DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label जांंच. Show all posts
Showing posts with label जांंच. Show all posts

Sunday, July 7, 2019

आंबेडकर विवि से ली थी बीएड की डिग्री, जांच में मिली फर्जी, बीएड डिग्री धारक शिक्षक की बर्खास्तगी पर हाईकोर्ट ने लगाया रोक

आंबेडकर विवि से ली थी बीएड की डिग्री, जांच में मिली फर्जी, बीएड डिग्री धारक शिक्षक की बर्खास्तगी पर हाईकोर्ट ने लगाया रोक






Thursday, July 5, 2018

महराजगंज : आरटीआइ कार्यकर्ता के प्रार्थनापत्र पर विद्यालय प्रबंधकों द्वारा कूटरचित तरीके से की गई नियुक्तियों की जांच हेतु डीएम ने गठित की दो सदस्यीय टीम

महराजगंज : कोल्हुई क्षेत्र के ग्राम सभा मुड़ली, केसौली व सोनौली में स्थित जूनियर विद्यालयों में प्रबंधकों द्वारा कूटरचित तरीके से की गई चहेतों की नियुक्ति के मामले में जिलाधिकारी ने दो सदस्यीय कमेटी बना जांच के आदेश दिए है। जिससे राम हर्षदास, सरस्वती शिशु मंदिर मुड़ली, नेता सुभाष चंद्र बोस जूनियर स्कूल सोनौली के अलावा रामचंद्र लघु माध्यमिक विद्यालय केसौली शामिल है। आरटीआइ कार्यकर्ता राजेश पटेल के प्रार्थना पत्र पर जिलाधिकारी ने दो सदस्यीय टीम बना जांच के आदेश दिए हैं।

Friday, May 11, 2018

महराजगंज : बीएसए ने अब तक बंद कराए गए 150 से अधिक मान्यता विहीन विद्यालय संचालकों को विद्यालय बंद होने का शपथ पत्र जमा करने का दिया सख्त निर्देश, निजी विद्यालयों के मान्यता की जांच, नोटिस और मान्यता विहीन विद्यालयों को बंद करने की कार्रवाई प्रतिदिन जारी

महराजगंज : जिले में संचालित 481 बिना मान्यता विद्यालयों के विरुद्ध बेसिक शिक्षा विभाग कार्रवाई का दायरा बढ़ा रहा है। बीएसए ने जिले में अब तक बंद कराए गए लगभग 150 से अधिक मान्यता विहीन विद्यालय के संचालकों से विद्यालय बंद होने का शपथपत्र शनिवार तक जमा करने का निर्देश दिया है, निर्देश का पालन न करने वाले विद्यालय के संचालकों को  जुर्माना भरना पड़ेगा।

निजी विद्यालय जांच, नोटिस तथा बिना मान्यता विद्यालय बंद करने की कार्रवाई प्रतिदिन जारी :
जिला प्रशासन के निर्देश पर बेसिक शिक्षा अधिकारी व खंड शिक्षा अधिकारियों द्वारा बिना मान्यता संचालित प्राइवेट विद्यालयों की गुरुावर को भी जांच की गई। छह ब्लाकों में 80 से अधिक विद्यालयों की जांच की गई, जिसमें से 24 विद्यालयों को बंद करने का निर्देश दिया गया। यह भी कहा गया कि बिना मान्यता विद्यालय संचालित किए जाने पर विद्यालय पर जुर्माना लगाया जाएगा व एफआइआर दर्ज कराई जाएगी। बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश प्रसाद शुक्ल ने बताया कि सदर ब्लाक में सर्वाधिक सात बिना मान्यता प्राप्त संचालित विद्यालयों को बंद कराया गया है। घुघली व पनियरा ब्लाक में दो-दो , निचलौल में तीन-तीन तथा मिठौरा व नौतनवा में पांच-पांच बिना मान्यता संचालित विद्यालयों को बंद कराया गया। सभी छह ब्लाकों में 50 विद्यालयों को नोटिस जारी की गई है।1 उन्होंने कहा कि बिना मान्यता किसी भी विद्यालय को संचालित नही होने दिया जाएगा। यदि कोई विद्यालय बंद कराए जाने के बाद भी खुला मिले तो उस पर जुर्माना लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई जाए। जांच में किसी प्रकार की शिथिलता न बरती जाए। बीएसए ने सेमरी स्थित बिना मान्यता संचालित विद्यालय को बंद कराया। उन्होंने मान्यता प्राप्त करने वाले विद्यालयों के जिम्मेदारों को निर्देशित किया कि वे मान्यता अभिलेख में दिए गए निर्देशों का अनुपालन करना सुनिश्चित करें।

विभागीय कार्यवाही पर संचालकों ने उठाया सवाल :
बहरौली स्थित कर्नल विजन एकेडमी की प्रबंधक प्रबंधक कुसुम तिवारी ने विभागीय कार्यवाही पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा है कि बेसिक शिक्षा अधिकारी ने जहां मानक पूर्ण मिलने पर विद्यालय को 29 दिसंबर 2017 को मान्यता प्रदान की थी। वहीं बुधवार को विभाग ने बिना मान्यता संचालित विद्यालयों की सूची में भी विद्यालय का नाम दर्शाया है। विभाग के इस कार्य से विद्यालय की छवि धूमिल हो रही है। दूसरी तरफ घुघली क्षेत्र में स्थित एसपी एकेडमी बरवा खुर्द के संचालक दुर्गेंद्र तिवारी ने भी लिखित रूप से कहा है कि मान्यता देने के बाद भी विभाग द्वारा उनके विद्यालय का नाम बिना मान्यता संचालित व बंद कराए जाने वाले विद्यालयों की सूची में दिया जा रहा है, जिससे विद्यालय की छवि खराब हो रही है। प्रशासन के इस उत्पीड़नात्मक रवैये को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।


Thursday, April 5, 2018

सम्भल : शिक्षक नियुक्ति में फर्जीवाड़ा, 10 साल का रिकार्ड खंगालेगी एसआईटी

शिक्षक नियुक्ति में फर्जीवाड़ा, 10 साल का रिकार्ड खंगालेगी एसआईटी


Thursday, February 22, 2018

महराजगंज : शिक्षिका की नियुक्ति सम्बन्धी शिकायत की जांच हेतु बीएसए ने खण्ड शिक्षा अधिकारियों की त्रिस्तरीय टीम गठित कर तीन दिन में आख्या प्रेषित करने का दिया निर्देश

महराजगंज: राजीव नगर निवासी प्रवीण कुमार सिंह द्वारा टैगोर कन्या जूनियर हाईस्कूल में एक शिक्षिका की नियुक्ति संबंधित शिकायत को गंभीरता से लेते हुए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने जांच के लिए खंड शिक्षा अधिकारी की त्रिस्तरीय समिति गठित की है। शिकायतकर्ता ने पत्र के माध्यम से टैगोर जूनियर हाईस्कूल में तैनात शिक्षिका अल्का के प्रमाण पत्र पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि वह गोरखपुर स्थित प्राइवेट विद्यालय में वर्ष 2006 तक कार्यरत थीं। मामले की जांच करा कर दोषी शिक्षिका के विरुद्ध कार्रवाई की जाए। बीएसए ने प्रकरण को गंभीरता से संज्ञान में लिया। जांच व नियुक्ति के संबंध में अपनाई गई समस्त कार्यवाही व औपचारिकता से संबंधित वांछित समस्त अभिलेखों की सत्यापित छायाप्रति के साथ अपनी आख्या उपलब्ध कराने के लिए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश प्रसाद शुक्ल ने खंड शिक्षा अधिकारी लक्ष्मीपुर तारकेश्वर पांडेय, खंड शिक्षा अधिकारी सदर राजेश कुमार व खंड शिक्षा अधिकारी परतावल श्यामसुंदर पटेल की टीम गठित की है और आख्या को तीन दिन में उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है।


Tuesday, January 30, 2018

महराजगंज : शिक्षिका और महिला शिक्षामित्र के बीच हुए विवाद की जांच में दोनों के कार्य-व्यवहार असंतोषजनक मिलने की बीएसए ने डीएम को दी सूचना, दोनों पक्ष को मिली चेतावनी

महराजगंज : जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश प्रसाद शुक्ल ने डीएम को पत्र भेजकर बताया है कि सदर ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय चौपरिया द्वितीय में शिक्षिका व शिक्षामित्र दोनों का कार्य व्यवहार असंतोषजनक पाया गया है। उन्होंने बताया कि कुछ दिन पूर्व शिक्षा मित्र में विवाद हुआ था, मामले की जांच खंड शिक्षा अधिकारी सदर से कराई गई थी, उन्होंने जो आख्या उपलब्ध कराई है उसके मुताबिक विद्यालय में कार्यरत अनिता यादव व शिक्षामित्र रमाकांती त्रिपाठी का आचरण असंतोषजनक मिला है। दोनों को चेतावनी देते हुए सुधार लाने का निर्देश दिया गया है। शिक्षामित्र रमाकांती त्रिपाठी का कहना है कि मामले में उनका उत्पीड़न हुआ है, विभाग ने विपक्षियों पर कार्रवाई करने की बजाए मुझे भी चेतावनी दी है।