DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label बरेली. Show all posts
Showing posts with label बरेली. Show all posts

Wednesday, July 8, 2020

बदल रहा है बेसिक : अब मास्टर साहब बोल रहे, लाइट..कैमरा..एक्शन

अब मास्टर साहब बोल रहे, लाइट..कैमरा..एक्शन

एनसीईआरटी तैयार करवा रहा है जन-जागरूकता वीडियो, स्क्रिप्ट लिखने से लेकर अभिनय तक कर रहे शिक्षक, बरेली से भी दो शिक्षकों का हुआ चयन
है। इसके लिए प्रदेश के कुल 10 शिक्षकों का चयन किया गया है। फतेहगंज ब्लॉक के प्राथमिक स्कूल कुरतरा के सहायक अध्यापक अमर बेसिक के शिक्षक अब सिर्फ पढ़ाने का ही काम नहीं कर रहे। राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद ने जागरूकता वीडियो बनवाने शुरू किए हैं। इनकी स्क्रिप्ट लिखने से अभिनय करने तक का कार्य शिक्षक ही कर रहे हैं। बरेली के दो शिक्षक भी इसमें शामिल हैं। राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद ने सुरक्षा एवं संरक्षा विषय पर वीडियो कुमार द्विवेदी और क्यारा ब्लॉक के प्राथमिक स्कूल चनेहटा की सहायक अध्यापक पुष्पा अरुण का नाम भी इसमें शामिल हैं। पूरे प्रदेश में कुल 140 स्क्रिप्ट लिखी गई। ज्वाईट डायरेक्टर अजय कुमार सिंह ने इनमें से 70 स्क्रिप्ट फाइनल की थी। प्रदेश में 30 वीडियो शूट हो चुके हैं। इनमें से दो बरेली में शूट किए गए हैं। इनमें से एक कोरोना जागरूकता और दूसरा निर्माण शुरू किया 112 ईमरजेंसी नम्बर को लेकर है।
हर जिम्मेदारी निभा रहे हैं शिक्षक
गांव और स्कूल में की है शूटिंग
शिक्षिका पुष्या अरुण ने बताया कि शिक्षक सिर्फ पठन पाटन नहीं बल्कि जागरूकता की जिम्मेदारी भी निभा रहे हैं। स्क्रिप्ट लिखने के साथ हम लोग एक्टिंग भी कर रहे हैं। वीडियो तैयार हो जाने के बाद सभी स्कूलों और विभागों को दे दिए जाएंगे। इनको ज्यादा से ज्यादा प्रसारित किया जाएगा।
शिक्षक अमर कुमार द्विवेदी बताया कि कोरोना,
सड़क सुरक्षा साक्षरता मासिक धर्म, छुआूत, गंदगी, बाल अम, ऑनलाइन ठगी आदि विषयों प्र छोटे-छोटे वीडियो तैयार किए जा रहे हैं। बरेली में दो वीडियो शूट हो चुके हैं। इनकी शूटिंग हमने अपने गांव और स्कूल में ही की है।

Friday, July 3, 2020

फर्जी डिग्री प्रकरण : फैजाबाद- वाराणसी से आई फर्जी सत्यापन रिपोर्ट, फर्जी डिग्री के बाद अब फर्जी सत्यापन रिपोर्ट


बरेली : एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती में गड़बड़ी के तार संपूर्णानंद संस्कृत विवि वाराणसी, आगरा विवि और फैजाबाद विवि से जुड़े हुए हैं। ठगों का गैंग इतना मजबूत है कि इन विवि से विभाग को फर्जी सत्यापन रिपोर्ट तक भिजवा दी गई। जांच के बाद 45 शिक्षकों की सेवा समाप्त की गई। अब भीचार शिक्षकों का सत्यापन नहीं हुआ है। सत्र 2015-16 में माध्यमिक शिक्षा के राजकीय स्कूलों में एलटी ग्रेड शिक्षकों की भर्ती हुई थी। बरेली में 252 पद भरे गए थे। वेतन जारी करने से पहले सत्यापन कराया गया। डा. भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी आगरा, डा. राम मनोहर लोहिया यूनिवर्सिटी फैजाबाद और संपूर्णानंद संस्कृत विवि वाराणसी से जो सत्यापन रिपोर्ट आई वो भी संदिग्ध थी। पड़ताल में पता चला कि सत्यापन रिपोर्ट भी फर्जी है। एक-एक कर 45 शिक्षकों की फर्जी डिग्री पकड़ में आई। इनमें से दर्जन भर की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की मार्कशीट में भी गड़बड़ी मिली थी। वहीं तीन शिक्षक ऐसे मिले जिन्होंने अमान्य बोर्ड की मार्कशीट लगाकर नौकरी पाई थी। इनमें 11 महिलाएं और 34 पुरुष शिक्षक थे। लगभग चार वर्ष बीत जाने के बाद भी अब तक आगरा विश्वविद्यालय और संपूर्णानंद विवि ने दो-दो शिक्षकों की सत्यापन रिपोर्ट नहीं भेजी है। डाक से आई सत्यापन रिपोर्ट पर भरोसा नहीं जेडी डा. प्रदीप कुमार ने बताया कि आगरा विवि और संपूर्णानंद संस्कृत विवि को कई रिमाइंडर दिए जा चुके हैं। अधिकारियों को सत्यापन रिपोर्ट लेने के लिए भेजा गया। विवि उन्हें रिपोर्ट देने में आनाकानी कर रहे हैं। डाक से आई सत्यापन रिपोर्ट पर हमारा भरोसा नहीं है। यह पहले भी फर्जी पाई गई है। 

फर्जी शिक्षकों पर शिकंजा

औरैया में केस दर्ज : फर्जी अभिलेख के जरिए बेसिक शिक्षा विभाग में नौकरी कर रहे छह शिक्षकों के खिलाफ गुरुवार को केस दर्ज हुआ। 

कन्नौज में एक पैन पर तीन शिक्षक: बेसिक शिक्षा विभाग में एक ही पैन कार्ड पर नौकरी करने वाले तीन शिक्षक पकड़े गए हैं। फर्जी शिक्षकों को मिले 4.38 लाख हरदोई बीएसए के निर्देश पर मानदेय का ब्योरा तलब किया गया। फर्जी अभिलेखों के सहारे कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में नौकरी पाने वाली मैनपुरी की फर्जी शिक्षिका अंजलि ने नौकरी के दौरान चार लाख 38 हजार 674 रुपये मानदेय पाए हैं। अंजली के मानदेय का खुलासा हिन्दुस्तान की खबर किया गया है। हिंदुस्तान ने गुरुवार के अंक में खबर प्रकाशित की थी।

Tuesday, June 30, 2020

बरेली :एक ही नाम और दस्तावेजों पर नौकरी करते मिले दो शिक्षक


बरेली :एक ही नाम और दस्तावेजों पर नौकरी करते मिले दो शिक्षक



 बरेली : परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच शुरू हुई तो बरेली में भी सोमवार को एक बड़ा मामला पकड़ा गया। यहां भोजीपुरा ब्लॉक के प्राइमरी स्कूल में जो शिक्षक तैनात है। उसी के नाम, दस्तावेजों के सहारे मुजफ्फरनगर जिले में भी एक शिक्षक प्राइमरी स्कूल में नौकरी कर रहा है। बीएसए ने शिक्षक का वेतन रोकते हुए जांच बैठा दी है। 


लखनऊ स्थित राज्य परियोजना निदेशालय से 192 संदिग्ध शिक्षकों की सूची जारी कर जांच के लिए कहा गया है। इनमें बरेली के भी चार शिक्षकों के नाम शामिल हैं। बीएसए विनय कुमार ने बताया कि इसमें भोजीपुरा ब्लॉक के प्राइमरी स्कूल मुढ़िया चेतराम के प्रधानाध्यापक प्रदीप कुमार सक्सेना का नाम भी शामिल है। वह वर्ष 2005 से यहां कार्यरत है। 



जांच में पता चला कि उन्हीं के नाम, मार्कशीट, जन्म तिथि से लेकन पैनकार्ड पर दूसरा शिक्षक वर्ष 2011 से मुजफ्फरनगर के एक प्राइमरी स्कूल में तैनात है। दोनों शिक्षकों की जो मार्कशीट है, वह भी एक ही स्कूल और कॉलेज की है। सिर्फ घर का पता बदला हुआ है। शिक्षक से पूछताछ की तो उन्होंने खुद को सही बताया।

Thursday, June 25, 2020

करे कोई भरे कोई : ऑपरेशन कायाकल्प के कामों में गड़बड़ी पर हेडमास्टर निलंबित

करे कोई भरे कोई : ऑपरेशन कायाकल्प के कामों में गड़बड़ी पर हेडमास्टर निलंबित। 



बरेली  :   ऑपरेशन कायाकल्प में गड़बड़ी और लापरवाही की हिंदुस्तान की खबरों पर बुधवार को मुहर लग गई। डीएम और एसडीएम के निरीक्षण में लापरवाही पकड़ में आई। डीएम के आदेश पर एक हेड मास्टर को निलंबित कर दिया गया है। बीईओ भुता के साथ चार शिक्षकों को कठोर चेतावनी दी गई है। ऑपरेशन कायाकल्प के तहत स्कूलों में घटिया टाइल्स लगाने, दोयम दर्जे की ईट का इस्तेमाल करने, कम ऊंचाई की बाउंड्री वॉल बनाने जैसी शिकायतें आती रही हैं। बुधवार से इनका सत्यापन शुरू हो गया। खुद डीएम और सीडीओ ने भी भुता ब्लॉक में कई स्कूलों का निरीक्षण किया। 


प्राथमिक विद्यालय गुलाब नगर में ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत रंगाई पुताई भी ठीक से नहीं कराई गई थी। फर्श भी टूटा हुआ मिला। डीएम के निर्देश पर प्राथमिक विद्यालय गुलाब नगर के प्रधानाध्यापक फरियाद अली को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। डीएम ने बीईओ भुता को आरोप पत्र और ग्राम सचिव शेखर गुप्ता को प्रतिकूल प्रविष्टि देने के निर्देश दिए। सफाई कर्मी से भी स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए।



रंगाई-पुताई का काम भी निम्न स्तर का
प्राथमिक स्कूल मझोआ हेतराम के प्रधानाध्यापक सतीश शर्मा, प्राथमिक स्कूल फैज नगर द्वितीय की प्रधानाध्यापिका साधना पांडे, प्राइमरी स्कूल कल्याणपुर नवीन के हेड मास्टर ठाकुरदास और जूनियर हाई स्कूल कल्याणपुर नवीन के इंचार्ज अध्यापक सुरेंद्र सिंह को नोटिस देते हुए तीन दिन में स्पष्टीकरण मांगा गया है। इन स्कूलों में भी ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत कार्य नहीं कराए गए। स्कूलों की रंगाई पुताई, वॉल पेंटिंग आदि का काम भी निम्न स्तर का पाया गया। भुता ब्लॉक के खंड शिक्षा अधिकारी भानु शंकर गंगवार को भी कठोर चेतावनी जारी की गई है। डीएम ने ब्लॉक भुता के एपीओ को अच्छा कार्य करने पर प्रशंसा पत्र निर्गत करने के आदेश जारी किए।



धौलपुर के प्राइमरी स्कूल में न तो टाइल लगी और न ही शौचालय बना
 प्राइमरी स्कूल लालपुर में बीएसए को संतुष्टि पूर्ण कार्य नजर नहीं आया। स्कूल में अभी तक शौचालय नहीं बना था। वॉल पेंटिंग का काम भी नहीं हुआ था। स्कूल से स्पष्टीकरण मांगा गया है। प्राइमरी स्कूल लक्षा में भी बाउंड्री वाल, हैंड वास यूनिट, दिव्यांग बच्चों के लिए शौचालय का निर्माण नहीं कराया गया है। अनुपस्थित स्टाफ से जवाब तलब किया गया। जूनियर हाई स्कूल अखियां में फर्श में टाइल ही नहीं लगी है। बाउंड्री वाल भी नहीं बनी है। जूनियर हाई स्कूल भरतपुर में जानवर घूम रहे थे। प्राइमरी स्कूल भरतपुर बंद मिला। प्राइमरी व जूनियर हाई स्कूल सिंचाई भी बंद मिला। स्टाफ को नोटिस जारी किया गया है।

Thursday, March 5, 2020

शर्मनाक : मिड डे मील में दलित छात्रों से भेदभाव, ARP के रिपोर्ट से मचा हड़कंप

मिड डे मील में दलित छात्रों से भेदभाव, ARP के रिपोर्ट से मचा हड़कंप

Friday, February 14, 2020

बरेली : ट्रांसफर में फर्जीवाड़ा 166 आवेदन निरस्त, अंतर्जनपदीय के लिए 697 शिक्षकों ने किया था आवेदन

Thursday, February 13, 2020

बरेली : बेसिक शिक्षकों की निष्ठा ट्रेनिंग के खाने का मैन्यू बारात के खाने को कर रहा फेल

Sunday, February 9, 2020

स्कूलों को सियासत के रंग से रंगा तो खैर नही, कंपोजिट ग्रांट के साथ शासन से गाइड लाइन जारी

स्कूलों को सियासत के रंग से रंगा तो खैर नही, कंपोजिट ग्रांट के साथ शासन से गाइड लाइन जारी

Wednesday, January 29, 2020

बरेली : बीईओ के चहेते मास्टर के पास 35 लाख की कार तो जांच से इनकार, खंड शिक्षा अधिकारी ने किये जांच से हाथ खड़े

बेसिक शिक्षा विभाग में इन दिनों एक मास्टर साहब की बड़ी चर्चा है। वे 35 लाख रुपये की लग्जरी कार से घूमते हैं। ठाठ देखकर कुछ लोगों ने उनकी आय से अधिक संपत्ति को लेकर शिकायत कर दी। बीएसए ने जांच के लिए एक खंड शिक्षा अधिकारी को नामित कर दिया। मजे की बात तो यह है कि खंड शिक्षा अधिकारी ने जांच से हाथ खड़े कर दिए हैं।


शिक्षक की आय से अधिक संपत्ति की हुई शिकायत तो जांच से ही खड़े कर दिए हाथ

बरेली के हर ब्लॉक में कुछेक शिक्षक खंड शिक्षा अधिकारियों के बेहद करीबी हैं। ये वो शिक्षक हैं, जो कक्षा में पढ़ाने की जगह ब्लॉक में अधिकारियों के सिपाहसालार हैं। वेतन बिल से लेकर निरीक्षण तक के काम इन के ही जिम्मे है। साहब से कोई काम कराना हो तो बिना इन्हें खुश किए नहीं हो सकता है। ऐसे ही एक मास्टर साहब इन दिनों लग्जरी कार से रौला काट रहे हैं। कुछ संगी-साथियों ने बीएसए से शिकायत करते हुए कहा कि 50-60 हजार रुपये पगार वाला आदमी इतनी महंगी कार से कैसे घूम सकता है। शहर में तीन-तीन मकान हैं। कई प्लाट भी खरीद डाले हैं। शिकायत हुई तो जांच भी होनी थी। जांच के लिए एक खंड शिक्षा अधिकारी को नामित किया गया। मगर वो आपसी सम्बंधों की दुहाई देते हुए जांच से इंकार कर रहे हैं।

तो इसलिए कर दिया मना: खंड शिक्षा अधिकारी को जांच मिली तो वो चौंक गए। अपने ही एक साथी बीईओ के चहेते की जांच बड़ा ही टेढ़ा काम लगा। अगर सही से जांच की तो मास्टर का विकेट गिर जाएगा। सही जांच नहीं की तो शिकायत करने वाले उनके ही पीछे पड़ जाएंगे। खंड शिक्षा अधिकारी ने बीच का रास्ता निकालते हुए कह दिया कि अकेले जांच नहीं करेंगे। इसके लिए तीन अधिकारियों की कमेटी बना दी जाए, जिससे जांच के बाद अकेले उनको ही निशाने पर नहीं लिया जाए।

Thursday, January 16, 2020

बरेली : शासन से ऊपर हुए डिप्टी साहब, एनपीआरसी के पद समाप्त होने के बाद भी बना डाले नोडल अधिकारी

बरेली : शासन से ऊपर हुए डिप्टी साहब, एनपीआरसी के पद समाप्त होने के बाद भी बना डाले नोडल अधिकारी

Wednesday, December 25, 2019

बरेली : कक्षा 8 तक के समस्त विद्यालयों में 28 दिसम्बर तक का अवकाश घोषित, आदेश देखें

बरेली : कक्षा 8 तक के समस्त विद्यालयों में 28 दिसम्बर तक का अवकाश घोषित, आदेश देखें

Sunday, December 22, 2019

बरेली : 24 दिसंबर 2019 तक कक्षा-12 तक अवकाश घोषित, आदेश देखें

बरेली : 24 दिसंबर 2019 तक कक्षा-12 तक अवकाश घोषित, आदेश देखें

Tuesday, December 17, 2019

बरेली : 19/12/2019 तक शीतअवकाश घोषित, आदेश देखें

बरेली : 19/12/2019 तक शीतअवकाश घोषित, आदेश देखें

Friday, December 13, 2019

ARP में राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त शिक्षक भी हो गए फेल, फेल अभ्यर्थियों में 10 वर्ष एबीआरसी पद पर तैनात रहे शिक्षक भी शामिल

ARP में राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त शिक्षक भी हो गए फेल, फेल अभ्यर्थियों में 10 वर्ष एबीआरसी पद पर तैनात रहे शिक्षक भी शामिल

Monday, November 11, 2019

अकादमिक रिसोर्स पर्सन के लिए करें आवेदन, बरेली के 15 ब्लॉक में रखे जाएंगे 75 एआरपी


ब्लाक संसाधन केंद्र-नगर संसाधन केंद्र के लिए हिंदी, अंग्रेजी, गणित, विज्ञान और सामाजिक अध्ययन के अकादमिक रिसोर्स पर्सन (एआरपी) पद के चयन को आवेदन मांगे गए हैं। प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलों में कार्यरत शिक्षक-शिक्षिकाएं 20 नवंबर तक आवेदन कर सकते हैं।

एआरपी का चयन लिखित परीक्षा, माडल टीचिंग का प्रदर्शन, साक्षात्कार सीडीओ के अध्यक्षता में बनी कमेटी कराएगी। एआरपी का चयन एक वर्ष के लिए होगा। परफॉर्मेंस अप्रेजल के बाद एक-एक वर्ष के लिए इसे बढ़ाया जाएगा। तीन वर्ष के बाद दुबारा से चयन प्रक्रिया होगी। एआरपी का पदस्थापन जनपद का होगा। बरेली के 15 ब्लॉक में 75 एआरपी रखे जाएंगे। नगर संसाधन केंद्र में भी पांच एआरपी की पोस्टिंग होगी। कम से कम पांच वर्ष के शैक्षिक अनुभव वाले शिक्षक ही इसके लिए आवेदन कर सकेंगे।

Tuesday, November 5, 2019

बरेली : लर्निंग आउटकम पर आधारित परिषदीय विद्यालयों में दिनांक- 08 नवम्बर 2019 की परीक्षा के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण निर्देश जारी, देखें

बरेली : लर्निंग आउटकम पर आधारित परिषदीय विद्यालयों में दिनांक- 08 नवम्बर 2019 की परीक्षा के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण निर्देश जारी, देखें।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, October 29, 2019

बरेली : पहली बार ओएमआर शीट पर परीक्षा देंगे बेसिक के छात्र, 08 नवम्बर को ग्रेडेड लर्निंग आउटकम्स के आधार पर होगी परीक्षा

बरेली : पहली बार ओएमआर शीट पर परीक्षा देंगे बेसिक के छात्र, 08 नवम्बर को ग्रेडेड लर्निंग आउटकम्स के आधार पर होगी परीक्षा।


बेसिक शिक्षा विभाग के छात्र पहली बार ओएमआर शीट से परीक्षा देंगे। ग्रेडड लर्निंग आउटकम्स के आधार पर छात्रों का उपलब्धि स्तर नापने के लिए आठ नंवबर को यह परीक्षा होगी। परीक्षा को बोर्ड परीक्षा की तर्ज पर कराया जाएगा।

परीक्षा में बरेली के लगभग तीन लाख छात्र शामिल होंगे। इसके लिए प्रश्न पत्र निदेशालय ने भेजे हैं। सर्व शिक्षा अभियान के तहत परिषदीय स्कूलों के छात्र-छात्राओं का लर्निंग आउटकम्स के आधार पर मूल्यांकन होने जा रहा है। आठ नवंबर को सुबह साढ़े दस बजे से साढ़े 12 बजे तक यह परीक्षा होनी है। इसके लिए प्रश्न पत्र बेसिक शिक्षा निदेशालय ने तैयार किया है।


परीक्षा ओएमआर शीट के माध्यम से होनी है। प्रश्न पत्र बहुविकल्पीय होगा। इसकाउत्तर ए, बी, सी और डी विकल्पों में होगा। छात्र को सही उत्तर वाले विकल्प को ओएमआर शीट में बने ए, बी, सी और डी गोले को काले या नीले पेन से भरना होगा। परीक्षा को बोर्ड परीक्षा की तर्ज पर कराया जाएगा।

परीक्षा के दिन पर्यवेक्षक, प्रधानाध्यापक और शिक्षकों के सामने प्रश्न पत्र के बंद लिफाफे को खोलेंगे। परीक्षा के बाद प्रश्न पत्र और ओएमआर शीट दोनों ही छात्र को जमा करनी होगी।







 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Wednesday, September 25, 2019

बरेली : बीएसए के बाबुओं ने कमाई अकूत संपत्ति, एंटी करप्शन की जांच में भ्रष्टाचार के दोषी पाए गए आरोपी दोनों बाबू, चार्जशीट दाखिल


शिक्षकों की पोस्टिंग, ट्रांसफर, समायोजन, जांच के नाम पर अवैध वसूली करने वाले बीएसए ऑफिस के दो वरिष्ठ लिपिक एंटी करप्शन की जांच में दोषी पाए गए हैं। उनके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति होने के आरोप साबित हो गए हैं। एंटी करप्शन कोर्ट में दोनों बाबुओं के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी गई है। इसमें एक बाबू सेवानिवृत्त हो चुके हैं।
एसी गाड़ी में तैनाती करने के 10 हजार लेता है एआरएम
एंटी करप्शन बरेली यूनिट के प्रभारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि शासन से बीएसए ऑफिस के वरिष्ठ लिपिक भूपेंद्र पाल सिंह के खिलाफ जांच का आदेश हुआ था। नवंबर 2006 से मार्च 2012 तक के उनके कार्यकाल की जांच की गई। आय से अधिक संपत्ति होने पर उनके खिलाफ थाना बारादरी में 29 दिसंबर 2016 को मुकदमा दर्ज कराया गया था। मुकदमे की विवेचना एंटी करप्शन के इंस्पेक्टर चरन सिंह चौहान ने की। उन्होंने पाया कि वरिष्ठ लिपिक ने इस दौरान आधा दर्जन से ज्यादा प्लॉट खरीदे। इंडिका कार ली। राइफल का लाइसेंस बनवाया। खर्च के मुताबिक आमदनी का ब्योरा मांगने पर वह नहीं दे पाए। उन्हें आय से अधिक संपति अर्जित करने का दोषी पाया गया।
बीएसए ऑफिस के प्रधान सहायक कार्यालय अनोखेलाल की शिकायत पर शासन के आदेश से एक जनवरी 1997 से 31 जुलाई 2000 तक उनके कार्यकाल की जांच की गई। अनोखेलाल ने अपनी आमदनी से 108 फीसदी ज्यादा खर्च किया। उन्होंने तमाम प्लॉट व मकान खरीदे। इंस्पेक्टर सुरेंद्र सिंह की ओर से अनोखेलाल के खिलाफ 2018 में थाना बारादरी में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम में मुकदमा दर्ज कराया गया था।मुकदमे की विवेचना सीनियर इंस्पेक्टर सुरेश दत्त मिश्रा कर रहे थे। इंस्पेक्टर ने प्रॉपर्टी का आकलन करने के बाद उनसे आमदनी का हिसाब मांगा। वह हिसाब नहीं दे पाए। दोनों बाबुओं के खिलाफ एंटी करप्शन ने चार्जशीट कोर्ट भेज दी है।

Tuesday, July 23, 2019

बरेली : 11 से 14 वर्ष की आउट ऑफ स्कूल बालिकाओं का सुसंगत कक्षाओं में प्रवेश कराने संबंधी निर्देश जारी, देखें

बरेली : 11 से 14 वर्ष की आउट ऑफ स्कूल बालिकाओं का सुसंगत कक्षाओं में प्रवेश कराने संबंधी निर्देश जारी, देखें।

बरेली : समस्त कक्षा 8 उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं का प्रवेश कक्षा 9 में प्रवेश की सूचना ट्रांजिशन पोर्टल पर अपडेट कराते हुए विवरण उपलब्ध कराने का निर्देश, देखें

बरेली : समस्त कक्षा 8 उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं का प्रवेश कक्षा 9 में प्रवेश की सूचना ट्रांजिशन पोर्टल पर अपडेट कराते हुए विवरण उपलब्ध कराने का निर्देश, देखें।