DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Tuesday, November 6, 2018

यूपी बोर्ड : परीक्षार्थी घटे लेकिन परीक्षा केंद्र बढ़े, परीक्षा केन्द्रों की प्रस्तावित सूची जारी, बनें 144 परीक्षा केन्द्र, डीआईओएस ने 12 नवम्बर तक मांगी आपत्ति

एनबीटी, लखनऊ : वर्ष 2019 की यूपी बोर्ड हाईस्कूल, इंटरमीडिएट परीक्षाएं राजधानी में 144 केंद्रों पर होंगी। इस बार लखनऊ में पांच हजार से ज्यादा परीक्षार्थियों की संख्या कम हो गई है। फिर भी बोर्ड ने पिछले साल से ज्यादा केंद्र प्रस्तावित कर दिए हैं। इतना ही नहीं कई ऐसे स्कूलों को भी सूची में शामिल किया गया है, जो 9वीं, 11वीं के 

अमान्य पंजीकरण के आरोप में फंस चुके हैं। इसे लेकर सवाल उठने लगे हैं। फिलहाल, डीआईओएस डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने प्रस्तावित परीक्षा केंद्रों एवं परीक्षार्थियों की शिफ्टिंग सूची अपने कार्यालय के नोटिस बोर्ड पर चस्पा करवाते हुए 12 नवंबर को शाम पांच बजे तक आपत्तियां मांगी हैं।

हाईस्कूल व इंटर मिलाकर करीब 99 हजार 600 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। जबकि पिछले साल 1 लाख 6 हजार 424 परीक्षार्थियों के लिए 137 केंद्र बनाए गए थे। यानी इस बार 6 हजार 824 परीक्षार्थी कम होने के बावजूद आठ केंद्र अधिक बनाए गए हैं। इतना ही नहीं विवादित स्कूलों को भी सूची में शामिल कर लिया गया है। 

बोर्ड परीक्षा केंद्रों की सूची में ऐसे कई स्कूलों पर मेहरबानी दिखाई गई है जहां खुद डीआईओएस ने पिछले साल 9वीं, 11वीं में अमान्य पंजीकरण पकड़ा था। चंद्रशेखर आजाद इंटर कॉलेज गहदेव-माल, नन्हें सिंह स्मारक इंटर कॉलेज मसीढ़ा-माल, जय चंद्रिका इंटर कॉलेज, ब्राइट कैरियर शिक्षण संस्थान, महेश सिंह सरस्वती सहित कई स्कूलों में निरीक्षण के दौरान पंजीकरण की तुलना में विद्यार्थी काफी कम मिले थे। 

कई नए स्कूल शामिल

बोर्ड ने इस बार कई नए स्कूलों को भी सूची में जगह दी है। सूत्रों के अनुसार इनमें मॉर्डन स्टैंडर्ड इंटरमीडिएट कॉलेज, बिमला इंटरनैशनल पब्लिक स्कूल कमदूमपुर काठी, इंडियन पब्लिक स्कूल सहित कई नाम शामिल हैं। परीक्षा केंद्र के साथ जारी शिफ्टिंग सूची में भी गड़बड़ी की बात सामने आई है। कहीं प्राइवेट स्कूलों को केंद्र बनाते हुए एक हजार तक परीक्षार्थी आवंटित कर दिए गए हैं, जबकि कई सरकारी स्कूलों में यह आंकड़ा तीन से साढ़े तीन सौ तक सीमित है।

यूपी बोर्ड : परीक्षार्थी घटे लेकिन केंद्र बढ़े
परीक्षा केंद्रों को लेकर 12 नवंबर तक आपत्तियां मांगी गई हैं। जिनके स्कूल संसाधन होने के बाद भी केंद्र नहीं बने हैं, वे आपत्ति दे सकते हैं। किसी केंद्र में कमी है तो भी बता सकते हैं। आपत्तियों के बाद केंद्रों का निरीक्षण किया जाएगा।

- डॉ. मुकेश कुमार सिंह, डीआईओएस

हाईस्कूल, इंटरमीडिएट परीक्षा केंद्रों की प्रस्तावित सूची जारी

144 केंद्र बने, डीआईओएस ने 12 नवंबर तक मांगी आपत्ति

No comments:
Write comments