DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label धरना. Show all posts
Showing posts with label धरना. Show all posts

Friday, October 30, 2020

संविदा खत्म करने के विरोध में कस्तूरबा विद्यालय के शिक्षकों का धरना प्रदर्शन

संविदा खत्म करने के विरोध में कस्तूरबा विद्यालय के शिक्षकों का धरना प्रदर्शन

 
लखनऊ। कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय इम्प्लॉइज वेलफेयर एसोसिएशन ने संविदा समाप्ति के विरोध में गुरुवार को शिक्षा निदेशालय पर धरना प्रदर्शन किया गया।


संगठन के सुनील तिवारी ने बताया कि 2005 से सेवारत संविदा कर्मी शिक्षक/ शिक्षिका ओ की संविदा सितंबर 2020 में जारी एक आदेश के आधार पर खत्म की जा रही है। इसके विरोध में बीते दिनों आमरण अनशन किया गया। प्रदर्शन के दौरान उच्च अधिकारियों नेशिक्षकों की समस्याओं को दूर करने का आश्वासन दिया था। लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। 26 अक्टूबर से दोबारा धरना पर बैठ गए हैं।

Friday, October 23, 2020

69000 भर्ती : सचिव के आश्वासन पर चौथे दिन धरना स्थगित, एक हफ्ते का दिया समय

69000 भर्ती : सचिव के आश्वासन पर चौथे दिन धरना स्थगित, एक हफ्ते का दिया समय

 
69000 सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में आवेदन पत्र की गलती सुधारने के लिए गुरुवार को चौथे दिन सचिव बेसिक शिक्षा परिषद प्रताप सिंह बघेल ने फोन पर अभ्यर्थियों की समस्या दूर करने का आश्वासन दिया। इस पर प्रतियोगी छात्रों ने धरने को दस दिन के लिए स्थगित कर दिया है।


बेसिक शिक्षा परिषद से की ओर से देर शाम धरने पर बेठे अभ्यर्थियों को हटाने के लिए बल प्रयोग किया गया। इससे कुछ अभ्यर्थी घायल भी हो गए। पुलिस वालों ने धरने पर बैठे अभ्यर्थियों पर हल्का लाठी चार्जकर शिक्षा निदेशालय कैंपस खाली करवा लिया। 


कैंपस खाली होने के बीच धरने पर बैठे अभ्यर्थियों का कहना है कि सचिव बेसिक शिक्षा परिषद प्रताप सिंह बघेल ने फोन पर उनकी समस्या दूर करने के लिए दो नवंबर तक का समय मांगा है। धरने पर बैठने वालों में प्रमुख रूप से आशीष त्रिपाठी, स्वाति सिंह, बबली पाल, आशुतोष श्रीवास्तव, रेखा वर्मा सहित बड़ी संख्या में शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थी शामिल रहे।

Thursday, October 22, 2020

69000 भर्ती आवेदन में त्रुटि संशोधन की मांग को लेकर तीसरे दिन धरना, झाड़ू लगा कर की गांधीगिरी

69000 भर्ती आवेदन में त्रुटि संशोधन की मांग को लेकर तीसरे दिन धरना, झाड़ू लगा कर की गांधीगिरी


स्कूली शिक्षा महानिदेशक से आश्वासन मिलने के बाद भी संतुष्ट नहीं अभ्यर्थी
 
प्राइमरी स्कूलों में 69000 सहायक अध्यापक भर्ती के आवेदन में त्रुटि संशोधन की मांग को लेकर अभ्यर्थियों ने बुधवार को लगातार तीसरे दिन बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय के बाहर धरना दिया। अपनी मांगों के समर्थन में अभ्यर्थियों ने परिसर में झाड़ू लगाकर गांधीगिरि भी की।


हालांकि उनसे मिलने कोई अधिकारी नहीं पहुंचा। वाराणसी से धरने में पहुंची एक अभ्यर्थी शालिनी पांडेय फूट-फूटकर रोने लगी। 31277 अभ्यर्थियों की सूची में शामिल शालिनी ने वाराणसी में काउंसिलिंग करा ली है लेकिन प्राप्तांक के कॉलम में 825 की जगह 835 लिखा होने के कारण उसे नियुक्ति पत्र देने से मना कर दिया गया है।


अभ्यर्थियों का कहना है कि महानिदेशक स्कूली शिक्षा विजय किरन आनंद ने मंगलवार को पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल से लखनऊ में मुलाकात की थी लेकिन त्रुटि संशोधन को लेकर कोई ठोस पहल नहीं हो रही। दूसरी ओर शासन ने 31277 की लिस्ट में शामिल अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र जारी करने का आदेश भी बुधवार को दे दिया है। ऐसे में मामूली त्रुटि के कारण हाई मेरिट वाले सैकड़ों अभ्यर्थी बाहर हो रहे हैं। पुलिस की चेतावनी के कारण अभ्यर्थियों ने प्रतिदिन सुबह 10 से शाम 5 बजे तक धरना देने का निर्णय लिया है।

Wednesday, October 21, 2020

त्रुटि संशोधन को लेकर चल रहा धरना समाप्त, 5 अभ्यर्थियों का प्रतिनिधि मण्डल महानिदेशक स्कूली शिक्षा से मिलने के लिए रवाना

त्रुटि संशोधन को लेकर चल रहा धरना समाप्त, 5 अभ्यर्थियों का प्रतिनिधि मण्डल महानिदेशक स्कूली शिक्षा से मिलने के लिए रवाना


परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 69000 शिक्षक भर्ती के आवेदन में त्रुटि संशोधन की मांग लेकर पांच अभ्यर्थियों का प्रतिनिधमंडल मंगलवार दोपहर महानिदेशक स्कूली शिक्षा विजय किरन आनंद से मुलाकात करने लखनऊ रवाना हो गया। फोर्स के दबाव और अफसरों के आश्वासन के बाद सोमवार रात तकरीबन 10.30 बजे अभ्यर्थियों ने धरना समाप्त किया था।


मंगलवार सुबह 11 बजे फिर दर्जनों महिलाओं समेत बड़ी संख्या में अभ्यर्थी शिक्षा निदेशालय स्थित बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए। उसके बाद उप सचिव अनिल कुमार ने मौके पर पहुंचकर पांच अभ्यर्थियों का नाम मांगा और उन्हें लखनऊ महानिदेशक से मुलाकात करने के लिए भेज दिया। उसके बाद लगभग एक बजे धरना समाप्त हो गया।


 आजमगढ़ के आशीष त्रिपाठी, रायबरेली के हिमांशु पांडेय और उन्नाव की बबली पाल समेत पांच लोग लखनऊ गए हैं। अभ्यर्थियों का कहना है कि हाईकोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक ने आवेदन में त्रुटि सुधार के आदेश दिए हैं। इसके बावजूद बेसिक शिक्षा परिषद के अफसर सुनने को तैयार नहीं है। दूसरी तरफ 31277 अभ्यर्थियों की लिस्ट निकालकर नियुक्ति पत्र भी जारी कर दिया, जो सरासर उनके साथ अन्याय है।


प्रयागराज : शिक्षा निदेशालय के बाहर धरना-प्रदर्शन और पुलिस से नोकझोंक करने के मामले में सिविल लाइंस पुलिस ने 125 अभ्यर्थियों के खिलाफ मुकदमा कायम किया है। एफआइआर उपनिरीक्षक शमी आलम की तहरीर पर दर्ज की गई है। पुलिस का कहना है कि शिक्षक भर्ती में अपनी मांगों को लेकर सोमवार को आरके गौतम की अगुवाई में करीब सवा सौ अभ्यर्थी शिक्षा निदेशालय के बाहर धरना-प्रदर्शन कर रहे थे। अभ्यर्थी रात में भी धरना दे रहे थे। पुलिसकर्मियों ने जब उन्हें समझाते हुए धरना समाप्त करने के लिए कहा तो अभ्यर्थी उनसे उलझ गए। इंस्पेक्टर सिविल लाइंस र¨वद्र प्रताप सिंह का कहना है कि 125 अभ्यर्थियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर विवेचना की जा रही है।

Monday, October 12, 2020

69000 शिक्षक भर्ती को लेकर बेमियादी धरना आज से

69000 शिक्षक भर्ती को लेकर बेमियादी धरना आज से

69000 शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थी बेसिक शिक्षा परिषद मुख्यालय पर करेंगे सत्याग्रह

 
प्रयागराज : परिषदीय विद्यालयों के लिए निकली 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती के आवेदन में त्रुटि करने वाले सैकड़ों अभ्यर्थियों ने सुधार का मौका न मिलने पर आंदोलन करने का निर्णय लिया है। अभ्यर्थियों ने सरकार से त्रुटियों में सुधार करने का मौका मांगा था। लेकिन, बेसिक शिक्षा परिषद ने उन्हें मौका नहीं दिया। इससे नाराज अभ्यर्थियों ने बेसिक शिक्षा परिषद मुख्यालय पर सोमवार से अभ्यर्थी अनिश्चितकालीन सत्याग्रह शुरू करने का निर्णय लिया है। अभ्यर्थियों का कहना है कि उनकी मांग पर जल्द गौर न किया गया तो वे आत्मदाह करने को मजबूर होंेगे।

अभ्यर्थियों का कहना है कि एनआइसी के सर्वर में तकनीकी खराबी के कारण आवेदन में कुछ त्रुटि हुई है। सुधार का मौका न मिला तो अच्छी मेरिट हासिल करने के बाद भी वह गुणांक के प्रभावित होने से चयन से बाहर हो जाएंगे। तर्क दिया कि त्रुटि सुधारने का मौका उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग जैसी संस्था भी अभ्यर्थियों को देती है। लेकिन, परिषद ऐसा नहीं कर रहा है।

 
69 हजार शिक्षक भर्ती से जुड़े कई सवालों को लेकर अभ्यर्थी 12 अक्तूबर से बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय में क्रमिक अनशन और बेमियादी धरना-प्रदर्शन करने जा रहे हैं। 


आंदोलन का नेतृत्व कर रहे अमर बहादुर गौतम ने कहा कि जब तक अभ्यर्थियों की मांगें पूरी नहीं होती हैं, तब तक आंदोलन जारी रहेगा। अभ्यर्थी मांग कर रहे हैं कि 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती प्रक्रिया में अअेदन करते समय फॉर्म में हुईं त्रुटि को संशोधित करने का अवसर दिया जाए।

Sunday, October 11, 2020

कक्षोन्नति पाने को डीएलएड प्रशिक्षुओं ने किया प्रदर्शन, बैक पेपर वालों को एक सेमेस्टर पीछे करने का आरोप, कक्षोन्नति समान रूप से करने की मांग

कक्षोन्नति पाने को डीएलएड प्रशिक्षुओं ने किया प्रदर्शन, बैक पेपर वालों को एक सेमेस्टर पीछे करने का आरोप, कक्षोन्नति समान रूप से करने की मांग

 
प्रयागराज : डीएलएड प्रशिक्षुओं को कक्षोन्नति देने के आदेश के दूसरे ही दिन शनिवार को बड़ी संख्या में प्रशिक्षुओं ने प्रदर्शन किया। उनकी मांग है कि कक्षोन्नति का आदेश समान रूप से लागू हो। 2018 सेमेस्टर के पहले व दूसरे सेमेस्टर में जिनका बैक पेपर आया है, वे एक सेमेस्टर पीछे हो रहे हैं। परीक्षा संस्था ने सितंबर में इम्तिहान नहीं कराया। युवा मंच ने प्रशासन के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा है साथ ही अल्टीमेटम दिया है कि 72 घंटे में निर्णय न होने पर बड़ा आंदोलन होगा।


प्रयागराज के बालसन चौराहे पर डीएलएड 2018 तृतीय सेमेस्टर के प्रशिक्षु एकजुट हुए। उनकी मांग है कि सभी की चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा कराई जाए, जबकि बैक पेपर वालों को पहले तीसरे सेमेस्टर का इम्तिहान देना होगा और बाद में चौथे सेमेस्टर की परीक्षा होगी। शासन ने साढ़े तीन लाख से अधिक को प्रोन्नति देने का निर्देश दिया था, जबकि कक्षोन्नति सिर्फ ढाई लाख से अधिक को ही मिल सकी है। 


प्रशिक्षुओं ने प्रदर्शन के बाद एसडीएम सदर को सौंपा। परीक्षा संस्था 80 हजार प्रशिक्षुओं से भेदभाव कर रही है। प्रमोट करने में विसंगतियों को दूर कर किया जाए। युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह, सतेन्द्र सिंह सीटू ने कहा कि चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा के साथ ही बैक पेपर कराने में किसी तरह का कोई समस्या नहीं है फिर भी बैक पेपर वाले सभी प्रशिक्षुओं को परेशान किया जा रहा है।

Saturday, October 10, 2020

संविदा समाप्ति के विरोध में कस्तूरबा गांधी की शिक्षिकाओं का प्रदर्शन

संविदा समाप्ति के विरोध में कस्तूरबा गांधी की शिक्षिकाओं का प्रदर्शन


संविदा समाप्त किए जाने को लेकर आंदोलनरत कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय के शिक्षक- शिक्षिकाओं ने रविवार को भी हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर प्रदर्शन करने की कोशिश की। पुलिस ने इन शिक्षिकाओं को हिरासत में लेकर ईको गार्डेन भेज दिया।


शिक्षिकाओं ने बताया कि एक शासनादेश के जरिए 2006 से सेवारत संविदा शिक्षक व शिक्षाकाओं की संविदा समाप्त की जा रही है। महामारी के दौर ने संविदा समाप्त करने से शिक्षक सड़क पर आ जाएंगे।

 
संविदा समाप्ति के विरोध में कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय की शिक्षिकाओं ने शुक्रवार को भी हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर प्रदर्शन किया। पुलिस ने शिक्षिकाओं को हिरासत में लेकर ईको गार्डेन भेज दिया। 


यहां भी शिक्षिकाओं ने अपना विरोध जारी रखा। प्रदर्शन के दौरान कई जिलों से आई शिक्षक शामिल रही। शिक्षिकाओं ने बताया कि उन्होंने इन विद्यालयों की शुरुआत की है। घर-घर जाकर लड़कियों को अपने भरोसे पर पढ़ने के लिए विद्यालयों में जाए। अब एक शासनादेश के जरिए 2006 से सेवारत संविदा शिक्षक व शिक्षाकाओं की संविदा समाप्त की जा रही है। शिक्षिका आशा ने बताया कि महामारी के दौर ने संविदा समाप्त करने से शिक्षक सड़क पर आ जाएंगे।

Wednesday, October 7, 2020

69000 शिक्षक भर्ती : त्रुटि सुधारने का मौका देने की मांग को लेकर शिक्षामित्रों ने दिया धरना

69000 शिक्षक भर्ती : त्रुटि सुधारने का मौका देने की मांग को लेकर शिक्षामित्रों ने दिया धरना

 
69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती में आवेदन पत्र में हुई त्रुटि के कारण चयन से वंचित रह रहे शिक्षा मित्रों ने बेसिक शिक्षा निदेशालय पर धरना प्रदर्शन किया। शिक्षामित्रों ने निदेशक सवेंद्र विक्रम सिंह और महानिदेशक विजय किरन आनंद से मौका देने की मांग की।


शिक्षामित्रों ने बताया कि 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती में शिक्षामित्रों ने 65 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त कर परीक्षा उत्तीर्ण की। नियमानुसार उन्हें अधिकतम 25 भारांक का लाभ मिलना चाहिए। लेकिन परीक्षा के आवेदन पत्र में त्रुटिवश विशिष्ट बीटीसी की जगह बीटीसी फीड होने से उन्हें शिक्षा मित्रों को मिलने वाले भारांक से वंचित किया जा रहा है।


शिक्षामित्रों ने त्रुटि सुधार का मौका देने की मांग की। प्रदर्शन करने वालों में टेट पास शिक्षा मित्र संघ के अध्यक्ष अभय कुमार सिंह, अनुभा वर्मा, शशि वर्मा, देवेश त्रिपाठी और रागिनी सिंह शामिल थे।

Wednesday, September 30, 2020

69000 भर्ती में त्रुटि सुधार का मौका देने की मांग के लिए शिक्षामित्रों ने दिया धरना

69000 भर्ती में त्रुटि सुधार का मौका देने की मांग के लिए शिक्षामित्रों ने दिया धरना


69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती में आवेदन पत्र में हुई त्रुटि के कारण चयन से वंचित रह रहे शिक्षा मित्रों ने सोमवार को बेसिक शिक्षा निदेशालय पर धरना प्रदर्शन किया।


शिक्षामित्रों ने निदेशक सर्वेंद्र विक्रम सिंह और महानिदेशक विजय किरन आनंद से मौका देने की मांग की। शिक्षामित्रों ने बताया कि 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती में शिक्षामित्रों ने 65 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त कर परीक्षा उत्तीर्ण की। नियमानुसार उन्हें अधिकतम 25 भारांक का लाभ मिलना चाहिए। लेकिन परीक्षा के आवेदन पत्र में त्रुटिवश विशिष्ट बीटीसी की जगह बीटीसी फीड होने से उन्हें शिक्षामित्रों को मिलने वाले भारांक से वंचित किया जा रहा है। 


प्रदर्शन में शिक्षा मित्र संघ के अध्यक्ष अभय कुमार सिंह, अनुभा वर्मा, शशि वर्मा, देवेश त्रिपाठी और रागिनी सिंह शामिल थे व्यूरो

Tuesday, September 29, 2020

बैक पेपर वाले डीएलएड प्रशिक्षुओं ने निदेशालय पर किया प्रदर्शन, प्रमोट करने की मांग

बैक पेपर वाले डीएलएड प्रशिक्षुओं को प्रमोट करने की मांग।

प्रयागराज :  डीएलएड प्रशिक्षुओं ने एससीईआरटी निदेशक कार्यालय पर प्रदर्शन कर बैक पेपर वाले डीएलएड प्रशिक्षुओं के बारे में निर्णय लेने की मांग की। डीएलएड प्रशिक्षुओं से बातचीत के बाद निदेशक सर्वेंद्र विक्रम सिंह ने आश्वासन दिया कि उनकी मंगलवार को सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी से मिलकर अपनी बात रखेंगे। 

उन्होंने छात्रों को आश्वस्त किया कि डीएलएड प्रशिक्षुओं का बैक पेपर करवाया जाएगा। एसीईआरटी निदेशक से मिलने वालों में अनीश गुप्ता, राहलु यादव, अभिषेक तिवारी, अनुपम शामिल रहे।

Sunday, September 27, 2020

ओबीसी अभ्यर्थियों ने शिक्षा निदेशालय का घेराव किया, पिछड़ा वर्ग आयोग की रोक के बावजूद भर्ती की कोशिश पर उपजा आक्रोश

ओबीसी अभ्यर्थियों ने शिक्षा निदेशालय का घेराव किया, पिछड़ा वर्ग आयोग की रोक के बावजूद भर्ती की कोशिश पर आक्रोश


ओबीसी एससी अभ्यर्थियों ने बेसिक शिक्षा निदेशालय के बाहर किया जबरदस्त प्रदर्शन, पुलिस प्रशासन को छकाया


लखनऊ।   69000 शिक्षकों की भर्ती में अनिमियता का आरोप लगाते हुए ओबीसी, एससी व एसटी के अभ्यर्थियों ने शनिवार को बेसिक शिक्षा निदेशालय का घेराव किया। अभ्यर्थियों ने जोरदार नारेबाजी की तथा शिक्षा निदेशालय के पास रोड जाम करने का प्रयास किया। उनकी संख्या ज्यादा देख प्रशासन ने इन्हें ईको गार्डेन धरना स्थल खदेड़ा। 


अभ्यर्थियों ने कहा कि वह अब तभी वापस जाएंगे जब मुख्यमंत्री उन्हें न्याय का आश्वासन देंगे। उनका कहना था कि भर्ती में ओबीसी व एसी के छात्रों के साथ नाइंसाफी की गयी है। अभ्यर्थियों ने बताया कि बेसिक शिक्षा विभाग ने भर्ती प्रक्रिया में घोर अनियमितायें की हैं। 


भर्ती प्रक्रिया पर राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग ने जुलाई 2020 में में ही रोक लगा दी थी। फिर किस आधार पर भर्ती की जा रही है। आयोग ने ओबीसी के साथ नाइंसाफी की जानकारी पर ही रोक लगायी थी। अभ्यर्थियों ने कहा कि जब सब कुछ पारदर्शी तरीके से हुआ है तो शिक्षक भर्ती की मूल चयन सूची, शैक्षिक गुणांक सहित वर्गवार इसकी सूची क्यों नहीं जारी की जा रही है। क्यों नहीं आयोग को इसकी पूरी सूचना दी जा रही है।


 एमआरसी की आड़ में ओबीसी व एससी का आरक्षण छीना जा रहा है। इसे अभ्यर्थी बर्दास्त नहीं करेंगे। कोर्ट व आयोग में मूल चयन सूची उपलब्ध करायी जाए। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि जब तक मुख्यमंत्री से उनकी मुलाकात नहीं होगी, मुख्यमंत्री से न्याय का आश्वासन नही मिलेगा तब तक वह नहीं जाएंगे। उनका धरना अनवरत जारी रहेगा। अभ्यर्थियों का कहना था कि आयोग का फैसला आने के बाद हो भर्ती की जाए। सरकार जल्दबाजी क्यों कर रही है? 


प्रदर्शनकारियों ने कहा कि जब तक मांग नहीं मानी जाएगी, तब तक आंदोलन जारी रहेगा। हंगामे के बाद बेसिक शिक्षा निदेशक सर्वेद्र विक्रम बहादुर सिंह, बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव प्रताप सिंह बघेल तथा संयुक्त निदेशक गणेश कुमार अभ्यर्थियों से मिलने धरना स्थल पहुंचे। उन्होंने आश्वासन दिया कि अभ्यर्थियों के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। अभ्यर्थियों ने अधिकारियों से लिखित आश्वासन मांगा। लेकिन अधिकारियों ने लिखित आश्वासन देने में असमर्थता जताई।

Sunday, September 20, 2020

डीएलएड प्रशिक्षुओं का प्रदर्शन, सत्र 2018 के सभी प्रशिक्षुओं को प्रमोट करने की मांग

डीएलएड प्रशिक्षुओं का प्रदर्शन, सत्र 2018 के सभी प्रशिक्षुओं को प्रमोट करने की मांग।

प्रयागराज : डीएलएड प्रशिक्षुओं ने शनिवार को परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन किया। उनकी मांग है कि सत्र 2018 के सभी प्रशिक्षुओं को प्रमोट किया जाए, जो प्रशिक्षु फेल हैं या फिर बैक पेपर आया है उन्हें भी अगली कक्षा में प्रोन्नत किया जाए। प्रशिक्षुओं ने कहा कि सरकार ने उनकी मांग को माना है, जबकि परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव ने ऐसा प्रस्ताव भेजा कि फेल व बैक पेपर वालों का पाठ्यक्रम जल्द पूरा नहीं हो सकेगा। 


सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी ने बताया कि शासन ने स्पष्ट आदेश दिया है, उसी के अनुसार प्रक्रिया को आगे बढ़ाएंगे। जब सभी विषयों में उत्तीर्ण होना अनिवार्य है तो उसके बिना कैसे सभी को प्रमोट किया जा सकता है।

Friday, September 4, 2020

डीएलएड (पूर्व बीटीसी) प्रशिक्षु परीक्षा और प्रोन्नत होने के बीच फंसे, निर्णय न आने से आजिज होकर दिया धरना

डीएलएड (पूर्व बीटीसी) प्रशिक्षु परीक्षा और  प्रोन्नत होने के बीच फंसे, निर्णय न आने से आजिज होकर दिया धरना

 

प्रयागराज : डीएलएड प्रशिक्षु परीक्षा और सेमेस्टर से प्रोन्नत होने के बीच फंसे हैं। निर्णय न होने से आजिज आकर प्रशिक्षुओं ने गुरुवार को परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर धरना दिया। संयुक्त प्रशिक्षु मोर्चा उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष अभिषेक तिवारी के नेतृत्व में सैकड़ों प्रशिक्षुओं ने डीएलएड (पूर्व बीटीसी) के सेमेस्टर प्रमोट/ परीक्षा को लेकर हो रही विभागीय लापरवाही के विरोध में कार्यालय सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी प्रयागराज कार्यालय पर धरना दिया। धरना शांतिपूर्ण रहा और शारीरिक दूरी का पालन किया गया। 


प्रदेश अध्यक्ष तिवारी ने कहा कि डीएलएड 2018 बैच का सेमेस्टर लगभग आठ माह से लेट है, अभी तक तृतीय सेमेस्टर की परीक्षा नहीं हुई है चतुर्थ सेमेस्टर भी पूर्ण हुए दो माह का समय हो गया है और परीक्षा का कोई अता पता नहीं है इस प्रकार के सेमेस्टर प्रमोट/ परीक्षाओं को लेकर जल्द निर्णय लिया जाए और जब तक निर्णय नहीं लिया जाता तब तक हम लोग यहां से हटेंगे नहीं, जबकि प्रशिक्षण पूर्ण है।

Saturday, August 22, 2020

11 सूत्रीय मांगों को लेकर चार व पांच सितम्बर को उपवास पर रहेंगे शिक्षक, माध्यमिक शिक्षक संघ ने किया ऐलान

चार व पांच सितम्बर को उपवास पर रहेंगे शिक्षक, माध्यमिक शिक्षक संघ ने किया ऐलान।

लखनऊ में 11 सूत्री मांगों को लेकर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के शिक्षक चार व पांच सितंबर को उपवास पर बैठेंगे।

लखनऊ : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ की शुक्रवार को ओसीआर स्थित कार्यालय पर प्रांतीय स्तर की बैठक हुई। राजबहादुर सिंह चंदेल व प्रांतीय अध्यक्ष चेत नारायण सिंह की अध्यक्षता में हुई में प्रदेश के सभी मंडलों के पदाधिकारी, विधान परिषद चुनाव के प्रत्याशी एवं उपाध्यक्ष जगदीश ब्यास शामिल हुए।



बैठक को संबोधित करते हुए प्रांतीय अध्यक्ष चेत नारायण सिंह ने कहा कि लंबे समय से शिक्षकों की मांगों की उपेक्षा की जा रही है। अब शिक्षक समस्याओं को लेकर आर पार की लड़ाई होगी। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के शिक्षक 4 व 5 सितंबर को प्रदेश के सभी जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर दो दिवसीय उपवास करने को मजबूर है। इस दौरान राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन को जिला विद्यालय निरीक्षक को सौंपेंगे। मांगे न पूरी होने पर 14 व 15 सितंबर को लखनऊ में राज्य परिषद की बैठक आयोजित की जाएगी। जिसमें पश्चिमांचल के नौ मंडलों के पदाधिकारी 14 सितंबर को व पूर्वांचल के पदाधिकारी भी शामिल होंगे।

उन्होंने बताया कि दो अक्टूबर को गांधी जयंती के अवसर 11 सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदेश के सभी मंडल मुख्यालयों पर शिक्षक उपवास पर बैठेगे। वहीं 2 से 9 नवम्बर के बीच शिक्षा निदेशक माध्यमिक के कार्यालय पर शिक्षक क्रमिक उपवास पर रहेंगे। इस अवसर पर संगठन के प्रदेश महामंत्री प्रवक्ता डॉ महेंद्र नाथ राय समेत तमाम लोग मौजूद रहे।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, July 30, 2020

आगरा : वेतन और अकारण निलंबन के विरोध में शिक्षकों ने बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर किया विरोध प्रदर्शन, सार्वजनिक गिरफ्तारी देने के बाद मिला वेतन

आगरा : वेतन और अकारण निलंबन के विरोध में शिक्षकों ने बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर किया विरोध प्रदर्शन,  सार्वजनिक गिरफ्तारी देने के बाद मिला वेतन।

आगरा : : शिक्षकों के वेतन और अकारण निलंबन के विरोध में बुधवार को शिक्षकों ने बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया। शिक्षकों ने बीएसए कार्यालय पर तालाबंदी कर सामाजिक गिरफ्तारी भी दी। हालांकि गिरफ्तारी के बाद शिक्षकों का वेतन और शिक्षामित्रों का मानदेय जारी कर दिया गया।



राष्ट्रवादी शिक्षक महासंघ के बैनर तले प्रदेश संयोजक मुकेश डागुर व वीरेन्द्र छौंकर के नेतृत्व में बुधवार को दोपहर में ने एसडीएम महेंद्र कुमार व क्षेत्राधिकारी नम्रता श्रीवास्तव का सामाजिक गिरफ्तारी दी। शिक्षकों ने सीएम महेंद्र कुमार को बेसिक शिक्षा मंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, July 29, 2020

69000 शिक्षक भर्ती : पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों ने दिल्‍ली में ओबीसी आयोग पर दिया धरना

69000 शिक्षक भर्ती : पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों ने दिल्‍ली में ओबीसी आयोग पर दिया धरना
 


बेसिक शिक्षा परिषद में 69000 सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा में आरक्षण नियमों का पालन नहीं करने के बिरोध में पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों ने मंगलवार को नई दिल्‍ली स्थित राष्ट्रीय ओबीसी आयोग कार्यालय के बाहर धरना-प्रदर्शन किया।



अभ्यर्थियों ने आयोग से भर्ती में नियमानुसार आरक्षण व्यवस्था लागू कराने की मांग की। अभ्यर्थियों का कहना है कि राष्ट्रीय ओबीसी आयोग ने भर्ती पर रोक लगाते हुए बेसिक शिक्षा विभाग को नोटिस जारी किया, लेकिन विभाग ने अब तक नोटिस का जवाब तक नहीं दिया है। अभ्यर्थियों के प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष लोकेश प्रजापति से मुलाकात की। 


प्रजापति ने आश्वासन दिया कि जब तक सरकार संतोषजनक जवाब नहीं देगी, तब तक भर्ती पर आयोग की रोक रहेगी। आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों का अहित नहीं होने दिया जाएगा। धरना- प्रदर्शन करने वालों में राजेश कुमार, विजय कुमार, , मनोज प्रजापति, सुशील कुमार, आशीष, लोहा सिंह पटेल समेत सैकड़ों अभ्यर्थी शामिल हुए।

Wednesday, July 22, 2020

69000 भर्ती के आवेदन में संशोधन को लेकर अभ्यर्थियों ने दिया धरना

69000 भर्ती के आवेदन में संशोधन को लेकर अभ्यर्थियों ने दिया धरना


69000 शिक्षक भर्ती के आबेदन में संशोधन की मांग को लेकर शिक्षक भर्ती परीक्षा में सफल बड़ी संख्या में अभ्यर्थी सचिव बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय पहुंचे।


परीक्षा में सफल अभ्यर्थी पूरे दिन सचिव कार्यालय पर धरने पर बैठे रहे धरने में आशुतोष श्रीवास्तव, अंजना सिंह, अर्चना सिंह, नलिनी वर्मा, प्रीति कुमारी, रेनू मौतम, प्रतिभा प्रेम /सोनिका यादव, अरबिंद कुमार तिवारी, पंकज, रितेश सिंह ,श्यामू यादव ,रमन बमो, सतीश चरण पाल, संजीब कुमार, विकास यादव( कानपुर ), प्रभात जायसवाल, रमन वर्मा, पवन कुमार ,अंकित मौर्य /मनीषा यादव, शिव शंकर ,हरेंद्र सिंह शामिल रहे।

Wednesday, June 3, 2020

69000 : प्राप्तांक और पूर्णांक की गलती करने वालों ने भी दिया धरना

69000 : प्राप्तांक और पूर्णांक की गलती करने वालों ने भी दिया धरना


प्रयागराज। 69000 शिक्षक भर्ती के फॉर्म में प्राप्तांक-पूर्णांक में गलती करने वालों ने मंगलवार को भी बेसिक शिक्षा परिषद कार्यालय के बाहर धरना दिया। 


हालांकि थोड़ी देर पुलिस ने उन्हें हल्का बल प्रयोग कर बाहर कर दिया। नेतृत्व कर रहे रोहित तिवारी ने दावा किया कि सचिव बेसिक शिक्षा परिषद विजय शंकर मिश्र ने मुलाकात की और आश्वासन दिया कि अपने जिलों में काउंसिलिंग में प्रतिभाग करें। वहां की चयन समिति निर्णय लेगी।

Thursday, March 5, 2020

माध्यमिक : स्थानांतरण को नहीं शुरू हो सका ऑनलाइन आवेदन, अपर शिक्षा निदेशक को ज्ञापन सौंप शिक्षकों ने की स्थानांतरण प्रक्रिया शुरू करने की मांग

माध्यमिक : स्थानांतरण को नहीं शुरू हो सका ऑनलाइन आवेदन, अपर शिक्षा निदेशक को ज्ञापन सौंप शिक्षकों ने की स्थानांतरण प्रक्रिया शुरू करने की मांग।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, February 7, 2020

मांगे पूरी नहीं हुईं तो शिक्षक करेंगे बड़ा आंदोलन, सरकार पर लगाया उत्पीड़न का आरोप

मांगे पूरी नहीं हुईं तो शिक्षक करेंगे बड़ा आंदोलन, सरकार पर लगाया उत्पीड़न का आरोप