DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Saturday, September 22, 2018

फतेहपुर : खनन के आरोपितों समेत विद्यालय स्टाफ पर मुकदमा, 35 फिट के गहरे गड्ढे में डूबने से हुई थी दो बच्चों की मौत


संवाददाता, फतेहपुर : सदर कोतवाली के त्रिलोकीपुर गांव में स्थित पानी भरे गड्ढे में गुरुवार को डूबने से हुई मासूम चचेरे भाइयों की मौत पर कोतवाली पुलिस ने अवैध खनन कर गड्ढा करने वाले पूर्व प्रधानपति, उसके तीन बेटों के साथ लापरवाही पर प्राथमिक विद्यालय के समस्त स्टाफ पर गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया है।

त्रिलोकीपुर गांव निवासी चचेरे भाई अभय पुत्र कैलाश जाटव व शिवा पुत्र ललित उर्फ मुन्ना जाटव गुरुवार को दोपहर एक बजे प्राथमिक विद्यालय से छुट्टी होने पर घर न जाकर शौच क्रिया करने चले गए थे। करीब 30 फिट गहरे गड्ढे में भरे पानी के समीप पैर फिसल जाने की वजह से वह दोनो डूबकर मौत के आगोश में समा गए थे। आक्रोशित परिजनों ने शव बरामद कर जाम लगा दिया था और कार्रवाई की मांग को लेकर शव नहीं उठने दिया था। करीब ढाई घंटे बाद एसडीएम सदर प्रेमप्रकाश तिवारी व सीओ सिटी कपिलदेव मिश्र के आश्वासन पर पुलिस ने शवों को कब्जे में लिया था। 

ग्रामीणों का आरोप था कि दो वर्ष पूर्व पशुचर की जमीन पर तत्कालीन प्रधानपति सिराज अहमद ने करीब 35 फिट गहरी खोदाई करवाकर अवैध मिट्टी खनन कर लिया था लेकिन उसकी पुराई नहीं कराई गई थी जिससे पानी भर जाने की वजह से बच्चों की डूबकर मौत हो गई। विद्यालय स्टाफ पर लापरवाही का आरोप भी लगाया था।

 शहर कोतवाल शैलेंद्र कुमार सिंह का कहना था कि ललित उर्फ मुन्ना जाटव पुत्र तुलसी की तहरीर पर पूर्व प्रधानपति सिराज अहमद, उसके बेटों कामरान अहमद, फैजान अहमद, जीशान अहमद के अलावा प्राथमिक विद्यालय के स्टाफ को गैर इरादतन हत्या में नामजद किया गया है। जिसकी विवेचना राधानगर चौकी इंचार्ज आशुतोष कुमार सिंह कर रहे हैं। 

, फतेहपुर : सदर कोतवाली के त्रिलोकीपुर गांव में स्थित पानी भरे गड्ढे में गुरुवार को डूबने से हुई मासूम चचेरे भाइयों की मौत पर कोतवाली पुलिस ने अवैध खनन कर गड्ढा करने वाले पूर्व प्रधानपति, उसके तीन बेटों के साथ लापरवाही पर प्राथमिक विद्यालय के समस्त स्टाफ पर गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया है।

त्रिलोकीपुर गांव निवासी चचेरे भाई अभय पुत्र कैलाश जाटव व शिवा पुत्र ललित उर्फ मुन्ना जाटव गुरुवार को दोपहर एक बजे प्राथमिक विद्यालय से छुट्टी होने पर घर न जाकर शौच क्रिया करने चले गए थे। करीब 30 फिट गहरे गड्ढे में भरे पानी के समीप पैर फिसल जाने की वजह से वह दोनो डूबकर मौत के आगोश में समा गए थे। आक्रोशित परिजनों ने शव बरामद कर जाम लगा दिया था और कार्रवाई की मांग को लेकर शव नहीं उठने दिया था। करीब ढाई घंटे बाद एसडीएम सदर प्रेमप्रकाश तिवारी व सीओ सिटी कपिलदेव मिश्र के आश्वासन पर पुलिस ने शवों को कब्जे में लिया था। 


ग्रामीणों का आरोप था कि दो वर्ष पूर्व पशुचर की जमीन पर तत्कालीन प्रधानपति सिराज अहमद ने करीब 35 फिट गहरी खोदाई करवाकर अवैध मिट्टी खनन कर लिया था लेकिन उसकी पुराई नहीं कराई गई थी जिससे पानी भर जाने की वजह से बच्चों की डूबकर मौत हो गई। विद्यालय स्टाफ पर लापरवाही का आरोप भी लगाया था।


 शहर कोतवाल शैलेंद्र कुमार सिंह का कहना था कि ललित उर्फ मुन्ना जाटव पुत्र तुलसी की तहरीर पर पूर्व प्रधानपति सिराज अहमद, उसके बेटों कामरान अहमद, फैजान अहमद, जीशान अहमद के अलावा प्राथमिक विद्यालय के स्टाफ को गैर इरादतन हत्या में नामजद किया गया है। जिसकी विवेचना राधानगर चौकी इंचार्ज आशुतोष कुमार सिंह कर रहे हैं। 1




No comments:
Write comments