DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label बरेली. Show all posts
Showing posts with label बरेली. Show all posts

Friday, February 14, 2020

बरेली : ट्रांसफर में फर्जीवाड़ा 166 आवेदन निरस्त, अंतर्जनपदीय के लिए 697 शिक्षकों ने किया था आवेदन

Thursday, February 13, 2020

बरेली : बेसिक शिक्षकों की निष्ठा ट्रेनिंग के खाने का मैन्यू बारात के खाने को कर रहा फेल

Sunday, February 9, 2020

स्कूलों को सियासत के रंग से रंगा तो खैर नही, कंपोजिट ग्रांट के साथ शासन से गाइड लाइन जारी

स्कूलों को सियासत के रंग से रंगा तो खैर नही, कंपोजिट ग्रांट के साथ शासन से गाइड लाइन जारी

Wednesday, January 29, 2020

बरेली : बीईओ के चहेते मास्टर के पास 35 लाख की कार तो जांच से इनकार, खंड शिक्षा अधिकारी ने किये जांच से हाथ खड़े

बेसिक शिक्षा विभाग में इन दिनों एक मास्टर साहब की बड़ी चर्चा है। वे 35 लाख रुपये की लग्जरी कार से घूमते हैं। ठाठ देखकर कुछ लोगों ने उनकी आय से अधिक संपत्ति को लेकर शिकायत कर दी। बीएसए ने जांच के लिए एक खंड शिक्षा अधिकारी को नामित कर दिया। मजे की बात तो यह है कि खंड शिक्षा अधिकारी ने जांच से हाथ खड़े कर दिए हैं।


शिक्षक की आय से अधिक संपत्ति की हुई शिकायत तो जांच से ही खड़े कर दिए हाथ

बरेली के हर ब्लॉक में कुछेक शिक्षक खंड शिक्षा अधिकारियों के बेहद करीबी हैं। ये वो शिक्षक हैं, जो कक्षा में पढ़ाने की जगह ब्लॉक में अधिकारियों के सिपाहसालार हैं। वेतन बिल से लेकर निरीक्षण तक के काम इन के ही जिम्मे है। साहब से कोई काम कराना हो तो बिना इन्हें खुश किए नहीं हो सकता है। ऐसे ही एक मास्टर साहब इन दिनों लग्जरी कार से रौला काट रहे हैं। कुछ संगी-साथियों ने बीएसए से शिकायत करते हुए कहा कि 50-60 हजार रुपये पगार वाला आदमी इतनी महंगी कार से कैसे घूम सकता है। शहर में तीन-तीन मकान हैं। कई प्लाट भी खरीद डाले हैं। शिकायत हुई तो जांच भी होनी थी। जांच के लिए एक खंड शिक्षा अधिकारी को नामित किया गया। मगर वो आपसी सम्बंधों की दुहाई देते हुए जांच से इंकार कर रहे हैं।

तो इसलिए कर दिया मना: खंड शिक्षा अधिकारी को जांच मिली तो वो चौंक गए। अपने ही एक साथी बीईओ के चहेते की जांच बड़ा ही टेढ़ा काम लगा। अगर सही से जांच की तो मास्टर का विकेट गिर जाएगा। सही जांच नहीं की तो शिकायत करने वाले उनके ही पीछे पड़ जाएंगे। खंड शिक्षा अधिकारी ने बीच का रास्ता निकालते हुए कह दिया कि अकेले जांच नहीं करेंगे। इसके लिए तीन अधिकारियों की कमेटी बना दी जाए, जिससे जांच के बाद अकेले उनको ही निशाने पर नहीं लिया जाए।

Thursday, January 16, 2020

बरेली : शासन से ऊपर हुए डिप्टी साहब, एनपीआरसी के पद समाप्त होने के बाद भी बना डाले नोडल अधिकारी

बरेली : शासन से ऊपर हुए डिप्टी साहब, एनपीआरसी के पद समाप्त होने के बाद भी बना डाले नोडल अधिकारी

Wednesday, December 25, 2019

बरेली : कक्षा 8 तक के समस्त विद्यालयों में 28 दिसम्बर तक का अवकाश घोषित, आदेश देखें

बरेली : कक्षा 8 तक के समस्त विद्यालयों में 28 दिसम्बर तक का अवकाश घोषित, आदेश देखें