DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Thursday, July 12, 2018

नरेला के स्कूल के मिड-डे मील में मिली छिपकली, 28 छात्राएं बीमार, दिल्ली सरकार ने मिड-डे मील आपूर्ति करने वाली संस्था आर्य नवयुग शिक्षा समिति के खिलाफ मामला दर्ज कराने का दिया आदेश

जागरण संवाददाता, नई दिल्ली : नरेला क्षेत्र के बांकनेर गांव स्थित राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के मिड-डे मील में बुधवार को एक छिपकली मिली। इस मिड-डे मील को खाकर 28 छात्राएं बीमार पड़ गईं। छठी से आठवीं कक्षाओं की इन छात्राओं को नरेला स्थित सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालांकि देर शाम सभी को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। उधर, छात्राओं का हाल जानने पहुंचे दिल्ली सरकार के समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम को अभिभावकों ने घेर लिया और खूब खरी-खोटी सुनाई। दिल्ली सरकार ने मिड-डे मील आपूर्ति करने वाली संस्था आर्य नवयुग शिक्षा समिति के खिलाफ मामला दर्ज कराने के आदेश दिए हैं।

बुधवार सुबह करीब 10 बजे मिड-डे मील की गाड़ी कढ़ी-चावल लेकर स्कूल पहुंची। सुबह 10:30 बजे इसको खाते ही छठी, सातवीं और आठवीं की 28 छात्राओं की तबीयत बिगड़ने लगी। अधिकतर छात्राओं के पेट में दर्द, चक्कर और उल्टी की शिकायत होने पर प्रिंसिपल ने सभी को नरेला स्थित राजा हरिश्चंद्र अस्पताल में भर्ती करवाया। स्कूल प्रशासन ने बीमार सभी छात्राओं के परिजनों को फोन पर इस बाबत सूचना दे दी। इसके बाद अस्पताल में परिजनों का जमावड़ा लग गया। अधिकांश अभिभावकों का आरोप था कि स्कूल प्रशासन ने उन्हें देर से सूचना दी। हालांकि अस्पताल में सभी छात्राओं की हालत में सुधार देख अभिभावकों ने राहत की सांस ली। मिड-डे मील में छिपकली मिलने और छात्राओं के अस्पताल में भर्ती होने की सूचना पर दिल्ली सरकार के समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम अस्पताल पहुंचे।

सातवीं कक्षा की छात्रा पूजा ने मंत्री को बताया कि जो मिड-डे मील उन्हें दिया गया, उसमें छिपकली थी। इस पर मंत्री ने पूरे मिड-डे मील को कब्जे में लेकर आपूर्ति करने वाली एजेंसी के खिलाफ मामला दर्ज कराने के आदेश अधिकारियों को दिए। बाद में मिड-डे मील के कुछ सैंपल जांच के लिए भेज दिए गए।

अभिभावकों ने मंत्री को घेरा : अस्पताल में भर्ती छात्राओं का हाल जानने के बाद मंत्री राजेंद्र पाल जब वापस गाड़ी में बैठने लगे तो अभिभावक उनकी गाड़ी के सामने आ गए। उन्होंने मंत्री से सवाल किया कि मिड-डे मील में कभी छिपकली तो कभी कॉकरोच आदि मिलने की शिकायत आ रही है, लेकिन सरकार कुछ नहीं कर रही है। केवल बयानबाजी होती है। आखिर कब तब ऐसा चलेगा। मंत्री ने अभिभावकों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह इस जिद पर अड़े थे कि सरकार यह ठोस आश्वासन दे कि भविष्य में इस तरह की कोई गड़बड़ी नहीं होगी। अभिभावकों का आक्रोश देख मौके पर मौजूद पुलिस अफसरों ने मंत्री को उनकी गाड़ी में बैठाकर रवाना कर दिया। अधिकांश अभिभावक मिड-डे मील नीति को लेकर सरकार की कोसते दिखे।

कल्याणपुरी में भी मिड-डे मील में मिली थी छिपकली : कल्याणपुरी इलाके में स्थित सवरेदय कन्या विद्यालय में शनिवार को मिड-डे मील में छिपकली पाई गई। मिड-डे मील खाने से दो छात्राएं बीमार हो गई थीं। उन्हें लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सूचना पर उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया स्कूल पहुंचे थे और आपूर्ति करने वाली फर्म का ठेका रद कर दिया था।’ नरेला क्षेत्र के बांकनेर गांव के स्कूल में हुई घटना, नाराज अभिभावकों ने मंत्री को घेरा। छात्राओं को राजा हरिश्चंद्र अस्पताल में भर्ती कराया गया। शाम तक उन्हें छुट्टी दे दी गई।

No comments:
Write comments