DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Tuesday, August 21, 2018

विश्वविद्यालय - कॉलेज शिक्षकों को जल्द मिलेगा 7वां वेतनमान, शिक्षक दिवस पर मिल सकता है तोहफा

विश्वविद्यालय-कॉलेज शिक्षकों को जल्द मिलेगा 7वां वेतनमान

राज्य सरकार पर अब ज्यादा बोझ

गौरतलब है कि विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के शिक्षकों को छठवां वेतनमान देने में केंद्र सरकार ने ज्यादा दरियादिली दिखाई थी। सातवें वेतनमान में केंद्र ने जहां 39 महीने की अवधि में आने वाले अतिरिक्त व्ययभार का 50 प्रतिशत वहन करने की मंशा जताई है। वहीं छठवां वेतनमान देने के समय केंद्र ने 57 महीने (चार साल नौ महीने) की अवधि में आने वाले अतिरिक्त खर्च का 80 फीसद व्ययभार वहन किया था। लेकिन इस बार केंद्र सरकार के किनारा कसने से राज्य सरकार को सातवां वेतनमान देने पर अपने संसाधनों से ज्यादा खर्च करना पड़ेगा।
शिक्षक दिवस पर तोहफा देने का इरादा, अनुपूरक बजट में मांगे गए 921 करोड़
12

राजीव दीक्षित’ लखनऊ  : योगी सरकार उच्च शिक्षा विभाग के अधीन राज्य विश्वविद्यालयों और राजकीय व अनुदानित कॉलेजों के शिक्षकों को सातवां वेतनमान देने की तैयारी में जुटी है। इसके लिए उच्च शिक्षा विभाग ने चालू वित्तीय वर्ष के अनुपूरक बजट में 921 करोड़ रुपये का प्रावधान करने का प्रस्ताव वित्त विभाग को भेजा है। सूत्रों के मुताबिक पांच सितंबर को शिक्षक दिवस के मौके पर राज्य सरकार विश्वविद्यालय-कॉलेज शिक्षकों को सातवां वेतनमान देने का एलान कर सकती है। इन शिक्षकों को सातवां वेतनमान देने के प्रस्ताव को कैबिनेट से मंजूरी दिलाने की तैयारी है।

केंद्र सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रलय ने विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के शिक्षकों को सातवां वेतनमान देने के बारे में दो नवंबर, 2017 को अधिसूचना जारी की थी। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने शिक्षकों को पहली जनवरी 2016 से सातवां वेतनमान देने के संदर्भ में राज्य सरकार को 31 जनवरी, 2018 को पत्र भेजा था। इसके बाद यूजीसी ने दो फरवरी, 2018 को पत्र भेजकर यह बताया कि शिक्षकों को सातवां वेतनमान देने पर पहली जनवरी, 2016 से 31 मार्च, 2019 तक होने वाले खर्च का 50 फीसद केंद्र सरकार वहन करेगी। इस पर शासन ने सभी राज्य विश्वविद्यालयों और निदेशक उच्च शिक्षा से शिक्षकों को सातवां वेतनमान देने पर होने वाले खर्च का ब्योरा मांगा था।

उच्च शिक्षा विभाग ने यह कवायद पूरी कर ली है। विभाग के अधीन राज्य विश्वविद्यालयों, 154 राजकीय और 331 अनुदानित कॉलेजों के शिक्षकों को पहली जनवरी 2016 से 31 मार्च 2019 तक सातवां वेतनमान देने पर 921 करोड़ रुपये का व्ययभार आकलित किया गया है।राज्य विश्वविद्यालय, 154 राजकीय और 331 अनुदानित कॉलेज हैं उच्च शिक्षा विभाग के अधीन

योगी सरकार की तैयारी, जल्द मिलें भत्ते और एरियर1छठें वेतनमान का एरियर हासिल करने के लिए जहां शिक्षकों को आंदोलन करना पड़ा था, वहीं योगी सरकार का इरादा शिक्षकों को सातवें वेतनमान के एरियर और मकान किराया भत्ते का भुगतान भी जल्द कर दिया जाए

>>उच्च शिक्षा विभाग ने वित्त विभाग के पास भेजा प्रस्ताव

>>प्रस्ताव को कैबिनेट से मंजूर कराने की तैयारी में सरकार

लुआक्टा ने की थी मांग

लखनऊ विश्वविद्यालय संबद्ध महाविद्यालय शिक्षक संघ (लुआक्टा) ने सातवां वेतनमान देने की मांग करते हुए कहा था कि यदि सातवां वेतनमान नहीं दिया गया तो शिक्षक आंदोलित होंगे।

No comments:
Write comments