DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label हड़ताल. Show all posts
Showing posts with label हड़ताल. Show all posts

Friday, September 14, 2018

महराजगंज : शासन द्वारा डीएलएड कालेजों की दुबारा जांच आदेश से नाराज कालेज प्रबन्धकों ने शुरू की बेमियादी हड़ताल, डीएम को ज्ञापन सौंप रखी अपनी बात

महराजगंज : शासन द्वारा डीएलएड कालेजों की दुबारा जांच आदेश से नाराज कालेज प्रबन्धकों ने शुरू की बेमियादी हड़ताल, डीएम को ज्ञापन सौंप रखी अपनी बात।

Sunday, January 14, 2018

महराजगंज : 18 हजार रुपये प्रतिमाह न्यूनतम मजदूरी तथा अन्य मांगों को लेकर आंगनबाड़ी, रसोइया कर्मी, आशा तथा सभी स्कीम वर्कर आंदोलन की राह पर, 17 जनवरी को देश व्यापी हड़ताल की बनी रणनीति

महराजगंज : महिला आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ के बैनर तले आंगनबाड़ी, आशा, रसोइया व सभी स्कीम वर्कर आंदोलन की राह पर है। केंद्रीय श्रम संगठनों के आह्वान पर संबंधित सभी कर्मचारी 17 जनवरी को देश व्यापी हड़ताल पर रहेंगे। संघ के मंडल संरक्षक अभिमन्यु तिवारी ने बताया कि आंगनबाड़ी, आशा, मिड डे मिल रसोइया, बाल श्रम स्टाफ, आजीविका मिशन, स्वास्थ्य मिशन, स्वच्छता मिशन, साक्षरता मिशन समिति सभी स्कीम कर्मी 17 जनवरी को देश व्यापी हड़ताल पर रहेंगे। उन्होंने बताया कि श्रम संगठनों द्वारा केंद्र सरकार से मांग किया है कि 45 वें राष्ट्रीय श्रम सम्मेलन के सिफारिशों के अनुसार कर्मचारी का दर्जा दिया जाए और न्यूनतम मजदूरी 18 हजार रुपये प्रतिमाह दिए जाए। सभी को तीन हजार रुपये मासिक पेंशन दिया जाए। वर्ष 2018-19 के केंद्रीय बजट में केंद्रीय योजनाओ आइसीडीएस, एमडीएमएस, एनएचएम, एसएसएस, एनसीएलपी नेशनल सेविंग्स आदि के लिए पर्याप्त धन का आवंटन किया जाए, ताकि योजनाकर्मियों का न्यूनतम वेतन दिया जाए। योजनाओं को निजीकरण बंद करो। योजनाओं में किसी तरह लाभार्थियों की संख्या घटाने अथवा सीधे लाभार्थियों को कैश स्थानांतरित करने की कटौती बंद करें। मंडल संरक्षक ने कहा कि सभी आंगनबाड़ी, आशा, रसोइया समेत सभी स्कीम कर्मी 17 जनवरी को जिला मुख्यालय पर पहुंच कर देश व्यापी हड़ताल को सफल बनावें।


Monday, September 19, 2016

महराजगंज : अपनी 18 सूत्रीय मांगों के पूरा न होने पर आक्रोशित कर्मचारी-शिक्षक संयुक्त मोर्चा ने लिया हड़ताल का निर्णय

महराजगंज : अपनी 18 सूत्रीय मांगों के पूरा न होने पर आक्रोशित कर्मचारी-शिक्षक संयुक्त मोर्चा ने लिया हड़ताल का निर्णय।

Tuesday, September 13, 2016

सीतापुर : प्रा.शिक्षक संघ का हल्ला बोल : शिक्षकों की समस्याओं का निराकरण न होने पर धरना-प्रदर्शन व भूख हड़ताल की तारीखों समेत बीएसए को दिया नोटिस

सीतापुर : प्रा.शिक्षक संघ का हल्ला बोल : शिक्षकों की समस्याओं का निराकरण न होने पर धरना-प्रदर्शन व भूख हड़ताल की तारीखों समेत बीएसए को दिया नोटिस

Tuesday, July 12, 2016

फैजाबाद : संयुक्त शिक्षा निदेशक पर मनमानी का आरोप, पांच लिपिकों के निलंबन के खिलाफ धरने में उतरे प्रांतीय नेता

संयुक्त शिक्षा निदेशक कमला सिंह चौहान पर मनमानी का आरोप लगाते हुए प्रांतीय महामंत्री श्याम सुंदर तिवारी ने कहा कि अगर मंगलवार को लिपिकों का निलंबन वापस न हुआ तो 30-31 जुलाई को प्रदेशभर के लिपिक शिक्षा भवन में जुटेंगे। इस बारे में आज के धरने में रणनीति तय होगी। वह शिक्षा भवन में आयोजित क्रमिक धरने को संबोधित कर रहे थे। धरने की अगुवाई यूपी एजूकेशनल मिनिस्ट्रीयल आफीसर्स एसोसिएशन ने की है। उन्होंने मौजूद कर्मियों से आर-पार की लड़ाई के लिए तैयार रहने को कहा। जिला सचिव अनुराग खरे ने कहा कि जेडी पर से भरोसा उठ गया है। जबतक मांग पूरी न हुई अनवरत धरना जारी रहेगा। जरूरत पड़ी तो जेडी के खिलाफ भूख हड़ताल शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि पूरे कार्यकाल में जेडी ने लिपिकों का उत्पीड़न ही किया है। आलोक कुमार मिश्र ने निलंबित कर्मियों की बहाली न होने की दशा कार्यालय का बहिष्कार किए जाने की बात कही। उन्होंने एसीपी के लंबित प्रकरणों के निस्तारण का भी मुद्दा उठाया। इस दौरान कामकाज ठप रहा। मंगलवार को जेडी से कर्मचारी नेताओं की बात होगी। निलंबित लिपिकों में अविनाश कुमार श्रीवास्तव, जय प्रकाश तिवारी, ओम प्रकाश सरोज, वीरेंद्र मौर्या व अशोक कुमार यादव हैं। धरने को संबोधित करने वालों में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के चेयरमैन बृजेश मौर्या, प्रांतीय उपाध्यक्ष रजनीश श्रीवास्तव, हरिकृष्ण श्रीवास्तव,सालिक राम, सत्यशील त्रिपाठी, मनोज कुमार कश्यप, नरेंद्र कुमार मिश्र, आशीष ओझा, शिव प्रताप सिंह, सूर्यभान, मनीष वर्मा, मसरूर आलम रहे।शिक्षा भवन परिसर में साथियों के निलंबन के खिलाफ प्रदर्शन करते कर्मचारी नेता6पांच लिपिकों के निलंबन के खिलाफ धरने में उतरे प्रांतीय नेताराज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने विकास भवन व आरटीओ कार्यालय गेट मीटिंग कर कर्मचारियों से शत-प्रतिशत लखनऊ में आयोजित महाधरने में भागीदारी का आह्वान किया। राज्य सरकार की वादा खिलाफी पर आक्रोश जताया गया। विकास भवन में गेट मीटिंग को रामअवध, मून्नू सिंह, महेश शुक्ल, कोशलेंद्र सिंह, बृजेंद्रकुमार श्रीवास्तव, रामअभिलाख पांडेय ने संबोधित किया। आरटीओ कार्यालय की गेट मीटिंग को केके श्रीवास्तव के अलावा रामलाल यादव, नौशादअली, दिलीप सिंह, अवधेश सिंह बब्बू आदि ने संबोधित किया।

Tuesday, June 21, 2016

हाथरस : बीएसए दफ्तर को बनाया भूख हड़ताल का अड्डा , कामकाज होता है प्रभावित

हाथरस : बीएसए दफ्तर को बनाया भूख हड़ताल का अड्डा , कामकाज होता है प्रभावित


हाथरस : इन दिनों बीएसए कार्यालय को शिक्षक राजनीति और हड़ताल का स्थल बना लिया गया है। जिस कारण बीएसए और उनके अधीनस्थ कामकाज तक नहीं कर पा रहे हैं। स्कूल खुलने वाले हैं, लेकिन जानबूझकर अधिकारियों को हड़ताल आदि में घेरा जा रहा है। अब जनता जूनियर हाईस्कूल के प्रबंधक अपनी मांगों को मनवाने के लिए सोमवार देर शाम से कार्यालय पर भूख हड़ताल पर बैठ गए। विगत दिनों अपनी प्राथमिक विद्यालय गढ़ी जैनी के रिटायर्ड शिक्षक बीएसए कार्यालय पर भूख हड़ताल पर बैठ गए थे। जिस कारण कामकाज प्रभावित रहा तो वही अधिकारी भी तनाव में रहे। स्वास्थ्य खराब न हो जाए इसलिए पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद रिटायर्ड शिक्षक को वहां से हटाया गया था। बताते चलें कि जब से बीएसए देवेंद्र गुप्ता तबादला होकर यहां से गए हैं। लगातार बीएसए कार्यालय की दिक्कतें बढ़ती जा रही है। शिक्षक नेता जहां राजनीति करने में व्यस्त हैं, तो वहीं बीएसए को अपने पक्ष में लेने के लिए एक दूसरे पर कीचड़ उछालने लग गए हैं। जिस कारण अधिकारी अपना कार्य नहीं कर पा रहे। वहीं, एक शिक्षक संघ के इशारे पर यहां हड़ताल आदि हो रही है। लगता है शिक्षक संघ बीएसए और उनके अधीनस्थों को दबाव में लेना चाह रहे हैं। सोमवार शाम से जनता जूनियर हाईस्कूल के प्रबंधक मुहर सिंह अपनी मांगों को लेकर बीएसए कार्यालय पर भूख हड़ताल पर बैठ गए। प्रबंधक चाहते हैं कि विद्यालय के खाते में उनका नाम जुड़ जाए और नियुक्ति करायी जाए, जबकि मामला कोर्ट में विचाराधीन चल रहा है। विभागीय अधिकारियों की मानें तो उनकी मांगे गलत है। पूर्व के बीएसए प्रबंधक को महत्व नहीं देते थे। प्रबंधक के भूख हड़ताल पर बैठ जाने के बाद अब पुन: शिक्षक नेता अपनी नेतागिरी को चमकाने में लग गए हैं। आखिरकार शिक्षक नेता क्या चाहते हैं। यह अधिकारी अभी समझ नहीं सके हैं, लेकिन इतना तय है कि वे वजह हड़ताल और ज्ञापन आदि देने से विभागीय कार्य जरूर समय से नही हो पा रहा है। बीएसए रेखा सुमन की मानें तो प्रबंधक गलत तरीके से अपनी मांगों को मनवाना चाहता है। भूख हड़ताल पर बैठ जाने की जानकारी इलाका पुलिस को दे दी है।बीएसए आफिस पर भूख हड़ताल पर बैठे प्रबंधक मुहर सिंह।

Thursday, December 24, 2015

देवरिया : दूसरे दिन हड़ताल पर रहे राज्य कर्मचारी , 23 फरवरी से करेंगे अनिश्चितकालीन आंदोलन

देवरिया : दूसरे दिन हड़ताल पर रहे राज्य कर्मचारी , 23 फरवरी से करेंगे अनिश्चितकालीन आंदोलन