DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label स्थानांतरण. Show all posts
Showing posts with label स्थानांतरण. Show all posts

Saturday, May 8, 2021

अंतर्जनपदीय स्थानांतरण अन्तर्गत पदावनत शिक्षकों को विद्यालय आवंटन व वेतन और बीएसए गोरखपुर द्वारा ऑफलाइन पदावनति के कारण वापसी किये जाने को लेकर PSPSA ने शासन को लिखा पत्र

अंतर्जनपदीय स्थानांतरण अन्तर्गत पदावनत शिक्षकों को विद्यालय आवंटन व वेतन और बीएसए गोरखपुर द्वारा ऑफलाइन पदावनति के कारण वापसी किये जाने को लेकर PSPSA ने शासन को लिखा पत्र



Friday, April 9, 2021

गैरजनपद से तबादले पर आए अध्यापकों को अब तक नहीं मिला स्कूल

गैरजनपद से तबादले पर आए अध्यापकों को अब तक नहीं मिला स्कूल


प्रतापगढ़। बेसिक शिक्षा विभाग के अफसरों की लापरवाही के कारण गैर जनपद से परस्पर तबादले पर आए 74 अध्यापकों को माह भर बाद भी स्कूलों में तैनाती नहीं मिल सकी है। यह शिक्षक बीएसए कार्यालय में अपनी हाजिरी लगा रहे हैं। स्कूलों का आवंटन नहीं होने से इन अध्यापकों की पंचायत चुनाव में ड्यूटी भी नहीं लगी है।


बेसिक शिक्षा विभाग में गैरजनपद से परस्पर तबादले पर आने वाले शिक्षक महीने भर से हाजिरी लगा रहे हैं । अफसरों की लापरवाही का आलम यह है कि इन शिक्षकों को अभी तक स्कूलों में तैनात नहीं किया गया है । इसकी वजह विभागीय अफसरों की आपसी खींचतान सामने आ रही है। शासन ने कहा है कि इन शिक्षकों को उसी स्कूलों में तैनात किया जाएगा, जिसकी सूची विभाग के उच्च अधिकारी देंगे। 


लखनऊ में बैठे अफसर न तो अध्यापकों के आवश्यकता वाले स्कूलों की सूची दे रहे हैं, और न ही बीएसए अपने स्तर से निर्णय ले रहे हैं। वहीं इस संबंध में बीएसए अशोक कुमार सिंह का कहना है कि गैर जनपद से परस्पर तबादले में आए शिक्षकों को उन स्कूलों में तैनात किया जाएगा, जिसकी सूची विभागीय अधिकारी देंगे। शासन से अभी सूची नहीं मिली है। सूची मिलते ही स्कूलों का आवंटन किया जाएगा। 

Saturday, March 27, 2021

अंतर्जनपदीय तबादला तो हुआ लेकिन स्कूल आवंटन अब तक नहीं , वेतन भी लटका

 अंतर्जनपदीय तबादला तो हुआ लेकिन स्कूल आवंटन अब तक नहीं , वेतन भी लटका


वाराणसी: दूसरे जिलों से स्थानांतरित हो कर आए 51 शिक्षकों के बारे में यह तय नहीं हो सका है कि वे किस स्कूल में पढ़ाएंगे। उनके स्थानांतरण को एक माह से अधिक समय हो गया है। मगर उन्हें अभी तक स्कूल आवंटन नहीं हुआ है। जबकि उन्होंने जिले में कार्यभार ग्रहण कर लिया है। 


ये शिक्षक अपने भविष्य को लेकर सशंकित हैं। इसमें से 18 शिक्षक ऐसे हैं, जो अंतरजनपदीय स्थानांतरण के तहत वाराणसी में कार्यभार ग्रहण किया। इसके अलावा 33 ऐसे हैं, जो म्यूचुअल ट्रांसफर (पारस्परिक स्थानांतरण) के तहत वाराणसी भेजे गए थे।


अंतरजनपदीय स्थानांतरण में अन्य 48 को स्कूल आवंटित है। दूसरे 18 शिक्षकों की वरिष्ठता को लेकर कुछ विवाद है। म्यूचुअल ट्रांसफर वाले शिक्षकों में भी सेवा सम्बन्धी तकनीकी पेंच है। निदेशालय के निर्देश पर उनका स्कूल आवंटन रोक दिया गया है। उनके बारे में अलग से गाइडलाइन जारी होने की बात कही गई थी। स्कूल आवंटन न होने से इन शिक्षकों का वेतन भी फंसा हुआ है। बीएसए राकेश सिंह का कहना है कि शासन से गाइडलाइन आने पर ही कोई निर्णय हो सकेगा।

Wednesday, March 24, 2021

अंतर्जनपदीय तबादला लेने वाले शिक्षकों - शिक्षिकाओं की होली रहेगी फीकी, त्यौहार पर वेतन मिलना मुश्किल

अंतर्जनपदीय तबादला लेने वाले शिक्षकों-शिक्षिकाओं की होली रहेगी फीकी, त्यौहार पर वेतन मिलना मुश्किल


इस बार अंतर्जनपदीय तबादला लेने वाले बेसिक शिक्षकों की होली फीकी रहने वाली है. ऐसा इसलिए है क्योंकि अभी जिलों पर तबादला लेकर आए शिक्षकों ने विद्यालय आवंटन के बाद अपना आवंटित स्कूल तो ज्वाइन कर लिया है लेकिन कई विकास खंडो पर शिक्षकों की खंड शिक्षा अधिकारी ने कार्यभार ग्रहण आख्या प्रमाणित कर मानव संपदा पोर्टल पर डाटा भी फीड नहीं किया है। 



वहीँ दूसरी ओर कई विकास खंड में अंतर्जनपदीय तबादला में आए शिक्षकों के दस्तावेजों की फाइल भी जमा नहीं की है और न ही बीईओ के द्वारा जॉइनिंग प्रमाणित की गई है। 


जबकि कई जिले ऐसे भी जहाँ से अभी तक स्थानांतरित जिलों को शिक्षकों की एलपीसी (अंतिम वेतन प्रमाणपत्र) व सर्विस बुक नहीं भेजी गई है। ऐसे में कैसे शिक्षकों का वेतन होली पर मिला पायेगा. इसलिए वेतन पर असमंजस की स्थिति बनी हुई है।

Monday, March 22, 2021

जून में माध्यमिक शिक्षकों के तबादले की तैयारी, ग्रेडिंग को भी जोड़ने की तैयारी

जून  में माध्यमिक शिक्षकों के तबादले की तैयारी, ग्रेडिंग को भी जोड़ने की तैयारी


लखनऊ। माध्यमिक शिक्षा विभाग बोर्ड परीक्षाओं के बाद जून में हाईस्कूल और इंटर कॉलेजों में कार्यरत सहायक अध्यापकों, प्रवक्ता और प्रधानाचार्यों के तबादले करने की तैयारी कर रहा है । कोरोना संक्रमण के कारण शैक्षिक सत्र 2020-21 में विभाग में तबादले नहीं किए गए थे। विभाग में शिक्षकों की कमी कुछ हद तक दूर होने के बाद अब वर्षों से गृह जिले से दूरस्थ जिले में तैनात शिक्षक तबादले के लिए राजनीतिक दबाव बना रहे हैं।


प्रदेश में 12 मई तक बोर्ड परीक्षाएं संचालित होंगी। सूत्रों के मुताबिक कुल कार्यरत शिक्षकों की संख्या का 10 प्रतिशत तक शिक्षकों के तबादले किए जाएंगे। विभाग इस बार तबादला नीति के साथ ग्रेडिंग को भी जोड़ने की तैयारी कर रहा है। उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि बोर्ड परीक्षा के बाद तबादला प्रक्रिया शुरू की जाएगी। लेकिन तबादले बहुत ही सीमित संख्या में किए जाएंगे।

Saturday, March 20, 2021

चिकित्सकीय आधार पर बिना औपचारिकता स्थानांतरण करने का हाईकोर्ट ने दिया आदेश

चिकित्सकीय आधार पर बिना औपचारिकता स्थानांतरण करने का हाईकोर्ट ने दिया आदेश

सहायक अध्यापकों ने की थी आपसी सहमति से स्थानांतरण की मांग


प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने चिकित्सकीय आधार पर दो सहायक अध्यापकों द्वारा म्यूचुअल ट्रांसफर की मांग पर बिना किसी औपचारिकता के विचार कर निर्णय लेने का सचिव बेसिक शिक्षा परिषद प्रयागराज को आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा कि याची की पत्नी कैंसर से पीड़ित है। उसने अपने गृह जनपद में तैनात एक शिक्षक की सहमति से स्थानांतरण की मांग की है। इस पर तत्काल निर्णय लिया जाए। सीमा रानी और कपिल चौधरी की याचिका पर न्यायमूर्ति एसडी सिंह ने सुनवाई की।


याचीगण के अधिवक्ता नवीन शर्मा का कहना था कि याची सीमा रानी की नियुक्ति बागपत में है, जबकि कपिल की शामली में । सीमा ने बागपत से शामली और कपिल ने शामली से बागपत स्थानांतरण करने की अर्जी दी थी कपिल की पत्नी कैंसर से पीड़ित हैं, इसलिए उन्होंने स्थानांतरण की मांग की है। दोनों सहायक अध्यापक म्यूचुअल स्थानांतरण चाहते हैं। 


इसके बाद बेसिक शिक्षा परिषद ने उनकी अर्जियों पर कोई निर्णय नहीं लिया है। अधिवक्ता ने बताया कि हालांकि, उन्होंने ऑनलाइन आवेदन फार्म भरने की औपचारिकता पूरी नहीं की है, मगर याची को तत्काल स्थानांतरण की आवश्यकता है। । कोर्ट ने सचिव बेसिक शिक्षा परिषद को निर्देश दिया है कि यदि याचीगण कोर्ट के आदेश की प्रति और याचिका दो सप्ताह के भीतर उनके समक्ष प्रस्तुत करते हैं तो सचिव याचीगण के प्रत्यावेदन पर सकारण उचित आदेश पारित करें। 

Monday, March 15, 2021

अंतरजनपदीय स्थानांतरण में अब तक स्कूल आवंटन न होने से पदावनत शिक्षक परेशान, संगठन ने पत्र लिखकर शासन से की मांग

अंतरजनपदीय स्थानांतरण में अबतक स्कूल आवंटन न होने से पदावनत शिक्षक परेशान, संगठन ने पत्र लिखकर शासन से की मांग


लखनऊ : एक माह से अधिक समय बीतने पर भी अंतरजनपदीय स्थानांतरण 2019-20 के अंतर्गत राज्य के विभिन्न जिलों से आए पदावनत शिक्षकों को विद्यालय आवंटित नहीं हुआ। इससे शिक्षक परेशान हैं।


रविवार को प्राथमिक शिक्षक प्रशिक्षित स्नातक एसोसिएशन विशिष्ट बीटीसी ने मुख्य सचिव को ज्ञापन भेजकर विद्यालय आवंटन की मांग की। प्रांतीय अध्यक्ष विनय कुमार सिंह ने बताया कि पदावनत शिक्षकों की संख्या करीब 500 है। विद्यालय आवंटन न होने से महत्वपूर्ण प्रशिक्षणों में प्रतिभाग नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने विद्यालय आवंटन के आदेश जारी करने की मांग की है।

Thursday, March 4, 2021

बोर्ड परीक्षा तक माध्यमिक शिक्षकों के तबादले पर रोक

बोर्ड परीक्षा तक माध्यमिक शिक्षकों के तबादले पर रोक


लखनऊ : उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने बुधवार को विधान परिषद में बताया कि यूपी बोर्ड परीक्षा होने तक राजकीय और अशासकीय सहायताप्राप्त विद्यालयों के शिक्षकों के तबादलों पर रोक लगी रहेगी। प्रदेश के आठ महत्वाकांक्षी जिलों में शिक्षकों की कमी के मद्देनजर रोक जारी रहेगी।


शिक्षक दल के सुरेश कुमार त्रिपाठी और ध्रुव कुमार त्रिपाठी की ओर से माध्यमिक शिक्षकों के स्थानांतरण के विषय में जारी शासनादेश में संशोधन की मांग पर वह सदन में जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि शिक्षकों के एकल स्थानांतरण के कारण पद रिक्त हो जाता है और बच्चों की पढ़ाई के लिए वहां दूसरा अध्यापक नहीं मिलता है। इससे पढ़ाई बाधित होती है। इसलिए यह व्यवस्था की गई है कि यदि विद्यालय में छात्रों को पढ़ाने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था है, तभी ट्रांसफर किया जाएगा।

Monday, March 1, 2021

फतेहपुर : पारस्परिक अंतर्जनपदीय स्थानांतरण के क्रम में कार्यमुक्ति से संबंधित आदेश निर्देश जारी, आवश्यक और अधिकृत प्रपत्र भी करें डाउनलोड

फतेहपुर : पारस्परिक अंतर्जनपदीय स्थानांतरण के क्रम में कार्यमुक्ति से संबंधित आदेश निर्देश जारी, आवश्यक और अधिकृत प्रपत्र भी करें डाउनलोड

Saturday, February 27, 2021

पारस्परिक स्थानांतरण के 10 दिन बाद भी नहीं हो सका विद्यालयों का आवंटन, शिक्षकों को सता रहा पंचायत चुनाव का डर

पारस्परिक स्थानांतरण के 10 दिन बाद भी नहीं हो सका विद्यालयों का आवंटन, शिक्षकों को सता रहा पंचायत चुनाव का डर


प्रयागराज। बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से 17 फरवरी को पारस्परिक स्थानांतरण (म्यूचुअल ट्रांसफर ) का आदेश जारी होने के बाद भी अभी तक विद्यालय आबंटन नहीं हो सका है। 


स्थानांतरण का लाभ पाए शिक्षक इस बात को लेकर परेशान हैं कि कहीं पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी हो गईं तो उनका पदस्थापन फंस सकता है। सचिव बेसिक शिक्षा परिषद प्रताप सिंह बघेल का कहना है कि शासन की ओर से शिक्षकों को कार्यमुक्त करने का आदेश हो गया है, अब जल्द ही विद्यालय आवंटन भी कर दिया जाएगा।

Thursday, February 25, 2021

जल्द होंगे जिले के अंदर परिषदीय शिक्षकों के तबादले, मृतक आश्रितों को शैक्षिक योग्यता अनुसार नौकरी देने का आदेश जल्द बोले बेसिक शिक्षा मंत्री

जल्द होंगे जिले के अंदर परिषदीय शिक्षकों के तबादले, मृतक आश्रितों को शैक्षिक योग्यता अनुसार नौकरी देने का आदेश जल्द बोले बेसिक शिक्षा मंत्री



लखनऊ। बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी ने कहा कि जिले के अंदर परिषदीय शिक्षकों के तबादले जल्द किए जाएंगे। परिषदीय शिक्षकों की लंबित मांगों पर सरकार गंभीरता से विचार कर रही है। बुधवार को उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की ओर से सिंचाई भवन में एक दिवसीय प्रांतीय संगोष्ठी आयोजित की गई।

संगोष्ठी को संबोधित करते हुए द्विवेदी ने कहा, शिक्षकों की पदोन्नति के लिए बजट सत्र समाप्त होने के बाद बैठक की जाएगी। पदोन्नति में आने वाली अड़चनों को दूर करने का प्रयास किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि मृतक आश्रितों को लिपिक के पद पर नियुक्ति देने के लिए जल्द आदेश जारी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भविष्य में शिक्षकों को ड्रेस, एमडीएम सहित अन्य गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त रखने का प्रयास किया जाएगा। कार्यक्रम को संघ के प्रांतीय अध्यक्ष सुशील पांडेय ने भी संबोधित किया।

Wednesday, February 24, 2021

मदरसा शिक्षकों का भी हुआ करेगा तबादला, मदरसा नियमावली में संशोधन करने की तैयारी

मदरसा शिक्षकों का भी हुआ करेगा तबादला, मदरसा नियमावली में संशोधन करने की तैयारी


लखनऊ : प्रदेश सरकार अब मदरसा शिक्षकों का भी तबादला करेगी। इसके लिए सरकार मदरसा नियमावली में संशोधन करने जा रही है। नियमावली में ऐसे प्रविधान किए जा रहे हैं, जिससे प्रबंधकों की मनमानी पर भी अंकुश लग सके। सरकार मदरसा शिक्षकों की भर्तियां भी चयन आयोग से कराने पर विचार कर रही है।


प्रदेश में 558 अनुदानित मदरसे हैं। इनमें करीब नौ हजार शिक्षक हैं। मदरसों के लिए उत्तर प्रदेश अशासकीय अरबी फारसी मदरसा मान्यता, प्रशासन एवं सेवा नियमावली लागू है। प्रदेश सरकार इस नियमावली में नई शिक्षा नीति के अनुसार संशोधन करने जा रही है।

Monday, February 22, 2021

जनपद के भीतर जल्द होगा शिक्षकों का स्थानांतरण, नगर क्षेत्र व ग्रामीण क्षेत्र का भी अंतर होगा समाप्त

जनपद के भीतर जल्द होगा शिक्षकों का स्थानांतरण, नगर क्षेत्र व ग्रामीण क्षेत्र का भी अंतर होगा समाप्त।


■ - कुशीनगर आए बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान दी जानकारी

■ - प्रदेश के 1194 जर्जर विद्यालयों के भवन ध्वस्त कराकर नया निर्माण होगा

■ - 400 करोड़ की लागत से उच्च प्राथमिक विद्यालयों में बनेंगे स्मार्ट क्लास


कसया (कुशीनगर)। बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में शिक्षकों के अंतर जनपदीय तबादले के बाद ग्रीष्मावकाश में जनपद के भीतर समायोजन किया जाएगा। प्रदेश के 1194 विद्यालयों के जर्जर भवन को ध्वस्त कराकर उनकी जगह नए भवन बनाए जाएंगे। इसके अलावा 400 करोड़ रुपये खर्चकर उच्च प्राथमिक विद्यालयों में स्मार्ट क्लास की स्थापना होगी।


ये बातें शनिवार को प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ. सतीश चंद्र द्विवेदी ने कही। वे कुशीनगर स्थित एक होटल में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। अपने व्यक्तिगत कार्य से आए मंत्री ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि अंतर जनपदीय स्थानांतरण के चलते स्कूलों में शिक्षक-अनुपात बिगड़ गया है। ग्रीष्मावकाश में अब जनपद के भीतर शिक्षक-अनुपात ठीक करने के लिए शिक्षकों का तबादला होगा। 


इसके लिए शिक्षकों से आवदेन लिए जाने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। अगले शैक्षणिक सत्र से कोई विद्यालय शिक्षक विहीन नहीं होगा। बेसिक शिक्षा मंत्री ने कहा कि अब नगर और देहात के अंतर को खत्म किया जाएगा। उन्होंने कुशीनगर में हुए विकास कार्यों पर खुशी जताते हुए कहा कि महापरिनिर्वाण स्थली कुशीनगर अब पहले से अधिक सुंदर दिख रही है।

Tuesday, February 16, 2021

अंतर्जनपदीय तबादला विद्यालय आवंटन में पत्रांक न होने से कार्यभार ग्रहण में असमंजस

अंतर्जनपदीय तबादला विद्यालय आवंटन में पत्रांक न होने से कार्यभार ग्रहण में असमंजस


लख़नऊ  :  दूसरे जिलों से तबादला पाकर अपने जिलों में पहुंचे शिक्षकों ने सोमवार को अपना अपना स्कूल ज्वॉइन कर लिया तो राजधानी करीब पौने चार सौ शिक्षकों की संख्या बढ़ गयी। राजधानी के ग्रामीण क्षेत्रों में अब शिक्षकों की कमी दूर हो जायेगी।

हालांकि इन शिक्षकों की तैनाती के लिए बीएसए कार्यालय से जारी पत्रों पर कोई पत्रांक संख्या नहीं है। ऐसे में बीईओ भी असमंजस की स्थिति में शिक्षकों को ज्वॉइन करवा रहे हैं, लेकिन अभी मानव संपदा पर डाटा फीडिंग में दिक्कत आयेगी।


 इस संबंध में राजधानी के बीईओ ने बताया कि शिक्षकों का स्कूल चयन होने के बाद जो बीएसए की ओर से पत्र भेजा जा रहा है उस पर कोई पत्रांक संख्या नहीं है। वहीं शिक्षक जब बीआरसी से चिट्ठी लेकर स्कूलों में पहुंच रहे हैं तो वहां पर भी प्रधानाध्यापक की ओर से पत्रांक संख्या पूछी जा रही है। हालांकि पत्रांक संख्या के लिए जगह छोड़कर शिक्षकों को ज्वॉइन कराया जा रहा है । इस बारे में बेसिक शिक्षा अधिकारी दिनेश कुमार का कहना है कि शिक्षकों का सारा डाटा ऑनलाइन पहले से ही फीड हो चुका है।

Monday, February 15, 2021

परिषदीय शिक्षकों को म्यूच्यूअल ट्रांसफर लिस्ट का है इंतजार

पीलीभीत :  परिषदीय शिक्षकों को म्यूच्यूअल ट्रांसफर लिस्ट का  है इंतजार


पीलीभीत  ।  बेसिक शिक्षा परिषद के सहायक अध्यापकों की अंतर्जनपदीय तबादला प्रक्रिया पूरी हो चुकी है, मगर पारस्परिक तबादलों को लेकर आवेदन करने वाले शिक्षकों की सूची अभी तक जारी नहीं हो सकी है।



शासन ने परिषदीय शिक्षकों को दो तरह के तबादले की सौगात दी है। इसमें पहली रिक्त पद के सापेक्ष और दूसरी पारस्परिक स्थानांतरण प्रक्रिया है। पहली तबादला प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। इसके तहत जिले से 350 शिक्षकों का स्थानांतरण उनके गृह जनपद में किया गया, जबकि 51 शिक्षक अन्य जनपदों से यहां पहुंचे हैं। इसमें 50 शिक्षकों को एक दिन पूर्व स्कूल आवंटन किया गया है, जबकि एक शिक्षक के शहरी क्षेत्र को होने के कारण स्कूल आवंटित नहीं किया जा सका। इधर अब उन शिक्षकों को शासन से आने वाली सूची का इंतजार है, जिन्होंने पारस्परिक स्थानांतरण के तहत आवेदन किया था। 


विभाग के मुताबिक जनपद से 50 शिक्षक-शिक्षिकाओं से पारस्परिक स्थानांतरण के लिए आवेदन किया था, मगर शासन से सूची न आने के कारण इनका तबादला रुका हुआ है। सूची कब जारी की जाएगी, इसकी जानकारी विभागीय अफसरों को भी नहीं है। इस संबंध में बीएसए चंद्रकेश सिंह ने बताया कि पारस्परिक स्थानांतरण सूची शासन स्तर से जारी की जानी है। सूची जारी होने के बाद प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

Saturday, February 13, 2021

अंतर्जनपदीय तबादले के आवेदन के निरस्त किये जाने पर हाईकोर्ट ने मांगा जवाब

अंतर्जनपदीय तबादले के आवेदन के निरस्त किये जाने पर हाईकोर्ट ने मांगा जवाब


लखनऊ : अंतरजनपदीय तबादले का आवेदन निरस्त किए जाने के खिलाफ सहायक शिक्षकों की याचिका पर हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने राज्य सरकार से जवाब मांगा है।



याचियों ने इस सम्बंध में जारी दो दिसंबर 2019 व 31 दिसम्बर 2020 की अधिसूचना के प्रविधानों को भी चुनौती दी है। मामले की अगली सुनवाई 12 मार्च को होगी। यह आदेश जस्टिस इरशाद अली की एकल पीठ ने नीतू शुक्ला व अन्य की याचिका पर दिया। 

Friday, February 12, 2021

अंतरजनपदीय स्थानांतरण : विद्यालय आवंटन का काम शुरू नहीं हो सका, सर्वर पर विद्यालयों की सूची अपलोड नहीं होने के कारण शिक्षक करते रहे इंतजार

अंतरजनपदीय स्थानांतरण : विद्यालय आवंटन का काम शुरू नहीं हो सका, सर्वर पर विद्यालयों की सूची अपलोड नहीं होने के कारण शिक्षक करते रहे इंतजार


प्रयागराज। अंतरजनपदीय स्थानांतरण में जिले को मिले 17 दिव्यांग शिक्षकों से शाम को विकल्प लेने के बाद अंततः विद्यालय आवंटित कर दिया गया। बेसिक शिक्षा विभाग के सर्वर पर विद्यालयों की सूची अपलोड नहीं होने के कारण शिक्षक दिनभर इंतजार करते रहे। 


बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय कुमार कुशवाहा ने बताया कि प्रदेश के अधिकांश जिलों में बृहस्पतिवार को भी विद्यालय आवंटन का काम शुरू नहीं हो सका। प्रयागराज में शाम पांच बजे सूची उपलब्ध हो जाने के बाद विद्यालय आवंटन के लिए विकल्प भरने का काम शुरू हुआ और रात नौ बजे तक 17 दिव्यांग महिला एवं पुरुष शिक्षकों को विद्यालय आवंटन का पत्र जारी कर दिया गया। 


इससे पहले 10 फरवरी को दिन भर इंतजार करने के बाद विद्यालयों की सूची अपलोड नहीं होने से विद्यालय आवंटन नहीं हो सका, इसी प्रकार 11 फरवरी को दिनभर के इंतजार के बाद अंततः कामयाबी मिली और 17 शिक्षकों को विद्यालय आवंटित करके प्रक्रिया शुरू कर दी गई.

Thursday, February 11, 2021

अंतर्जनपदीय स्थानांतरण : सर्वर पर अब तक नहीं अपलोड हो सकी विद्यालयों की सूची, बढ़ता जा रहा इंतजार

अंतर्जनपदीय स्थानांतरण : सर्वर पर अब तक नहीं अपलोड हो सकी विद्यालयों की सूची, बढ़ता जा रहा इंतजार


प्रयागराज। अंतरजनपदीय स्थानांतरण के बाद जिले को मिले 610 शिक्षकों का विद्यालय आवंटन का इंतजार बढ़ता जा रहा है। बुधवार को तय कार्यक्रम पर विभाग की ओर से सर्वर पर विद्यालयों की सूची अपलोड नहीं होने से विद्यालय आवंटन का काम नहीं शुरू हो सका। दूसरे जिले से संगम नगरी में आए शिक्षक, शिक्षिकाएं तैयारी के साथ जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान (डायट) पहुंचे। 


विद्यालय की सूची अपलोड नहीं होने पर बीएसए की ओर से नया कार्यक्रम जारी किया गया है। अब विद्यालय आवंटन का काम बृहस्पतिवार को मौनी अमावस्या के अवकाश के दिन किया जाएगा।


विद्यालय आवंटन का नया कार्यक्रम
11 फरवरी को नौ से 10 बजे के बीच महिला दिव्यांग एवं पुरुष दिव्यांग सहायक अध्यापक विकल्प भरेंगे। 11 फरवरी को ही 10 से दो बजे के बीच महिला सहायक अध्यापिकाएं प्राथमिक विद्यालय भारांक 19 तक, दो से पांच बजे के बीच महिला सहायक अध्यापिकाएं प्राथमिक विद्यालय भारांक 18 से 10 तक आवंटन के लिए विकल्प भरेंगी। 12 फरवरी को नौ से दो बजे के बीच महिला सहायक अध्यापिकाएं प्राथमिक विद्यालय भारांक नौ से सात तक, दो से 4.30 बजे के बीच सभी पुरुष अध्यापक प्राथमिक विद्यालय और 4.30 से पांच बजे के बीच विकल्प भरेंगे.

Wednesday, February 10, 2021

अंतर्जनपदीय : रिक्त विद्यालय और पदों की सूची न आने के कारण आज विद्यालय आवंटन में संशय

अंतर्जनपदीय :  रिक्त विद्यालय और पदों की सूची न आने के कारण आज विद्यालय आवंटन में संशय


आगरा: बेसिक शिक्षा परिषद की अंतर जनपदीय स्थानांतरण प्रक्रिया का लाभ पाकर जिले में आने वाले परिषदीय शिक्षकों को विद्यालय आवंटन के लिए अभी थोड़ा और इंतजार करना होगा। 10 फरवरी को शुरू होने वाली प्रक्रिया के लिए शासन स्तर से रिक्त विद्यालय और पदों की सूची न आने के कारण इसे कराने पर फैसला मंगलवार को नहीं हो सका।


जिला बेसिक शिक्षाधिकारी (बीएसए) राजीव कुमार यादव ने बताया कि शासन ने 10 से 12 फरवरी के बीच काउंसिलिंग कराकर विद्यालय आवंटित करने के निर्देश दिए हैं। तैयारी पूरी है, लेकिन रिक्त पदों की संख्या और सूची का इंतजार है। संभवतः बुधवार को इसके आने की संभावना है। देरी के कारण विभाग में नोटिस चस्पा कर दिया गया है। इधर शिक्षकों को विद्यालय आवंटन में देरी होने से विद्यालयों के शिक्षण संबंधी कार्य रुक जाएंगे। कक्षा छह से आठवीं तक की कक्षाएं तो विद्यालयों में शुरू भी हो रही हैं। इनके बाद प्राथमिक विद्यालय भी खुलेंगे।

Monday, February 8, 2021

अन्तर्जनपदीय स्थानांतरित बेसिक शिक्षक अपनी कार्यमुक्ति का स्टेटस देखें

अन्तर्जनपदीय स्थानांतरित बेसिक शिक्षक अपनी कार्यमुक्ति का स्टेटस देखें 



■  क्लिक करके देखें


इस नीचे दिए गए लिंक पर स्थानांतरित शिक्षक अपनी कार्यमुक्ति का स्टेटस देख सकते हैं।  सबसे पहले आपको अपना मानव संपदा आईडी डालकर व्यू रिपोर्ट पर क्लिक करना होगा जिसके बाद आप की फैक्ट शीट Fact Sheet(P2) ओपन हो जाएगी और आप अपनी रिलीविंग की स्थिति Posting Details में जाकर देख सकते हैं। ट्रांसफर का आपका डाटा पोर्टल पर फीड हो गया है या नहीं?

■  क्लिक करके देखें