DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Friday, December 21, 2018

पुरानी पेंशन बहाली के लिए हुई रैली, शिक्षक-कर्मचारी बोले-मांग नहीं मानी तो चुनाव में करेंगे विरोध, प्रदर्शनकारियों ने नई पेंशन के लिए गठित समिति का भी किया बहिष्कार

शिक्षक करेंगे बोर्ड परीक्षा और मूल्यांकन का बहिष्कार

सड़क पर बेतरतीब खड़े रहे वाहन


कर्मचारियों की
खबरें शिक्षकों व
शिक्षक संघ ने अफसरों पर लगाया लापरवाही का आरोप
ईको गार्डन में देर शाम तक जुटे रहे शिक्षक कर्मचारी।• एनबीटी, लखनऊ : पुरानी पेंशन योजना की बहाली एवं सभी तदर्थ माध्यमिक शिक्षकों का विनियमितीकरण किए जाने सहित 11 सूत्रीय मांगों को लेकर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के नेतृत्व में शिक्षकों ने गुरुवार को पार्क रोड स्थित शिक्षा निदेशालय पर धरना-प्रदर्शन किया। शिक्षक संघ ने अपर शिक्षा निदेशक साहब सिंह निरंजन एवं एसीएम को ज्ञापन सौंपा। साथ ही चेतावनी दी है कि यदि मांगे पूरी न हुई तो शिक्षक आगामी यूपी बोर्ड परीक्षा एवं मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार करेंगे। धरना-प्रदर्शन में शामिल संघ के अध्यक्ष अमर नाथ सिंह ने कहा कि संगठन पुरानी पेंशन को बहाल करने से लेकर तदर्थ शिक्षकों के विनियमितिकरण की मांग काफी समय से कर रहा है। कई बार शिक्षा विभाग के अफसरों से लेकर शासन स्तर तक आश्वासन दिया गया। लेकिन उसके बावजूद भी मांगें आज तक पूरी नहीं हुई। उन्होंने कहा कि सरकार शिक्षकों की प्रमुख समस्याओं का समाधान करें अन्यथा शिक्षक आर-पार की लड़ाई के लिए बाध्य होंगे। प्रदर्शन में संघ के महामंत्री नंद कुमार मित्र, संगठन के प्रवक्ता ओम प्रकाश त्रिपाठी, मीडिया प्रभारी केके शर्मा, कर्मचारी शिक्षक संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष वीपी मिश्रा, मिथिलेश सहित अन्य मौजूद रहे।
समिति संरक्षक अभिमन्यु तिवारी ने कहा कि पांच सितंबर को धरना, अक्टूबर में कैंडल मार्च और जनचेतना रथ यात्रा के बाद भी सरकार पुरानी पेंशन बहाली के लिए पहल नहीं कर रहा है। इससे शिक्षकों-कर्मचारियों को संघर्ष के लिए मजबूर किया जा रहा है। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने नई पेंशन के लिए गठित समिति का भी बहिष्कार किया।

रैली स्थल पर मांग को लेकर उमड़ी भीड़ को नियंत्रित करने के लिए फोर्स की भारी कमी रही। रैली में पहुंचने वाली प्रदर्शनकारी बसों और चारपहिया वाहनों से रैली स्थल पहुंच रहे थे। रैली स्थल के बाहर और आसपास के चैराहों पर यातायात पुलिसकर्मी भी नहीं लगाए गए। इससे सड़क पर बेतरतीब वाहन खड़े कर दिए गए। वहीं, जल निगम द्वारा रैली स्थल पर पानी के मात्र तीन टैंकर भेजे जाने की वजह से प्रदर्शनकारियों को पीने के पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ा।• एनबीटी, लखनऊ : पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर गुरुवार को ईको गार्डन में संयुक्त संघर्ष संचालन समिति उत्तर प्रदेश के तत्वाधान में पेंशन बचाओ रैली का आयोजन किया गया। समिति के अध्यक्ष एसपी तिवारी के नेतृत्व में हुई रैली में प्रदेश भर से हजारों की संख्या में लोग शामिल हुए। 

संघर्ष जारी रखने का संकल्प लेकर की विशाल आंदोलन की घोषणा

एसपी तिवारी ने कहा कि अगर सरकार ने पेंशन बहाली नहीं की तो आगामी लोकसभा चुनाव में शिक्षक और कर्मचारी अपने परिवार सहित सरकार का विरोध करेंगे।

No comments:
Write comments