DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Sunday, March 18, 2018

एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती : पोर्टल पर मुख्यमंत्री से की शिकायत, कंप्यूटर शिक्षकों की अर्हता पर बखेड़ा

लोक सेवा आयोग की सहायक अध्यापक प्रशिक्षित स्नातक (एलटी ग्रेड शिक्षक) भर्ती में कंप्यूटर शिक्षकों की शैक्षिक अर्हता को लेकर भी विवाद हो गया है। माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) ने इस विषय के एलटी ग्रेड शिक्षकों के लिए जो अर्हता तय की है उसमें पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन यानी पीजीडीसीए भी शामिल है।लेकिन आयोग की ओर से 15 मार्च को जारी किए गए विज्ञापन में पीजीडीसीए को शामिल नहीं किया गया है। आयोग के विज्ञापन के मुताबिक इस विषय के लिए वही अभ्यर्थी आवेदन कर सकेंगे जिन्होंने कंप्यूटर विज्ञान में बीटेक/बीई अथवा कंप्यूटर विज्ञान में विज्ञान स्नातक अथवा कंप्यूटर एप्लीकेशन में विज्ञान स्नातक अथवा नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इलेक्ट्रानिक्स एण्ड इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (एनआईईएलआईटी) से ‘ए’ स्तरीय पाठ्यक्रम के साथ स्नातक की उपाधि हासिल की हो।यूपी बोर्ड की सचिव का किया घेराव : एलटी ग्रेड शिक्षकों की भर्ती में हिन्दी विषय की अर्हता को लेकर उठा विवाद बढ़ता जा रहा है। इस विषय के लिए इंटर में संस्कृत अनिवार्य किए जाने से आक्रोशित छात्रों ने माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड प्रतियोगी मोर्चा के बैनर तले शनिवार को यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव का घेराव किया। छात्रों ने लोक सेवा आयोग की ओर से हो रही भर्ती में भी इस विषय के लिए वही शैक्षिक अर्हता लागू करने की मांग रखी, जो माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड में लागू है। शाम को चयन बोर्ड दफ्तर के पास हुई मोर्चा की बैठक में मुख्यमंत्री की घोषणा के बावजूद अब तक चयन बोर्ड का गठन न होने की निंदा की गई। इस मौके पर मोर्चा के संयोजक विक्की खान, अनिल कुमार पाल, शेर सिंह, वरूण सिंह, भोला वर्मा, चंद्रशेखर, ओपी यादव, बालकृष्ण, अंबुज त्रिपाठी, अमितराज, अमित सिंह, दीपक, हेमंत मिश्र, सुनील भारतीय, समरपाल, सुमंतमणि, जय प्रकाश, कुलदीप मौर्य आदि उपस्थित थे। उधर, युवा मंच की शनिवार को हुई बैठक में भी हिन्दी की अर्हता को लेकर चर्चा हुई। अर्हता में बदलाव की मांग को लेकर 19 मार्च को दिन में 10.30 बजे शिक्षा निदेशालय में प्रदर्शन करने का निर्णय लिया गया।

राजकीय इंटर कॉलेजों में कक्षा छह से दस तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए नियुक्त होने वाले एलटी ग्रेड शिक्षकों की भर्ती में कुल 10768 पद हैं। कंप्यूटर शिक्षकों के पद पहली बार शामिल किए गए हैं। पुरुष शाखा में कंप्यूटर शिक्षकों के 898 और महिला शाखा में 775 पद हैं।

इस वजह से पीजीडीसीए करने वाले विद्यार्थी भर्ती से वंचित हो जाएंगे। प्रवीण सिंह, दीपक सिंह, अभय सिंह, ज्योति सिंह, पुष्पेंद्र सिंह आदि ने यूपी सरकार के जनसुनवाई पोर्टल के माध्यम से मुख्यमंत्री से शिकायत की है। इनका कहना है कि केंद्रीय और नवोदय विद्यालय में कंप्यूटर शिक्षकों की भर्ती में पीजीडीसीए को मौका दिया जाता है इसलिए एलटी ग्रेड शिक्षकों की भर्ती में मौका मिलना चाहिए। इस मुद्दे को लेकर आंदोलन की रणनीति तय करने के लिए छात्र 18 मार्च को चंद्रशेखर आजाद पार्क में बैठक भी करेंगे।

..तो शिक्षक भर्ती से वंचित होंगे हजारों छात्र

इलाहाबाद। कानपुर विश्वविद्यालय की ओर से आयोजित बीएड परीक्षा का परिणाम परीक्षा संपन्न होने के दो माह बाद भी नहीं घोषित किया जा सका है। इससे परीक्षा में शामिल हजारों विद्यार्थियों में आक्रोश है। इनका कहना है कि अगर समय से परिणाम घोषित नहीं हुआ तो वे लोक सेवा आयोग की ओर से शुरू की गई एलटी ग्रेड शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया में शामिल नहीं हो सकेंगे। छात्रों ने परिणाम जल्द घोषित करने की मांग की है। इनका कहना है कि दूसरे विश्वविद्यालयों ने बीएड का परीक्षा परिणाम काफी पहले घोषित कर दिया है।



No comments:
Write comments