DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label परीक्षा. Show all posts
Showing posts with label परीक्षा. Show all posts

Thursday, September 24, 2020

अगले सत्र से देशभर में स्नातक के लिए एक ही प्रवेश परीक्षा, सभी विश्वविद्यालयों के लिए दो विकल्प में होगी परीक्षा

अगले सत्र से देशभर में स्नातक के लिए एक ही प्रवेश परीक्षा, सभी विश्वविद्यालयों के लिए दो विकल्प में होगी परीक्षा।

नई दिल्ली : देशभर में सभी विश्वविद्यालयों में स्नातक पाठ्यक्रम में 2021 से एक ही संयुक्त प्रवेश परीक्षा से दाखिले होंगे। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में स्नातक में प्रवेश के लिए कंप्यूटर आधारित प्रवेश परीक्षा कराने की तैयारी शुरू हो गई है। इसके तहत सामान्य डिग्री के लिए एक परीक्षा होगी। दूसरी विज्ञान, मानविकी, भाषा, कला और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों पर आधारित विषयों के लिए कॉमन एप्टीट्यूड टेस्ट होगा। यह प्रवेश परीक्षा साल में एक या दो बार होगी। प्रवेश परीक्षा की जिम्मेदारी राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) को दी गई है। इसमें विश्वविद्यालयों की भी राय ली जाएगी।


यूजीसी, एआईसीटीई, एनसीटीई की बजाय उच्च शिक्षा के लिए देश में एक नियम होगा। सभी तकनीकी व सामान्य विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रम की समीक्षा होगी। नए विषयों में परीक्षा की रूपरेखा तय की जाएगी। इसमें तीन और चार साल की डिग्री वाले प्रोग्राम होंगे। विशेष विषयों के लिए अलग प्रवेश परीक्षा होगी। पहले चरण में केंद्रीय विश्वविद्यालयों को भी जोड़ा जाएगा। इसके बाद अन्य विश्वविद्यालय व कॉलेज जोड़े जाने हैं।


अलग-अलग आवेदन और कट ऑफ से निजात

एक प्रवेश परीक्षा से डीयू जैसे विश्वविद्यालयों में सौ फीसदी कट ऑफ, अलग-अलग आवेदन और प्रवेश परीक्षा से भी निजात मिलेगी। अब एक आवेदन पर सभी विश्वविद्यालयों में दाखिले, डिग्री प्रोग्राम, फीस, सीट की जानकारी मिला करेगी।

Tuesday, September 22, 2020

University Session 2020-21: विश्वविद्यालयों में यूजी, पीजी के लिए एकेडेमिक कैलेंडर जारी, 1 नवंबर से कक्षाएं, 8 मार्च से परीक्षाएं

University Session 2020-21: विश्वविद्यालयों में यूजी, पीजी के लिए एकेडेमिक कैलेंडर जारी, 1 नवंबर से कक्षाएं, 8 मार्च से परीक्षाएं

University Session 2020-21: विश्वविद्यालयों में यूजी, पीजी के लिए एकेडेमिक कैलेंडर जारी, 1 नवंबर से कक्षाएं, 8 मार्च से परीक्षाएं8 मार्च से 26 मार्च 2021 तक परीक्षाओं का आयोजन किया जाना है।


नई दिल्ली :  University Session 2020-21: शिक्षा मंत्री ने देश भर के विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों, स्वायत्तशासी महाविद्यालयों, निजी विश्वविद्यालयों और अन्य उच्च शिक्षा संस्थानों में शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए एकेडेमिक कैलेंडर जारी कर दिया है। शिक्षा मंत्री द्वारा अब से कुछ ही देर पहले दी गयी जानकारी के अनुसार, “विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने कोविड-19 महामारी को देखते हुए वर्ष 2020-21 के लिए अंडर-ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट (कोर्सेस) के छात्रों के लिए एकेडेमिक कैलेंडर के लिए यूजीसी गाइडलाइंस के लिए बनी समिति की रिपोर्ट को स्वीकार करते हुए इसे मान्यता दे दी है।“ शिक्षा मंत्री द्वारा साझा किये गये यूजीसी यूजी/पीजी कैलेंडर के अनुसार सभी उच्च शिक्षा संस्थानों में दाखिले की प्रक्रिया 31 अक्टूबर 2020 तक पूरी कर लेनी है और पहले सेमेस्टर के फ्रेश बैच के लिए पहले कक्षाओं का आरंभ 1 दिसंबर 2020 से किया जाना है। वहीं, 1 मार्च से 7 मार्च तक एक सप्ताह का प्रिपेरेशन ब्रेक दिया जाएगा और 8 मार्च से 26 मार्च 2021 तक परीक्षाओं का आयोजन किया जाना है।


यूजीसी यूजी/पीजी एकेडेमिक कैलेंडर 2020-21

दाखिला प्रक्रिया पूरी करने की तिथि – 31 अक्टूबर 2020

पहले सेमेस्टर के फ्रेश बैच के लिए कक्षाओं के आरंभ होने की तिथि - 1 दिसंबर 2020

परीक्षाओं की तैयारी के लिए ब्रेक – 1 मार्च 2021 से 7 मार्च 2021

परीक्षाओं के आयोजन की अवधि - 8 मार्च 2021 से 26 मार्च 2021

सेमेस्टर ब्रेक – 27 मार्च से 4 अप्रैल 2021

ईवन सेमेस्टर की कक्षाओं का आरंभ – 5 अप्रैल 2021

परीक्षाओं की तैयारी के लिए ब्रेक – 1 अगस्त 2021 से 8 अगस्त 2021

परीक्षाओं के आयोजन की अवधि – 9 अगस्त 2021 से 21 अगस्त 2021

सेमेस्टर ब्रेक – 22 अगस्त 2021 से 29 अगस्त 2021

इस बैच के लिए अगले एकेडेमिक सेशन आरंभ होने की तिथि – 30 अगस्त 2021

एडमिशन कैंसिल कराने या माइग्रेशन में पूरी फीस होगी वापस

शिक्षा मंत्री ने नये शैक्षणिक सत्र के लिए एकेडेमिक कैंलेडर जारी करने के साथ ही साथ कहा, “लॉकडाउन और सम्बन्धित समस्याओं के कारण पैरेंट्स को हुई आर्थिक दिक्कतों को देखते हुए इस सेशन के लिए 30 नवंबर 2020 तक लिए गए दाखिले को रद्द कराने या माइग्रेशन की स्थिति में छात्रों को पूरी फीस वापस की जाएगी।“

CBSE : 10वीं व 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाएं आज से।

CBSE : 10वीं व 12वीं की कंपार्टमेंट परीक्षाएं आज से।

नई दिल्ली : सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की कंपार्टमेंट की परीक्षाएं आज से शुरू होने जा रही हैं। दसवीं की परीक्षाएं 28 और बारहवीं की परीक्षाएं 30 सितंबर को समाप्त होंगी। कोरोना के बढ़ते संक्रमण और सामाजिक दूरी का पालन कराने के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या 500 से बढ़ाकर 1268 की गई है।


परीक्षा सुबह 10.30 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक होगी। 10.15 तक छात्रों को प्रश्न पत्र दे दिया जाएगा। इस साल देश भर में दसवी में कुल 1, 50, 198 छात्रो और 12वीं में 87, 651 छात्रों की कंपार्टमेंट आई है। कोरोना के समय में छात्रों को किसी प्रकार की परेशानी न हो, इसलिए परीक्षा केंद्र छात्रों के घर के नजदीक ही बनाए गए हैं। स्कूलों को कहा गया है वह इस बात का ध्यान रखें कि छात्र और शिक्षक परीक्षा केंद्र तक बिना किसी दिक्कत के पहुंच सकें। यह भी ध्यान रखें कि केंद्र के बाहर भीड़ जमा न हो।

Saturday, September 19, 2020

UP Board : 29 एवं 30 सितंबर को होगी कंपार्टमेंट/इंप्रूवमेंट के लिए प्रयोगात्मक परीक्षाएं

UP Board : कंपार्टमेंट/इंप्रूवमेंट की परीक्षा 29 एवं 30 सितंबर को होगी।

यूपी बोर्ड हाईस्कूल कंपार्टमेंट/इंप्रूवमेंट और इंटरमीडिएट कंपार्टमेंट परीक्षा के अर्ह परीक्षार्थियों की प्रयोगात्मक परीक्षाएं 29 एवं 30 सितंबर को आयोजित की जाएंगी। 


सचिव दिव्यकांत शुक्ल की ओर से जारी सूचना के अनुसार हाईस्कूल कंपार्टमेंट/इंप्रूवमेंट के लिए अर्ह छात्रों की प्रयोगात्मक परीक्षाएं (आंतरिक मूल्यांकन) 29 एवं 30 सितंबर को जबकि इंटरमीडिएट कंपार्टमेंट की परीक्षा के लिए अर्ह छात्रों की प्रयोगात्मक परीक्षाएं 29 एवं 30 सितंबर को कराई जाएंगी। इसके बारे में सूचना क्षेत्रीय कार्यालयों को भेज दी गई है।


इंटरमीडिएट कम्पार्टमेंट परीक्षा :
इस साल उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड इंटर के 35017 छात्र कम्पार्टमेंट परीक्षा देंगे। यूपी बोर्ड ने इस साल से इंटर के छात्र-छात्राओं के लिए यह सुविधा दी है। ये 35017 छात्र एक विषय में फेल हैं और कम्पार्टमेंट देकर पास हो सकते हैं।


10वीं में गणित में सबसे ज्यादा फेल : 
सबसे खराब रिजल्ट गणित का रहा, इसमें 27 प्रतिशत परीक्षार्थी फेल हुए हैं। वहीं प्रारंभिक गणित में 96.55 प्रतिशत परीक्षार्थियों को सफलता मिली है। संस्कृत का परिणाम भी खराब रहा। इस विषय में सिर्फ 62.50 प्रतिशत परीक्षार्थी पास हुए हैं। अंग्रेजी में 19.49 तो विज्ञान में 19.60 प्रतिशत परीक्षार्थियों को असफलता हाथ लगी है। यूपी बोर्ड हाईस्कूल के काफी छात्र कम्पार्टमेंट परीक्षा में बैठेंगे।

Tuesday, September 15, 2020

UP Board Compartment Exam 2020 : तीन अक्टूबर को यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर कंपार्टमेंट परीक्षा

UP Board Compartment Exam 2020 : तीन अक्टूबर को यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर कंपार्टमेंट परीक्षा।

UP Board Compartment Exam 2020 यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट कंपार्टमेंट/इंप्रूवमेंट परीक्षा 2020 तीन अक्टूबर को दो पालियों में होगी।

प्रयागराज  : UP Board Compartment Exam 2020 : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट कंपार्टमेंट/इंप्रूवमेंट परीक्षा 2020 तीन अक्टूबर को दो पालियों में होगी। बहुप्रतीक्षित हाई स्कूल और इंटरमीडिएट इंप्रूवमेंट/कम्पार्टमेंट परीक्षा की तैयारी पूरी होते ही मंगलवार को यूपी बोर्ड सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने तारीख की घोषणा कर दी है। बोर्ड ने सभी जिलों से परीक्षा केंद्र बनाने के लिए प्रस्ताव मांगे थे। बोर्ड ने पांच अगस्त से 20 अगस्त के बीच कंपार्टमेंट/इंप्रूवमेंट परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन स्वीकार किए थे। कुल 33,344 छात्र-छात्राओं ने इंप्रूवमेंट/कंपार्टमेंट परीक्षा के लिए आवेदन किया है। इनमें हाई स्कूल के लिए 15,839 और इंटरमीडिएट के लिए 17,505 छात्र-छात्राओं ने अप्लाई किया है।




यूपी बोर्ड ने 27 जून को हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा 2020 का घोषित किया था। परीक्षा में अनुत्तीर्ण होने वाले कुल 33,344 परीक्षार्थियों ने इंप्रूवमेंट/कंपार्टमेंट परीक्षा के लिए आवेदन किया था। हाईस्कूल में दो और इंटर में एक विषय में अनुत्तीर्ण परीक्षार्थी इस परीक्षा को उत्तीर्ण करके पास हो सकेंगे। पहली बार इंटर के 35017 परीक्षार्थियों को कंपार्टमेंट परीक्षा में शामिल होने का मौका दिया गया लेकिन, ऑनलाइन आवेदन करने वालों की तादाद आधी ही है, बाकी परीक्षार्थियों ने इसमें रुचि नहीं दिखाई ।



बोर्ड प्रशासन हाईस्कूल के उन छात्र-छात्राओं को इंप्रूवमेंट/कंपार्टमेंट के तहत और वे परीक्षार्थी जो एक विषय में अनुत्तीर्ण हैं कंपार्टमेंट परीक्षा का अवसर मिला, उनमें से 15,839 ने दोनों के लिए आवेदन किया है। इसी तरह से इंटर की परीक्षा में मानविकी, विज्ञान व कामर्स वर्ग के परीक्षार्थी किसी एक विषय में, कृषि भाग एक व दो में निर्धारित विषयों में किसी एक प्रश्नपत्र में और व्यावसायिक वर्ग के लिए निर्धारित ट्रेड विषय के किसी एक प्रश्नपत्र में अनुत्तीर्ण परीक्षार्थी कंपार्टमेंट परीक्षा में शामिल हो सकता था। ऐसे परीक्षार्थियों की तादाद 35017 थी लेकिन, आवेदकों की संख्या महज 17,505 रही।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

ऑफलाइन के बाद अब 15 सितम्बर को दो पालियों में ऑनलाइन होगी पॉलीटेक्निक प्रवेश परीक्षा

यूपीः पॉलीटेक्निक की ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा आज, अभ्यर्थी के पर्स और जेवर लाने पर पाबंदी

यूपीः पॉलीटेक्निक की ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा आज, अभ्यर्थी के पर्स और जेवर लाने पर पाबंदी।


पॉलीटेक्निक संस्थानों में दाखिले के लिए 15 सितंबर को ऑनलाइन परीक्षा होगी। दोनों पालियों में परीक्षा शुरू होने से पहले सभी कक्ष, कंप्यूटर, टेबल व कुर्सी को सैनिटाइज किया जाएगा। अभ्यर्थी को परीक्षा केंद्र में पर्स व जेवर लाने पर पाबंदी है। परीक्षा केंद्र में प्रवेश से पहले अभ्यर्थियों की थर्मल स्कैनिंग होगी। फिर सैनिटाइज किए जाएंगे। इसके बाद मेटल डिटेक्टर से जांच की जाएगी।




प्रदेश के 23 जिलों में होने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा 2020 की ऑनलाइन परीक्षा के लिए 46,443 छात्र पंजीकृत हैं। राजधानी लखनऊ में परीक्षा के लिए 7,675 अभ्यर्थियों ने पंजीकरण कराया गया है। पहली पाली सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक और दूसरी पाली दोपहर 2:30 से शाम 5:30 बजे तक होगी। प्रवेश परीक्षा परिषद के सचिव एसके वैश्य ने बताया कि कोविड-19 के मद्देनजर जारी गाइडलाइन के तहत अभ्यर्थियों को मास्क व सैनिटाइजर लाने के निर्देश दिए गए हैं।

उन्होंने बताया कि अगर किसी अभ्यर्थी के प्रवेश पत्र में कोई त्रुटि है तो वह परीक्षा केंद्र पर डिस्क्रिपेंसी शीट भरकर सुधार करा सकता है। परीक्षा केंद्र पर अभ्यर्थियों को प्रवेश पत्र की दो कॉपी और स्वघोषणा पत्र भरकर लाने के निर्देश दिए गए हैं। अगर प्रवेश पत्र पर फोटो स्पष्ट नहीं है तो अभ्यर्थियों को दो कलर फोटो साथ लानी होगी। परीक्षा केंद्र पर उन्हें डेढ़ घंटा पहले पहुंचना होगा।

.......



ऑफलाइन के बाद अब 15 सितम्बर को दो पालियों में ऑनलाइन होगी पॉलीटेक्निक  प्रवेश परीक्षा।

लखनऊ : प्रदेश के निजी, राज्य व अनुदानित पॉलिटेक्निक संस्थानों में हुई ऑफलाइन संयुक्त प्रवेश परीक्षा-2020 के बाद अब विभाग ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा कराने की तैयारी कर रहा है। 15 सितंबर को दो पालियों में होने वाली प्रवेश परीक्षा प्रदेश के 23 जिलों में होगी। प्रवेश परीक्षा परिषद के सचिव एसके वैश्य ने बताया कि परीक्षा की निगरानी के लिए प्रत्येक जिले में एक-एक जिला संयोजक और केंद्र पर दो-दो विभागीय अधिकारियों को पर्यवेक्षक बनाया गया है। स्कूल में बने कंप्यूटर सेंटर व निजी कंप्यूटर सेंटरों को केंद्र बनाया गया है। परीक्षा के पहले केंद्रों को सैनिटाइज किया गया है। सभी छात्रों को मास्क और सैनिटाइजर साथ लाने के निर्देश दिए गए हैं।


छात्रों को डेढ़ घंटा पहले पहुंचना होगा केंद्र पर : मंगलवार को सुबह 9:00 से 12:00 की प्रथम पाली में 115 और 2:30 से 5:30 तक शाम की पाली के लिए 116 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। छात्रों को तय समय से डेढ़ घंटा पहले केंद्र पर पहुंचना होगा। कुल पंजीकृत 46443 छात्रों में सुबह 22597 और शाम को 23846 छात्र बैठेंगे। वहीं, राजधानी में सुबह और शाम की पाली में 17-17 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। सुबह 3795 और शाम को 3880 छात्र परीक्षा देंगे।

यह लाना होगा साथ : यदि किसी छात्र के एडमिट कार्ड में नाम, अभिभावक का नाम, कैटेगरी आदि को लेकर त्रुटि है तो वह केंद्र पर डिस्क्रिपेंसी शीट भरकर सुधार करा सकता है। छात्रों को एडमिट कार्ड की दो कॉपी और साथ में एडमिट कार्ड के साथ दिए गए स्व घोषणा पत्र को भरकर भी लाना होगा। यदि एडमिट कार्ड में फोटो स्पष्ट नहीं है तो छात्रों को दो कलर फोटो भी लाने होंगे। परीक्षा खत्म होने के उपरांत छात्रों की लॉग डिटेल को सीडी के रूप में संबंधित जिले के डीएम के कारागार में सील पैक कर रखा जाएगा।

......

पॉलीटेक्निक प्रवेश परीक्षा : 35 प्रतिशत अभ्यर्थियों ने छोड़ दी परीक्षा, 75 जिलों में आज था एग्जाम।

लखनऊ : इंजीनियरिंग और फार्मेसी डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए रविवार को प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया गया। पहले जहां, इन पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए मारामारी रहती थी, इस बार अभ्यर्थी परीक्षा देने ही नहीं पहुंचे। राजधानी लखनऊ में 40 प्रतिशत ने यह परीक्षा छोड़ दी। वहीं, प्रदेश भर में 65 प्रतिशत अभ्यर्थी ही पेपर देने पहुंचे। 35 प्रतिशत तक अनुपस्थिति दर्ज की गई है।



बता दें, इस बार संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद ने प्रवेश परीक्षा के प्रारूप में बदलाव किया है। परीक्षा दो दिन कराई जा रही है। रविवार को इंजीनियरिंग और फार्मेसी डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए ऑफलाइन परीक्षा कराई गई। वहीं, आगामी मंगलवार को अन्य पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए ऑनलाइन परीक्षा कराई जाएगी।

राजधानी में पहली पाली में सुबह नौ से 12 बजे के बीच हुई परीक्षा के लिए कुल 22 केन्द्र बनाए गए थे। पहली पाली में करीब 8231 अभ्यर्थियों का शामिल होना प्रस्तावित था। लेकिन, 4955 ही पेपर देने पहुंचे।  कोरोना संक्रमण को देखते हुए परीक्षा केन्द्रों पर कई दावे किए गए थे। लेकिन, कुछ केन्द्रों पर स्थितियां ठीक नजर नहीं आई। लखनऊ पॉलीटेक्निकल कॉलेज में छात्रों को एक लाइन में खड़े होने की फोटो सामने आई हैं। इसमें, सोशल डिस्टेंसिंग नजर नहीं आ रही है।

उधर, प्रदेश के सभी 75 जिलों में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। यहां, 2,78,145 अभ्यर्थियों का शामिल होना प्रस्तावित था। इसमें, करीब 65 प्रतिशत उपस्थित रहे। दूसरे पाली की परीक्षाएं चल रही हैं।  शाम की पाली के लिए 66,306 छात्र पंजीकृत हैं।



 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।