DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Tuesday, August 21, 2018

बलिया : एक ही आईडी पर तीन शिक्षक कार्यरत, आइटीआर दाखिल करने के बाद हुआ खुलासा

एक ही आइडी पर तीन शिक्षक कार्यरत

जांच से मचा हड़कंप

जुलाई में आइटीआर दाखिल करने के बाद हुआ खुलासा

एक उन्नाव, दूसरा मऊ व तीसरी बलिया में शिक्षिका

जागरण संवाददाता, पूर (बलिया) : फर्जी शिक्षकों की जांच के क्रम शिक्षा क्षेत्र पंदह में भी कार्यरत सभी अध्यापकों को नियुक्ति पत्र के साथ अपनी योग्यता का प्रमाणपत्र जमा करने के निर्देश के बाद हड़कंप मचा हुआ है। वहीं कुछ अभी भी जुगाड़ पर अपनी गाड़ी खींचना चाहते हैं किंतु बीएसए के सख्त निर्देश के बाद फर्जीवाड़े का सहारा लेकर नौकरी करने वालों की पोल लगातार खुलने लगी है।

फर्जीवाड़े का ही एक मामला शिक्षा क्षेत्र पंदह में भी सामने आया है। एक ही प्रमाणपत्र पर तीन लोग तीन स्थानों पर नौकरी कर रहे हैं। वह तीसरी शिक्षिका उच्च प्राथमिक विद्यालय उकछी पर कार्यरत नवनीता यादव हैं। इसके अलावा इसी प्रमाण पत्र उन्नाव व मऊ में भी दो लोग नौकरी कर रहे हैं। नवनीता यादव गैर जनपद से बलिया में पहुंचीं थी। वर्ष 2009 में शिक्षा क्षेत्र चिलकहर से उनका प्रमोशन हुआ और वह शिक्षा क्षेत्र पंदह के उच्च प्राथमिक विद्यालय उकछी पर 2014 में स्थानांतरण होकर पहुंच गई।

शक के दायरे में वह तब आई जब उन्होंने जुलाई 2018 में आईटीआर दाखिल की। तभी मालूम हुआ कि इसी प्रमाण पत्र व आइडी पर अलग-अलग कुल तीन लोग शिक्षक की नौकरी कर रहे हैं। एक उन्नाव, दूसरा मऊ व तीसरा बलिया में स्वयं नवनीता के रुप में। इस प्रकरण का खुलासा होने पर अन्य फर्जी शिक्षकों में भी हड़कंप मचा हुआ है। जानकारों का दावा है कि इस तरह के प्रकरण पूरे जनपद में भरे पड़े हैं। जांच के बाद एक-एक की पोल खुल जाएगी।

विद्यालय नहीं आती नवनीता : इस संबंध में प्रधानाध्यापक सर्वजीत चौहान का कहना है कि 31 जुलाई तक वह अवकाश पर रहीं और जांच की भनक लगने के बाद विद्यालय आना भी छोड़ दिया है। इसकी सूचना हमने खंड शिक्षा अधिकारी पंदह एसएन त्रिपाठी को दी पहले ही दे दी है। जांच के बाद पूरी तस्वीर साफ हो जाएगी। खंड शिक्षा अधिकारी का कहना है कि इस प्रकरण की जांच गंभीरता से किया जा रहा है। उधर इस कार्यवाही से फर्जी नियुक्ति पर कार्य कर रहे अध्यापकों में हड़कंप मचा हुआ है।एक ही आइडी पर तीन लोगों के अलग-अलग स्थानों पर नौकरी करने की सूचना है। इस प्रकरण की गहनता से जांच की जा रही है। जांच में कई तरह के तथ्य सामने आ रहे हैं। तमाम फर्जी शिक्षकों की कुंडली तलाशी जा रही है। कहीं भी कोई शिक्षक फर्जीवाड़े का सहारा लेकर नौकरी नहीं कर पाएगा। ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई की तैयारी है।

-एसएन त्रिपाठी, खंड शिक्षा अधिकारी, पंदह।

No comments:
Write comments