DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label कासगंज. Show all posts
Showing posts with label कासगंज. Show all posts

Wednesday, July 15, 2020

कासगंज : एनपीएस के खातों की हुई रीमैपिंग, एनएसडीएल करेगी सुधार, एक्टिव किए गए सभी खाते


एनपीएस के खातों की हुई रीमैपिंग, एनएसडीएल करेगी सुधार, एक्टिव किए गए सभी खाते  


कासगंज। बेसिक शिक्षा विभाग के न्यू पेंशन खाताधारकों को अब राहत मिलती दिखाई दे रही है। शिक्षकों के खातों से हुई करोड़ों रुपये की अनियमितता में सुधार किया गया है। शिक्षा विभाग और कोषागार की संयुक्त पहल से एनपीएस (नेशनल पेंशन सिस्टम) के खातों की रीमैपिंग हो गई है। अब रिपोर्ट मुंबई एनएसडीएल (नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड) को भेज दी गई है।


शिक्षा विभाग में वर्ष 2004-05 से पेंशन स्कीम खत्म कर दी गई है। शिक्षकों ने इसके लिए संघर्ष किया। वर्ष 2017 में न्यू पेंशन स्कीम लागू कर शिक्षकों के खाते खुलवाए गए। इसके तहत शिक्षकों ने खाते खोलकर पत्रावली जमा की, लेकिन तत्कालीन लेखा विभाग के अधिकारियों की अनदेखी मुसीबत बन गई।
बेसिक शिक्षा के लेखा विभाग की बजाय कोषागार की आईडी से एनपीएस खाते लिंक हो गए और शिक्षकों के खातों में धनराशि नहीं पहुुंची। 


पिछले दिनों ही बड़ी गड़बड़ी उजागर हुई तो शिक्षा विभाग और कोषागार में खलबली मच गई। दोनों विभागों की संयुक्त पहल से स्थिति काफी हद तक सुधर गई है। एनपीएस के खातों की रीमैपिंग कर दी गई है। अब सभी खाते एनएसडीएल मुंबई की वेबसाइट पर भेजे गए हैं। क्योंकि दो विभागों की आईडी की गड़बड़ी का सुधार एनएसडीएल करेगी।


एक्टिव किए गए सभी खाते
एनपीएस के निष्क्रिय खाते सक्रिय कर दिए गए हैं। शिक्षा विभाग द्वारा दी गई आईडी से खातों को लिंक करते हुए कोषागार ने खाते एक्टिव किए हैं। सभी खाते एक्टिव होने की सूचना भी वेबसाइट पर प्रदर्शित होने लगी है। हालांकि धनराशि अभी शून्य ही है।


- एनपीएस के सभी खातों में सुधार कराया गया है। खाते एक्टिवेट कर दिए गए हैं। जल्द ही शिक्षकों के खातों में धनराशि पहुंच जाएगी। - सुरेश कुमार, लेखाधिकारी, बेसिक शिक्षा।
-
 एनपीएस के खातों की रीमैपिंग कराई गई है। एनएसडीएल को अनुरोध भेज दिया गया है। संभावना है कि जल्द ही सुधार हो जाएगा। - संदीप कुमार, कोषाधिकारी।

चेतावनी के बाद भी 47 शिक्षकों ने नहीं दिए दस्तावेज, बड़े फर्जीवाड़े की आशंका


चेतावनी के बाद भी 47 शिक्षकों ने नहीं दिए दस्तावेज, बड़े फर्जीवाड़े की आशंका

बुधवार तक का मौका, दोपहर बाद लापरवाहों पर होगी कार्रवाई
विस्तार


कासगंज : बेसिक शिक्षा विभाग में चल रहे फर्जीवाड़े की जांच में शिक्षकों की लापरवाही संदेह बढ़ा रही है। जांच के लिए जिले के 47 शिक्षकों ने अपने दस्तावेज शिक्षा विभाग को नहीं दिए हैं। बार-बार चेतावनी के बाद भी दस्तावेज न देने पर विभाग ने लापरवाह शिक्षकों को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है। साथ ही चेतावनी दी है कि बुधवार दोपहर तक दस्तावेज नहीं दिए तो वेतन रोकते हुए विभागीय कार्रवाई कर दी जाएगी। इस नोटिस के बाद भी मंगलवार को लापरवाह शिक्षक दस्तावेज जमा करने नहीं पहुंचे।


अनामिका प्रकरण के बाद बेसिक शिक्षा विभाग में फर्जीवाड़े की जांच तेजी के साथ की जा रही है। सभी शिक्षकों और कर्मचारियों के दस्तावेजों की जांच चल रही है। अब तक लगभग 35 प्रतिशत शिक्षामित्रों ने अभी दस्तावेज नहीं दिए हैं। उन्हें फिलहाल बुधवार तक का समय दिया गया है, लेकिन शिक्षा विभाग के 47 शिक्षक ऐसे पाए गए हैं जो बार बार चेतावनी और निर्धारित समय गुजरने पर भी दस्तावेज नहीं दे रहे।


अनामिका शुक्ला के बाद सामने आया नया मामला, एक डिग्री पर नौकरी कर रहे दो शिक्षक, ऐसे हुआ खुलासा इन्हें पहले तीन जुलाई तक का समय दिया गया था फिर छह जुलाई तक समय बढ़ाया। उसके बाद 10 जुलाई का अंतिम मौका दिया। फिर भी जब लापरवाह शिक्षकों ने दस्तावेज नहीं दिए तो अब शिक्षा विभाग ने सोमवार को इन सभी लापरवाहों को नोटिस जारी कर दिया। बुधवार दोपहर तक का अंतिम समय दिया गया है। शिक्षकों की यह लापरवाही फर्जीवाड़े का संदेह बढ़ा रही है।
 

Sunday, July 12, 2020

131 शिक्षक बदले हुए पैन नंबर से ले रहे हैं वेतन, शासन से मिले निर्देश के बाद विभाग ने जांच की प्रकिया की शुरू


131 शिक्षक बदले हुए पैन नंबर से ले रहे हैं वेतन, शासन से मिले निर्देश के बाद विभाग ने जांच की प्रकिया की शुरू


कासगंज। शिक्षक भर्ती में फर्जीवाड़े से जूझ रहे शिक्षा विभाग की सिरदर्दी कम होने का नाम नहीं ले रही। एसआईटी की जांच में जनपद के 131 शिक्षक पैन नंबर बदल कर वेतन ले रहे हैं। शासन के निर्देश पर उन शिक्षकों का सत्यापन किया जा रहा है। बीएसए ने इस संबंध में वित्त एवं लेखाधिकारी को पत्र लिखकर जांच कराने के निर्देश दिए हैं।


आगरा विश्व विद्यालय से वर्ष 2004-05 में बीएड करने वाले शिक्षकों के फजीवाड़े की जांच के बीच ही कस्तूरबा विद्यालय में फर्जी शिक्षिका का मामला सामने आया। शासन ने अब ऐसे शिक्षकों को रडार पर ले लिया है जिन्होंने किसी कारण से अपने पैन नंबर बदलवाए। इनकी जांच एसआईटी को सौंपी गई है।
एसआईटी ने इन ऐसे शिक्षकों की सूची जनपद में भेजी है इसमें 131 शिक्षक पैन नंबर बदलकर वेतन लेते पाए गए हैं। इन शिक्षकों के पुराने व नए नंबर में काफी अंतर है। 


इस सूची के आने के बाद शिक्षा विभाग में खलबली मच गई है। अब इन सभी शिक्षकों की जांच की जाएगी। ताकि यह स्पष्ट हो सके कि शिक्षकों ने अपने जो पैन नंबर बदलवाए हैं वे अभिलेखों में गलत नंबर अंकित हो जाने की वजह से ऐसा किया गया है या फिर या फिर शिक्षकों ने अपने पैन नंबर बदलकर कोई अनुचित लाभ लिया है। इन सभी शिक्षकों से कारण सहित स्पष्टीकरण मांगा जाएगा, ताकि सही तथ्य सामने आ सकें।

पैन कार्ड बदलवाने वाले शिक्षकों का विकासखंड वार ब्योरा
कासगंज-20
अमापुर-7
गंजडुंडवारा-21
पटियाली-25
सिढ़पुरा-18
सहावर-14
सोरों-26


पैन नंबर बदलवाने वाले सभी शिक्षकों का सत्यापन कराया जाएगा। इस संबंध में वित्त एवं लेखाधिकारी को पत्र लिखकर जांच कराने के निर्देश दे दिए गए हैं। -अंजली अग्रवाल, बेसिक शिक्षा अधिकारी

Sunday, July 5, 2020

कासगंज : शिक्षकों से 52 बिंदुओं पर मांगा गया जवाब, जांच के दायरे में आए शिक्षकों को तीन पेज का फार्म भरना होगा

कासगंज : शिक्षकों से 52 बिंदुओं पर मांगा गया जवाब, जांच के दायरे में आए शिक्षकों को तीन पेज का फार्म भरना होगा


कासगंज : 2010 से अब तक हुई शिक्षकों की भर्ती के बाद जिले में तैनात शिक्षक- शिक्षकों की जांच नये सिरे से शुरू हो गई है। समिति में अब बेसिक शिक्षा अधिकारी के शामिल होने के बाद जांच में तेजी आ गई है। जांच के दायरे में आए शिक्षक-शिक्षिकाओं को एक तीन पेज का फार्म भरना होगा। जिसमें 52 विंदुओं पर जानकारी दर्ज करने को कहा गया है। फार्म जमा होने के बाद जांच कमेटी सभी का सत्यापन कराएगी।






Thursday, June 25, 2020

कासगंज : एसआईटी जांच में दोषी पांच शिक्षक फरार, तीन पर मुकदमा दर्ज, दो पर कार्रवाई अभी शिथिल

कासगंज : एसआईटी जांच में दोषी पांच शिक्षक फरार, तीन पर मुकदमा दर्ज, दो पर कार्रवाई अभी शिथिल।


कासगंज। वर्ष 2004-05 की बीएड डिग्री पर जालसाजी कर नौकरी हासिल कर चुके 91 में से 5 शिक्षक दोषी पाए जा चुके हैं। न्यायालय से इन्हें राहत नहीं मिली। उसके बाद बेसिक शिक्षा विभाग ने उनकी सेवाएं समाप्त कर विधिक कार्रवाई शुरू की। तीन शिक्षकों के खिलाफ संबंधित थानों में मुकदमा दर्ज हो चुका है, जबकि दो के खिलाफ कार्रवाई शिथिल है। हालांकि फर्जी पाए गए पांचों शिक्षक फरार हो चुके हैं और उनके मोबाइल बंद हैं। अब पुलिस उनकी तलाश में संभावित स्थानों पर दबिश दे रही है। पिछले साल अक्टूबर में एसआईटी ने शिक्षक फर्जीवाड़े की रिपोर्ट बेसिक शिक्षा विभाग को सौंपी।





इन 91 शिक्षकों की सेवाएं समाप्त कर दी गई। बाद में उच्च न्यायालय के निर्देश पर फिर बहाली हुई। उसके बाद से बेसिक शिक्षा विभाग उच्च न्यायालय में पैरवी कर रहा है। न्यायालय में जिले के बेसिक शिक्षा विभाग ने अपने तर्क रखे। जिसमें 5 शिक्षकों का फर्जीवाड़ा स्पष्ट हो गया, जबकि 86 की सुनवाई विचाराधीन है। फर्जी पांचों शिक्षकों की सेवाएं समाप्त करने के बाद बीएसएफ ने इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश संबंधित खंड शिक्षा अधिकारियों को दिए। अमांपुर, गंजडुंडवारा और सोरों के खंड शिक्षाधिकारी तीन पर मुकदमा दर्ज करा चुके हैं।


फर्जी शिक्षिका व वार्डन ने लिया 34 लाख से अधिक का मानदेय

कासगंज। कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में नियुक्ति के नाम पर हुए फर्जीवाड़े से शिक्षा विभाग को लाखों की चपत लग गई। फर्जी दस्तावेज पर नौकरी करती रहीं रानामऊ को शिक्षिका और हुमायूंपुर की वार्डन लगभग 34 लाख रुपये से अधिक का मानदेय ले चुकी हैं। अब इसकी बिक्री कर विभाग के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। दोनों की तलाश में पुलिस जुटी हुई है।



 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, June 21, 2020

कासगंज में कस्तूरबा की फर्जी वार्डन और शिक्षिका पर मुकदमा


कासगंज में कस्तूरबा की फर्जी वार्डन और शिक्षिका पर मुकदमा


अनामिका शुक्ला के नाम पर फर्जी नियुक्ति के बाद कस्तूबा विद्यालयों में दो और फर्जी नियुक्तियों के मामले मिलने से हड़कंप मचा हुआ है। जांच में परत दर परत विभागीय लापरवाही उजागर हो रही है। बीएसए की ओर से मैनपुरी की महिला शिक्षिका लक्ष्मी के नाम से फर्जी नौकरी करने वाली शिक्षिका और फर्जी बीएड डिग्री से वार्डन पद पर नियुक्ति पाने वाली शिक्षिका के खिलाफ सोरों और अमांपुर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराने को रिपोर्ट भेजी गई है। पुलिस ने देर शाम दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। इस प्रकार अब तक दो फर्जी टीचरों व एक वार्डन पर मकदमा दर्ज हो चुका है। मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस ने मामले की जांच प्रारंभ कर दी है।


बीएसए अंजली अग्रवाल ले बताया कि अनामिका शुक्ला के नाम पर फर्जी नियुक्ति का मामले में जांच रही है। उसी दौरान मैनपुरी की लक्ष्मी के नाम पर फर्जी रूप से महिला नियुक्ति पाकर नौकरी पाने का मामला सामने आया है। यह मामला तत्कालीन बीएसए गीता वर्मा के समय वर्ष 2016 का है। फर्जी नौकरी करने वाली शिक्षिका लॉकडाउन होने के बाद से ही गायब है। बीएसए ने बताया कि उसके खिलाफ अमांपुर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराने के लिए रिपोर्ट भेजी दी गई है। बीएसए के मुताबिक कस्तूरबा आवासीय विद्यालय फरीदपुर में ही एक वार्डन की नियुक्ति हुई थी। एसआईटी की जांच में उसकी बीएड की डिग्री फर्जी पाये जाने के बाद वार्डन चित्रा शर्मा के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराने के लिए सोरों कोतवाली में तहरीर भेजी गई थी।


जांच समिति से हटाये गये डीसी बालिका शिक्षा :कासगंज। कस्तूबा आवासीय विद्यालय की जांच समिति में सदस्य डीसी(जिला समन्वयक) बालिका शिक्षा गौरव सक्सैना पर ही एक फाइल को लेकर तत्कालीन डीसी बालिका शिक्षा जीएस राजपूत ने मौखिक आरोप लगा दिया। इसके बाद बीएसए ने तत्काल जांच समिति से गौरव सक्सैना को हटाते हुए उनकी जगह हाल ही में ज्वाइन करने वाले डीसी महेश कुमार सिंह को जांच समिति में सदस्य बतौर रखा है।


बीएसए अंजली अग्रवाल ले बताया कि, जांच में घेरे में आए तत्कालीन जिला समान्वयक जीएस राजपूत ने अपना पक्ष रखते हुए बताया कि अनामिका शुक्ला की नियुक्त आवेदन फाइल में अनामिका का फोटो लगा हुआ था। उसकी फाइल गौरव सक्सैना को चार्ज में दी गई हैं। ऐसे में सदस्य पर ही सवाल उठने पर बीएएस ने जांच को निष्पक्ष रखने के लिए सदस्य गौरव सक्सैना को जांच से अलग कर दिया।


लक्ष्मी के नाम पर नियुक्ति की भी जांच शुरू :कस्तूरबा विद्यालयों से संबंधित जांच करने वाली समिति ने मैनपुरी की लक्ष्मी के नाम पर फर्जी नियुक्ति प्रकरण में भी शनिवार से जांच शुरू हो गई। बीएसए ने बताया कि इस प्रकरण में दो सदस्यीय जांच समिति जांच कर रही है। इसमें जांच समिति संबंधित लोगों को नोटिस देकर जांच की कार्यवाही आगे बढ़ा रहे हैं। जांच रिपोर्ट आने पर आगे की कार्यक्रम की जाएगी।

Sunday, March 1, 2020

कासगंज : ऑनलाइन आवेदन लंबित रखने पर एबीएसए से बीएसए ने किया स्पष्टीकरण तलब

कासगंज : ऑनलाइन आवेदन लंबित रखने पर एबीएसए से बीएसए ने किया स्पष्टीकरण तलब।




 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, February 17, 2020

कासगंज : निष्ठा प्रशिक्षण : शिक्षकों के हक पर विभाग ने डाला डाका, शासन से मिले धन में से आधा खर्च करके ही खिलाया जा रहा भोजन

कासगंज : निष्ठा प्रशिक्षण : शिक्षकों के हक पर विभाग ने डाला डाका, शासन से मिले धन में से आधा खर्च करके ही खिलाया जा रहा भोजन।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, February 3, 2020

कासगंज : तकनीकी पेच में फंसेगा बहाल शिक्षकों का वेतन, बेसिक शिक्षा विभाग ने अभी तक वेतन के लिए जारी नहीं किया आदेश

कासगंज : तकनीकी पेच में फंसेगा बहाल शिक्षकों का वेतन, बेसिक शिक्षा विभाग ने अभी तक वेतन के लिए जारी नहीं किया आदेश।




 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, January 26, 2020

कासगंज : बर्खास्त हुए सभी 90 शिक्षक बहाल, हाईकोर्ट के आदेश के बाद कई शिक्षकों ने स्कूलों में कार्यभार किया ग्रहण

कासगंज : बर्खास्त हुए सभी 90 शिक्षक बहाल, हाईकोर्ट के आदेश के बाद कई शिक्षकों ने स्कूलों में कार्यभार किया ग्रहण।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, January 9, 2020

कासगंज : शिक्षण व्यवस्था के प्रति लापरवाही पर बीएसए ने एबीएसए से मांगा स्पष्टीकरण, डीएम के निर्देश पर दो प्रधानाध्यापक और एक सहायक अध्यापिका को किया निलम्बित

कासगंज : शिक्षण व्यवस्था के प्रति लापरवाही पर बीएसए ने एबीएसए से मांगा स्पष्टीकरण, डीएम के निर्देश पर दो प्रधानाध्यापक और एक सहायक अध्यापिका को किया निलम्बित।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, December 31, 2019

कासगंज / हाथरस / अलीगढ़ / एटा : मण्डलायुक्त महोदय की सहमति के क्रम में कक्षा 12 तक के समस्त विद्यालयों में 04 जनवरी तक का अवकाश घोषित, आदेश देखें

कासगंज / हाथरस / अलीगढ़ / एटा : मण्डलायुक्त महोदय की सहमति के क्रम में कक्षा 12 तक के समस्त विद्यालयों में 04 जनवरी तक का अवकाश घोषित, आदेश देखें

Sunday, December 22, 2019

कासगंज : शीतलहर को दृष्टिगत रख डीएम का आदेश, कल बंद रहेंगे शिक्षण संस्थान

कासगंज : शीतलहर को दृष्टिगत रख डीएम का आदेश, कल बंद रहेंगे शिक्षण संस्थान

Wednesday, December 18, 2019

कासगंज : 20/12/19 तक शीतलहर अवकाश घोषित, आदेश देखें

कासगंज : 20/12/19 तक शीतलहर अवकाश घोषित, आदेश देखें

Tuesday, December 17, 2019

कासगंज : शिक्षकों को बोनस और एरियर देने की तैयारी, शिक्षा विभाग ने खण्ड शिक्षा अधिकारियों से मांगा बिल

कासगंज : शिक्षकों को बोनस और एरियर देने की तैयारी, शिक्षा विभाग ने खण्ड शिक्षा अधिकारियों से मांगा बिल।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, December 16, 2019

कासगंज : ग्राम पंचायतें बदलेंगी 91 परिषदीय विद्यालयों की सूरत, 14वें वित्त की धनराशि से विद्यालयों में होगा विकास

कासगंज : ग्राम पंचायतें बदलेंगी 91 परिषदीय विद्यालयों की सूरत, 14वें वित्त की धनराशि से विद्यालयों में होगा विकास।




 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, December 13, 2019

कासगंज : शिक्षकों को जारी होंगे परिचय पत्र, निरीक्षण के समय अधिकारी आईडी से करेंगे सत्यापन

कासगंज : शिक्षकों को जारी होंगे परिचय पत्र, निरीक्षण के समय अधिकारी आईडी से करेंगे सत्यापन।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, December 9, 2019

कासगंज : शिक्षकों ने कोर्ट में दायर की अवमानना याचिका, शिक्षक बर्खास्तगी का मामला, 17 दिसंबर को होगी सुनवाई

कासगंज : शिक्षकों ने कोर्ट में दायर की अवमानना याचिका, शिक्षक बर्खास्तगी का मामला, 17 दिसंबर को होगी सुनवाई।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Saturday, November 2, 2019

कासगंज : ARP पद के चयन के लिए विज्ञप्ति जारी, देखें विज्ञप्ति सह सामान्य निर्देश

कासगंज : ARP पद के चयन के लिए विज्ञप्ति जारी, देखें विज्ञप्ति सह सामान्य निर्देश

Friday, October 25, 2019

कासगंज : प्रेरणा एप का प्रयोग करने वाले शिक्षक ही बन सकेंगे एआरपी, विकासखंडों में खत्म हो जाएगा एबीआरसी का पद, हर ब्लॉक में 5 एआरपी की निगरानी करेगा एक मॉनीटर

कासगंज : प्रेरणा एप का प्रयोग करने वाले शिक्षक ही बन सकेंगे एआरपी, विकासखंडों में खत्म हो जाएगा एबीआरसी का पद, हर ब्लॉक में 5 एआरपी की निगरानी करेगा एक मॉनीटर।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।