DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label अनशन. Show all posts
Showing posts with label अनशन. Show all posts

Sunday, May 21, 2017

परिषद के प्राथमिक स्कूलों में शिक्षक पद पर मौलिक नियुक्ति की मांग करने वाले अनशनकारियों की हालत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती

इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में शिक्षक पद पर मौलिक नियुक्ति की मांग करने वाले शनिवार को अस्पताल पहुंच गए। असल में बीते 15 मई से शिक्षा निदेशालय में प्रशिक्षु शिक्षक हंसराज वर्मा व करुणोश राजपूत आमरण अनशन कर रहे हैं। भीषण गर्मी में उनकी तबीयत बिगड़ने पर प्रशासन ने दोनों को बेली अस्पताल में भर्ती करा दिया है।






प्रशिक्षु शिक्षक चयन 2011 के आठवें बैच के 32 जिलों के 1056 प्रशिक्षु शिक्षकों का छह माह का प्रशिक्षण पूरा हो चुका है। छह अप्रैल को प्रशिक्षण परीक्षा भी पास कर ली है, लेकिन इसके बाद भी उन्हें मौलिक नियुक्ति नहीं मिल रही है। अभ्यर्थियों का कहना है कि उनकी नियुक्ति शीर्ष कोर्ट के आदेश से हुई है इसलिए इसमें देरी नहीं होनी चाहिए। अनशन के छठे दिन शनिवार दोपहर में डाक्टर ने दोनों अनशनकारियों की जांच की। 







भीषण गर्मी में लगातार अनशन कर रहे दोनों प्रशिक्षुओं का स्वास्थ्य ठीक नहीं मिला। इस पर प्रशासन ने दोनों को बेली अस्पताल में भर्ती कराया है। 1अभ्यर्थियों का कहना है कि साथी सोमवार को भी निदेशालय में पहले की तरह की प्रदर्शन तब तक जारी रखेंगे, जब तक कि मौलिक नियुक्ति का आदेश जारी नहीं हो जाता।

Saturday, May 20, 2017

भीषण गर्मी में 72हजार शिक्षक भर्ती के आठवें बैच के प्रशिक्षु कर रहे आमरण अनशन, लेकिन मौलिक नियुक्ति पर अफसर अभी भी उदासीन

अनशन पर प्रशिक्षु अफसर उदासीन 1राब्यू, इलाहाबाद : 72 हजार शिक्षकों की भर्ती में आठवें बैच के 32 जिलों के 1056 प्रशिक्षु शिक्षक शिक्षा निदेशालय में आंदोलन कर रहे हैं। उनका छह माह का प्रशिक्षण पूरा हो चुका है और उन्होंने प्रशिक्षण परीक्षा भी उत्तीर्ण कर ली है, लेकिन उनकी मौलिक नियुक्ति का आदेश नहीं हो रहा है। दो प्रशिक्षु शिक्षक हंसराज वर्मा व करुणोश कुमार भीषण गर्मी में पांच दिन से आमरण अनशन कर रहे हैं। उनकी हालत बिगड़ रही है। अपर जिलाधिकारी ने शुक्रवार को उनकी चिकित्सीय जांच कराई है उधर विभागीय अफसर उनकी मौलिक नियुक्ति का आदेश जारी नहीं कर रहे हैं।

Wednesday, January 4, 2017

भूखे रहकर धरने पर डटे शिक्षामित्र, सम्मानजनक भुगतान की मांग कर रहे विद्यालयों में तैनात शिक्षक


इलाहाबाद : प्रदेश के प्राथमिक विद्यालयों में तैनात 32 हजार शिक्षामित्र सम्मानजनक भुगतान की मांग पर अड़े हैं। अब तक इस संबंध में शासनादेश न जारी होने से खफा शिक्षामित्र भूख हड़ताल कर रहे हैं। उनका कहना है कि जब तक सरकार मानदेय बढ़ाने का एलान नहीं करती वह स्कूलों में शिक्षण कार्य नहीं करेंगे। कहा कि सरकार लगातार शिक्षामित्रों की समस्याओं की अनदेखी कर रही है। जब तक मांगे पूरी नहीं होगी आंदोलन चलता रहेगा। बाकी सभी जिलों में शिक्षामित्र कार्य बहिष्कार करके बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय के सामने अब भूखे रहकर प्रदर्शन कर रहे हैं। विधानसभा चुनाव से पहले शिक्षामित्र अपना हक लेकर रहेंगे। निदेशालय में अरुण सिंह पटेल, विनय सिंह, बाल गोविंद, अर्चना एवं रेखा आदि अनशन कर रहे हैं।राब्यू, इलाहाबाद : प्रदेश के प्राथमिक विद्यालयों में तैनात 32 हजार शिक्षामित्र सम्मानजनक भुगतान की मांग पर अड़े हैं। अब तक इस संबंध में शासनादेश न जारी होने से खफा शिक्षामित्र भूख हड़ताल कर रहे हैं। उनका कहना है कि जब तक सरकार मानदेय बढ़ाने का एलान नहीं करती वह स्कूलों में शिक्षण कार्य नहीं करेंगे। कहा कि सरकार लगातार शिक्षामित्रों की समस्याओं की अनदेखी कर रही है। जब तक मांगे पूरी नहीं होगी आंदोलन चलता रहेगा। बाकी सभी जिलों में शिक्षामित्र कार्य बहिष्कार करके बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय के सामने अब भूखे रहकर प्रदर्शन कर रहे हैं। विधानसभा चुनाव से पहले शिक्षामित्र अपना हक लेकर रहेंगे। निदेशालय में अरुण सिंह पटेल, विनय सिंह, बाल गोविंद, अर्चना एवं रेखा आदि अनशन कर रहे हैं।शिक्षा निदेशालय में क्रमिक अनशन पर बैठे शिक्षा मित्र।

Sunday, January 1, 2017

शिक्षामित्र मानदेय वृद्धि के शासनादेश तक करेंगे भूख हड़ताल, मुख्यमंत्री के निर्देश के बावजूद लापरवाही बरतने का आरोप

शिक्षामित्र मानदेय वृद्धि के शासनादेश तक करेंगे भूख हड़ताल, मुख्यमंत्री के निर्देश के बावजूद लापरवाही बरतने का आरोप

Wednesday, December 14, 2016

महराजगंज : पूर्व बीएसए पर शिक्षक संघ के पूर्व जिलाध्यक्ष की हत्या कराने का लगा आरोप, सीबीआई जांच कराने के लिए आमरण अनशन शुरू

महराजगंज : पूर्व बीएसए पर शिक्षक संघ के पूर्व जिलाध्यक्ष की हत्या कराने का लगा आरोप, सीबीआई जांच कराने के लिए आमरण अनशन शुरू।

Thursday, November 10, 2016

मौलिक  नियुक्ति के लिए आंदोलनरत प्रशिक्षुओं ने की दूसरे दिन ही अनशन से तौबा, धरना प्रदर्शन जारी रखने का एलान, अधिकारियों का आश्वासन भी रहा बेअसर

मौलिक  नियुक्ति के लिए आंदोलनरत प्रशिक्षुओं ने की दूसरे दिन ही अनशन से तौबा, धरना प्रदर्शन जारी रखने का एलान, अधिकारियों का आश्वासन भी रहा बेअसर।

30 हजार भर्ती कराकर रहेंगे युवा बीटीसी प्रशिक्षु, बढ़ी हुई सीटों की मांग को लेकर धरना अब भी जारी, आदेश आने तक डटे रहने का एलान

इलाहाबाद : परिषदीय स्कूलों में 30 हजार सहायक अध्यापकों की भर्ती की मांग को लेकर युवाओं का धरना बुधवार को भी जारी रहा। शिक्षा निदेशालय में परिषद सचिव कार्यालय के सामने बीटीसी 2013 बैच के युवा लगातार धरने पर हैं। उनका कहना है कि सरकार एवं विभागीय अफसर जानबूझकर इस मामले को लटकाए हैं, लेकिन भर्ती का आदेश होने तक आंदोलन जारी रहेगा।

Tuesday, November 8, 2016

प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक के पद पर मौलिक नियुक्ति दिए जाने की मांग को लेकर 839 प्रशिक्षु शिक्षक शिक्षा निदेशालय में करेंगे आमरण अनशन

प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक के पद पर मौलिक नियुक्ति दिए जाने की मांग को लेकर 839 प्रशिक्षु शिक्षक शिक्षा निदेशालय में करेंगे आमरण अनशन

Monday, November 7, 2016

मियाद पूरी, प्रशिक्षु शिक्षक भगवान की शरण में, कई जिलों के प्रशिक्षु शिक्षा निदेशालय में लगातार दे रहे हैं धरना

मियाद पूरी, प्रशिक्षु शिक्षक भगवान की शरण में, कई जिलों के प्रशिक्षु शिक्षा निदेशालय में लगातार दे रहे हैं धरना

Saturday, October 29, 2016

अनुदेशकों ने पीएमओ को लिखी चिट्ठी, समायोजन की मांग को लेकर 41 दिनों से दे रहे धरना

अनुदेशकों ने पीएमओ को लिखी चिट्ठी, समायोजन की मांग को लेकर 41 दिनों से दे रहे धरना



Friday, September 30, 2016

गांधी समाधि पर 52 बीटीसी प्रशिक्षु करेंगे आत्मदाह, तत्कालीन डायट प्राचार्य पर जीवन की बर्बादी का आरोप

गांधी समाधि पर 52 बीटीसी प्रशिक्षु करेंगे आत्मदाह, तत्कालीन डायट प्राचार्य पर जीवन की बर्बादी का आरोप



Wednesday, September 28, 2016

अनुदेशकों ने घेरा राज्य परियोजना निदेशालय, सचिव बेसिक शिक्षा से हुई वार्ता विफल, जारी रहेगा धरना

लखनऊ। अपनी आठ सूत्रीय मांगों को लेकर पूर्व माध्यमिक विद्यालयों के अनुदेशकों ने मंगलवार को निशातगंज स्थित राज्य परियोजना निदेशालय का घेराव कर प्रदर्शन किया। पूर्व माध्यमिक अनुदेशक कल्याण समिति उप्र के बैनर तले सैकड़ों अनुदेशक निदेशालय के गेट पर बैठ गए और नारेबाजी शुरू कर दी। उनका आरोप था कि कई बार मांगों के समर्थन में सचिव से लेकर निदेशक तक वार्ता हो चुकी है, लेकिन अब तक आदेश नहीं जारी किया गया।निदेशालय का घेराव कर बैठे प्रदेश अध्यक्ष राकेश पटेल, दिग्विजय, अनुभव पुनिया सहित अन्य अनुदेशकों ने बताया कि प्रदेश भर के जूनियर हाईस्कूलों में करीब 32 हजार अनुदेशक तैनात हैं। ये सभी शिक्षक की तरह पढ़ाते हैं। लेकिन मानदेय के नाम पर उन्हें 11 महीने तक सिर्फ 8470 रुपए ही दिए जाते हैं। वो भी समय से नहीं मिलता। अनुदेशकों का कहना था कि वे कम्प्यूटर, कला, गृह शिल्प, शारीरिक शिक्षा आदि के विशेषज्ञ हैं। लेकिन उनसे दूसरे विषय भी पढ़वाए जाते हैं। छुट्टी के नाम पर पूरे वर्ष में सिर्फ 10 अवकाश दिए जाते हैं। महिला अनुदेशकों को मातृत्व अवकाश का लाभ तक नहीं दिया जाता। इसके अलावा 100 बच्चे से एक भी कम होने पर अनुदेशक को हटा दिया जाता है, जो कि गलत है।नवीनीकरण के नाम पर हो रहा शोषणअनुदेशकों ने आरोप लगाया कि प्रदेश के सभी जिलों में नवीनीकरण के नाम पर शारीरिक, मानसिक व आर्थिक शोषण हो रहा है। इसलिए नवीनीकरण की प्रक्रिया स्वत: लागू की जानी चाहिए। मीडिया प्रभारी पुनीत श्रीवास्तव ने बताया कि देर शाम तक चले घेराव व प्रदर्शन के बाद बेसिक शिक्षा सचिव से वार्ता हुई, लेकिन शासनादेश जारी होने तक सर्व शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना कार्यालय में धरना-प्रदर्शन जारी रहेगा।
ये हैं
प्रमुख मांगें :-
  • अनुदेशकों पर भी सातवें वेतन आयोग में निर्धारित होने वाले न्यूनतम वेतनमान लागू हो।
  • 100 छात्र संख्या की बाध्यता को हटाया जाए।
  • जनपदों में 100 छात्र संख्या की बाध्यता की वजह से रोके गए नवीनीकरण की कार्रवाई को स्थगित कर सभी अनुदेशकों का नवीनीकरण किया जाए।
  • नवीनीकरण के नाम पर हो रहे शारीरिक, मानसिक, आर्थिक शोषण को रोकते हुए स्वत: नवीनीकरण की प्रक्रिया लागू की जाए।
  • अनुदेशकों का कार्यकाल 11 माह 29 दिन किया जाए।
  • महिलाओं को वैतनिक प्रसूति अवकाश स्वीकृत किया जाए।


Sunday, September 25, 2016

जूनियर हाईस्कूलों को अनुदान सूची पर लिए जाने की मांग को लेकर भूखहड़ताल पर बैठे शिक्षकों की तबियत बिगड़ी, चार शिक्षक सिविल अस्पताल में भर्ती

लखनऊ (डीएनएन)। मानक के अंतर्गत आने वाले जूनियर हाईस्कूलों को अनुदान सूची पर लिए जाने की मांग को लेकर भूखहड़ताल पर बैठे कई शिक्षकों की तबियत शनिवार को बिगड़ गई। आनन-फानन में उन्हें सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया।उत्तर प्रदेश सीनियर बेसिक शिक्षक संघ के प्रांतीय अध्यक्ष अवधेश कुमार सिंह के मुताबिक सपा ने वर्ष 2012 के विधान सभा चुनाव में अपने घोषणा पत्र में वादा किया था कि सरकार बनने पर मानक के अंतर्गत आने वाले जूनियर हाईस्कूलों को अनुदानित किया जाएगा। साथ ही 2006 में अनुदानित विद्यालयों के शिक्षक-कर्मचारियों (जिनकी नियुक्ति अप्रैल 2005 के पूर्व हुई है) पर पुरानी पेंशन लागू करने का भी आश्वासन दिया था। लेकिन सरकार के चार साल से ज्यादा का कार्यकाल बीत जाने के बाद अभी तक इन मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। उन्होंने बताया कि इन्हीं मांगों को लेकर 30 जून 2012, 30 मई 2013 तथा इसी वर्ष बीते 19 फरवरी एवं छह मई को बेसिक शिक्षा मंत्री से वार्ता भी हुई। जिस पर सहमति बन गई थी। विभाग ने भी अपनी आख्या शासन को भेज दी। बावजूद इसके अब तक न तो जूनियर हाईस्कूलों को अनुदान सूची पर लिया गया और न ही शिक्षकों को पुरानी पेंशन का लाभ दिया गया।21 सितंबर से शुरू हुई भूख हड़तालप्रांतीय अध्यक्ष ने बताया कि मांगों को लेकर कोई कार्रवाई न होते देख संघ के नेतृत्व में शिक्षकों ने लक्ष्मण मेला मैदान में अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू कर दी। इस दौरान शनिवार को भूख हड़ताल पर बैठे शिक्षक पवन कुमार, मो. अकरम, श्रीपाल, कैलाश नाथ व चंद्र प्रकाश की तबियत बिगड़ गई, जिसके बाद इन सभी को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्होंने कहा कि जब तक मांगों का निस्तारण नहीं होगा, भूखहड़ताल जारी रहेगी। इसके समर्थन में महेंद्र कुमार बाजपेई, अंकुर चौधरी, प्रदीप, निर्दोष, रामपाल यादव आदि मौजूद हैं।



बीटीसी प्रशिक्षुओं ने रोड पर किया प्रदर्शन, 30,000 पदों पर सहायक अध्यापक की भर्ती की मांग को लेकर कर रहे भूख हड़ताल

बीटीसी प्रशिक्षुओं ने रोड पर किया प्रदर्शन, 30,000 पदों पर सहायक अध्यापक की भर्ती की मांग को लेकर कर रहे भूखहड़ताल


Wednesday, September 21, 2016

सीतापुर : पदोन्नति के लिए क्रमिक अनशन जारी, जारी रही दूसरे दिन भी हड़ताल

सीतापुर : पदोन्नति के लिए क्रमिक अनशन जारी, जारी रही दूसरे दिन भी हड़ताल।

Tuesday, September 20, 2016

अन्तर्जनपदीय शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन का वरिष्ठता के लिए 26 सितम्बर से आमरण अनशन का एलान

दिनांक 18-09-2016 को दारुलशफा लखनऊ में अन्तर्जनपदीय शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन उ०प्र० के प्रान्तीय कार्यकारिणी की बैठक का आयोजन प्रदेश महामंत्री वाहिद अली जी की अध्यक्षता में किया गया। इसमें अन्तर्जनपदीय शिक्षकों की वरिष्ठता बहाली के लिए दिनांक 26 सितम्बर 2016  से   आमरण अनशन  का निर्णय सर्वसम्मति से लिया गया। 



      सभी शिक्षक साथियों से निवेदन किया गया है कि  26 सितम्बर 2016  को लक्ष्मण मेला मैदान लखनऊ में अवश्य पहुंचे और वरिष्ठता बहाली के लिए किए जा रहे इस संघर्ष में पूरे मनोयोग से सहयोग प्रदान करें।


       आज की बैठक में प्रदेश संयोजक (महिला),श्रीमती अंजना मिश्रा, प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती सुमन पाण्डेय, श्री अनिल यादव , डॉ विवेक श्रीवास्तव, संयुक्त मंत्री श्री संजीव कुमार यादव, प्रदेश प्रवक्ता श्री शशि प्रकाश सिंह, प्रदेश संगठन मंत्री श्री पियूष त्रिपाठी, भारतेन्दु त्रिपाठी, श्री इन्द्र कुमार सिंह, विधि सलाहकार श्री विवेकानन्द पाण्डेय, प्रान्तीय कार्यकारिणी सदस्य श्री सचिन द्विवेदी, श्री पुनीत गुप्ता एवं विभिन्न जिलों से आये पदाधिकारीगण उपस्थित रहे।

मृतक आश्रित शिक्षणेत्तर कर्मियों का प्रदर्शन और धरना अब भी जारी, मांग न माने जाने तक अनवरत धरना का एलान, कई संगठनों का मिला साथ

मृतक आश्रित शिक्षणेत्तर कर्मियों का प्रदर्शन और धरना अब भी जारी, मांग न माने जाने तक अनवरत धरना का एलान। 

सीतापुर : पदोन्नति प्रक्रिया को शुरू करने को लेकर प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर तले शुरू हुई भूख  हड़ताल, जूनियर संघ ने भी किया समर्थन का एलान

सीतापुर : पदोन्नति प्रक्रिया को शुरू करने को लेकर प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर तले शुरू हुई भूख  हड़ताल, जूनियर संघ ने भी किया समर्थन का एलान। 

Monday, September 19, 2016

मृतक आश्रित शिक्षणेत्तर संघ का भूख हड़ताल और  अनशन अब भी जारी, कई कर्मचारी संगठनों का मिला समर्थन

मृतक आश्रित शिक्षणेत्तर संघ का भूख हड़ताल और  अनशन अब भी जारी, कई कर्मचारी संगठनों का मिला समर्थन।

Friday, September 16, 2016

सहायक अध्यापक के पदों पर नियुक्ति की मांग के संबंध में मृतक आश्रित शिक्षणेतर कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन, आक्रोशित प्रदर्शनकारियों ने गुरुवार से आमरण अनशन किया शुरू

लखनऊ : सहायक अध्यापक के पदों पर नियुक्ति की मांग के संबंध में प्राथमिक मृतक आश्रित शिक्षणेतर कर्मचारियों ने काफी संख्या में गुरुवार को लक्ष्मण मेला स्थल पर धरना दिया। आक्रोशित प्रदर्शनकारियों ने गुरुवार से आमरण अनशन भी शुरू कर दिया। अनशन पर बैठे जुबेर अहमद, विनोद यादव, हर्षित अरोड़ा, पंकज बाजपेई, शशांक कौशिक, कुशाल अवस्थी, साजिद खान ने सभा को संबोधित भी किया। इस प्रदर्शन को राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रदेश अध्यक्ष एसपी तिवारी और महामंत्री आरके निगम ने भी समर्थन दिया।

जूनियर शिक्षक संघ के प्रदेश महामंत्री योगेश त्यागी और प्राथमिक शिक्षक संघ के कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष सुशील पाण्डेय, शिक्षक विधायक उमेश द्विवेदी, शिक्षक विधायक संजय मिश्र ने भी प्रदर्शनकारियों की मांग का समर्थन किया है।

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक मृतक आश्रित शिक्षणेतर कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष जुबेर अहमद ने कहा कि बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में काम कर रहे मृतक आश्रित चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी जो स्नातक या परास्नातक हैं, उन्हें प्रशिक्षण दिलवा कर टीईटी में बैठने का अवसर दिया जाए। टीईटी पास करने के बाद उन्हें सहायक अध्यापक पद पर नियुक्ति दी जाए। इससे प्रदेश में चालीस हजार लोगों को लाभ मिलेगा।

जुबेर अहमद के अनुसार पहले मृतक आश्रितों को अप्रशिक्षित शिक्षक के पद पर नियुक्ति देकर प्रशिक्षण दिलवाकर सहायक अध्यापक के पद पर नियुक्त किया जाता था। कानून में बदलाव हो जाने से उच्चतम योग्यता रखने के बावजूद मृतक आश्रितों को केवल चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी पद पर ही नियुक्तियां दी जा रही हैं। ऐसे में प्रतिभाओं का अपमान हो रहा है।