DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़

Thursday, October 31, 2019

फतेहपुर : एआरपी के लिए मानक तय, प्रेरणा एप पर रिपोर्ट अपलोड होने पर मानी जायेगी उपस्थिति, प्रत्येक वर्ष कराना होगा नवीनीकरण

फतेहपुर : एआरपी के लिए मानक तय, प्रेरणा एप पर रिपोर्ट अपलोड होने पर मानी जायेगी उपस्थिति, प्रत्येक वर्ष कराना होगा नवीनीकरण।


एआरपी की तैनाती के मानक तय
31 Oct 2019

शासन ने एबीआरसीसी एवं एनपीआरसीसी के स्थान पर प्रत्येक ब्लॉक मंे एआरपी की तैनाती एवं उसकी उपस्थिति के मानक तय कर दिए हैं। एआरपी की नियमित उपस्थिति उनके द्वारा स्कूलों मंे किए जाने वाले सहयोगात्मक पर्यवेक्षण के बाद तैयार की गई रिपोर्ट को प्रेरणा ऐप मंे अपलोड होने पर ही मानी जाएगी। साथ ही कहा गया है कि एआरपी अपने विषय से सम्बन्धित प्रशिक्षण मंे ही बतौर प्रतिभागी या प्रशिक्षण भाग ले सकेंगे।

प्रेरणा एप पर रिपोर्ट अपलोड होने पर ही मानी जाएगी उपस्थिति

शासन ने यह भी स्पष्ट किया है कि एआरपी की कार्य अवधि मुख्य तौर पर विद्यालय समयावधि को ही माना जाएगा। यदि आवश्यक हुआ तभी एआरपी को बीआरसी पहुंचना होगा। एआरपी को हर माह कम से कम 30 स्कूलांे का आनलाइन सपोर्टिव सुपरविजन करना होगा। यात्रा भत्ता के अलावा अन्य कोई अतिक्ति देय नहीं मिलेगा। अनुश्रवण के दौरान प्रार्थना सभा से लेकर सम्पूर्ण गतिविधियों को ध्यान मंे रखना होगा। शासन ने ब्लॉक संसाधन केन्द्रों एवं न्यायपंचायत संसाधन केन्द्रों के पुनर्गठन का फैसला किया है। इस फैसले के अन्तर्गत अब बीआरसी मंे पूर्व नियुक्त एबी आरसीसी एवं न्याय पंचायतों मंे तैनात एनपी आरसीसी (संकुल प्रभारी) की अपने मूल विद्यालयों मंे वापसी हो जाएगी। इनके स्थान पर अब प्रत्येक ब्लॉक मंे 6 एकैडमिक रिसोर्स पर्सन की नियुक्ति एक माह के भीतर की जाएगी। शासनादेश मंे विस्तृत रूप से शासन ने 2 फरवरी 2011 के शासनादेश मंे दी गई व्यवस्था को अवक्रमित कर दिया है। एआपी को सह समन्वयकों के पूर्व सृजित पदों मंे समायोजित किया जाएगा।








 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

No comments:
Write comments