DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label रिजल्ट. Show all posts
Showing posts with label रिजल्ट. Show all posts

Thursday, July 2, 2020

मदरसा बोर्ड रिजल्ट : वार्षिक परीक्षाओं में बालिकाओं ने मारी बाजी, टॉपर छात्र-छात्राओं को मिलेंगे एक लाख रुपए, टैबलेट, मेडल और प्रशस्ति पत्र

मदरसा बोर्ड : वार्षिक परीक्षाओं में बालिकाओं ने मारी बाजी, टॉपर छात्र-छात्राओं को मिलेंगे एक लाख रुपए, टैबलेट, मेडल और प्रशस्ति पत्र।


रिजल्ट

लखनऊ  :: उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद की वर्ष 2020 की वार्षिक परीक्षाओं में बालिकाओं ने बाजी मारी है। इन परीक्षाओं में उत्तीर्ण परीक्षार्थियों में बालिका परीक्षार्थियों की संख्या 55,457 है और पास होने वाली बालिकाओं का प्रतिशत 84.42 है। कल पास होने वाले बालक परीक्षार्थियों की संख्या-60175 है और पास हुए बालकों का प्रतिशत 79.86 रहा है। टॉपर छात्र-छात्राओं को एक लाख रुपये की धनराशि, टैबलेट, मेडल व प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा।





प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने लखनऊ में समाज कल्याण निदेशालय के सभागार में उ.प्र. मदरसा शिक्षा परिषद के शैक्षिक सत्र 2019 20 की वार्षिक परीक्षा के परिणाम घोषित किए। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार श्रेष्ठ शिक्षा और संसाधनों के साथ मदरसों के आधुनिकीकरण के लिए प्रतिबद्ध है। हमारा उद्देश्य है की मदरसा छात्रों को रोजगारपरक और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त हो, जिससे वे राष्ट्र की प्रगति में अपना योगदान सुनिश्चित कर सकें।

उन्होंने कहा कि मदरसा शिक्षा परिषद लखनऊ की वर्ष 2020 की सेकंडरी (मुंशी-मौलवी), सीनियर सेकंडरी (आलिम), कामिल एवं फाजिल की परीक्षा में उत्तीर्ण होने प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त मेधावी छात्र-छात्राओं को एक लाख रुपये की राशि के चेक, टैबलेट, मेडल एवं प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया जाएगा। इस सम्मान राशि का व्यय अरबी-फारसी मदरसा विकास निधि से किया जाएगा। सेकंडरी और सीनियर सेकंडरी के गणित एवं विज्ञान विषय में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को 51,000 रुपये का चेक, एक टैबलेट, मॉडल एवं प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। मदरसा शिक्षा परिषद लखनऊ की सेकंडरी (मुंशी-मौलवी) सीनियर सेकंडरी (आलिम), कामिल व फाजिल की वर्ष 2020 की बोर्ड परीक्षाएं इस वर्ष 25 फरवरी से शुरू होकर पांच मार्च तक प्रदेश के 552 परीक्षा केन्द्रों में हुई थीं।

प्रमुख बातें : परीक्षार्थियों में कुल 1,38,241 छात्र-छात्राएं संस्थागत तथा 44,017 छात्र-छात्राएं व्यक्तिगत परीक्षार्थी के रूप में सम्मिलित हुए। परीक्षा वर्ष में कुल सम्मिलित परीक्षार्थियों ( 1,82,259) में कुल 41,207 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। कुल 1,15,650 परीक्षार्थी उत्तीर्ण तथा कुल 25,402 परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए।

उत्तीर्ण परीक्षार्थियों का कुल प्रतिशत 81.99

टॉपर छात्र-छात्राओं को एक लाख रुपये मिलेंगे, प्रोत्साहन के लिए टैबलेट, मेडल और प्रशस्ति पत्र मिलेगा।


01 लाख 82 हजार 259 परीक्षार्थी मदरसा वार्षिक परीक्षा में सम्मिलित हुए

97 हजार 348 छात्र तथा 84 हजार 911 छात्राएं शामिल हुए





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Sunday, June 28, 2020

यूपी बोर्ड : प्रदेशभर के 134 स्कूलों का परिणाम रहा जीरो

यूपी बोर्ड : प्रदेशभर के 134 स्कूलों का परिणाम रहा जीरो।


प्रयागराज : यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा में 134 स्कूलों का परिणाम शून्य है। इनमें हाईस्कूल के 87 और इंटर के 47 स्कूल शामिल हैं। पिछले तीन सालों की तुलना में इस बार शून्य रिजल्ट देने वाले स्कूलों की संख्या में कमी हुई है। 2019 में 165, 2018 में 150 और 2017 में 183 स्कूलों काएक भी छात्र परीक्षा पास नहीं कर सका था। इन आंकड़ों से सरकारी और सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों की बदहाली भी सामने आई है। शून्य रिजल्ट देने वाले 134 स्कूलों में से कई राजकीय और एडेड स्कूल हैं। दुःखद पक्ष यह है कि कई स्कूलों में बच्चों की संख्या 10 से भी कम है।




 बोर्ड मुख्यालय में ही कई स्कूलों का परिणाम शून्य :  जिस जिले में यूपी बोर्ड का मुख्यालय है उसके स्कूलों का परिणाम ही बहुत उत्साहजनक नहीं रहा है। हाईस्कूल में तीन स्कूल ऐसे हैं जिनका एक भी छात्र पास नहीं हुआ। रामसेवक इंटर कॉलेज मेजा, राजनीति यादव हायर सेकेंडरी स्कूल और एलपी सिंह उच्चतर माध्यमिक विद्यालय करछना का परिणाम शून्य है। इंटर में चार स्कूलों का रिजल्ट जीरो है। एएम गर्ल्स इंटर कॉलेज निहालपुर करेली, टीएसएस गर्ल्स इंटर कॉलेज अल्लापुर, कस्तूरबा ब्यॉयज हायर सेकेंडरी इंटर कॉलेज भगवानपुर और श्री आरएपी इंटर कॉलेज जगदीशपुर का रिजल्ट जीरो है।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Saturday, June 27, 2020

फैसला : CBSE के 10वीं व 12वीं के परीक्षा परिणाम 15 जुलाई को आएंगे

फैसला : CBSE के 10वीं व 12वीं के परीक्षा परिणाम 15 जुलाई को आएंगे।


नई दिल्ली : सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड दसवीं-12 वीं की परीक्षाएं नहीं करवाया, अब उन परीक्षाओं की जगह छात्रों का आंतरिक मूल्यांकन होगा जिसका रिजल्ट 15 जुलाई को आ जाएगा। केंद्रीय शिक्षा बोर्ड ने शुक्रवार को शीर्ष न्यायालय में सुनवाई के दौरान यह जानकारी दी। उच्चतम न्यायालय ने सीबीएसई का यह आग्रह स्वीकार कर लिया सभी याचिकाओं का निस्तारण करदिया, जिनमें जुलाई में ली जाने वाली परीक्षाओं को रद कराने की मांग की गई थी।




कक्षा 10 की कोई परीक्षा नहीं होगी : बोर्ड ने कहा है कि कक्षा दस के लिय आगे कोई परीक्षा नहीं होगी। आंतरिक मूल्यांकन योजना के तहत उनका रिजल्ट बनाया जाएगा।

12वीं के लिए परीक्षा वैकल्पिक : कक्षा 12 के बारे में शिक्षा बोर्ड ने फैसला किया है कि जिन छात्रों ने सभी परीक्षा दे दी है उनका रिजल्ट परीक्षा के आधार पर तैयार किया जाएगा। लेकिन ऐसे विषय जिनकी परीक्षा 1 से 15 जुलाई तक होनी थीं सीबीएसई उनके लिए वैकल्पिक परीक्षा की व्यवस्था करेगा लेकिन ये तभी होगा जब माहौल सही होगा।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, June 26, 2020

यूपी बोर्ड देगा इम्प्रूवमेंट का विकल्प, अंक से खुश नहीं होने पर छात्र कर सकते हैं आवेदन

यूपी बोर्ड देगा इम्प्रूवमेंट का विकल्प, अंक से खुश नहीं होने पर कर सकते हैं आवेदन

UP Board 10th 12th Improvement Exam 2020 यूपी बोर्ड कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए बोर्ड परीक्षा के परिणाम के बाद इम्प्रूवमेंट परीक्षा में शामिल होने का अवसर देता है।

यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं परीक्षा के परिणाम कल, यानी कि 27 जून 2020 को घोषित हो जाएंगे। वहीं अक्सर परिणाम घोषणा के बाद कई छात्रों की यह समस्या होती है कि उन्होंने किसी विषय में कम अंक हासिल किए हैं तो कोई किसी विषय में फेल हो गए हैं। ऐसी परिस्थिति में छात्रों को निराश और परेशान होने की जरूरत नहीं है। क्योंकि, यूपी बोर्ड द्वारा छात्रों को फिर से एक मौका दिया जाता है, जिसके अंतर्गत वे उन विषयों में अच्छे अंक दोबारा हासिल कर सकते हैं। यूपी बोर्ड कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए बोर्ड परीक्षा के परिणाम के बाद इम्प्रूवमेंट और कम्पार्टमेंट के परीक्षा में शामिल होने का अवसर देता है। इस माध्यम से छात्रों को एक और मौका दिया जाता है। आमतौर इसके लिए वार्षिक परीक्षा के परिणाम के एक से दो सप्ताह बाद आवेदन लिए जाते हैं। लेकिन इस वर्ष कोरोना वायरस महामारी के कारण इम्प्रूवमेंट परीक्षा के आयोजन में देरी हो सकती है।




बता दें कि यूपी बोर्ड इम्प्रूवमेंट/कम्पार्टमेंट परीक्षा 2019 के लिए 16,333 परीक्षार्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। जिसमें से 14,629 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे। इम्प्रूवमेंट/कम्पार्टमेंट परीक्षा 2019 में 14,607 परीक्षार्थियों ने सफलता हासिल की थी। वहीं पास प्रतिशत के हिसाब से 99.85 प्रतिशत परीक्षार्थियों ने यूपी बोर्ड इम्प्रूवमेंट/कम्पार्टमेंट परीक्षा 2019 में सफलता हासिल किया है। वहीं वर्ष 2019, यूपी बोर्ड हाईस्कूल, यानी 10वीं की वार्षिक परीक्षा में लगभग 32 लाख परीक्षार्थी शामिल हुए थे। जबकि इंटरमीडिएट (12वीं) की वार्षिक परीक्षा में लगभग 26 लाख परीक्षार्थियों ने हिस्सा लिया था।


जो छात्र 10वीं और 12वीं कक्षा के इम्प्रूवमेंट/कम्पार्टमेंट परीक्षा 2020 में हिस्सा लेंगे, वे upmsp.edu.in पर विजिट कर अपना मार्क्स डाउनलोड कर सकते हैं। बता दें कि इम्प्रूवमेंट परीक्षा उन परीक्षार्थियों के लिए आयोजित की जाती है, जो यूपी बोर्ड की वार्षिक परीक्षा में पहले प्रयास में सफलता हासिल नहीं कर पाते हैं।

UP Board 10th, 12th Improvement result 2020: ऐसे डाउनलोड कर सकते हैं मार्क्स

UP Board Result 2020 : रिजल्ट में फेल होकर भी उत्तीर्ण हो सकेंगे हजारों परीक्षार्थी, जानें कैसे...


यूपी बोर्ड इम्प्रूवमेंट परीक्षा 2020 का परिणाम जारी होने के बाद उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद् की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करें। ऑफिशियल वेबसाइट upmsp.edu.in है। होमपेज पर कम्पार्टमेंट/इम्प्रूवमेंट एग्जामिनेशन रिजल्ट 2020 के लिंक पर क्लिक करें। अब एक नया पेज खुलेगा। यहां परीक्षार्थी अपनी कक्षा का चुनाव करें। अब अपने सात अंकों के रोल नंबर के जरिये सबमिट करें। आपका रिजल्ट/मार्कशीट स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगा। मार्कशीट को डाउनलोड करें और उसका प्रिंट निकाल कर सुरक्षित रख लें।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, June 25, 2020

कोरोना काल में रिजल्ट देने में यूपी बोर्ड सबसे आगे, CBSE और CISCE नहीं करा सके पेपर

कोरोना काल में रिजल्ट देने में यूपी बोर्ड सबसे आगे, CBSE और CISCE नहीं करा सके पेपर।


प्रयागराज : कोरोना काल में 10वीं- 12वीं का रिजल्ट देने में यूपी बोर्ड आगे है। सीबीएसई और सीआईएससीई जैसे बड़े बोर्ड जहां अपनी पूरी परीक्षा तक नहीं करा सके हैं, वहीं यूपी बोर्ड 27 जून को हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के 50 लाख से अधिक छात्र छात्राओं का परिणाम घोषित करने जा रहा है। बोर्ड की 10वीं एवं 12वीं की परीक्षाएं कोरोना का संक्रमण फैलने से पहले क्रमशः 3 और 6 मार्च को समाप्त हो गई थी। कॉपी जांचने का काम 16 मार्च को शुरू हुआ था लेकिन कोरोना के कारण 18 मार्च से टालना पड़ा था। उसके बाद 5 मई से ग्रीन जोन और 12 मई से ऑरेंज जोन में मूल्यांकन शुरू होकर जून के पहले सप्ताह तक सभी जिलों में कॉपियां जांचने का काम पूरा हो गया। समय से रिजल्ट देने के लिए पहली बार यूपी बोर्ड ने अलग से पोर्टल बनाकर छात्र-छात्राओं के प्रैक्टिकल एवं लिखित परीक्षा समेत अन्य सूचनाओं को अपडेट किया। इससे एक तो बोर्ड के अधिकारियों और कर्मचारियों को रिजल्ट तैयार करने के लिए दूसरे राज्य नहीं जाना पड़ा और समय के अंदर रिजल्ट भी तैयार हो गया। वैसे तो एक अप्रैल से ही 2020 21 सत्र शुरू हो चुका है लेकिन कोरोना के कारण स्कूलों के खुलने की स्थिति नहीं बन सकी है। तकनीक का भरपूर उपयोग करते हुए इस बार बोर्ड रिजल्ट घोषित होने के बाद सचिव नीना श्रीवास्तव के डिजिटल हस्ताक्षर से मार्कशीट उपलब्ध कराने जा रहा है ताकि उन्हें अंकपत्र सह प्रमाणपत्र मिलने में देरी से आगे प्रवेश आदि में परेशानी न हो। कुछ बोर्ड घोषित कर चुके हैं परिणाम प्रयागराज। यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का परिणाम 27 जून को घोषित होगा। बोर्ड परीक्षा में शामिल 50 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं को अपने रिजल्ट का बेसब्री से इंतजार है। ऐसा इसलिए भी है क्योंकि लॉकडाउन के कारण परिणाम पिछले साल की तुलना में एक महीने देरी से घोषित हो रहा है।





क्या है मॉडरेशन, छात्रों को क्या लाभ।


प्रयागराज : मॉडरेशन में 10वीं-12वीं की परीक्षा कराने वाले बोर्ड सभी बच्चों को विषय विशेष में अतिरिक्त नंबर देते हैं। उदाहरण के लिए मान लीजिए 12वीं साइंस के छात्रों ने गणित, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, हिन्दी और अंग्रेजी की परीक्षा दी। चार विषयों में तो सभी बच्चों को बहुत अच्छे नंबर मिले लेकिन अधिकतर छात्रों को अंग्रेजी में औसत से भी कम अंक मिले तो बोर्ड के जिम्मेदार लोग एक फार्मूला को आधार मानते हुए उस विषय में सभी छात्रों को अतिरिक्त नंबर देते हैं।



 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, June 18, 2020

यूपी बोर्ड : 27 जून को घोषित होगा 10वीं व 12वीं परीक्षा का रिजल्ट- डिप्टी सीएम

यूपी बोर्ड : 27 जून को जारी होगा 10वीं- 12वीं का परिणाम।


प्रयागराज। यूपी बोर्ड की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट परीक्षा 2020 का परिणाम यूपी बोर्ड 27 जून को बोर्ड मुख्यालय से दोपहर 12.30 बजे जारी किया जाएगा। यूपी बोर्ड परीक्षा में इस बार 50 लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल हुए हैं। यूपी बोर्ड के परीक्षार्थी बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट results.nic.in upre एवं upmsp.edu.in पर परिणाम चेक कर सकेंगे। परीक्षा परिणाम में गलती से बचने के लिए यूपी बोर्ड की ओर से एडवांस तकनीक का उपयोग किया जा रहा है। नौ एवं दस जून को छूटी प्रयोगात्मक परीक्षाएं पूरी करने के बाद अब बोर्ड रिजल्ट को अंतिम रूप देने में लगा है। बोर्ड दूसरे राज्यों की उन फर्मों को जो रिजल्ट तैयार कर रही हैं, उन्हें परीक्षार्थियों के अंक सहित अन्य सूचनाएं भेजने के लिए पोर्टल का सहारा लिया जा रहा है। सब कुछ बोर्ड कार्यालय में बैठकर कर्मचारी ऑनलाइन कर रहे हैं। पूरा रिजल्ट ऑनलाइन तैयार हो रहा है।


.........


यूपी बोर्ड : 27 जून को घोषित होगा 10वीं व 12वीं परीक्षा का रिजल्ट- डिप्टी सीएम।


यूपी बोर्ड : 27 को आएगा 10वीं, 12वीं परीक्षा का रिजल्ट


लखनऊ : डिप्टी सीएम डॉ़ दिनेश शर्मा ने शनिवार को बताया कि यूपी माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की कक्षा 10 और 12 का परीक्षा परिणाम 27 जून को घोषित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन का काम पूरा हो गया है।





यूपी बोर्ड की परीक्षाएं 18 फरवरी से शुरू हो गई थीं। 16 मार्च से कॉपियों का मूल्यांकन भी शुरू हो गया था, लेकिन लॉकडाउन की वजह से मूल्यांकन का काम स्थगित करना पड़ा। दोनों कक्षाओं में कुल 3,09,61,577 कॉपियों का मूल्यांकन किया गया है। बोर्ड परीक्षाओं में 10वीं के लिए 30,24,632 ने, जबकि 12वीं के लिए 25,86,440 स्टूडेंट्स ने पंजीकरण करवाया था।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।