DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label विकलांग. Show all posts
Showing posts with label विकलांग. Show all posts

Thursday, May 10, 2018

हाथरस : 12460 सहायक अध्यापक भर्ती प्रक्रिया के अन्तर्गत चयनित 16 दिव्यांग अभ्यर्थियों के दिव्यांग प्रमाण पत्र का भौतिक सत्यापन 11 मई के स्थान पर 16 मई को होने सम्बन्धी विज्ञप्ति जारी, देखें

हाथरस : 12460 सहायक अध्यापक भर्ती प्रक्रिया के अन्तर्गत चयनित 16 दिव्यांग अभ्यर्थियों के दिव्यांग प्रमाण पत्र का भौतिक सत्यापन 11 मई के स्थान पर 16 मई को होने सम्बन्धी विज्ञप्ति जारी, देखें

Monday, March 19, 2018

सुलतानपुर : मा0 उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुपालन में विकलांग अभ्यर्थियों की मेडिकल बोर्ड से जांच कराए जाने हेतु आदेश एवं सम्बन्धित शिक्षकों की सूची जारी, देखें

सुलतानपुर : मा0 उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुपालन में विकलांग अभ्यर्थियों की मेडिकल बोर्ड से जांच कराए जाने हेतु आदेश एवं सम्बन्धित शिक्षकों की सूची जारी, देखें

Monday, March 5, 2018

फतेहपुर : मा0 उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुपालन में विकलांग अभ्यर्थियों की मेडिकल बोर्ड से जांच कराए जाने हेतु आदेश एवं सम्बन्धित शिक्षकों की सूची जारी, देखें

फतेहपुर : मा0 उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुपालन में विकलांग अभ्यर्थियों की मेडिकल बोर्ड से जांच कराए जाने हेतु आदेश एवं सम्बन्धित शिक्षकों की सूची जारी, देखें



कौशाम्बी : कई शिक्षकों का किया जाएगा दोबारा मेडिकल, फर्जी विकलांगता प्रमाणपत्र से शिक्षक बनने के शक में कई आये निशाने पर

कौशाम्बी : कई शिक्षकों का किया जाएगा दोबारा मेडिकल, फर्जी विकलांगता प्रमाणपत्र से शिक्षक बनने के शक में कई आये निशाने पर


 कौशांबी : परिषदीय विद्यालयों में फर्जी डिग्री के आधार पर नौकरी करने वालों की जांच अभी पूरी भी नहीं हुई कि एक नया मामला सामने आ गया है। जिले में फर्जी दिव्यांग प्रमाण लगाकर भी कई लोग शिक्षक बन गए हैं। अब ऐसे लोगों की भी जांच शुरू हो गई है। बेसिक शिक्षा अधिकारी की ओर से ऐसे आधा दर्जन शिक्षकों को नोटिस भेजी गई है। सभी का दोबारा मेडिकल परीक्षण कराया जाएगा। जांच में पूर्व के प्रमाण पत्र के आधार पर दिव्यांगता नहीं मिली तो नौकरी से बर्खास्त किए जाएंगे। 



31 मार्च 2018 तक बलरामपुर चिकित्सालय लखनऊ में कराएं जांच : विशिष्ट बीटीसी 2007 व 2008 और विशेष चयन 2008 में दिव्यांग प्रमाण पत्र के आधार पर करीब 1005 शिक्षक प्रदेश भर में नौकरी कर रहे हैं। जिले के आठ शिक्षक भी इस सूची में शामिल हैं। ऐसे शिक्षकों पर फर्जी प्रमाण पत्र से नौकरी पाने का आरोप लगा है। यह मामला हाईकोर्ट तक गया। ऐसे में हाईकोर्ट ने दिव्यांग कोटे से शिक्षकों बनने वालों की दोबारा जांच का निर्देश दिया था। यह जांच नव गठित मेडिकल बोर्ड करेगी। दिव्यांग कोटे से शिक्षक बनने वाले आठ लोगों को बीएसए ने नोटिस भेजा है। 



■ जांच नहीं कराने पर होगी कार्रवाई : दो फरवरी से 31 मार्च 2018 के मध्य बलरामपुर चिकित्सालय लखनऊ में मूल प्रमाण पत्र के साथ मेडिकल परीक्षण कराएं। समय से बोर्ड के सामने उपस्थित होकर जांच नहीं कराते हैं तो अनुशासनहीनता मानते हुए कार्रवाई होगी। मेडिकल में विकलांगता नहीं दिखती है तो उनके प्रमाणपत्र फर्जी मानते हुए बर्खास्त कर दिया जाएगा।दिव्यांग प्रमाणपत्र के आधार पर नौकरी कर रहे शिक्षक बोर्ड के सामने पहुंचकर अपनी जांच कराएं। यदि कोई शिक्षक ऐसा नहीं करता तो उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई होगी। वहीं जांच रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी।- एमआर स्वामी, बीएसए कौशांबी।


Thursday, March 1, 2018

सीबीएसई : दिव्यांग व बीमार छात्रों को अब बोर्ड परीक्षा में लैपटॉप की छूट, लेनी होगी पूर्व अनुमति

 दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षा में बैठने वाले दिव्यांग बच्चोंको अब कंप्यूटर या लैपटॉप का इस्तेमाल करने की इजाजत दी जाएगी। ताकि वह निर्बाध रूप से अपने उत्तर लिख सकें। लेकिन इसके लिए सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन () से पूर्व अनुमति लेनी होगी। 


एक अधिकारी ने बुधवार को बताया कि इसके बीमार या किसी भी रूप में परीक्षा देने में असमर्थ परीक्षार्थियों को एक पंजीकृत चिकित्सक या किसी मनोवैज्ञानिक से एक सर्टीफिकेट जारी कराना होगा। इसमें कुछ ठोस आधार पर कंप्यूटर का इस्तेमाल करने की सिफारिश की गई होगी। परीक्षा समिति ने हाल की एक बैठक में यह फैसला लिया है। इस साल से विशेष जरूरतों वाले परीक्षार्थियों को यह अतिरिक्त रियायत दी जाएगी। 


आदेश में कहा गया है कि कंप्यूटर का इस्तेमाल सीमित रूप से केवल सवालों का जवाब देने के लिए किया जा सकता है। बड़े फांट साइज में सवाल को देखने या फिर सवाल को कंप्यूटर पर सुनने की भी इजाजत होगी। संबंधित परीक्षार्थी को परीक्षा में अपना कंप्यूटर या लैपटॉप खुद ही लाना होगा। यह कंप्यूटर परीक्षा के लिए पहले से फार्मेट किया गया होगा।

असमर्थ परीक्षार्थियों को पंजीकृत चिकित्सक या किसी मनोवैज्ञानिक से एक सर्टीफिकेट जारी कराना होगासंबंधित परीक्षार्थी को परीक्षा में अपना कंप्यूटर या लैपटॉप पहले से फार्मेट कराकर लाना होगा नीट में उम्र सीमा तय करनेवाली की अधिसूचनापर हाईकोर्ट की रोक

Friday, February 23, 2018

महोबा : विकलांग शिक्षकों को विकलांगता प्रमाण पत्र सहित मेडिकल बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत होने सम्बन्धी बीएसए का आदेश जारी, सम्बन्धित शिक्षकों की सूची सह आदेश देखें

महोबा : विकलांग शिक्षकों को विकलांगता प्रमाण पत्र सहित मेडिकल बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत होने सम्बन्धी बीएसए का आदेश जारी, सम्बन्धित शिक्षकों की सूची सह आदेश देखें


फतेहपुर : विकलांग शिक्षकों को विकलांगता प्रमाण पत्र सहित मेडिकल बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत होने सम्बन्धी बीएसए का आदेश जारी, सम्बन्धित शिक्षकों की सूची सह आदेश देखें

फतेहपुर : विकलांग शिक्षकों को विकलांगता प्रमाण पत्र सहित मेडिकल बोर्ड के समक्ष प्रस्तुत होने सम्बन्धी बीएसए का आदेश जारी, सम्बन्धित शिक्षकों की सूची सह आदेश देखें


Wednesday, February 7, 2018

गोरखपुर : बीएसए ने 8 फरवरी को एक्सीलरेटेड लर्निंग कैम्प के शिविर में दृष्टि दिव्यांग बच्चों की उपस्थिति सुनिश्चित करने का सभी परिभ्रामी अध्यापकों को किया निर्देशित

गोरखपुर : बीएसए ने 8 फरवरी को एक्सीलरेटेड लर्निंग कैम्प के शिविर में दृष्टि दिव्यांग बच्चों की उपस्थिति सुनिश्चित करने का सभी परिभ्रामी अध्यापकों को किया निर्देशित।

Monday, January 29, 2018

महराजगंज : सदर बीआरसी पर आज 7 ब्लॉकों के 169 तथा कल बृजमनगंज बीआरसी पर 5 ब्लॉकों के 106 दिव्यांग बच्चों को वितरित होंगे कृत्रिम उपकरण

महराजगंज : समेकित शिक्षा के देखरेख में ब्लाक संसाधन केंद्र सदर में सोमवार को सात ब्लाकों के 169 बच्चों को कृत्रिम उपकरण वितरित किया जाएगा। उपकरण वितरण से संबंधी सभी तैयारी को पूरा कर लिया गया है। दिव्यांग बच्चों के जीवन में मुश्किलें अधिक हैं। दिव्यांगता की स्थिति में न सिर्फ वह बल्कि परिवार के अन्य लोगों की भी परेशानी बढ़ जाती है। दिव्यांग होने के कारण उसे बुनियादी सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पाता। इसे देखते हुए बेसिक शिक्षा विभाग ने समेकित शिक्षा के देखरेख में शिविर के माध्यम से जिले भर के 275 दिव्यांग बच्चों को उपकरण दिए जाने के लिए पात्र पाया गया था। समेकित शिक्षा के जिला समन्वयक के के सिंह ने बताया कि सदर ब्लाक संसाधन केंद्र में पनियरा, परतावल, सिसवा, निचलौल, मिठौरा, घुघली व सदर ब्लाक के कुल 169 बच्चों को सदर बीआरसी में उपकरण वितरित होगा, वहीं बृजमनगंज ब्लाक संसाधन केंद्र में मंगलवार को लक्ष्मीपुर, नौतनवा, फरेंदा, धानी व बृजमनगंज ब्लाक से पात्र मिले कुल 106 बच्चों को उपकरण वितरित किया जाएगा।


Sunday, January 28, 2018

एटा : 2007/2008 में चयनित विकलांग शिक्षकों जांच हेतु विज्ञप्ति जारी, जांच हेतु स्थान/तिथि, एवं अभ्यर्थियों का विवरण देखें


2007/2008 में चयनित विकलांग शिक्षकों जांच हेतु विज्ञप्ति जारी, जांच हेतु स्थान/तिथि, एवं अभ्यर्थियों का विवरण देखें 

Thursday, January 18, 2018

महराजगंज : एलिम्को कानपुर द्वारा जिले के 275 दिव्यांग बच्चों को वितरित होंगे कृत्रिम उपकरण, वितरण तिथि तथा स्थान का हुआ निर्धारण

महराजगंज : समेकित शिक्षा के देखरेख में ब्लाक संसाधन केंद्र सदर व बृजमनगंज में एलिम्को कानपुर द्वारा जिले के कुल 275 दिव्यांग बच्चों को कृत्रिम उपकरण वितरित किया जाएगा। बेसिक शिक्षा विभाग ने समेकित शिक्षा के देखरेख में शिविर लगवा कर ऐसे बच्चों की जांच कराते हुए इलाज की सुविधा मुहैया कराने की व्यवस्था की है। जांच में जिले भर के 275 दिव्यांग बच्चों को उपकरण दिए जाने के लिए पात्र पाया गया है। उन्हें जिले के दो बीआरसी पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम के माध्यम से उपकरण प्रदान किए जाएंगे।

29 को सदर व 30 को बृजमनगंज में बंटेगा उपकरण : सदर ब्लाक संसाधन केंद्र में पनियरा, परतावल, सिसवा, निचलौल, मिठौरा, घुघली व सदर ब्लाक के कुल 169 बच्चे उपकरण के लिए पात्र पाए गए थे, जिन्हें सदर बीआरसी में 29 जनवरी को उपकरण वितरित होगा। वहीं बृजमनगंज ब्लाक संसाधन केंद्र में लक्ष्मीपुर, नौतनवा, फरेंदा, धानी व बृजमनगंज ब्लाक से पात्र मिले कुल 106 बच्चों को 30 जनवरी को उपकरण वितरित किया जाएगा।

 उपकरण मिलने से बच्चों को मिलेगी राहत : बीएसए
 जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश प्रसाद शुक्ल ने बताया कि दिव्यांग बच्चों के जीवन में काफी समस्याएं हैं। उन्हें उपकरण दिला कर राहत प्रदान करने की दिशा में कदम उठाया जा रहा है।


Sunday, January 7, 2018

आगरा : 16448 शिक्षक भर्ती के अंतर्गत विशेष आरक्षण के अभ्यर्थी उपलब्ध न होने पर उन पदों को अन्य उपलब्ध अभ्यर्थियों से भरे जाने हेतु विज्ञप्ति जारी, कटऑफ सह विज्ञप्ति देखें

आगरा : 16448 शिक्षक भर्ती के अंतर्गत विशेष आरक्षण के  अभ्यर्थी उपलब्ध न होने पर उन पदों को अन्य उपलब्ध अभ्यर्थियों से भरे जाने हेतु विज्ञप्ति जारी, कटऑफ सह विज्ञप्ति देखें

Monday, December 4, 2017

महराजगंज : विश्व दिव्यांगता दिवस पर एक्सीलरेटेड लर्निंग कैम्प में दिव्यांग बच्चों ने प्रस्तुत किया सांस्कृतिक कार्यक्रम, डायट प्राचार्य ने पुरस्कार देकर बच्चों का बढ़ाया हौसला

महराजगंज : विश्व दिव्यांगता दिवस पर एक्सीलरेटेड लर्निंग कैम्प में दिव्यांग बच्चों ने प्रस्तुत किया सांस्कृतिक कार्यक्रम, डायट प्राचार्य ने पुरस्कार देकर बच्चों का बढ़ाया हौसला।

Thursday, November 30, 2017

शोध व आधारभूत संरचना के विकास को मिलेंगे 2000 करोड़, निशक्त बच्चों की जरूरतों पर बनेगी कार्ययोजना


निशक्त बच्चों की जरूरतों को समझते हुए स्कूलों में उनके अनुकूल माहौल बनाने तथा उन्हें शिक्षा का समान एवं समावेशी अवसर प्रदान करने के लिये मानव संसाधन विकास मंत्रालय शिक्षा से जुड़े विभिन्न घटकों के साथ विचार-विमर्श करने जा रही है ताकि ऐसे बच्चों की मदद के लिये कार्य योजना तैयार की जा सके। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि निशक्त बच्चों पर विशेष ध्यान दिये जाने की जरूरत होती है। ऐसे में इनसे जुड़े विभिन्न विषयों पर र्चचा के लिये मंत्रालय 1 दिसंबर को कार्यशाला का आयोजन कर रहा है। उन्होंने कहा कि इस कार्यशाला में शिक्षा से जुड़े विभिन्न पक्षकार हिस्सा लेंगे ताकि ऐसे बच्चों की मदद के लिये रणनीति और कार्य योजना तैयार की जा सके।



■ हेफा की तरफ से दिया जा रहा यह ऋण ब्याज मुक्त होगा
■ पांच आईआईटी समेत छह संस्थानों को मिलेगा यह ऋण



मानव संसाधन विकास मंत्रालय के तहत उच्च शिक्षा वित्त पोषण एजेंसी (हेफा) ने पांच आईआईटी समेत छह संस्थानों को शोध एवं आधारभूत संरचनाओं के विकास के लिए 2000 करोड़ रुपये का ब्याज मुक्त ऋण प्रदान करने का निर्णय किया है। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने अपने ट्वीट में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, मुझे यह सूचित करते हुए प्रसन्नता हो रही है कि उच्च शिक्षा वित्त पोषण एजेंसी (हेफा) छह संस्थाओं के लिए ब्याज मुक्त ऋण के रूप में 2000 करोड़ रुपये मंजूर कर रही है। 



यह धनराशि इन छह संस्थाओं में शोध, अकादमिक विकास एवं आधारभूत संरचनाओं से जुड़ी परियोजनाओं से संबंधित होगी। इन छह संस्थाओं में आईआईटी कानपुर, आईआईटी दिल्ली, आईआईटी बंबई, आईआईटी मद्रास, आईआईटी खड़गपुर और एनआईटी कर्नाटक में कम्प्यूटर विज्ञान विभाग शामिल है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 12 सितंबर 2016 को प्रमुख शैक्षिक संस्थानों में उच्च गुणवत्ता वाले बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए उच्च शिक्षा वित्त पोषण एजेंसी (हेफा) के गठन को मंजूरी प्रदान की थी। उच्च शिक्षा वित्त पोषण एजेंसी चिह्नित प्रवर्तक और मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से 2,000 करोड़ रुपये के अधिकृत पूंजी से प्रवर्तित होगी। इसमें सरकार की इक्विटी 1,000 करोड़ रुपये होने की बात कही गई है ।

Thursday, November 16, 2017

महराजगंज : 27 एवं 28 नवम्बर के मापांकन शिविर में होगी 6 से 14 वर्ष के बच्चों के दिव्यांगता की माप और जारी होंगे प्रमाणपत्र, 29 तथा 30 जनवरी को दिव्यांग बच्चों को वितरित होगा सहायक उपकरण

महराजगंज : बेसिक शिक्षा विभाग ने समेकित शिक्षा के अंतर्गत जिले के दिव्यांग बच्चों की सेहत सुधारने की दिशा में की है। नवंबर माह में  सदर व बृजमनंगज बीआरसी में आयोजित मापांंकन शिविर में निर्धारित ब्लाक के बच्चों के सेहत की जांच होगी। इसके बाद विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को जनवरी माह में उपकरण वितरित कराया जाएगा। छह से 14 वर्ष आयु के दिव्यांग बच्चों के जीवन में मुश्किलें अधिक हैं। दिव्यांगता की स्थिति में न सिर्फ वह बल्कि परिवार के अन्य लोगों की भी परेशानी बढ़ जाती है। दिव्यांग होने के कारण उसे बुनियादी सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पाता। बेसिक शिक्षा विभाग ने समेकित शिक्षा के देखरेख में शिविर लगवा कर ऐसे बच्चों की जांच व इलाज की सुविधा मुहैया कराने का मन बनाया है। विभागीय जिम्मेदारों को निर्देशित किया गया है कि वे दृष्टिबाधित व अस्थि विकलांगता से जुड़े दिव्यांग बच्चों को निर्धारित ब्लाक के मापांकन शिविर में प्रतिभाग कराना सुनिश्चित करें। जांच के बाद जरूरतमंदों को मौके पर ही प्रमाण-पत्र जारी कर दिया जाए। श्रवण अक्षम व मानसिक मंदता के शिकार बच्चों को सहायक उपकरण के लिए चिन्हित किया जाए। जांच के लिए दिव्यांग बच्चों को अभिभावक का आय एवं ग्राम प्रधान, सभासद व जनप्रतिनिधि द्वारा प्रदत्त निवास प्रमाण पत्र एवं स्कूल का नामांकन कक्षा के साथ प्रधानाध्यापक द्वारा दिया गया प्रमाण-पत्र, छात्रों का चार फोटो, विशेष आवश्यकता वाले बच्चों अथवा अभिभावकों का फोटोयुक्त पहचान-पत्र व दिव्यांगता प्रमाण-पत्र लाना होगा।

27 व 28 नवंबर को लगेगा मापांकन शिविर : बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक सदर बीआरसी में 27 नवंबर को तथा बृजमनगंज बीआरसी में 28 नवंबर को मापांकन शिविर का आयोजन होगा। सदर बीआरसी में लगने वाले शिविर में पनियरा, परतावल, सिसवा, निचलौल, मिठौरा, घुघली व सदर ब्लाक के दिव्यांग बच्चों की सेहत की जांच होगी, वहीं बृजमनगंज बीआरसी में लगने वाले शिविर में लक्ष्मीपुर, नौतनवा, फरेंदा, धानी व बृजमनगंज ब्लाक के दिव्यांग बच्चों की जांच होगी। सदर बीआरसी के चिन्हित बच्चों को 29 जनवरी तथा बृजमनगंज बीआरसी के चिन्हित बच्चों को 30 जनवरी को उपकरण वितरित होगा। 

उपकरण मिलने से बच्चों को मिलेगी राहत : बीएसए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जगदीश प्रसाद शुक्ल ने बताया कि दिव्यांग बच्चों के जीवन में काफी समस्याएं है। उपकरण मिलने के उपरांत उन्हें काफी राहत मिलेगी। हम सभी लोगों को चाहिए कि उनके लिए जो बन पड़े करें।


Tuesday, September 19, 2017

सीबीएसई स्कूलों में अब स्पेशल एजुकेटर रखना अनिवार्य, करेंगे दिव्यांग बच्चों की मदद

सीबीएसई स्कूलों में अब स्पेशल एजुकेटर रखना अनिवार्य, करेंगे दिव्यांग बच्चों की मदद।


Friday, July 21, 2017

महराजगंज : बीएसए ने शैक्षिक सत्र 2016-17 में कक्षा 8 उत्तीर्ण दिव्यांग बच्चों से सम्बन्धित सूचना मांगी

महराजगंज : बीएसए ने शैक्षिक सत्र 2016-17 में कक्षा 8 उत्तीर्ण दिव्यांग बच्चों से सम्बन्धित सूचना मांगी।

Wednesday, July 12, 2017

महराजगंज : दिव्यांग बच्चों के आवासीय शिक्षा के लिए 200 छात्र-छात्राओं की क्षमता वाले समेकित विद्यालय का निर्माण शुरू, शैक्षिक सत्र 2018-19 से विद्यालय संचालित करने की चल रही है तैयारी

महराजगंज : जिले में शिक्षा पाने की हसरत रखने वाले दिव्यांग छात्र-छात्राओं के लिए अच्छी खबर है। दिव्यांगों को आवासीय शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए धनेवा में समेकित विशेष माध्यमिक विद्यालय का निर्माण होगा। विद्यालय का निर्माण पूरा होने के उपरांत उसमें दिव्यांग बच्चों को जूनियर से लेकर इंटर तक की शिक्षा उपलब्ध कराने का प्रयास होगा। सब कुछ ठीक रहा तो उन्हें अगले शैक्षिक सत्र से शिक्षा मिलने लगेगी। जिले में दिव्यांगों को प्रारंभिक स्तर पर शिक्षा दिए जाने की प्राथमिक विद्यालयों में व्यवस्था की गई है। दिव्यांगों को जूनियर से लेकर इंटर तक की शिक्षा की बेहतर व्यवस्था न होने से विकलांग जन विकास विभाग ने समेकित माध्यमिक विद्यालय को प्रारंभ कराने का निर्णय लेते हुए जिला प्रशासन से पहल कर धनेवा में भूमि भी प्राप्त कर लिया। विद्यालय का निर्माण प्रारंभ हो चुका है। आवासीय बनने वाले इस विद्यालय में दिव्यांग छात्र-छात्राओं के साथ शिक्षकों व कर्मियों को ठहरने से संबंधित भवन भी बनाया जाना है। भवन भूकंपरोधी तथा बारिश से बचाव के तौर-तरीकों से सुसज्जित होगा। इसमें छात्र-छात्राओं के खेलने तथा रेलिंग की भी व्यवस्था को प्राथमिकता देना होगा। विभाग का प्रयास है कि शैक्षिक सत्र 2018-19 के प्रारंभ होते ही सभी दिव्यांग छात्र-छात्राओं को शिक्षा उपलब्ध कराने का कार्य प्रारंभ दिया जाएगा। 

200 छात्र-छात्राओं को रहने की होगी व्यवस्था: 
प्रारंभिक दौर में समेकित माध्यमिक विद्यालय में 200 छात्र-छात्राओं को शिक्षा देने की व्यवस्था होगी। छात्र-छात्राओं को विद्यालय भवन में शिक्षा तथा छात्रावास में ठहरने की सुविधा दी गई है। 

17.03 करोड़ से बनेगा विद्यालय भवन : 
दो एकड़ क्षेत्रफल में बनने वाले इस आवासीय विद्यालय भवन पर कुल लगभग 17 करोड़ रुपये व्यय होंगे। पहली किश्त के रूप में 4 करोड़ की धनराशि जारी हो चुकी है। कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश राज्य एवं निर्माण सहकारी संघ लिमिटेड ने कार्य प्रारंभ कर दिया है।  दिव्यांगों के लिए सुविधाजनक होगा विद्यालय: जिला विकलांग जन विकास अधिकारी अजातशत्रु शाही ने बताया कि समेकित माध्यमिक विद्यालय दिव्यांग छात्र-छात्रओं के लिए सुविधाजनक होगा। विद्यालय के शुरू होने के उपरांत वह भी शिक्षा की मुख्यधारा से जुड़ जाएंगे।


Friday, June 23, 2017

सीबीएसई स्कूलों में रखे जाएंगे स्पेशल एजूकेटर, दिव्यांग छात्र-छात्रओं को सामान्य छात्रों के साथ कदम ताल करने के लिए तैयार करेंगे

इलाहाबाद : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में विशेष शिक्षकों की भर्ती होगी। ये शिक्षक शारीरिक एवं मानसिक रूप से दिव्यांग छात्र-छात्रओं को सामान्य छात्रों के साथ कदम ताल करने के लिए तैयार करेंगे। परिषद का यह आदेश राइट टू एजूकेशन के तहत सभी छात्रों को सामान्य शिक्षा दिलाने में भी मददगार साबित होगा। 




सीबीएसई के स्कूलों में विशेष शिक्षकों की अनिवार्य नियुक्ति के लिए आदेश जारी कर दिया गया है। ये शिक्षक शारीरिक एवं मानसिक रूप से कमजोर बच्चों की सोच को सामान्य बच्चों की सोच और समझ भांति विकसित करने में मदद करेंगे। विशेष शिक्षक बच्चों को इस तरह से तैयार करेंगे कि वह अपना क्लावर्क, होमवर्क कर सकें। साथ ही अन्य गतिविधियों में शामिल हों सके। महर्षि पतंजलि विद्यामंदिर इंटर कालेज की प्रधानाचार्या सुष्मिता कानूनगो का कहना है कि इस योजना के लागू होने के बाद स्कूलों में विशेष श्रेणी के बच्चों को समान्य रूप से पढ़ने का मौका मिलेगा।जागरण संवाददाता, इलाहाबाद : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में विशेष शिक्षकों की भर्ती होगी। 



Thursday, April 20, 2017

गोरखपुर : विकलांग भत्ता के सम्बन्ध में वित्त एवं लेखाधिकारी को नियमानुसार कार्यवाही करने हेतु बीएसए ने लिखा पत्र, देखें


विकलांग भत्ता के सम्बन्ध में वित्त एवं लेखाधिकारी को नियमानुसार कार्यवाही करने हेतु लिखा पत्र, देखें