DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label बरेली. Show all posts
Showing posts with label बरेली. Show all posts

Wednesday, July 8, 2020

बदल रहा है बेसिक : अब मास्टर साहब बोल रहे, लाइट..कैमरा..एक्शन

अब मास्टर साहब बोल रहे, लाइट..कैमरा..एक्शन

एनसीईआरटी तैयार करवा रहा है जन-जागरूकता वीडियो, स्क्रिप्ट लिखने से लेकर अभिनय तक कर रहे शिक्षक, बरेली से भी दो शिक्षकों का हुआ चयन
है। इसके लिए प्रदेश के कुल 10 शिक्षकों का चयन किया गया है। फतेहगंज ब्लॉक के प्राथमिक स्कूल कुरतरा के सहायक अध्यापक अमर बेसिक के शिक्षक अब सिर्फ पढ़ाने का ही काम नहीं कर रहे। राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद ने जागरूकता वीडियो बनवाने शुरू किए हैं। इनकी स्क्रिप्ट लिखने से अभिनय करने तक का कार्य शिक्षक ही कर रहे हैं। बरेली के दो शिक्षक भी इसमें शामिल हैं। राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद ने सुरक्षा एवं संरक्षा विषय पर वीडियो कुमार द्विवेदी और क्यारा ब्लॉक के प्राथमिक स्कूल चनेहटा की सहायक अध्यापक पुष्पा अरुण का नाम भी इसमें शामिल हैं। पूरे प्रदेश में कुल 140 स्क्रिप्ट लिखी गई। ज्वाईट डायरेक्टर अजय कुमार सिंह ने इनमें से 70 स्क्रिप्ट फाइनल की थी। प्रदेश में 30 वीडियो शूट हो चुके हैं। इनमें से दो बरेली में शूट किए गए हैं। इनमें से एक कोरोना जागरूकता और दूसरा निर्माण शुरू किया 112 ईमरजेंसी नम्बर को लेकर है।
हर जिम्मेदारी निभा रहे हैं शिक्षक
गांव और स्कूल में की है शूटिंग
शिक्षिका पुष्या अरुण ने बताया कि शिक्षक सिर्फ पठन पाटन नहीं बल्कि जागरूकता की जिम्मेदारी भी निभा रहे हैं। स्क्रिप्ट लिखने के साथ हम लोग एक्टिंग भी कर रहे हैं। वीडियो तैयार हो जाने के बाद सभी स्कूलों और विभागों को दे दिए जाएंगे। इनको ज्यादा से ज्यादा प्रसारित किया जाएगा।
शिक्षक अमर कुमार द्विवेदी बताया कि कोरोना,
सड़क सुरक्षा साक्षरता मासिक धर्म, छुआूत, गंदगी, बाल अम, ऑनलाइन ठगी आदि विषयों प्र छोटे-छोटे वीडियो तैयार किए जा रहे हैं। बरेली में दो वीडियो शूट हो चुके हैं। इनकी शूटिंग हमने अपने गांव और स्कूल में ही की है।

Friday, July 3, 2020

फर्जी डिग्री प्रकरण : फैजाबाद- वाराणसी से आई फर्जी सत्यापन रिपोर्ट, फर्जी डिग्री के बाद अब फर्जी सत्यापन रिपोर्ट


बरेली : एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती में गड़बड़ी के तार संपूर्णानंद संस्कृत विवि वाराणसी, आगरा विवि और फैजाबाद विवि से जुड़े हुए हैं। ठगों का गैंग इतना मजबूत है कि इन विवि से विभाग को फर्जी सत्यापन रिपोर्ट तक भिजवा दी गई। जांच के बाद 45 शिक्षकों की सेवा समाप्त की गई। अब भीचार शिक्षकों का सत्यापन नहीं हुआ है। सत्र 2015-16 में माध्यमिक शिक्षा के राजकीय स्कूलों में एलटी ग्रेड शिक्षकों की भर्ती हुई थी। बरेली में 252 पद भरे गए थे। वेतन जारी करने से पहले सत्यापन कराया गया। डा. भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी आगरा, डा. राम मनोहर लोहिया यूनिवर्सिटी फैजाबाद और संपूर्णानंद संस्कृत विवि वाराणसी से जो सत्यापन रिपोर्ट आई वो भी संदिग्ध थी। पड़ताल में पता चला कि सत्यापन रिपोर्ट भी फर्जी है। एक-एक कर 45 शिक्षकों की फर्जी डिग्री पकड़ में आई। इनमें से दर्जन भर की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की मार्कशीट में भी गड़बड़ी मिली थी। वहीं तीन शिक्षक ऐसे मिले जिन्होंने अमान्य बोर्ड की मार्कशीट लगाकर नौकरी पाई थी। इनमें 11 महिलाएं और 34 पुरुष शिक्षक थे। लगभग चार वर्ष बीत जाने के बाद भी अब तक आगरा विश्वविद्यालय और संपूर्णानंद विवि ने दो-दो शिक्षकों की सत्यापन रिपोर्ट नहीं भेजी है। डाक से आई सत्यापन रिपोर्ट पर भरोसा नहीं जेडी डा. प्रदीप कुमार ने बताया कि आगरा विवि और संपूर्णानंद संस्कृत विवि को कई रिमाइंडर दिए जा चुके हैं। अधिकारियों को सत्यापन रिपोर्ट लेने के लिए भेजा गया। विवि उन्हें रिपोर्ट देने में आनाकानी कर रहे हैं। डाक से आई सत्यापन रिपोर्ट पर हमारा भरोसा नहीं है। यह पहले भी फर्जी पाई गई है। 

फर्जी शिक्षकों पर शिकंजा

औरैया में केस दर्ज : फर्जी अभिलेख के जरिए बेसिक शिक्षा विभाग में नौकरी कर रहे छह शिक्षकों के खिलाफ गुरुवार को केस दर्ज हुआ। 

कन्नौज में एक पैन पर तीन शिक्षक: बेसिक शिक्षा विभाग में एक ही पैन कार्ड पर नौकरी करने वाले तीन शिक्षक पकड़े गए हैं। फर्जी शिक्षकों को मिले 4.38 लाख हरदोई बीएसए के निर्देश पर मानदेय का ब्योरा तलब किया गया। फर्जी अभिलेखों के सहारे कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में नौकरी पाने वाली मैनपुरी की फर्जी शिक्षिका अंजलि ने नौकरी के दौरान चार लाख 38 हजार 674 रुपये मानदेय पाए हैं। अंजली के मानदेय का खुलासा हिन्दुस्तान की खबर किया गया है। हिंदुस्तान ने गुरुवार के अंक में खबर प्रकाशित की थी।

Tuesday, June 30, 2020

बरेली :एक ही नाम और दस्तावेजों पर नौकरी करते मिले दो शिक्षक


बरेली :एक ही नाम और दस्तावेजों पर नौकरी करते मिले दो शिक्षक



 बरेली : परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच शुरू हुई तो बरेली में भी सोमवार को एक बड़ा मामला पकड़ा गया। यहां भोजीपुरा ब्लॉक के प्राइमरी स्कूल में जो शिक्षक तैनात है। उसी के नाम, दस्तावेजों के सहारे मुजफ्फरनगर जिले में भी एक शिक्षक प्राइमरी स्कूल में नौकरी कर रहा है। बीएसए ने शिक्षक का वेतन रोकते हुए जांच बैठा दी है। 


लखनऊ स्थित राज्य परियोजना निदेशालय से 192 संदिग्ध शिक्षकों की सूची जारी कर जांच के लिए कहा गया है। इनमें बरेली के भी चार शिक्षकों के नाम शामिल हैं। बीएसए विनय कुमार ने बताया कि इसमें भोजीपुरा ब्लॉक के प्राइमरी स्कूल मुढ़िया चेतराम के प्रधानाध्यापक प्रदीप कुमार सक्सेना का नाम भी शामिल है। वह वर्ष 2005 से यहां कार्यरत है। 



जांच में पता चला कि उन्हीं के नाम, मार्कशीट, जन्म तिथि से लेकन पैनकार्ड पर दूसरा शिक्षक वर्ष 2011 से मुजफ्फरनगर के एक प्राइमरी स्कूल में तैनात है। दोनों शिक्षकों की जो मार्कशीट है, वह भी एक ही स्कूल और कॉलेज की है। सिर्फ घर का पता बदला हुआ है। शिक्षक से पूछताछ की तो उन्होंने खुद को सही बताया।

Thursday, June 25, 2020

करे कोई भरे कोई : ऑपरेशन कायाकल्प के कामों में गड़बड़ी पर हेडमास्टर निलंबित

करे कोई भरे कोई : ऑपरेशन कायाकल्प के कामों में गड़बड़ी पर हेडमास्टर निलंबित। 



बरेली  :   ऑपरेशन कायाकल्प में गड़बड़ी और लापरवाही की हिंदुस्तान की खबरों पर बुधवार को मुहर लग गई। डीएम और एसडीएम के निरीक्षण में लापरवाही पकड़ में आई। डीएम के आदेश पर एक हेड मास्टर को निलंबित कर दिया गया है। बीईओ भुता के साथ चार शिक्षकों को कठोर चेतावनी दी गई है। ऑपरेशन कायाकल्प के तहत स्कूलों में घटिया टाइल्स लगाने, दोयम दर्जे की ईट का इस्तेमाल करने, कम ऊंचाई की बाउंड्री वॉल बनाने जैसी शिकायतें आती रही हैं। बुधवार से इनका सत्यापन शुरू हो गया। खुद डीएम और सीडीओ ने भी भुता ब्लॉक में कई स्कूलों का निरीक्षण किया। 


प्राथमिक विद्यालय गुलाब नगर में ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत रंगाई पुताई भी ठीक से नहीं कराई गई थी। फर्श भी टूटा हुआ मिला। डीएम के निर्देश पर प्राथमिक विद्यालय गुलाब नगर के प्रधानाध्यापक फरियाद अली को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। डीएम ने बीईओ भुता को आरोप पत्र और ग्राम सचिव शेखर गुप्ता को प्रतिकूल प्रविष्टि देने के निर्देश दिए। सफाई कर्मी से भी स्पष्टीकरण प्राप्त करने के निर्देश दिए।



रंगाई-पुताई का काम भी निम्न स्तर का
प्राथमिक स्कूल मझोआ हेतराम के प्रधानाध्यापक सतीश शर्मा, प्राथमिक स्कूल फैज नगर द्वितीय की प्रधानाध्यापिका साधना पांडे, प्राइमरी स्कूल कल्याणपुर नवीन के हेड मास्टर ठाकुरदास और जूनियर हाई स्कूल कल्याणपुर नवीन के इंचार्ज अध्यापक सुरेंद्र सिंह को नोटिस देते हुए तीन दिन में स्पष्टीकरण मांगा गया है। इन स्कूलों में भी ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत कार्य नहीं कराए गए। स्कूलों की रंगाई पुताई, वॉल पेंटिंग आदि का काम भी निम्न स्तर का पाया गया। भुता ब्लॉक के खंड शिक्षा अधिकारी भानु शंकर गंगवार को भी कठोर चेतावनी जारी की गई है। डीएम ने ब्लॉक भुता के एपीओ को अच्छा कार्य करने पर प्रशंसा पत्र निर्गत करने के आदेश जारी किए।



धौलपुर के प्राइमरी स्कूल में न तो टाइल लगी और न ही शौचालय बना
 प्राइमरी स्कूल लालपुर में बीएसए को संतुष्टि पूर्ण कार्य नजर नहीं आया। स्कूल में अभी तक शौचालय नहीं बना था। वॉल पेंटिंग का काम भी नहीं हुआ था। स्कूल से स्पष्टीकरण मांगा गया है। प्राइमरी स्कूल लक्षा में भी बाउंड्री वाल, हैंड वास यूनिट, दिव्यांग बच्चों के लिए शौचालय का निर्माण नहीं कराया गया है। अनुपस्थित स्टाफ से जवाब तलब किया गया। जूनियर हाई स्कूल अखियां में फर्श में टाइल ही नहीं लगी है। बाउंड्री वाल भी नहीं बनी है। जूनियर हाई स्कूल भरतपुर में जानवर घूम रहे थे। प्राइमरी स्कूल भरतपुर बंद मिला। प्राइमरी व जूनियर हाई स्कूल सिंचाई भी बंद मिला। स्टाफ को नोटिस जारी किया गया है।

Thursday, March 5, 2020

शर्मनाक : मिड डे मील में दलित छात्रों से भेदभाव, ARP के रिपोर्ट से मचा हड़कंप

मिड डे मील में दलित छात्रों से भेदभाव, ARP के रिपोर्ट से मचा हड़कंप

Friday, February 14, 2020

बरेली : ट्रांसफर में फर्जीवाड़ा 166 आवेदन निरस्त, अंतर्जनपदीय के लिए 697 शिक्षकों ने किया था आवेदन