DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label पेंशन. Show all posts
Showing posts with label पेंशन. Show all posts

Wednesday, March 3, 2021

यूपी : पुरानी पेंशन व्यवस्था लागू करने का कोई प्रस्ताव विचाराधीन नहीं, सदन में पुरानी पेंशन का मामला उठाने पर सरकार का जवाब

यूपी : पुरानी पेंशन व्यवस्था लागू करने का कोई प्रस्ताव विचाराधीन नहीं, सदन में पुरानी पेंशन का मामला उठाने पर सरकार का जवाब

पुरानी पेंशन पर सरकार का दो टूक जवाब, पुरानी पेंशन प्रदान करने का नहीं है कोई प्रस्ताव




लखनऊ। विधान परिषद में प्रश्न प्रहर के दौरान सपा के सदस्य डॉ. मान सिंह यादव ने पुरानी पेंशन स्कीम का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि नई पेंशन स्कीम का अपेक्षित लाभ नहीं मिल पा रहा है। 75 हजार रुपये के वेतन से सेवानिवृत्त हुए शिक्षक को 650 रुपये की पेंशन मिल रही है। भाजपा के सदस्य देवेंद्र प्रताप सिंह ने कहा, सरकार को स्पष्ट रूप से बताना चाहिए कि सरकारी पुरानी पेंशन स्कीम लागू करेगी या नहीं।



वित्त राज्यमंत्री संदीप सिंह ने कहा कि न्यू पेंशन स्कीम में सरकार ने अपना शेयर 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 14 प्रतिशत कर दिया है । निवेश पीएफआरडीए के माध्यम से किया जा रहा है। बेहतर रिटर्न मिल रहा है। नेता सदन डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि फिलहाल पुरानी पेंशन लागू करने का कोई प्रस्ताव नहीं है।

Saturday, January 16, 2021

पुरानी पेंशन की बहाली समेत अन्य मांगों को लेकर माध्यमिक शिक्षक संघ का धरना व उपवास

पुरानी पेंशन की बहाली समेत अन्य मांगों को लेकर माध्यमिक शिक्षक संघ का धरना व उपवास


लखनऊ। पुरानी पेंशन की बहाली, वित्तविहीन शिक्षकों, व्यावसायिक अनुदेशकों एवं कम्प्यूटर शिक्षकों को समान कार्य के लिए समान वेतन, वंचित तदर्थ शिक्षकों को विनियमित किए जाने, निःशुल्क चिकित्सा सुविधा समेत 11 सूत्री मांगों को लेकर उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर धरना देकर उपवास रखेगा।


संघ के प्रदेशीय मंत्री डॉ आरपी मिश्र ने बताया कि प्रदेश व्यापी संघर्ष कार्यक्रम के अंतर्गत उपवास रखकर प्रदर्शन किया जाएगा।

Tuesday, December 29, 2020

वाराणसी : प्राइमरी शिक्षकों के एनपीएस खाते में नहीं जमा हो रहा सरकारी अंशदान, हो रहा नुकसान

वाराणसी : प्राइमरी शिक्षकों के एनपीएस खाते में नहीं जमा हो रहा सरकारी अंशदान, हो रहा नुकसान


पुरानी पेंशन के स्थान पर शुरू हुई न्यू पेंशन स्कीम (एनपीएस) प्राइमरी स्कूलों के शिक्षकों की परेशानी और चिंता का सबब बन गई है। वेतन से उनका अंशदान तो कट रहा है। मगर सरकार का अंशदान नहीं जमा हो रहा है। पिछले 13 महीने से यह स्थिति बनी हुई। इसका कारण बजट की कमी बताया जा रहा है। सरकार के रवैये से शिक्षकों में नाराजगी है।


जिले के परिषदीय विद्यालयों में करीब सात हजार शिक्षक कार्यरत हैं। इसमें से चार हजार पहली अप्रैल 2005 के बाद नौकरी में आए हैं। उस समय नई पेशन व्यवस्था (न्यू पेंशन स्कीम) लागू हो गई थी। इसके तहत हर महीने शिक्षकों के वेतन का दस प्रतिशत अंशदान काट लिया जाता है। इसी के सापेक्ष सरकार अपनी ओर से 14 फीसदी अंशदान देती है। 


शिक्षकों का कहना है कि उनके वेतन से हर महीने दस प्रतिशत काटा जा रहा है, लेकिन सरकार अपना 14 फीसदी अंशदान नहीं जमा कर रही है। शिक्षकों के मुताबिक हर शिक्षक का सरकार पर एक-एक लाख रुपये बकाया है। उनके अनुसार अकेले बनारस में चार अरब रुपए का अंशदान चाहिए। एनपीएस के नियम के मुताबिक जबतक सरकारी अंशदान नहीं जमा होगा, तब तक उनके वेतन से की गई कटौती भी ब्लॉक रहेगी।

भविष्य में होगा नुकसान

एनपीएस के अनुसार उनकी कटौती में सरकारी अंशदान न मिलाए जाने से मार्केट में निवेश नहीं किया जा रहा है। इसका नुकसान शिक्षकों को रिटायरमेंट के समय उठाना पड़ेगा। रिटायरमेंट के समय बाजार आधारित एनपीएस का कोई लाभ नहीं मिलेगा।

हर महीने चाहिए 25 करोड़

एक अनुमान के मुताबिक वाराणसी में जितने शिक्षक एनपीएस से आच्छादित हैं, उनकी कटौती के अनुसार सरकारी अंशदान जमा करने के लिए प्रति महीने 25 करोड़ रुपए चाहिए। जब तक बजट में इतनी धनराशि की व्यवस्था नहीं होगी। सरकारी अंशदान नहीं जमा हो पाएगा।

माध्यमिक विद्यालयों में भी यही समस्या

प्राथमिक के साथ माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों को भी इसी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। वहां सोलह महीने से अंशदान न जमा होने की शिकायत है। पिछले दिनों माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष चेतनारायण सिंह ने इस मुद्दे पर बात की थी। डीआईओएस ने भी बजट न होने की समस्या बताई थी।


'इस वित्तीय वर्ष में एनपीएस में अंशदान जमा करने के लिए बजट नहीं आया। इस बारे में शासन और शिक्षकों को वस्तुस्थिति से अवगत कराया गया है। जैसे ही बजट उपलब्ध होगा। एनपीएस में सरकारी अंशदान जमा जाएगा।' - अनूप मिश्र, वित्त एवं लेखाधिकारी (बेसिक शिक्षा)


'सरकार शिक्षकों का बकाया एनपीएस नहीं देगी तो शिक्षक आंदोलन कर सकते हैं। एनपीएस की अपनी कटौती रोकवाने के लिए न्यायालय की शरण में जा सकते हैं। नई पेंशन योजना शिक्षकों को नुकसान पहुंचा रही है।' - शशांक कुमार पांडेय, जिला संयोजक, राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ प्राथमिक संवर्ग

Monday, November 23, 2020

पेंशन विहीन साथी समझेगा शिक्षक-कर्मचारियों का दर्द, इस नारे संग अटेवा शिक्षक/स्नातक चुनावों में देगा राजनैतिक दलों को चुनौती

पेंशन विहीन साथी समझेगा शिक्षक-कर्मचारियों का दर्द, इस नारे संग अटेवा शिक्षक/स्नातक चुनावों में देगा राजनैतिक दलों को चुनौती


नेशनल मूवमेंट फॉर ओल्ड पेंशन स्कीम (एनएमओपीएस) के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय कुमार 'बन्धु' ने कहा कि उत्तर प्रदेश में विधान परिषद की कुल 100 सीटों में से 16 सीटें राजनैतिक पार्टियों के लिए नहीं हैं। ये 16 सीटें केवल शिक्षकों, कर्मचारियों व स्नातकों के लिए हैं।


रविवार को कमला भवन जार्जटाउन में पेंशन, निजीकरण व बेरोजगारी मुद्दे पर विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों से संवाद में कहा कि जब सेवारत, पेंशन विहीन युवा साथी चुनकर सदन में जाएगा तभी शिक्षकों-कर्मचारियों एवं स्नातक बेरोजगारों के दर्द को समझेगा तथा हम सब के मुद्दों को पूरी मजबूती से सदन में उठाएगा।


इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक क्षेत्र से अटेवा के प्रत्याशी डॉ. हरि प्रकाश यादव ने कहा कि नामांकन के समय ही शपथ पत्र दे चुके हैं कि जब तक सभी शिक्षकों व कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन बहाल नहीं हो जाती, तब तक मैं एमएलसी के रूप में मिलने वाली पेंशन या भत्ता नहीं लूंगा।


पेंशनर एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष डॉ. आरएस वर्मा, नीरजपति त्रिपाठी, नरसिंह, राजेंद्र त्रिपाठी, उपेंद्र वर्मा, श्रवण कुशवाहा, धर्मेंद्र गोयल, नीलम त्रिपाठी, जवाहर लाल विश्वकर्मा, मुनव्वर एजाज, प्रदीप सिंह, रामसकल वर्मा, रामचंद्र यादव, केके वर्मा, सजीत यादव, अर्जुन सिंह यादव, राजीव मिश्रा, दीप नारायण यादव आदि ने संबोधित किया।

Wednesday, November 4, 2020

स्नातक चुनाव में गर्माया पुरानी पेंशन बहाली का मुद्दा

स्नातक चुनाव में गर्माया पुरानी पेंशन बहाली का मुद्दा


 प्रयागराज : इलाहाबाद-झांसी स्नातक खंड चुनाव का कार्यक्रम जारी होने के साथ ही पुरानी पेंशन बहाली का मुद्दा भी गर्म हो रहा है। उम्मीदवार अपने एजेंडे को लेकर मतदाताओं से संपर्क कर रहे हैं। उधर, यह चुनाव भाजपा के लिए भी आत्ममंथन व प्रारंभिक परीक्षा की तरह साबित होगा। इससे स्पष्ट होगा कि भाजपा की नीतियों को लेकर किस तरह की राय जनमानस, खासकर पढ़े लिखे लोगों में है।



इलाहाबाद-झांसी स्नातक खंड चुनाव के लिए नामांकन पांच से 12 नवंबर तक किया जा सकेगा। इस सीट पर 24 साल से भाजपा का कब्जा है। डॉ. यज्ञ दत्त शर्मा लगातार चार बार से विधायक चुने जा रहे हैं। वह भी पुरानी पेंशन बहाली के मुद्दे का समर्थन करते आ रहे हैं। उनका कहना है कि किसी भी सरकारी कर्मचारी के लिए पेंशन बहुत जरूरी है। इस चुनाव में पहली बार दावेदारी कर रहे अटेवा पेंशन बचाओ समिति के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. हरि प्रकाश यादव भी कर्मचारियों के बीच पुरानी पेंशन बहाली को मुद्दा बना रहे हैं। उनका कहना है कि प्रदेश में करीब 35 लाख सरकारी कर्मचारी हैं जब  कि 14 लाख कर्मचारी नई पेंशन योजना से संबंधित हैं।

Thursday, October 22, 2020

प्रयागराज : माध्यमिक के उलट बेसिक शिक्षकों की नहीं हो रही NPS कटौती, मात्र 20 फीसदी शिक्षक ही NPS कटौती के दायरे में

प्रयागराज : माध्यमिक के उलट  बेसिक शिक्षकों की नहीं हो रही NPS कटौती, मात्र 20 फीसदी शिक्षक ही NPS कटौती के दायरे में

 

नई पेंशन योजना लागू होने के 15 साल बाद भी बड़ी संख्या में शिक्षक और कर्मचारियों की कटौती शुरू नहीं हो सकी है। प्रयागराज में बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक स्कूलों में कार्यरत शिक्षकों की हालत सबसे खराब है। 2005 के बाद नियुक्त और नवीन पेंशन योजना से आच्छादित 8307 शिक्षकों एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों में से मात्र 1502 (18 प्रतिशत) की ही कटौती शुरू हो सकी है। कुल 3636 का परमानेंट रिटायरमेंट अकाउंटनंबर ( प्रान) आवंटित हो सका है। 


4671 शिक्षकों एवं कर्मचारियों के प्रान आवंटन के लिए आवेदन तक नहीं हुए हैं। यही नहीं सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों से संबद्ध 33 प्राथमिक विद्यालयों के 266 शिक्षकों की कटौती शुरू नहीं हो सकी है। संस्कृत विद्यालयों के शिक्षकों की कटौती भी नहीं हो रही है। नई पेंशन योजना सही तरीके से लागू न होने का ही नतीजा है कि रिटायरमेंट के बाद शिक्षक और कर्मचारी दवा- इलाज तक को मोहताज हैं। 


एडेड माध्यमिक विद्यालयों में हालात बेहतरःजिले के 180 से अधिक सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों एवं कर्मचारियों की नई पेंशन कटौती की स्थिति बेसिक से बेहतर है। नवीन पेंशन योजना से 2025 कर्मी आच्छादित हैं। इनमें 1486 शिक्षक और 539 शिक्षणेत्तर कर्मचारी हैं। इनमें से 1785 की कटौती हो रही है।


यूपी में 28 मार्च 2005 को जारी हुई थी अधिसूचना केंद्रीय कर्मचारियों के लिए 1 जनवरी 2004 को लागू की जाने वाली राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली को उत्तर प्रदेश सरकार ने 28 मार्च 2005 को अधिसूचना जारी कर 1 अप्रैल 2005 से लागू किया। सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों व कर्मचारियों के मामले में 11 वर्ष तक कार्यवाही नहीं हुई मई 2016 के वेतन से कटौती का आदेश तो हुआ, लेकिन आज भी हजारों की संख्या में शिक्षकों और कर्मचारियों का प्रान खाता भी नहीं खुला है।


15 साल बाद भी योजना पूरी तरह से लागू न हो पाना अपने आप में बड़ा सवाल है ।जिन लोगों की कटौती हो रही है, उसका कोई हिसाब या रखरखाव नहीं है । नई पेंशन योजना का कोई प्रत्यक्ष लाभ शिक्षकों को मिलता नहीं दिख रहा।- देवेन्द्र कुमार श्रीवास्तव, जिलाध्यक्ष प्राथमिक शिक्षक संघ

Wednesday, October 21, 2020

फतेहपुर : 31 मार्च 2021 को सेवानिवृत्त होने वाले शिक्षकों/शिक्षणेत्तर कर्मचारियों के पेंशन, जीपीएफ, बीमा आदि के ससमय भुगतान करने हेतु पत्रावलियों की तैयारी कराने के सम्बन्ध में

फतेहपुर : 31 मार्च 2021 को सेवानिवृत्त होने वाले शिक्षकों/शिक्षणेत्तर कर्मचारियों के पेंशन, जीपीएफ, बीमा आदि के ससमय भुगतान करने हेतु पत्रावलियों की तैयारी कराने के सम्बन्ध में।

Sunday, October 4, 2020

नई पेंशन स्कीम से शिक्षक परेशान, रिटायरमेंट के बाद नहीं मिल रही पेंशन

नई पेंशन स्कीम से शिक्षक परेशान, रिटायरमेंट के बाद नहीं मिल रही पेंशन


नई पेंशन स्कीम (एनपीएस) शुरू तो हो गई लेकिन माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षक इसके लाभ से अभी तक वंचित हैं। रिटायरमेंट के बाद न तो इन्हें नई पेंशन मिली और न ही किसी तरह का कोई अन्य भुगतान। शिक्षकों के खातों से काटी गई लाखों की धनराशि भी रिटायरमेंट के बाद उन्हें लौटाई नहीं गई।


वर्ष एक अप्रैल 2005 में एनपीएस लागू हुई लेकिन माध्यमिक में शिक्षकों के वेतन से कटौती 2016 में शुरू हो सकी। 2005-2016 के बीच की धनराशि शासनादेश के बावजूद अब तक काटी नहीं गई है जबकि सरकार अपना अंशदान एकमुश्त देने को तैयार है।


रिटायरमेंट के बाद अपने पैसे को तरसे
ऑल टीचर्स इंप्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन (अटेवा) के मंडल अध्यक्ष अखिलेश यादव का कहना है कि वर्ष वर्ष 2019 में कई शिक्षक रिटायर हो चुके हैं पर उन्हें अब तक एक भी पैसा नहीं मिला है। नई पेंशन का तो दूर-दूर तक पता नहीं। इन शिक्षकों की तो धनराशि काटी गई लेकिन सरकारी अंशदान नहीं दिया गया है।


मृतक आश्रित भी भटक रहे
अटेवा के मंडल अध्यक्ष के अनुसार बीएनएसडी इंटर कॉलेज के रामरूप और बीपीएमजी मंधना के सुरेंद्र सिंह की मृत्यु 2017 में हुई थी। इसी तरह आर्यनगर इंटर कॉलेज के मुकेश, तालीमुल इस्लाम के इरशाद हुसैन और सिद्दीक फैज-ए-आम के मोहम्मद इकराम की मृत्यु हो चुकी है लेकिन सभी के मृतक आश्रित अब तक परेशान हैं।


पेंशन खातों में पड़ा सूखा
बीपीएमजी मंधना, सरस्वती बालिका विजय नगर समेत अनेक विद्यालयों के शिक्षकों के पेंशन खातों में न तो शिक्षकों की और न ही सरकारी अंशदान दिख रहा है। अटेवा अध्यक्ष के अनुसार हर साल की तरह इस बार भी वे दो अक्तूबर को पुरानी पेंशन बहाली के लिए आंदोलन करेंगे।

Tuesday, January 28, 2020

प्रतापगढ़ : पुरानी पेंशन की लड़ाई जारी, नई के लिए शिक्षकों और कर्मचारियों पर बढ़ा दबाव, नई पेंशन का फॉर्म भरने पर ही वेतन मिलने का आदेश

प्रतापगढ़ : पुरानी पेंशन की लड़ाई जारी, नई के लिए शिक्षकों और कर्मचारियों पर बढ़ा दबाव, नई पेंशन का फॉर्म भरने पर ही वेतन मिलने का आदेश।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, December 15, 2019

प्रतापगढ़ : बीएसए और लेखाधिकारी के वेतन भुगतान पर लगी रोक, 2036 शिक्षकों के नई पेंशन योजना से आच्छादित नहीं करने पर हुई कार्रवाई

प्रतापगढ़ : बीएसए और लेखाधिकारी के वेतन भुगतान पर लगी रोक, 2036 शिक्षकों के नई पेंशन योजना से आच्छादित नहीं करने पर हुई कार्रवाई।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, July 5, 2019

विश्वविद्यालयों - महाविद्यालयों के सेवानिवृत्त शिक्षकों की बढ़ी पेंशन


विश्वविद्यालयों - महाविद्यालयों के सेवानिवृत्त शिक्षकों की बढ़ी पेंशन। 




Sunday, June 23, 2019

कर्मचारियों का अधिकार है पेंशन, एक समान वेतन और पुरानी पेंशन के लिए अंगड़ाई ले रहे संगठन


कर्मचारियों का अधिकार है पेंशन, एक समान वेतन और पुरानी पेंशन के लिए अंगड़ाई ले रहे संगठन। 

















Wednesday, May 15, 2019

14 साल में एक भी शिक्षक की नहीं पेंशन पासबुक, नई पेंशन योजना के नाम पर भी शिक्षकों को मिल रहा धोखा, नियोक्ता अंशदान की वृद्धि भी बेमानी


14 साल में एक भी शिक्षक की नहीं पेंशन पासबुक, नई पेंशन योजना के नाम पर भी शिक्षकों को मिल रहा धोखा, नियोक्ता अंशदान की वृद्धि भी बेमानी। 


Wednesday, April 3, 2019

पुरानी पेंशन : नजर अब पार्टियों के घोषणा पत्रों पर,  कर्मचारियों और शिक्षकों की पुरानी पेंशन है एक बड़ी मांग


पुरानी पेंशन : नजर अब पार्टियों के घोषणा पत्रों पर,  कर्मचारियों और शिक्षकों की पुरानी पेंशन है एक बड़ी मांग। 


क्या पुरानी पेंशन बहाली बन पाएगी चुनावी मुद्दा?  कर्मचारी शिक्षक चाहते हैं कि राजनीतिक दल पुरानी पेंशन का मुद्दा घोषणापत्र में किया जाए शामिल। 



Saturday, March 2, 2019

फतेहपुर : साठ साल की उम्र के बाद रसोइयों को मिलेगी पेंशन, 18 से 40 साल की उम्र की रसोइयां होंगी पात्र


फतेहपुर : साठ साल की उम्र के बाद रसोइयों को मिलेगी पेंशन, 18 से 40 साल की उम्र की रसोइयां होंगी पात्र।






Wednesday, February 20, 2019

महराजगंज : पूर्व मे जारी आदेश के बाद भी नवीन शिक्षक/शिक्षिकाओं के PRAN आबंटन फार्म न जमा कराने पर बीएसए ने खेद जताते हुए बीईओ को जारी किया अंतिम अनुस्मारक पत्र, आदेश देखें

महराजगंज : पूर्व मे जारी आदेश के बाद भी नवीन शिक्षक/शिक्षिकाओं के PRAN आबंटन फार्म न जमा कराने पर बीएसए ने खेद जताते हुए बीईओ को जारी किया अंतिम अनुस्मारक पत्र, आदेश देखें

Friday, February 1, 2019

महराजगंज : बीएसए ने 02, 04 एवं 05 फरवरी को सभी विकास क्षेत्रों में कैम्प लगाकर नवीन पेंशन योजना से आच्छादित अवशेष शिक्षक/शिक्षिकाओं के प्रान आबंटन फार्म भरवाने के सम्बंध में चेतावनी जारी करते हुए अंतिम रूप से किया निर्देशित

महराजगंज : बीएसए ने 02, 04 एवं 05 फरवरी को सभी विकास क्षेत्रों में कैम्प लगाकर नवीन पेंशन योजना से आच्छादित अवशेष शिक्षक/शिक्षिकाओं के प्रान आबंटन फार्म भरवाने के सम्बंध में चेतावनी जारी करते हुए अंतिम रूप से किया निर्देशित।

Monday, January 28, 2019

महराजगंज : नवनियुक्त शिक्षकों के नवीन पेंशन प्रान आबंटन फार्म भरवाकर तीन दिवस में जमा करने, अन्यथा की दशा में सम्बन्धित शिक्षक का वेतन अवरुद्ध करने की संस्तुति सहित आख्या भेजने का बीएसए ने दिया निर्देश

महराजगंज : नवनियुक्त शिक्षकों के नवीन पेंशन प्रान आबंटन फार्म भरवाकर तीन दिवस में जमा करने, अन्यथा की दशा में सम्बन्धित शिक्षक/शिक्षिकाओं का वेतन अवरुद्ध करने की संस्तुति सहित आख्या भेजने का बीएसए ने बीईओ को दिया निर्देश, आदेश देखें-

Friday, January 11, 2019

लखनऊ : प्राइमरी और जूनियर हाईस्कूल से 31 मार्च को सेवानिवृत्त हो रहे 72 शिक्षक, बेसिक शिक्षा के स्कूलों से एक भी फाइल लेखा विभाग के पास नहीं, पेंशन के लिए भटकेंगे रिटायर्ड शिक्षक

'रिटायर्ड बैंककर्मियों का हक मार रही केंद्र सरकार'• एनबीटी संवाददाता, लखनऊ: आदर्श कोषागार कलेक्ट्रेट लखनऊ से पेंशन पा रहे रहे सभी पेंशनर्स की पेंशन व एरियर से आयकर की कटौती इस वित्तीय वर्ष की जानी है। सीटीओ संजय कुमार ने गुरुवार को बताया कि आयकर कटौती का विवरण सभी पेंशनर्स को 20 फरवरी तक कोषागार में जमा करना अनिवार्य है। इसके बाद दस्तावेज जमा नहीं किए जाएंगे। किसी पेंशनर ने दस्तावेज जमा नहीं किए तो फरवरी की पेंशन से आयकर की कटौती (टीडीएस) कोषागार अपने आप कर लेगा।

बेसिक के साथ राजधानी के 10 एडेड माध्यमिक स्कूलों ने भी रिटायर होने वाले शिक्षकों और कर्मचारियों की फाइलें नहीं भेजी हैं। डीआईओएस डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि इन स्कूलों के प्रबंधकों और प्रधानाचार्यों को फाइलें तत्काल भेजने के निर्देश दिए गए हैं।
चिनहट-7, माल-3, मलिहाबाद-4, सरोजनी नगर-1, मोहनलालगंज-7, काकोरी-9, बीकेटी-12, गोसाईगंज-7, नगर क्षेत्र-22
इलाहाबाद बैंक परिसर में आज करेंगे प्रदर्शन

कर्मचारियों की
खबरें शिक्षकों व• एनबीटी, लखनऊ 

राजधानी के बेसिक और माध्यमिक स्कूलों से मार्च में रिटायर होने वाले शिक्षकों को जीपीएफ और पेंशन के लिए परेशान होना पड़ सकता है। दरअसल, ज्यादातर स्कूलों से अभी तक शिक्षकों की पेंशन संबंधी फाइलें लेखा विभाग में नहीं भेजी गईं हैं, जबकि रिटायरमेंट के छह महीने पहले ही फाइलें भेजने का नियम है। ऐसे में लेखा विभाग ने खंड शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजकर एक सप्ताह में फाइलें भेजने के निर्देश दिए हैं।

आगामी 31 मार्च को इस बार प्राइमरी और जूनियर स्कूलों के 72 शिक्षक सेवानिवृत्त हो रहे हैं। बेसिक शिक्षा के वित्त एवं लेखाधिकारी नागेश कुमार त्रिपाठी के मुताबिक जो भी शिक्षक या कर्मचारी 31 मार्च को रिटायर होंगे, उनकी पेंशन संबंधी सभी प्रक्रिया छह महीने शुरू करने का नियम है, लेकिन अब तक राजधानी के किसी भी ब्लॉक से शिक्षकों की फाइल नहीं भेजी गई है। सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि एक सप्ताह में पेंशन संबंधी फाइलें भेजें।

...तो पेंशन के लिए भटकेंगे रिटायर्ड शिक्षक• एनबीटी संवाददाता, लखनऊ : रिटायर्ड बैंक कर्मचारियों ने केंद्र सरकार पर दोहरा मापदंड अपनाने का आरोप लगाया है। गुरुवार को एसबीआई मुख्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान रिटायर्ड कर्मचारियों ने कहा कि वेतन से जमा किए गए पैसों को केन्द्र सरकार पेंशन के रूप नहीं दे रही है। इसके लिए बैंक पेंशनर्स एवं रिटायरीज ऑर्गेनाइजेशन तथा ऑल इंडिया बैंक रिटायरीज फेडरेशन के सदस्य शुक्रवार को हजरतगंज स्थित इलाहाबाद बैंक परिसर में धरना-प्रदर्शन करेंगे। मीडिया प्रभारी अनिल तिवारी के मुताबिक इसके बाद भी मांगें पूरी नहीं की गईं तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

बैंक रिटायरीज फेडरेशन के महासचिव दिनेश चंद्रा ने बताया कि 35 वर्ष से अधिक सेवा के बाद भी बैंक पेंशनरों की आर्थिक, स्वास्थ्य एवं सामाजिक स्थिति ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि जो पैसा बैंककर्मियों ने अपने वेतन से कटवाया उस पर करोड़ों रुपये का केवल ब्याज आता है, लेकिन इसमें भी केन्द्र सरकार कटौती कर अपनी जेब भर रही है। जबकि इस पैसे पर पेंशनरों का अधिकार है। 

प्रदेश महासचिव अतुल स्वरूप ने कहा कि केन्द्र सरकार की गलत नीतियों के कारण बैंक रिटायरीज आंदोलन की राह पर हैं।

Monday, January 7, 2019

फतेहपुर : दिनाँक 31-03-2019 को सेवानिवृत्त हो रहे शिक्षकों का समय से पेंशन व फंड के भुगतान के सम्बन्ध में

फतेहपुर : दिनाँक 31-03-2019 को सेवानिवृत्त हो रहे शिक्षकों का समय से पेंशन व फंड के भुगतान के सम्बन्ध में।