DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label मिड डे मील. Show all posts
Showing posts with label मिड डे मील. Show all posts

Wednesday, July 8, 2020

फतेहपुर : लॉकडाउन एवं ग्रीष्मावकाश की अवधि में मध्यान्ह भोजन योजना से आच्छादित विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को मध्यान्ह भोजन की प्रतिपूर्ति के रूप में खाद्यान एवं परिवर्तन लागत उपलब्ध कराए जाने के सम्बन्ध में

लॉकडाउन  एवं ग्रीष्मावकाश की अवधि में मध्यान्ह भोजन योजना से आच्छादित विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को मध्यान्ह भोजन की प्रतिपूर्ति के रूप में खाद्यान एवं परिवर्तन लागत उपलब्ध कराए जाने के सम्बन्ध में।







 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, July 3, 2020

फतेहपुर : विद्यालयों में भेजी गई मिडडे मील की एक करोड़ 84 लाख धनराशि, बच्चों के खाते में जाएगी भेजी

फतेहपुर : विद्यालयों में भेजी गई एक करोड़ 84 लाख धनराशि, मिडडे मील की धनराशि बच्चों के खाते में जाएगी भेजी।

फतेहपुर। परिषदीय स्कूलों के बच्चों को घरों में मध्याह्न भोजन योजना का लाभ देने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। इसके लिए शिक्षा विभाग ने स्कूलों के खाते में एक करोड़ 83 लाख 92 हजार 720 रुपये की धनराशि भेज दी है। जिले के 2650 परिषदीय स्कूल, 122 एडेड स्कूलों के कक्षा एक से आठ तक के बच्चों को दोपहर का भोजन देने का प्रावधान है। यह व्यवस्था 2004 से लागू है। वर्तमान समय में इन स्कूलों के दो लाख 38 हजार बच्चों को योजना का लाभ मिल रहा है। करोना संक्रमण के कारण तीन महीने से स्कूल बंद हैं, जिससे बच्चों को एमडीएम का लाभ नहीं मिल रहा है।




ऐसे में विभाग ने बच्चों के अभिभावकों के बैंक खाते में लागत राशि के साथ कोटेदार के यहां से अनाज आवंटन करने का निर्णय लिया है। इसके लिए स्कूलों में अभिभावकों के बैंक खाते और आधार संकलित करा गए हैं। शिक्षा विभाग ने मांग के अनुरूप स्कूलों को भोजन लागत राशि भी भेज दी है। डीसी एमडीएम आशीष दीक्षित ने बताया कि अभिभावकों के खातों में भेजने के लिए जिन स्कूलों में धनराशि कम पड़ती है, वह अलग से मांगपत्र भेज सकते हैं। जल्द ही अवशेष धनराशि खातों में भेज दी जाएगी।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Saturday, June 27, 2020

फतेहपुर : खाद्यान्न के लिए अभिभावकों को प्रधानाध्यापक जारी करेंगे प्रिंटेड रंगीन प्राधिकार पत्र

फतेहपुर : खाद्यान्न के लिए अभिभावकों को प्रधानाध्यापक जारी करेंगे प्रिंटेड रंगीन प्राधिकार पत्र।

फतेहपुर : कोरोना वायरस को लेकर लॉक डाउन में बंद चल रहे बेसिक शिक्षा विभाग के प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षारत छात्र-छात्राओं को एमडीएम की कनर्वजन कास्ट एवं खाद्यान्न दिया जाना है। इसके लिए विद्यालय स्तर पर सम्बंधित अभिभावकों को एक प्राधिकार पत्र सौंपा जाएगा, जिसके तहत वह कोटेदार के यहां से अनाज एवं बैंक से कनर्वजन कास्ट की धनराशि प्राप्त करसकेंगे। अभिभावकों को रंगीन प्रिंटेड प्राधिकार की कापी शासन द्वारा विभाग को भेजी गई है।





जिसे ब्लाक स्तर पर प्रिंट कराकर विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों को उपलब्ध कराया जाना है। शासन के निर्देश पर बेसिक शिक्षा विभाग नई कवायद में जुट गया है। ब्लाक स्तरपररंगीन प्राधिकारप्रिंट कराए जाने की तैयारी में है। लॉक डाउन एवं ग्रीष्मावकाश के कारण 24 मार्च से लेकर 30 जून तक स्कूल बंद होने के कारण राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के तहत बच्चों को एमडीएम नहीं दिया गया है। इसलिए बढ़ी हुई कन्वर्जन कास्ट को लागू करते हुए छात्र-छात्राओं के अभिभावकों के खातों में दी जाएगी। वहीं इतने ही दिन का खाद्यान्न भी अभिभावकों को दिया जाना है। एमडीएम प्रभारी आशीष दीक्षित ने बताया कि शासन द्वारा जारी रंगीन प्रिंटर प्राधिकार ही अभिभावकों को दिए जाएंगे।


76 दिनों की मिलेगी कनवर्जन कास्ट :  अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार के निर्देश के तहत अवकाश के दिनों को छोड़ कर बंदी के कुल 76 दिन होते हैं। जिसमें प्राथमिक विद्यालय के प्रति छात्र-छात्रा 374 रुपए तथा उच्च प्राथमिक विद्यालय के प्रति छात्र 561 रुपए देय होंगे। बीएसए को निर्देश दिया कि सभी खंड शिक्षाधिकारी छात्र-छात्राओं का डाटा एक्सल सीट पर तैयार कर प्रधानाध्यापक को सौंपेंगे। उसके बाद प्रधानाध्यापक सभी बच्चों के अभिभावकों को बैंक खाता के कागजात एकत्र कर बैंक एडवाइस के साथ सम्बंधित बैंक शाखा में प्रस्तुत करेंगे।

खाद्यान्न के लिए प्रधानाध्यापक बाटेंगे प्राधिकार : बंदी के 76 दिनों का खाद्यान्न बच्चों के अभिभावकों को दिया जाना है। प्राथमिक विद्यालय के प्रति छात्र को 100 ग्राम प्रतिदिन और उच्च प्राथमिक के बच्चे को 150 ग्राम प्रतिदिन के हिसाब से 24 मार्च से 30 जून तक का प्राथमिक के प्रति छात्र 7.60 किग्रा तथा उच्च प्राथमिक के प्रति बच्चे को 11.40 किग्रा अनाज देय होगा। निर्देश दिए गए हैं कि प्रधानाध्यापक बच्चों के अभिभावकों को रंगीन प्रिंट प्राधिकार जारी करें। जिसमें छात्र-छात्रा का पूरा ब्यौरा होगा। प्राधिकार को लेकर ही नामित कोटेदार के यहां से अभिभावक अनाज प्राप्त करेंगे।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, June 16, 2020

फतेहपुर : लॉकडाउन व ग्रीष्मावकाश अवधि का खाद्यान्न व कन्वर्जन कास्ट उपलब्ध कराने हेतु जिलाधिकारी का आदेश

लॉकडाउन व ग्रीष्मावकाश अवधि को सम्मिलित करते हुए एमडीएम से आच्छादित समस्त विद्यालयों के अध्ययनरत छात्र छात्राओं खाद्यान्न व कन्वर्जन कास्ट उपलब्ध कराने के सम्बंध में जिलाधिकारी फतेहपुर का आदेश जारी।










 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, June 11, 2020

कुशीनगर : मिड डे मील की प्रतिपूर्ति के रूप में खाद्यान्न व कन्वर्जन कास्ट उपलब्ध कराने हेतु डीएम कार्यालय द्वारा निर्देश जारी, आदेश व प्रारूप देखें

कुशीनगर : मिड डे मील की प्रतिपूर्ति के रूप में खाद्यान्न व कन्वर्जन कास्ट उपलब्ध कराने हेतु डीएम कार्यालय द्वारा निर्देश जारी, आदेश व प्रारूप देखें।


बेसिक कार्यालय, कुशीनगर द्वारा जारी 5 जून 2020 के आदेश को देखने के लिए क्लिक करें

Monday, June 8, 2020

फतेहपुर : पहली बार सौ प्रतिशत बच्चों को मिलेगा एमडीएम, स्कूल के खाते से अभिभावकों के खाते में जाएगी भोजन की राशि

फतेहपुर : पहली बार सौ प्रतिशत बच्चों को मिलेगा एमडीएम, स्कूल के खाते से अभिभावकों के खाते में जाएगी भोजन की राशि।







फतेहपुर : पहली बार सौ प्रतिशत बच्चों को मिलेगा एमडीएम, स्कूल के खाते से अभिभावकों के खाते में जाएगी भोजन की राशि।


फतेहपुर। पहली बार शत प्रतिशत स्कूली बच्चों को मध्यान्ह भोजन योजना (एमडीएम) का लाभ मिलेगा। अभी तक योजना के तहत 60 से 65 प्रतिशत बच्चों को ही दोपहर में पकाया खाना खिलाने की व्यवस्था थी। मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण ने 25 मार्च से 30 जून तक 76 कार्यदिवसों का खाद्यान और भोजन की लागत राशि स्कूलों में पंजीकृत एक से आठ तक के बच्चों के अभिभावकों को देने की तैयारी की है। स्कूल पर 2,54,000 बच्चों के अभिभावकों के बैंक प्रपत्र एकत्र कराए गए हैं। भोजन लागत राशि भेजने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग ने मध्यान्ह भोजन प्राधिकरण से नौ करोड़ रुपये मांगे हैं।

स्कूलों से ब्यौरा तैयार कर बच्चों के लिए भोजन लागत राशि का मांगपत्र भेजने के निर्देश दिए गए हैं। डीसी एमडीएम आशीष दीक्षित ने बताया कि सभी स्कूलों के मध्यान्ह भोजन निधि के खाते में मांग के अनुरूप बजट भेजा जाएगा। प्रधानाध्यापक अभिभावकों के बैंक खाते के सामने भेजी जाने वाली धनराशि अंकित कर हस्ताक्षर व मुहर के साथ बैंक में जमा करेंगे। बैंक खाते में धनराशि भेजेगा।


स्कूलों में 60 से 65 प्रतिशत बच्चे ही होते थे लाभान्वित

स्कूल खाते से अभिभावक के खाते में जाएगी भोजन की राशि।



 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।