DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label फर्रुखाबाद. Show all posts
Showing posts with label फर्रुखाबाद. Show all posts

Monday, September 7, 2020

फर्रुखाबाद : सम्प्रेक्षण गृह से शिक्षक सम्बद्ध, बीईओ ने नहीं दिया कार्यमुक्ति प्रमाण पत्र

फर्रुखाबाद : रोक के बाद भी तीन शिक्षकों को बीएसए ने सम्प्रेक्षण गृह से किया सम्बद्ध, जिले में सम्बद्ध हैं 56 शिक्षक, बीईओ ने नहीं दिया कार्यमुक्ति प्रमाण पत्र

फर्रुखाबाद :  बीएसए ने दूरदराज के ब्लाकों में तैनात तीन शिक्षकों को राजकीय संप्रेक्षण गृह में संबद्ध किया है। उनको विद्यालय से कार्यमुक्त करने का आदेश खंड शिक्षा अधिकारियों को दिया है। ये स्थिति तब है जब शासन से शिक्षकों के संबद्धीकरण पर रोक है। जिले में 56 शिक्षक संबद्ध हैं, इनको रिलीव कर किसी भी शिक्षक के संबद्ध न होने का प्रमाण पत्र अभी तक बीईओ ने नहीं दिया। जिले में पहले से 56 शिक्षक मूल विद्यालय से दूसरे स्कूल या बीएसए कार्यालय से संबद्ध हैं।




इनका संबद्धीकरण समाप्त कर मूल विद्यालय में भेजने का आदेश स्कूल शिक्षा महानिदेशक विजय किरन आनंद ने दिया था। उन्होंने बीएसए से शिक्षकों को मूल विद्यालय के लिए रिलीव करने और किसी शिक्षक के संबद्ध न होने का प्रमाण पत्र मांगा था। संबद्ध शिक्षकों को मूल विद्यालय रिलीव नहीं किया गया है। बीएसए ने 14 अगस्त को प्राथमिक विद्यालय खजुरिया शमसाबाद के सहायक अध्यापक अभयकांत, प्राथमिक विद्यालय कायमगंज के अध्यापक अनुराग सोमवंशी व प्राथमिक विद्यालय धनी नासा के सहायक अध्यापक विजय प्रताप को राजकीय संप्रेक्षण गृह जखा फतेहगढ़ में संबद्ध कर दिया है। इनको किशोर अपचारियों को ऑनलाइन शिक्षा देने की जिम्मेदारी दी है।


 बीएसए लालजी यादव ने बताया कि किशोर अपचारियों को ऑनलाइन पढ़ाने के लिए राजकीय संप्रेक्षण गृह जखा के अधीक्षक ने पत्र भेजा था। उन्होंने चार शिक्षकों के नाम दिए थे, तीन शिक्षकों को ही संबद्ध किया गया है। अधीक्षक कमलेश कुमार ने बताया कि पिछले सत्र में यही शिक्षक तैनात थे, इस कारण इन्हीं को संबद्ध करने के लिए बीएसए को पत्र भेजा था।




फर्रुखाबाद : शिक्षकों के गले की फांस बना ऑनलाइन प्रशिक्षण

फर्रुखाबाद : शिक्षकों के गले की फांस बना ऑनलाइन प्रशिक्षण।

फर्रुखाबाद : परिषदीय स्कूलों में ऑनलाइन प्रशिक्षण के लिए दीक्षा एप और मानव सम्पदा पोर्टल का लिंक करने के निर्देश दिए है। कुछ शिक्षक-शिक्षिकाएं ऐसे हैं जो एंड्रइड मोबाइल चलाने में सक्षम नही हैं। उन्हें प्रशिक्षण लेने में दिक्कत आ रही है।






परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों को आनलाइन प्रशिक्षित करने का शासन का फरमान उनके गले की फांस बन गया है। पहले तो चुनिंदा शिक्षकों को शासन के बताए एप डाउन लोड कराने के निर्देश थे। जैसे तैसे उनको डाउनलोड करही पाए थे कि शासन ने दीक्षा एप और मानव सम्पदा को लिंक करने के निर्देश जारी हो गए। लिंक करने के आदेश आते ही मोबाइल चलाने में अक्षम शिक्षक शिक्षकों का सिर दर्द बढ़ गया है। कोरोना के चलते एक जगह पर भीड़ इकट्ठा करने परमनाही है। इसके चलते आनलाइन प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जनपद में लगभग 25 से 30 फीसद शिक्षकों की उम्र पचास से पचपन वर्ष के आसपास है। यह शिक्षक न तो तकनीकी रूप से दक्ष है और न ही मोबाइल पर प्रशिक्षण में सक्षम हैं। खासकर अधिकतर महिला शिक्षक ऐसी हैं जिनके लिए प्रशिक्षण में शामिल होना चुनौती है। कुछ दिनों पहले ही शासन ने शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षित करने के लिए दीक्षा एप को मानव संपदा पोर्टल से लिंक का आदेश जारी कर दिया है।

अनलाइन प्रशिक्षण के लिए  शिक्षकों को दीक्षा एप से मानव संपदा से लिक करना अनिवार्य। इसके लिए एआरपी एकेडमिक रिसोर्स पर्सन) विद्यालयों में जाकर शिक्षकों को बता रहे हैं। यदि किसी को समस्या आ रही है तो उसका निदान किया जा रहा है। - लालजी यादव, बीएसए

 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, August 13, 2020

फर्रुखाबाद : शिक्षकों के सत्यापन का कार्य जल्द पूर्ण कराने का निर्देश, फर्जी नियुक्तियों पर नकेल कसने के लिए हो रही कार्रवाई

5758 शिक्षको के सत्यापन का कार्य पूर्ण करने के निर्देश

फर्रुखाबाद : शासन के निर्देश के बावजूद परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में कार्यरत शिक्षामित्रों और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में तैनात अंशकालिक अनुदेशकों के शैक्षिक प्रमाणपत्रों और आधार के सत्यापन का काम सुस्त गति से चल रहा है। महानिदेशक स्कूल शिक्षा ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिया है कि सत्यापन 31 अगस्त तक पूरा कर लिया जाए।




प्राथमिक स्कूलों में 2596 शिक्षको और 1668 शिक्षा मित्र व पूर्व माध्यमिक स्कूलों के 1230 शिक्षकों, 264 अनुदेशकों की तैनाती है। फर्जी नियुक्तियों पर नकेल कसने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग इनके सेवा विवरण को मानव संपदा पोर्टल पर अपलोड करा रहा है। साथ ही, उनके शैक्षिक प्रमाणपत्रों और आधार का सत्यापन भी करा रहा है। बेसिक शिक्षा विभाग ने 27 जून को शासनादेश जारी कर शिक्षामित्रों और अनुदेशकों का सेवा विवरण मानव संपदा पोर्टल पर अपलोड करने के साथ उनके डाटा और अभिलेखों का सत्यापन कराने का निर्देश दिया था। इसके क्रम में सर्व शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना कार्यालय ने विगत तीन जुलाई को शिक्षामित्रों और अनुदेशकों का आधार सत्यापन और फिंगर प्रिंट स्कैनर खरीदने के बारे में निर्देश जारी किए थे।


हाल ही में सर्व शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना कार्यालय की ओर से की गई समीक्षा में शिक्षामित्रों और अनुदेशकों के प्रमाणपत्रों और आधार सत्यापन की स्थिति को असंतोषजनक पाया गया। इस पर माहानिदेशक ने नाराजगी व्यक्त की है। महानिदेशक स्कूल शिक्षा ने 31 अगस्त की मियाद तय करते हुए बीएसए और डायट प्राचार्य को इसकी निगरानी करने का निर्देश दिया है। बीएसए लालजी यादव ने बताया कि सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों को 31 अगस्त तक सत्यापन कार्य पूर्ण करने के निर्देश दे दिए गए है।

 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, July 1, 2020

फर्रुखाबाद : ARP के अवशेष पदों पर चयन हेतु पुनः विज्ञप्ति हुई जारी, देखें

फर्रुखाबाद : ARP के अवशेष पदों पर चयन हेतु पुनः विज्ञप्ति हुई जारी, देखें।









 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, June 30, 2020

संक्रमण के खतरे के कारण स्कूल खुलने को लेकर घबरा रही अध्यापिकाएं

फर्रुखाबाद : संक्रमण के खतरे के कारण स्कूल खुलने को लेकर घबरा रही अध्यापिकाएं


 

Saturday, June 27, 2020

फर्रुखाबाद : फर्जी अभिलेख से नौकरी कर रही संध्या व निधि की सेवा समाप्त, कस्तूरबा की दोनों वार्डनों के खिलाफ दर्ज करवाई जाएगी रिपोर्ट

फर्रुखाबाद : फर्जी अभिलेख से नौकरी कर रही संध्या व निधि की सेवा समाप्त, कस्तूरबा की दोनों वार्डनों के खिलाफ दर्ज करवाई जाएगी रिपोर्ट।


फर्रुखाबाद : फर्जी अभिलेखों से नौकरी करने में कस्तूरबा गांधी विद्यालय कमालगंज की वार्डन संध्या द्विवेदी और कस्तूरबा गांधी विद्यालय कायमगंज की वार्डन निधि गुप्ता की सेवा समाप्त कर दी गई है। विभाग की ओर से इनके खिलाफ रिपोर्ट भी दर्ज कराई जाएगी। अनामिका शुक्ला प्रकरण के खुलासे के बाद अभिलेखों की जांच शुरू होने पर जिले के बा विद्यालयों में भी फर्जीवाड़ा पकड़ा गया। कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय कमालगंज में वार्ड संध्या द्विवेदी फिरोजाबाद, अलीगढ़ भी नौकरी कर रही थी। इन्होंने नौकरी के दौरान जो पते दिए थे वह जांच में फर्जी पाए गए। कायमगंज बा विद्यालय की वार्डन निधि गुप्ता ने भी फर्जी अभिलेखों से नौकरी पाई थी।






इन्होंने भी जो निवास संबंधी पते दिए थे वह भी फर्जी पाए गए थे। वार्ड निधि गुप्ता ने जो टीईटी प्रमाण पत्र लगाया गया था वह जांच में अनामिका शुक्ला का निकला था। जांच पूरी होने पर बीएसए लालजी यादव ने वार्डन संध्या द्विवेदी और वार्डन निधि गुप्ता की संविदा समाप्त करने के लिए डीएम के पास पत्रावली भेजी थी। डीएम के मंजूरी मिलने के बाद बीएसएफ ने दोनों की संविदा समाप्त कर दी है। बीएसएफ लालजी यादव ने बताया कि इन दोनों वार्डनों की नियुक्ति अक्टूबर 2019 में हुई थी। अभिलेख सत्यापन न होने से मानदेय नहीं दिया गया था। दोनों वार्डनों के अभिलेख फर्जी होने से इनकी सेवा समाप्त कर दी गई है। इन दोनों के खिलाफ रिपोर्ट भी दर्ज कराई जाएगी।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

फर्रुखाबाद : फर्जी बीएड डिग्री से नौकरी कर रहे प्रधानाध्यापक समेत दो शिक्षक बर्खास्त, बीईओ को रिपोर्ट लिखाने और अभी तक दिए गए वेतन की रिकवरी का आदेश

फर्रुखाबाद : फर्जी बीएड डिग्री से नौकरी कर रहे प्रधानाध्यापक समेत दो शिक्षक बर्खास्त, बीईओ को रिपोर्ट लिखाने और अभी तक दिए गए वेतन की रिकवरी का आदेश।


फर्रुखाबाद :  डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा की वर्ष 2004-05 की फर्जी बीएड डिग्री से परिषदीय स्कूल में नौकरी कर रहे प्रधानाध्यापक और सहायक अध्यापक को बीएसए लालजी यादव ने बर्खास्त कर दिया है। दोनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने और अभी तक विभाग से दिए गए वेतन की वसूली करने का भी आदेश दिया है। एटा जिले के खिरिया नगर शाह निवासी शिव भगत सिंह पुत्र नीमा सिंह ने 12 दिसंबर 2009 में जिले के परिषदीय स्कूल में डा. भीमराव आंबेडकर विवि आगरा की वर्ष 2004-05 की बीएड डिग्री से सहायक अध्यापक की नौकरी पाई थी।






प्रमोशन होने पर शमसाबाद ब्लाक क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय रूपपुर भागलपुर में प्रधानाध्यापक के पद पर तैनाती हुई। इसी तरह गांव अचरिया बाकरपुर पोस्ट खलवारा निवासी ज्योति कटियार पुत्री हरनाम सिंह ने वर्ष 10 मार्च 2010 को सहायक अध्यापक के पद पर नौकरी पाई थी। वे प्राथमिक विद्यालय बहावलपुर में सहायक अध्यापक थीं। भीमराव आंबेडकर विवि, की वर्ष 2004-05 की करीब 4570 बीएड डिग्री फर्जी पाई गई थीं। उच्च न्यायालय से 29 अप्रैल 2020 को फर्जी घोषित 2823 बीएड डिग्रियों की सूची में प्रधानाध्यापक शिव भगत सिंह व सहायक अध्यापक ज्योति कटियार का भी नाम था। एसआईटी से कार्रवाई को सुची आने के बाद बीएसएफ लालजी यादव ने दोनों शिक्षकों को बुलाकर उनका पक्ष सुना। बीएसए ने बताया कि प्रधानाध्यापक शिव भगत सिंह व सहायक अध्यापक ज्योति कटियार को बर्खास्त कर दिया है। संबंधित बीईओ को दोनों शिक्षकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने और अब तक लिए वेतन के धन की रिकवरी करने का आदेश दिया है।




दो और शिक्षकों पर लटकी तलवार

फर्रुखाबाद : इसी वर्ष की भीमराव आंबेडकर विवि की फर्जी बीएड डिग्री से प्राथमिक विद्यालय सरह द्वितीय में सहायक अध्यापक पूनम राठौर और प्राथमिक विद्यालय नकटपुर मोहम्मदाबाद में सर्वेश कुमार नौकरी कर रहे हैं। इनके खिलाफ भी कार्रवाई के आदेश आया है। बीएसएफ लालजी यादव ने बताया कि जांच चल रही है। जांच पूरी होते ही कार्रवाई की जाएगी। बर्खास्त 22 शिक्षकों पर नहीं हुई एफआईआर



फर्रुखाबाद एसआईटी जांच में फंसे 22 शिक्षक करीब एक माह पूर्व बर्खास्त हो चुके हैं। यह शिक्षक भी फर्जी बीएड डिग्री से नौकरी कर रहे थे। इनकी डिग्रियां उच्च न्यायालय से फर्जी घोषित होने के बाद बीएसए ने बर्खास्त किया था। बीईओ को रिपोर्ट लिखाने के आदेश दिए थे, लेकिन अभी तक किसी भी शिक्षक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई गई है।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, June 26, 2020

फर्रुखाबाद : अनामिका शुक्ला प्रकरण : मास्टरमाइंड पुष्पेंद्र बर्खास्त

फर्रुखाबाद : अनामिका शुक्ला प्रकरण : मास्टरमाइंड पुष्पेंद्र बर्खास्त।

फर्रुखाबाद : अनामिका शुक्ला प्रकरण का मास्टरमाइंड शिक्षक सुशील कुमार कौशल उर्फ पुष्पेंद्र को बर्खास्त कर दिया गया है। उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर अब वेतन की रिकवरी की जाएगी। पुष्पेंद्र कंपिल के प्राथमिक विद्यालय कुंवरपुर में सुशील कुमार कौशल के नाम से नौकरी कर रहा था। जांच में उसके अभिलेख फर्जी मिलने पर बीएसए लालजी यादव ने उसे 25 जून को कार्यालय में आकर पक्ष रखने का नोटिस भेजा था अंतिम मौके पर नहीं पहुंचने पर उसे बर्खास्त कर दिया गया।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, June 25, 2020

फर्रुखाबाद : अनामिका शुक्ला के टीईटी प्रमाणपत्र से पाई निधि ने नौकरी, फर्जीवाड़े का हुआ खुलासा

फर्रुखाबाद : अनामिका शुक्ला के टीईटी प्रमाणपत्र से पाई निधि ने नौकरी, फर्जीवाड़े का हुआ खुलासा।


फर्रुखाबाद: अनामिका शुक्ला के टीईटी प्रमाण पत्र से पाई निधि ने नौकरी

फर्रुखाबाद। कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय कायमगंज की वार्डन निधि गुप्ता का टीईटी प्रमाण पत्र सत्यापन में अनामिका शुक्ला का निकाला। वार्डन ने कूटरचित तरीके से अनामिका के टीईटी प्रमाण पत्र को अपने नाम बनाकर नौकरी के लिए दाखिल किया था। इसका खुलासा बार कोड से ऑनलाइन सत्यापन में हुआ है।





बा आवासीय विद्यालय की सभी शिक्षकों और कर्मचारियों के मूल अभिलेखों, आधार कार्ड व पैन कार्ड का ऑनलाइन सत्यापन चल रहा है। इसके बाद ऑनलाइन भी सत्यापन होगा। ऑनलाइन सत्यापन में कायमगंज की वार्डन निधि गुप्ता के टीईटी प्रमाण पत्र के बार कोड से जांच की गई तो वह वह अनामिका शुक्ला का निकाला। ये प्रमाण पत्र वर्ष 2015 का है। इससे अनामिका शुक्ला प्रकरण के मास्टर माइंड पुष्पेंद्र से वार्ड निधि गुप्ता के तार जुड़ने का संकेत मिल रहा है। बीएसएफ लालजी यादव ने बताया बा के सभी शिक्षक व कर्मचारियों के शैक्षिक अभिलेख, आधार कार्ड, पैन कार्ड का सत्यापन चल रहा है। इसमें फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है।


कूटरचित तरीके से निधि गुप्ता ने अपने नाम बनवाया।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, June 24, 2020

कस्तूरबा फर्जीवाड़ा : तीन जिलों की नौकरी में एक ही संध्या, सही अभिलेखों से फिरोजाबाद तो फर्जी से फर्रुखाबाद व अलीगढ़ में पाई नौकरी


कस्तूरबा फर्जीवाड़ा : तीन जिलों की नौकरी में एक ही संध्या, सही अभिलेखों से फिरोजाबाद तो फर्जी से फर्रुखाबाद व अलीगढ़ में पाई नौकरी


लखनऊ : कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में फर्जी दस्तावेजों से अनामिका शुक्ला के नाम से भर्ती घोटाला की जांच ज्यों ज्यों आगे बढ़ रही है, नए नए राजफाश हो रहे हैं। अनामिका के बाद संध्या द्विवेदी का नाम सामने आ रहा है, जो तीन स्कूलों में नौकरी कर रही है। अनामिका शुक्ला कांड के बाद हुई जांच में यह मामला सामने आया। तब से वह शिक्षिका गायब है। फिलहाल उसे बर्खास्त कर एका थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है।


फीरोजाबाद के एका स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में शिक्षिका नौकरी करने वाली मैनपुरी के भैंसरोली गांव निवासी संध्या द्विवेदी फरुखाबाद और अलीगढ़ में भी नौकरी कर रही थी। अब पुलिस और शिक्षा विभाग मामले की तहकीकात में जुटा हुआ है। दूसरी ओर, कासगंज में अनामिका शुक्ला के फर्जी दस्तावेजों से नौकरी पाने वाली सुप्रिया के मामले में सोरों पुलिस ने मंगलवार को चयन कमेटी में रहे तत्कालीन जिला समन्वयक (डीसी) के बयान दर्ज किए। पुलिस ने कमेटी के अन्य सदस्यों को भी बयान देने के लिए पत्र भेजे हैं। उधर गोंडा में असली अनामिका शुक्ला के सामने आने के बाद उसकी तलाश समाप्त हो गई है। आरोपितों की गिरफ्तारी भी कर ली गई है।

Tuesday, June 23, 2020

फर्रुखाबाद : तीन जगह नौकरी कर रही वार्डन, दस्तावेज सत्यापन में अनुपस्थित रहने पर शुरू हुई जांच में खुलासा

फर्रुखाबाद : तीन जगह नौकरी कर रही वार्डन, दस्तावेज सत्यापन में अनुपस्थित रहने पर शुरू हुई जांच में खुलासा।



फर्रुखाबाद। अनामिका शुक्ला प्रकरण के खुलासे के बाद जिले के कमालगंज की वार्डन संध्या द्विवेदी के तीन जिलों में नौकरी का मामला सामने आया है। इसकी जांच शुरू कर हो गई है। राज्य परियोजना निदेशक विजय किरन आनंद के आदेश पर कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों की वार्डन, शिक्षिकाओं व कर्मचारियों के अभिलेखों की जांच शुरू हुई है।





 इसमें कायमगंज की वार्डन निधि गुप्ता, शिक्षिका मंजू सिंह व कमालगंज की वार्डन संध्या द्विवेदी अपने अभिलेखों का सत्यापन कराने नहीं आई। बीएसए ने इनके अभिलेखों की फोटो कॉपी के आधार पर जांच शुरू करने में कमालगंज कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में वार्डन संध्या द्विवेदी के अलीगढ़ व फिरोजाबाद में शिक्षा विभाग में नौकरी करने की जानकारी मिली, लेकिन वह किस पद पर और इन जिलों में कहां पर कार्यरत है. यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। उधर, बीईओ ललित मोहन पाल को कायमगंज व विद्यालय की वार्डन निधि गुप्ता के पते पर नगला खरा मैनपुरी जांच करने भेजा। वहां दूसरी निधि गुप्ता मिलीं जो बढ़पुरब्लाक के प्राइमरी विद्यालय गंगा द्वारा अंग्रेजी माध्यम स्कूल में तैनात हैं।




 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, June 21, 2020

फर्रुखाबाद / कन्नौज : आगरा विवि की फर्जी बीएड डिग्री से नियुक्ति पाए 22 शिक्षकों के खाते सीज, लाखों डंप


फर्रुखाबाद / कन्नौज : आगरा विवि की फर्जी बीएड डिग्री से नियुक्ति पाए 22 शिक्षकों के खाते सीज, लाखों डंप


आगरा विश्वविद्यालय से बीएड की फर्जी डिग्री के सहारे नौकरी करने वाले 22 शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया गया था। बर्खास्तगी आदेश के बाद इन शिक्षकों के बैंक के वेतन खातों पर भी रोक लगा दी गई । शिक्षकों के खातों में लाखों रुपए डंप हैं।


डा. भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी आगरा में 2004-05 सत्र में बीएड की डिग्री के सहारे 51 शिक्षकों ने जिले में नौकरी हासिल कर ली थी। एसआईटी ने मामले की जांच की तो उनकी डिग्रियां फर्जी पाई गयी। एसआईटी की जांच पर तत्कालीन बीएसए ने 51 शिक्षक शिक्षिकाओं को बर्खास्त कर दिया था । बर्खास्तगी आदेश के विरुद्घ शिक्षक हाईकोर्ट पहुंच गए थे। हाईकोर्ट से राहत मिलने के बाद शिक्षकों ने फिर से अपने स्कूलों में ज्वाइन करके वेतन भुगतान कराया । 


कोर्ट के आदेश पर 22 शिक्षकों की डिग्रियों को फर्जी घोषित कर दिया गया था। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने 22 शिक्षकों को बर्खास्त करते हुए उनके वेतन पर रोक लगा दी थी। इसके बाद क्षेत्रीय खंड शिक्षा अधिकारियों को फर्जी शिक्षकों के खिलाफ थानों में एफआईआर कराने के निर्देश दिए थे। जो अभी तक नहीं हो पाई है। 


जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बैंक प्रबंधक को पत्र भेजकर सभी 22 शिक्षकों के खाते में आहरण पर रोक लगाने को पत्र भेज दिया है। बीएसए ने बताया कि सभी फर्जी शिक्षक शिक्षिकाओं के खातों पर रोक लगाने के लिए शाखा प्रबंधकों को पत्र भेज दिया गया है । अब फर्जी शिक्षक शिक्षिकाएं अपने खातों में पड़े धन को निकाल नहीं पाएंगे।

Friday, February 14, 2020

फर्रुखाबाद : शिक्षक से अभद्रता के आरोप में बीईओ का हुआ ब्लाक तबादला

फर्रुखाबाद : शिक्षक से अभद्रता के आरोप में बीईओ का हुआ ब्लाक तबादला।



 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, January 30, 2020

फर्रुखाबाद : पांच शिक्षामित्रों पर हो सकती कार्रवाई, लटक गई सेवा समाप्ति की तलवार


फर्रुखाबाद। कमालगंज में पांच शिक्षामित्रों की सेवा समाप्ति की तलवार लटक गई है। कार्रवाई के दायरे में पांच महिला शिक्षामित्र आ गई हैं। यह लंबे समय से विद्यालय से गैर हाजिर हैं। बीएसए ने अनुपस्थिति को लेकर साक्ष्यों सहित स्वयं उपस्थित होकर स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के आदेश जारी कर दिए हैं।

खंड शिक्षाधिकारी कमालगंज ने पांच महिला शिक्षामित्रों की लंबे समय से गैरहाजिरी की रिपोर्ट बीएसए को दी है। इसमें जुलाई 2018 से प्राथमिक विद्यालय रतनपुर की रेखा यादव।

प्राथमिक विद्यालय पतौंजा की मंजू राजपूत 13 नवंबर 2019 से, प्राथमिक विद्यालय अनबोला की सीमा 1 जुलाई 2019 से, प्राथमिक विद्यालय कोहनी नगला की मंजू राजपूत 6 जुलाई 2019 से और इसी विद्यालय की कविता चतुर्वेदी 6 जुलाई 2019 से गैर हाजिर चल रही हैं। बीएसए ने स्पष्ट कहा कि यदि संबंधित शिक्षामित्रों की ओर से जवाब संतोषजनक नहीं दिया गया तो इन सबकी सेवा समाप्ति की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। उन्होंने खंड शिक्षाधिकारी को भी निर्देशित किया है कि संबंधित नोटिस शिक्षा मित्रों को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

Thursday, January 9, 2020

फर्रुखाबाद : आपरेशन कायाकल्प योजना के तहत स्कूलों को बनाया जा रहा फाइव स्टार, परिषदीय स्कूलों में रखी जाएंगी स्वच्छता पेटिका

फर्रुखाबाद : आपरेशन कायाकल्प योजना के तहत स्कूलों को बनाया जा रहा फाइव स्टार, परिषदीय स्कूलों में रखी जाएंगी स्वच्छता पेटिका।




Sunday, January 5, 2020

फर्रुखाबाद : आसानी से नहीं मिलेगी कम्पोजिट ग्रांट, परिषदीय विद्यालयों की ग्रांट पर प्रशासन की रहेगी पैनी नजर, अनियमितताओं पर नपेंगे बीईओ और प्रधानाध्यापक

फर्रुखाबाद : आसानी से नहीं मिलेगी कम्पोजिट ग्रांट, परिषदीय विद्यालयों की ग्रांट पर प्रशासन की रहेगी पैनी नजर, अनियमितताओं पर नपेंगे बीईओ और प्रधानाध्यापक।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, December 31, 2019

फर्रुखाबाद : ARP के अवशेष पदों पर भर्ती हेतु विज्ञप्ति जारी, देखें

फर्रुखाबाद : ARP के अवशेष पदों पर भर्ती हेतु विज्ञप्ति जारी, देखें।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, December 13, 2019

फर्रुखाबाद : परिषदीय विद्यालयों के खाते में डंप हैं 13.75 करोड़ रुपए, 4300 शिक्षकों का वेतन रोके जाने के बाद आई पासबुकों से स्थिति हुई स्पष्ट

फर्रुखाबाद : परिषदीय विद्यालयों के खाते में डंप हैं 13.75 करोड़ रुपए, 4300 शिक्षकों का वेतन रोके जाने के बाद आई पासबुकों से स्थिति हुई स्पष्ट।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Monday, December 9, 2019

फर्रुखाबाद : सॉफ्टवेयर का पेंच, 4500 रसोईयों का फंसा मानदेय

फर्रुखाबाद : सॉफ्टवेयर का पेंच, 4500 रसोईयों का फंसा मानदेय।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, December 5, 2019

फर्रुखाबाद : 1855 स्कूलों के 4300 शिक्षकों का बीएसए ने रोका वेतन, वीईसी व एसएमसी खातों में अवशेष धन का ब्योरा न देने पर हुई कार्रवाई

फर्रुखाबाद : 1855 स्कूलों के 4300 शिक्षकों का बीएसए ने रोका वेतन, वीईसी व एसएमसी खातों में अवशेष धन का ब्योरा न देने पर हुई कार्रवाई।








 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।