DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Monday, May 6, 2019

CBSE 10th Result 2019: सीबीएसई 10वीं रिजल्ट घोषित, 13 स्टूडेंट्स ने किया टॉप, सबके 499 मार्क्स, cbseresults.nic.in पर करें चेक करें


CBSE 10th Result 2019 declared : CBSE 10th Result 2019: सीबीएसई बोर्ड 10वीं रिजल्ट घोषित हो गया है। रिजल्ट  cbseresults.nic.in पर घोषित किया गया।cbseresults.nic.in पर 10वीं रिजल्ट की विंडो खोल दी गई है। स्टूडेंट्स यहां अपना रोल नंबर, डेट ऑफ बर्थ, स्कूल नंबर, सेंटर नंबर और एडमिट कार्ड आईडी डालकर अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं। सीबीएसई ने महज 38 दिनों के भीतर 10वीं का रिजल्ट घोषित कर दिया है। 
- 13 स्टूडेंट्स ने किया टॉप, सबके 499 मार्क्स

- स्मृति ईरानी की बेटी के आए 82% मार्क्स

CBSE 10th Result Direct Link

- तिरुवनंतपुरम रीजन ने 12वीं की तरह 10वीं में भी टॉप किया है। तिरुवनंतपुरम का रिजल्ट 99.85 फीसदी रहा।
- कुल 91.10 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए हैं। रिजल्ट पिछली बार से 4.40 % अच्छा रहा। पिछली बार 86.70 फीसदी ही पास हुए थे।
-  दूसरे स्थान पर 25 स्टूडेंट्स रहे हैं। इन सभी के 498 मार्क्स आए हैं। 
- 59 स्टूडेंट्स तीसरे स्थान पर हैं। इन सभी के 497 मार्क्स आए हैं। 
- 225143 स्टूडेंटस (12.78 फीसदी) ने 90% या उससे ज्यादा मार्क्स हासिल किए हैं। 
- 57256 स्टूडेंटस (3.25 फीसदी) ने 95% या उससे ज्यादा मार्क्स हासिल किए हैं। 
-  CWSN कैटगरी में दिलविन प्रिंस ने टॉप किया है। 
- इस बार 138705 (7.88 फीसदी) स्टूडेंट्स की कंपार्टमेंट आई है। पिछली बार 186067 (11.45 फीसदी) स्टूडेंट्स की कंपार्टमेंट आई थी।
- दिल्ली रीजन का रिजल्ट 80.97 फीसदी (260789 स्टूडेंट्स हुए पास) रहा है। 
- 10वीं परीक्षाएं 15 फरवरी से 4 अप्रैल तक चली थी।

सीबीएसई की तरफ से रविवार को रिजल्ट डेट को लेकर बयान आया था। सीबीएसई ने रविवार को रिजल्ट जारी किए जाने की खबरों को फर्जी बताया था। सीबीएसई ने कहा कि सोशल मीडिया पर दसवीं बोर्ड के नतीजे 5 अप्रैल को जारी होने की जो खबरें चल रही है वह फेक हैं। सीबीएसई ने कहा कि बोर्ड आधिकारिक संचार माध्यम से परिणाम की तिथि, समय के बारे में विधिवत जानकारी देगा। रिजल्ट से पहले सीबीएसई 10वीं स्टूडेंट्स को यह फैसला कर लेना चाहिए कि वह साइंस, कॉमर्स व आर्ट्स में से किसे चुनेंगे। अपनी रुचि व स्ट्रीम की संभावनाओं पर मंथन कर अभी से ये फैसला कर लें कि आप किन विषयों को चुनेंगे। 11वीं में चुने गए विषय ही यह तय करते हैं का आप करियर में क्या बनेंगे। 
फिर से चौंकाएगा सीबीएसई
कुछ दिनों पहले सीबीएसई ने 10वीं बोर्ड रिजल्ट की तारीख को लेकर कहा था कि वह दसवीं कक्षा के रिजल्ट भी उसी तरह बिना किसी पूर्व सूचना के जारी करेगा जिस तरह से 12वीं के नतीजे जारी किए गए थे। यानी जैसे 12वीं के नतीजे अचानक आए थे, उसकी सूचना पहले किसी को नहीं दी गई थी, उसी तरह से सीबीएसई 10वीं का रिजल्ट जारी कर फिर से चौंकाएगा। महज एक से दो घंटे पहले सीबीएसई 12वीं रिजल्ट जारी किए जाने की सूचना दी गई थी। इसके अलावा अगर पिछले कुछ सालों के सीबीएसई रिजल्ट पर गौर करें तो 10वीं व 12वीं सीबीसई रिजल्ट में महज दो से चार दिन का अंतर ही होता है। इस हिसाब से इस बात की काफी संभावना है सीबीएसई 10वीं रिजल्ट (CBSE Class 10 Result) की घोषणा इस सप्ताह घोषित हो जाए। पिछले साल CBSE Class 10 Result 86.70 प्रतिशत रहा था।
CBSE 10th Result: वेबसाइट डाउन होने पर भी ऐसे चेक कर सकते हैं रिजल्ट
CBSE 10th Result 2019:  यूं चेक करें सीबीएसई 10वीं रिजल्ट
स्टेप-1 - cbseresults.nic.in पर जाएं। 
स्टेप - 2 - Secondary School Examination (Class-X) 2019 के लिंक पर क्लिक करें। 
स्टेप- 3 रिजल्ट पेज खुलने पर अपना रोल नंबर, स्कूल नंबर, सेंटर नंबर और एडमिट कार्ड डालें। 
स्टेप - 4 सब्मिट करने पर आपका रिजल्ट आपकी स्क्रीन पर आ जाएगा। इसका प्रिंट आउट ले लें। 
CBSE 10th Result 2019: रिजल्ट डेट को लेकर सीबीएसई ने दिया ये बयान
2 अप्रैल को घोषित किए गए 12वीं के नतीजे 
सीबीएसई ने 2 अप्रैल को 12वीं के नतीजे घोषित कर दिए। रिजल्ट 83.4% रहा। पिछली कई बार की तरह इस बार भी लड़कियों ने बाजी मारी है। 79.40 प्रतिशत लड़कों की तुलना में 88.70 प्रतिशत लड़कियां उत्तीर्ण हुई हैं। इस साल बड़ी संख्या में लड़कियों ने टॉप करके इतिहास बनाया है। टॉप तीन में 23 विद्यार्थी हैं, जिनमें 16 लड़कियां हैं। इस बार के टॉपर ने संयुक्त स्थान हासिल कर सबको चौंकाया है। पहले स्थान पर संयुक्त रूप से दो विद्यार्थी सफल हुए। दोनों ही लड़कियां हैं। वहीं दूसरे नंबर भी सफल तीनों लड़कियां ही हैं। जबकि तीसरे नंबर पर कुल 18 विद्यार्थियों में से 11 लड़कियां हैं। सीबीएसई बोर्ड के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब तीसरे नंबर पर संयुक्त रूप से 18 छात्रों का कब्जा रहा है। इनमें से सात लड़के हैं। 


No comments:
Write comments