DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label शैक्षिक गुणवत्ता. Show all posts
Showing posts with label शैक्षिक गुणवत्ता. Show all posts

Friday, August 14, 2020

फतेहपुर : बच्चों के लिए भाषा और गणित का ज्ञान जरूरी, शैक्षिक गुणवत्ता का नया पैमाना तय, प्रेरणा लक्ष्य के मानक से बच्चों की पढ़ाई का होगा मूल्यांकन

फतेहपुर : बच्चों के लिए भाषा और गणित का ज्ञान जरूरी, शैक्षिक गुणवत्ता का नया पैमाना तय, प्रेरणा लक्ष्य के मानक से बच्चों की पढ़ाई का होगा मूल्यांकन।


फतेहपुर :: बेसिक शिक्षा विभाग ने कक्षा एक से पांच तक के बच्चों की शैक्षिक गुणवत्ता का नया पैमाना निर्धारित किया है। अब कक्षा पांच तक के बच्चों के मूल्यांकन का आधार भाषा और गणित होगी। शिक्षकों का मूल्यांकन भी बच्चों की योग्यता के आधार पर होगा। निरीक्षण के दौरान शिक्षकों से भी इस पर सवाल-जवाब हो सकता है।

तय मानकों की बात करें तो भाषा विषय में कक्षा एक के बच्चे को निर्धारित सूची में पांच शब्दों को पहचानने की क्षमता होनी चाहिए। कक्षा दो के छात्र को भाषा की किताब में 20 शब्द प्रति मिनट पढ़ने की क्षमता, कक्षा तीन के छात्र में 30 शब्द प्रति मिनट पढ़ने की क्षमता, कक्षा चार के बच्चे में किताब का छोटा पैरा पढ़कर 75 प्रतिशत प्रश्नों का सही जवाब देने की क्षमता तथा कक्षा पांच के छात्र में बड़ा पैरा पढ़कर 75 प्रतिशत सवालों के सही जवाब देने की क्षमता का मानक बना है।



इसी प्रकार गणित विषय में कक्षा एक के छात्र को निर्धारित सूची में पांच संख्याएं सही पढ़ने की क्षमता, कक्षा दो को छात्र में एक अंक का जोड़ना और घटाना आना चाहिए। कक्षा तीन के छात्र में हासिल वाले जोड़ और घटाने के सवाल 75 प्रतिशत हल करने की क्षमता का मानक है कक्षा चार के छात्र को गुणा के 75 प्रतिशत सवाल हल करने का मानक तय हैं। कक्षा पांच के छात्र में भाग के 75 प्रतिशत सवाल हल करने का मानक तय किया गया है।

सर्व शिक्षा से जारी पत्र में स्पष्ट लिखा गया है कि यह मानक बच्चों के साथ शिक्षक और विभागीय अधिकारी और प्रशासनिक अधिकारियों को कंठस्थ होना चाहिए। अगर कोई अधिकारी स्कूल का निरीक्षण करता है, तो उसे इसी मानक के आधार पर बच्चों की शैक्षिक गुणवत्ता का आकलन करना होगा। बीएसए देवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि प्रेरणा लक्ष्य की प्रतिलिपि सभी बीईओ के माध्यम से स्कूलों में भेज दी गई है।


 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, January 23, 2020

मैनपुरी : सी और डी ग्रेड के स्कूलों का स्तर सुधारेंगे एआरपी, खंड शिक्षाधिकारी करेंगे निगरानी

मैनपुरी : सी और डी ग्रेड के स्कूलों का स्तर सुधारेंगे एआरपी, खंड शिक्षाधिकारी करेंगे निगरानी।





 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Thursday, January 9, 2020

फतेहपुर : "संकल्प" से संवर रही है दोआबा की बुनियादी तालीम, संकल्प कार्यक्रम के सामने आए सकारात्मक परिणाम, शैक्षिक गुणवत्ता उन्नयन ने दिया सहयोग

फतेहपुर : "संकल्प" से संवर रही है दोआबा की बुनियादी तालीम, संकल्प कार्यक्रम के सामने आए सकारात्मक परिणाम, शैक्षिक गुणवत्ता उन्नयन ने दिया सहयोग।




 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, October 15, 2019

फतेहपुर : कमजोर बच्चों की परीक्षा में गुरुजी होंगे पास या फेल, प्रदेश में पहली परीक्षा आठ नवम्बर को, दूसरी परीक्षा अगले साल फरवरी में होगी सम्पन्न

फतेहपुर : कमजोर बच्चों की परीक्षा में गुरुजी होंगे पास या फेल, प्रदेश में पहली परीक्षा आठ नवम्बर को, दूसरी परीक्षा अगले साल फरवरी में होगी सम्पन्न।

👉🏻 यहां क्लिक करके देखें राज्य परियोजना निदेशक का आदेश










फतेहपुर : शैक्षिक गुणवत्ता का होगा मूल्यांकन, मूल्यांकन में कक्षा पांच से आठ तक के बच्चे होंगे शामिल, नौ नवम्बर को होगी परीक्षा।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, July 30, 2019

नैक मूल्यांकन से घबरा रहे यूपी के उच्च शिक्षण संस्थान, अब तक सिर्फ 8 फीसदी विवि व डिग्री कॉलेजों ने ही कराया उक्त मूल्यांकन


नैक मूल्यांकन से घबरा रहे यूपी के उच्च शिक्षण संस्थान, अब तक सिर्फ 8 फीसदी विवि व डिग्री कॉलेजों ने ही कराया उक्त मूल्यांकन।   



Monday, July 8, 2019

स्कूल में मोबाइल पर बिजी दिखे तो होगी कार्यवाही, बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री का आदेश



स्कूल में मोबाइल पर बिजी दिखे तो होगी कार्यवाही, बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री का आदेश।