 बालिकाओं सहित कुल 514 परीक्षार्थी पकड़े जा चुके हैं। पिछले वर्ष आठ दिनों की परीक्षा में 994 परीक्षार्थी पकड़े गए थे। उस लिहाज से अब तक नकल करते पकड़े गए परीक्षार्थियों की संख्या आधी ही है।

इलाहाबाद : यूपी बोर्ड प्रशासन हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के परीक्षार्थियों की उपस्थिति पर गंभीर हो गया है, जो परीक्षा केंद्र हाजिरी भेजने में ढिलाई बरत रहे हैं। उन्हें सीधे एसएमएस भेजकर पूछताछ की जा रही है कि आखिर विलंब क्यों हो रहा है। इसके अलावा उस मंडल के संयुक्त शिक्षा निदेशक यानि जेडी व डीआइओएस को भी कड़े निर्देश दिए गए हैं कि वह हर केंद्र से तय समय में उपस्थिति भिजवाएं। कहा गया है कि इसकी मॉनीटरिंग शासन कर रहा है, देरी करने वालों पर कार्रवाई होगी।



यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा में बलिया जिले में क्रमांकित यानि कोडिंग वाली कॉपियां परीक्षा केंद्र से बाहर प्रबंधक के घर पर लिखी जाती मिली हैं। इसकी छानबीन में यह तथ्य सामने आए हैं कि परीक्षा केंद्र बोर्ड के निर्देशों के अनुसार समय पर गैरहाजिरी रहने वाले परीक्षार्थियों की रिपोर्ट नहीं भेज रहे हैं। परीक्षा की शुचिता बनाए रखने को बोर्ड ने ऐसे केंद्रों पर नकेल कसने को एसएमएस का सहारा लिया है। बोर्ड मुख्यालय पर हर केंद्र का पूरा ब्योरा उपलब्ध है उन्हें अब सीधे एसएमएस किया जा रहा है कि वह परीक्षा शुरू होने के आधे घंटे में उपस्थिति अपडेट क्यों नहीं कर रहे हैं।


जिन केंद्रों से एसएमएस का जवाब तत्काल नहीं मिल रहा है, वहां के डीआइओएस व मंडल प्रभारी को अवगत भी कराया जा रहा है। इससे कई जिलों में तेजी आई है लेकिन, अब भी तमाम जिले के केंद्र इस ओर से उदासीन हैं। उन्हें बोर्ड सचिव ने हिदायत दी है कि उनकी हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है, रिपोर्ट हर हाल में तय समय पर मिले। अन्यथा शासन को रिपोर्ट भेज दी जाएगी और ऐसे जिला विद्यालय निरीक्षक व जेडी पर कार्रवाई भी होगी। यही वजह है कि अब बोर्ड पर जिले भर की गतिविधियों की सूचना तेजी से आ रही है।


बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि एसएमएस के प्रयोग से कार्य तेज हुआ है लेकिन, इस सिस्टम को ऐसा बनाना है कि हर केंद्र सारी सूचनाएं समय रहते भेजे।

No comments:
Write comments