DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Saturday, September 7, 2019

नई शिक्षा नीति तैयार:डॉ पोखरियाल, विज्ञान की नई तकनीकों के साथ संस्कार युक्त शिक्षा भी होगी शामिल



नई शिक्षा नीति तैयार:डॉ पोखरियाल
शिक्षक सम्मान
07 Sep 2019

लखनऊ 

नई शिक्षा नीति का खाका तैयार हो चुका है। इसके लागू होने के बाद देश विश्व गुरु के रूप में आगे बढ़ेगा। नई शिक्षा नीति में विज्ञान की नई तकनीकों के साथ संस्कार युक्त शिक्षा भी शामिल होगी। यह बात केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल ‘निशंक' ने कहीं। वे शुक्रवार को सिटी मांटेसरी स्कूल कानपुर रोड पर शिक्षक सम्मान समारोह में बतौर मुख्य अतिथि मौजूद थे। इस दौरान उन्होंने 12 शिक्षकों को सर्वश्रेष्ठ शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित किया।



डॉ रमेश पोखरियाल ने कहा कि नई शिक्षा नीति का जो मसौदा तैयार किया गया है। इसमें शिक्षक, वैज्ञानिक, डाक्टर, अभिभावक व छात्रों समेत वैज्ञानिक और विशेषज्ञों ने भी अपने सुझाव भेजे। नई नीति के लिए एक लाख दस हजार ग्राम समितियों समेत दो लाख से अधिक आम लोगों ने भी विचार साझा किए हैं। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति हमें विश्व रैकिंग में स्थान दिलाएगी। नई शिक्षा नीति में सात लाख शिक्षकों ने इनोवेशन पर विचार बताए। समाज में डॉक्टर, इंजीनियर, प्रशासनिक अधिकारी सब एक शिक्षक ही तैयार करता है। इसलिए आईएएस बनना तो आसान है लेकिन एक अच्छा शिक्षक बनना मुश्किल है।



42 लाख शिक्षकों के लिए ट्रेनिंग प्रोग्राम: डॉ रमेश पोखरियाल ने कहा कि 42 लाख शिक्षकों के लिए निष्ठा अभियान के तहत ट्रेनिंग कार्यक्रम चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दुनिया के और देशों के विश्व एक बाजार है जबकि भारत के लिए विश्व एक परिवार है। बाजार में व्यापार होता है जबकि परिवार में स्नेह और प्यार होता है। कार्यक्रम में सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों की माताओं को फलों व फूलों से तौला गया जबकि पिता को शॉल देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर डॉ जगदीश गांधी ने अतिथियों का सम्मान किया। कार्यक्रम में मंत्री डॉ महेंन्द्र सिंह, न्याय मंत्री बृजेश पाठक, समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री, राज्यमंत्री सतीश द्विवेदी, सांसद डॉ अशोक बाजपेई, भारती गांधी व प्रो गीता गांधी किंगडम मौजूद रही।


नैतिक मूल्य सिखाता है शिक्षक: सीएमएस के बाद केन्द्रीय मानव संसाधान मंत्री रमेश पोखरियाल केन्द्रीय विद्यालय गोमतीनगर पहुंचे। उन्होंने छात्रों से पूछा कि वह शिक्षक क्यों बनना चाहते हैं। एक छात्र ने कहा कि एक शिक्षक ही नैतिक मूल्यों की शिक्षा देता है जबकि दूसरे छात्र ने कहा कि शिक्षक ही समाज को इंजीनियर, डॉक्टर व अन्य विधाओं का जानकार बनाता है। उन्होंने कहा कि देश में 25 करोड़ छात्र-छात्राएं है। वह रोजाना एक लीटर पानी बचाएं तो समस्या खत्म हो जाएगी। इस अवसर पर केवी संगठन के उपायुक्त टीपी गौढ़, प्राचार्य डॉ. सीबीपी वर्मा समेत सभी शिक्षक मौजूद रहे।


No comments:
Write comments