DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label गोरखपुर. Show all posts
Showing posts with label गोरखपुर. Show all posts

Wednesday, July 8, 2020

गोरखपुर : वित्त व लेखाधिकारी को नोटिस, होगी कार्रवाई

वित्त व लेखाधिकारी को नोटिस, होगी कार्रवाई



जिले में 278 शिक्षकों के पैनकार्ड का ब्योरा गलत होने का मामला इसे लेकर सख्त हुआ बेसिक शिक्षा विभाग एवं लेखा विभाग की लापरवाही से जनपद के 278 शिक्षकों के पैनकार्ड की ब्योरा गलत होने के मामले में वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक को मंगलवार को नोटिस जारी कर दिया गया। इसे गंभीरता से लेते हुए बेसिक शिक्षा विभाग ने न सिर्फ नोटिस का जवाब तीन दिनों के अंदर मांगा है बल्कि मामले की जांच कर दोषी के इस मामले में वित्त एवं लेखाधिकारी को नोटिस दे दिया विरुद्ध कार्रवाई करने का भी निर्देश गया है। इतने बड़े दिया है। पैन कार्ड में ब्योरा गलत अंकित होने की सूचना मुख्यालय को विभाग पैमाने पर हुई त्रुटि कैसे हुई इसकी जांच कराई जा रही द्वारा दे दी गई है। शिक्षकों को सत्यापन है, जो भी दोषी होगा के दौरान किसी प्रकार की समस्या न हो इसे लेकर फोटो युक्त नोटरी की अनिवार्यता भी समाप्त कर दी गई है। इसके स्थान पर साधारण स्पष्टीकरण के साथ समस्त साक्ष्य, नियुक्ति से संबंधित दस्तावेज खंड शिक्षाधिकारी उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।। भूपेंद्र नारायण सिंह, बीएसए रहा है। इस कड़ी में सभी बेसिक ज शिक्षा अधिकारियों से उनके यहां ती स स् कार्यरत शिक्षकों के पैनकार्ड का ब्योरा या विभाग को उपलब्ध कराना होगा। एक्सेल शीट व पीडीएफ में मांगा गया इसके बाद उनके पैन कार्ड संशोधित हो जाएगा। था बेसिक शिक्षा विभाग ने एक्सेल के शीट पर पैन कार्ड का ब्योरा मुहैया ज बता दें कि अनामिका शुक्ला कराया, लेकिन टाइपिंग में गलती की के प्रकरण के बाद से शासन के निर्देश वजह से 278 शिक्षकों के पैनकार्ड का पर शिक्षकों का सत्यापन कराया जा ब्योरा गलत हो गया।

Tuesday, July 7, 2020

गोरखपुर : बेसिक शिक्षा के लेखा विभाग का हाल पैन कार्ड का नंबर गलत अंकित कर बना दिया फर्जी शिक्षक

बीएसए ऑफिस की लापरवाही से 278 शिक्षकों को परेशानी

पैन कार्ड का ब्यौरा टाइपिंग में त्रुटि की वजह से गलत हो गया है। इस संबंध में लेखा विभाग से स्पष्टीकरण मांगा गया है। गलती कहां हुई इसकी जांच कर कार्रवाई होगी। ये कोई फर्जी शिक्षक नहीं हैं, इनके पैन कार्ड का सत्यापन कराया जाएगा। शिक्षकों से भी सत्यापन में सहयोग करने की अपेक्षा है। - बीएन सिंह, बीएसए

गोरखपुर। बेसिक शिक्षा विभाग की लापरवाही से 278 शिक्षकों के पैन कार्ड की डिटेल गलत अंकित हो गई। विभागीय लापरवाही की वजह से अब इन शिक्षकों को परेशानी हो रही है। अब बेवजह उन्हें सत्यापन के लिए बीआरसी का चक्कर लगाना होगा। गड़बड़ी मिलने के बाद बीएसए ने लेखा विभाग से स्पष्टीकरण मांगा है। बेसिक शिक्षा विभाग के शुक्ला प्रकरण सामने आने के बाद से शासन के निर्देश पर शिक्षकों का अधिकारियों ने इस संबंध में जो सत्यापन कराया जा रहा है। इस सूची उपलब्ध कराई है, उसमें कड़ी में सभी बेसिक शिक्षा टाइपिंग त्रुटि की वजह से 278 अधिकारियों से उनके यहां कार्यरत शिक्षकों के पैन कार्ड की डिटेल शिक्षकों के पैन कार्ड की डिटेल गलत हो गई। इनके नाम, पिता का नाम, पैन कार्ड नंबर और जन्मतिथि में व्यापक गलतियां हैं। 

Thursday, July 2, 2020

गोरखपुर : बेसिक शिक्षा विभाग के डिजिटलाइजेशन के जाल में फंसे कई फर्जी शिक्षक, मानव संपदा और पैन कार्ड ने पकड़वाए 18 फर्जी शिक्षक

मानव संपदा और पैन कार्ड ने पकड़वाए 18 फर्जी शिक्षक, ऐसे खुला इनका राज

परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत फर्जी शिक्षकों को बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से कराए जा रहे डिजिटलाइजेशन ने पकड़वाया है। मानव संपदा पोर्टल या पैन कार्ड का ब्योरा ऑनलाइन होते ही असली शिक्षकों की पकड़ में उनके दस्तावेज पर नौकरी कर रहे फर्जी शिक्षक आ गए। जिसके बाद उनकी शिकायतों पर कार्रवाई शुरू कर दी गई।

जांच के बाद पिछले एक वर्ष में 12 फर्जी शिक्षक बर्खास्त किए गए है चुके हैं। वहीं छह निलंबित होने के साथ ही पांच और शिक्षकों के खिलाफ जांच चल रही है। जुलाई तक इनपर बर्खास्तगी की कार्रवाई पूरी होगी।

वर्ष-2019 में एसटीएफ की छापेमारी केे बाद से बेसिक शिक्षा विभाग को कूटरचित दस्तावेजों के सहारे नौकरी करने वाले शिक्षकों के खिलाफ अधिक मात्रा में शिकायतें मिलने का सिलसिला शुरू हुआ। वहीं मानव संपदा पोर्टल और पैन कार्ड, आधार कार्ड को शिक्षकों के रिकार्ड में शामिल करने की शुरूआत हुई।

जैसे-जैसे शिक्षकों का ब्योरा अपडेट करने का सिलसिला शुरू हुआ। वैसे-वैसे कूटरचित दस्तावेजों के सहारे दो-दो जगह नौकरी हासिल करने वाले फर्जी शिक्षकों के खिलाफ शिकायतें बढ़ने लगीं। आनन फानन में विभाग ने इनपर कार्रवाई की।

अब तक 51 बर्खास्त
जांच के बाद अबतक 51 फर्जी शिक्षकों को बर्खास्त कराने के लिए साथ ही 37 शिक्षकों पर बीएसए की तहरीर पर राजघाट थाने में मुकदमा दर्ज हुआ है। वहीं प्राथमिक जांच में संदिग्ध मिलने पर 30 शिक्षक निलंबित किए जा चुके हैं। इसकेे अलावा करीब 20 से अधिक शिक्षकों के खिलाफ जांच चल रही है।

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी बीएन सिंह ने कहा कि फर्जी शिक्षकों के खिलाफ जांच में मानव संपदा पोर्टल और पैन कार्ड ने गोरखपुर में कई शिक्षकों को पकड़वाया है। आईटीआर जमा करने के दौरान कई शिक्षकों को अपने पैन कार्ड का गलत इस्तेमाल होने की जानकारी मिली। उन्होंने शिकायत की तो आरोपी पकड़े गए। ऐसे ही मानव संपदा पोर्टल ने भी दो जगह पर एक ही दस्तावेजों के सहारे नौकरी करने वाले शिक्षकों का राजफाश किया है।

गोरखपुर : कम्पोजिट स्कूल ग्राण्ट के उपभोग के सम्बन्ध में

गोरखपुर : कम्पोजिट स्कूल ग्राण्ट के उपभोग के सम्बन्ध में

गोरखपुर : 2010 एवं 2011 में नियुक्त/अंतर्जनपदीय स्थानांतरण से आये शिक्षको के सभी अभिलेखों की स्वप्रमाणित छाया प्रति जमा करने के सम्बंध में

गोरखपुर : 2010 एवं 2011 में नियुक्त/अंतर्जनपदीय स्थानांतरण से आये शिक्षको के सभी अभिलेखों की स्वप्रमाणित छाया प्रति जमा करने के सम्बंध में

गोरखपुर : मध्यान्ह भोजन योजनान्तर्गत खाद्यान्न छात्रों को वितरित किये जाने के सम्बन्ध में

गोरखपुर : मध्यान्ह भोजन योजनान्तर्गत खाद्यान्न छात्रों को वितरित किये जाने के सम्बन्ध में