DISTRICT WISE NEWS

अंबेडकरनगर अमरोहा अमेठी अलीगढ़ आगरा आजमगढ़ इटावा इलाहाबाद उन्नाव एटा औरैया कन्नौज कानपुर कानपुर देहात कानपुर नगर कासगंज कुशीनगर कौशांबी कौशाम्बी गाजियाबाद गाजीपुर गोंडा गोण्डा गोरखपुर गौतमबुद्ध नगर गौतमबुद्धनगर चंदौली चन्दौली चित्रकूट जालौन जौनपुर ज्योतिबा फुले नगर झाँसी झांसी देवरिया पीलीभीत फतेहपुर फर्रुखाबाद फिरोजाबाद फैजाबाद बदायूं बरेली बलरामपुर बलिया बस्ती बहराइच बागपत बाँदा बांदा बाराबंकी बिजनौर बुलंदशहर बुलन्दशहर भदोही मऊ मथुरा महराजगंज महोबा मिर्जापुर मीरजापुर मुजफ्फरनगर मुरादाबाद मेरठ मैनपुरी रामपुर रायबरेली लखनऊ लख़नऊ लखीमपुर खीरी ललितपुर वाराणसी शामली शाहजहाँपुर श्रावस्ती संतकबीरनगर संभल सहारनपुर सिद्धार्थनगर सीतापुर सुलतानपुर सुल्तानपुर सोनभद्र हमीरपुर हरदोई हाथरस हापुड़
Showing posts with label हेल्पलाइन. Show all posts
Showing posts with label हेल्पलाइन. Show all posts

Saturday, September 12, 2020

पॉलीटेक्निक प्रवेश परीक्षा 12 व 15 सितम्बर को , 28 सितम्बर को आएगा परिणाम

पॉलीटेक्निक प्रवेश परीक्षा 12 व 15 सितम्बर को , 28 सितम्बर को आएगा परिणाम


राज्य मुख्यालय : प्राविधिक शिक्षा परिषद से संबद्ध प्रदेश के 150 राजकीय, 19 अनुदानित एवं 1127 निजी पॉलीटेक्निक संस्थाओं की लगभग 2.40 लाख सीटों पर प्रवेश के लिए आफलाइन परीक्षा 12 सितंबर को सभी 75 जिलों में और आनलाइन परीक्षा 15 सितंबर को 23 जिलों में होगी। परीक्षा की तैयारियों के संबंध में अपर मुख्य सचिव प्राविधिक शिक्षा एस. राधा चौहान ने शुक्रवार को शासनादेश जारी किया। शासनादेश के अनुसार परीक्षा ग्रुप ए में उपलब्ध 1,53,934 सीटों पर प्रवेश के लिए आफलाइन परीक्षा 12 सितंबर को होगी, जिसमें 2,78,145 परीक्षार्थियों के शामिल होने की संभावना है।

 इस परीक्षा के लिए सभी 75 जिलों में 731 केंद्र बनाए गए हैं। यह परीक्षा सुबह 9 बजे से दोहपर 12 बजे तक होगी। इसी दिन परीक्षा ग्रुप ई-1 व ई-2 की प्रवेश परीक्षा अपराह्न 2.30 बजे से 5.30 बजे तक होगी, जिसमें 58758 सीटें हैं। यह परीक्षा 196 केंद्रों पर होगी। इसमें 66306 अभ्यर्थी शामिल होंगे। इसी तरह परीक्षा ग्रुप बी, सी, डी, एफ, जी, एच व आई के लिए आनलाइन परीक्षा 15 सितंबर को सुबह 9 बजे से 12 बजे तक होगी। इस परीक्षा ग्रुप में 16140 सीटें उपलब्ध हैं। परीक्षा में 22597 अभ्यर्थी शामिल होंगे। इसी दिन परीक्षा ग्रुप के-1 से 8 तक की आनलाइन परीक्षा अपराह्न 2.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक होगी।



 इस परीक्षा ग्रुप में 6140 अभ्यर्थी हैं और इसमें 22597 अभ्यर्थी हिस्सा लेंगे। परीक्षा में बायोमैट्रिक हाजिरी लगेगी इस वर्ष प्रत्येक अभ्यर्थी की परीक्षा के समय बायोमैट्रिक उपस्थिति (फेशियल रिकग्नीशन) दर्ज कराने की व्यवस्था की गई है। प्रवेश परीक्षा के प्रवेश पत्र परिषद की वेबसाइट पर उपलब्ध करा दिए गए हैं। परीक्षा केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के निर्देश भी दिए गए हैं। मानक से अधिक तापमान वाले अभ्यर्थियों को अलग कक्ष में परीक्षा देने की व्यवस्था की गई है। संयोजक व जोनल अधिकारी बनाए गए प्राविधिक शिक्षा विभाग ने 12 सितंबर को आफलाइन परीक्षा कराने के लिए सभी जिलों के लिए 75 जिला संयोजक और 251 जोनल अधिकारी बनाए गए हैं, जो परीक्षा का नियंत्रण करेंगे।

 इसके साथ ही विभागीय अधिकारियों को प्रत्येक केंद्र पर केंद्र अधिकारी तथा उड़ाका दल सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया है। परीक्षा के बाद ओएमआर शीट की दूसरी प्रति सील्ड पैकेटों में कोषागार में रखी जाएगी।

28 को घोषित होगा परिणाम :  शासनादेश में कहा गया है कि प्रवेश परीक्षा का परिणाम 28 सितंबर को परिषद की वेबसाइट पर घोषित किया जाएगा। इसके बाद 30 सितंबर से आनलाइन काउंसलिंग शुरू होगी। अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए हेल्प सेंटर स्थापित किए गए हैं। इसका टोल फ्री नंबर 1800-180-6589 है। इसके अलावा 0522-2630678, 2630667 पर भी संपर्क किया जा सकता है।

.....



पॉलीटेक्निक : परीक्षा केंद्र पर छात्र सुधार सकेंगे प्रवेश पत्र की गलती, 12 सितम्बर को प्रस्तावित है पहली प्रवेश परीक्षा।

लखनऊ : प्रदेश के पॉलीटेक्निक संस्थानों में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के साथ फार्मेसी के डिप्लोमा पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए 12 सितम्बर को परीक्षा होगी। राजधानी में इस परीक्षा के लिए करीब 34 केन्द्र बनाए गए हैं। यहां 12 हजार से ज्यादा अभ्यर्थी शामिल होंगे।



ऐसे अभ्यर्थी जिनके प्रवेश पत्र में किसी तरह की गलती हो गई है, उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है। परीक्षा केन्द्र पर सुधार करने का मौका मिलेगा। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद के सचिव एसके वैश्य ने बताया कि प्रवेश परीक्षा के दिन छात्रों को परीक्षा के डेढ़ घंटे पहले बुलाया गया है। सभी केन्द्रों पर सुधार के लिए एक प्रपत्र दिया है। इसमें अभ्यर्थी अपने पिता के नाम से लेकर जन्मतिथि तक में हुई गलती सुधार सकते हैं। नाम में सिर्फ स्पेलिंग ही सुधारी जा सकेगी। एसके वैश्य ने बताया कि अभ्यर्थियों को प्रवेश पत्र की प्रति लेकर जानाहोगा। एक प्रति में कोरोना के लक्षण होने के संबंध में स्वप्रमाणित प्रमाण पत्र देना होगा। ऐसे अभ्यर्थी जिनके प्रवेश पत्र की फोटो स्पष्ट नहीं है, उन्हें प्रवेश पत्र के साथ दो फोटो भी ले जानी होंगी।



अभ्यर्थी रखें ध्यान :  मास्क, सैनिटाइजर की शीशी, रुमाल और पानी की बोतल साथ ले जा सकते है। बोतल पारदर्शी होनी चाहिए। प्रवेश पत्र की दो कॉपी व स्वघोषणा पत्र भी साथ लाना होगा।

........





अगले साल से ऑनलाइन होगी पॉलीटेक्निक प्रवेश परीक्षा, परिषद के सचिव ने की घोषणा।


उत्तर प्रदेश में 12 व 15 सितंबर को होगी पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा पहली बार ऑनलाइन और ऑफलाइन मोड में होगी।

लखनऊ, जेएनएन।  प्रदेशभर के पॉलिटेक्निक संस्थानों में दाखिले के लिए आयोजित होने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा इस बार ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यम से कराई जाएगी। ऑफलाइन मोड में 12 सितंबर को और ऑनलाइन मोड के तहत 15 सितंबर को परीक्षा होगी। संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद का दावा है कि कोरोना संक्रमण से उपजे हालात को ध्यान में रखते हुए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि अगले वर्ष होने वाली पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा पूरी तरह ऑनलाइन माध्यम से ही कराई जाएगी।

संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद के सचिव एसके वैश्य ने बताया कि परिषद की वेबसाइट पर 5 सितंबर को अपलोड किया जा चुका है। परीक्षार्थी प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकते हैं।बॉक्सदो पालियों में होगी परीक्षासचिव एसके वैश्य ने बताया कि परीक्षा के लिए प्रदेश भर में करीब 950 केंद्र बनाए गए हैं। इनमें अधिकांशत पॉलिटेक्निक संस्थान शामिल हैं।




12 सितंबर को होने वाली ऑफलाइन परीक्षा के तहत परीक्षार्थियों को संबंधित केंद्र पर समय से पहले पहुंचना होगा। पहली पाली की परीक्षा सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक और दूसरी पाली की परीक्षा 2:30 से 5:30 बजे के मध्य होगी। पहली पाली के अंतर्गत 3 वर्षीय डिप्लोमा पाठ्यक्रम में दाखिले की चाह रखने वाले अभ्यर्थी शामिल होंगे और दूसरी पाली में 2 वर्षीय फार्मेसी पाठ्यक्रम में दाखिले के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी शामिल होंगे। वहीं ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा 15 सितंबर को दो पालियों में होगी। इसके लिए प्रदेश भर के 21 जिलों में केंद्र बनाए गए हैं।


ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा में सुबह 9 से 12 के तहत ग्रुप बी सी डी एफ जी एच आई ग्रुप की परीक्षाएं होंगी। इसी तरह दूसरी पाली 2:30 से शाम 5:30 बजे तक होगी। इसके तहत के 1 से के 8 ग्रुप की प्रवेश परीक्षा होगी। ऑनलाइन परीक्षा के तहत दोनों पालियों में कुल 47175 परीक्षार्थी सम्मिलित होंगे। वहीं ऑफलाइन परीक्षा के तहत करीब 344451 परीक्षार्थी शामिल होंगे।

ऑनलाइन परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थी
47175- ऑफलाइन परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थी: 344451-परीक्षा के लिए बनाए गए केंद्र : 927-परीक्षा के लिए लगाए गए जोनल अधिकारी: 251-कुल केंद्र व्यवस्थापक:927-ऑनलाइन परीक्षा का समय प्रातः 9 बजे से 12 बजे तक और शाम को 2:30 से 5:30 बजे तक-ऑफलाइन परीक्षा का समय प्रातः 9:00 से 12:00 तक और सायं 2:30 से 5:30 तक-कितने ग्रुपों की होगी परीक्षा:18-कितने जनपदों में होगी परीक्षा ऑफलाइन परीक्षा: 75 जनपद -ऑनलाइन परीक्षा: 24 जनपद

.......

पॉलीटेक्निक : ऑनलाइन परीक्षा के प्रवेश पत्र जारी, बनी हेल्पलाइन।

लखनऊ : प्रदेश के पॉलीटेक्निक संस्थानों में दाखिले के लिए होने वाली परीक्षाओं के प्रवेश पत्र जारी कर दिए गए। प्राविधिक शिक्षा परिषद ने ऑनलाइन परीक्षा के प्रवेश-पत्र सोमवार को वेबसाइट jeecup.nic.in पर उपलब्ध करा दिए हैं। यह परीक्षा 15 सितंबर को प्रस्तावित है।




छात्र अपने लॉगिन से प्रवेश-पत्र को डाउनलोड कर सकते हैं । जो छात्र अपना लॉगिन आईडी एवं पासवर्ड भूल गये हैं वे अपना विवरण भरकर भी प्रवेश -पत्र डाउनलोड कर सकेंगे प्रवेश पत्र के साथ स्वघोषणा -पत्र एवं निर्देश भी अभ्यर्थी डाउनलोड करें । स्वघोषणा पत्र की प्रति परीक्षा के समय केन्द्र पर अभ्यर्थी द्वारा जमा की जाएगी।

उधर 12 सितंबर को प्रस्तावित ऑनलाइन परीक्षा के प्रवेश पत्र बीती 5 सितंबर को ही जारी किए जा चुके हैं।

प्राविधिक शिक्षा परिषद विभिन्न डिप्लोमा इंजीनियरिंग (ग्रुप-ए), डिप्लोमा इन फार्मेसी (ग्रुप-ई 1& ई 2), पाठ्यक्रमों में शैक्षिक सत्र 2020- 21 में अभ्यर्थियों की प्रवेश परीक्षा शनिवार को होगी। पहली पाली में कुल 2,78,145 अभ्यर्थी एवं दूसरी पाली में 66,306 अभ्यर्थी परीक्षा में सम्मिलित हो रहे हैं।

इनको छोड़ कर शेष अन्य डिप्लोमा, पोस्ट डिप्लोमा , पीजी डिप्लोमा पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा 15 सितंबर को प्रदेश के 24 जनपदों में होगी। यह सीबीटी ( कंप्यूटर आधारित टेस्ट ) ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा होगी। जानकारी के अनुसार परीक्षा में करीब 46 हजार अभ्यर्थी शामिल होंगे।




इस हेल्पलाइन पर मिलेगी मदद : जिन अभ्यर्थियों को किसी भी प्रकार की समस्या हो वे परिषद के टोल फ्री नंबर 18001806589 अथवा 0522-2630678 , 2630667 पर सम्पर्क कर अपनी समस्या का निवारण कर सकते हैं अथवा ईमेल jeecup help@gmail.com पर मेल कर सकते हैं।

अभ्यर्थी रखें ध्यान :▪️परीक्षा के लिए अभ्यर्थी 1.30 घण्टा पूर्व परीक्षा केन्द्रों पर पहुंचेंगे।

▪️अभ्यर्थी अपने साथ परीक्षा केन्द्रों पर प्रवेश-पत्र, छोटा सैनिटाईजर , मास्क, पानी की बोतल व लेखन सामग्री लेकर आयेंगे।

▪️अभ्यर्थी को मोबाइल फोन, पर तथा किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक उपकरण को परीक्षा कक्ष में ले जाने की अनुमति नहीं है।

 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Tuesday, July 21, 2020

सतर्कता : स्कूलों में बनाई जाएगी कोविड हेल्प डेस्क

सतर्कता :  स्कूलों में बनाई जाएगी कोविड हेल्प डेस्क


राजधानी लखनऊ  के सभी राजकीय, सरकारी सहायता प्राप्त और निजी स्कूलों में कोविड हेल्प डेस्क बनाना अनिवार्य है। यहां साबुन, सैनिटाइजर, थर्मल स्क्रीनिंग, हैंडवॉश, आगंतुक रजिस्टर की व्यवस्था होनी चाहिए। यह निर्देश जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने सोमवार को सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों के प्रिंसिपल के साथ हुई ऑनलाइन बैठक में जारी किए।


डीआईओएस ने सभी प्रिंसिपल को स्कूल से सेवानिवृत्त शिक्षकों से सम्पर्क करने को कहा। उन्होंने बताया कि इच्छुक शिक्षकों के स्वयंप्रभा चैनल पर प्रसारित हो रहीं 10 वीं और 12वीं की कक्षाओं के लिए लेक्चर की वीडियो रिकॉर्डिंग कराई जाएगी। डीआईओएस ने कहा कि सभी स्कूलों को ऑनलाइन क्लासेज का ब्योरा देना है। जिन विद्यार्थियों के पास मोबाइल, लैपटॉप, कंप्यूटर नहीं हैं, उन्हें पियर ग्रुप से जोड़ें जिससे वह साथी सहपाठी से फोन करके कोर्स की जानकारी ले सकें।

Saturday, April 4, 2020

छात्रों की परेशानी दूर करने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने की हेल्पलाइन पोर्टल की शुरुआत

छात्रों की परेशानी दूर करने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने की हेल्पलाइन पोर्टल की शुरुआत।






 व्हाट्सप के जरिये जुड़ने के लिए क्लिक करें।

Friday, February 22, 2019

फिरोजाबाद : विद्यालयों के नियमित निरीक्षण/पर्यवेक्षण व अवकाश स्वीकृति संबंधी निर्देश सभी बीईओ को जारी, देखें

फिरोजाबाद : विद्यालयों के नियमित निरीक्षण/पर्यवेक्षण व अवकाश स्वीकृति संबंधी निर्देश सभी बीईओ को जारी, देखें।

Friday, February 1, 2019

सीबीएसई : काउंसलर से पूछें बोर्ड परीक्षा का तनाव दूर करने के टिप्स, काउंसिलिंग विंडों आज होगी शुरू, परीक्षा से जुड़ी दिक्कत के समाधान के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी


सीबीएसई : काउंसलर से पूछें बोर्ड परीक्षा का तनाव दूर करने के टिप्स, काउंसिलिंग विंडों आज होगी शुरू, परीक्षा से जुड़ी दिक्कत के समाधान के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी।




Sunday, January 13, 2019

यूपी बोर्ड : परीक्षार्थियों के लिए बनाई गई हेल्पलाइन, परीक्षा से जुड़ी छात्रों की सभी परेशानियों का होगा निवारण

यूपी बोर्ड : परीक्षार्थियों के लिए बनाई गई हेल्पलाइन, परीक्षा से जुड़ी छात्रों की सभी परेशानियों का होगा निवारण।


Friday, January 4, 2019

यूपी बोर्ड : हेल्पलाइन सेवा से दूर करेंगे इंटर विज्ञान छात्रों की शंकाएं, 20 जनवरी को फोन नम्बर 0522- 2254070 पर कर सकेंगे संपर्क

यूपी बोर्ड : हेल्पलाइन सेवा से दूर करेंगे इंटर विज्ञान छात्रों की शंकाएं, 20 जनवरी को फोन नम्बर 0522- 2254070 पर कर सकेंगे संपर्क।


Wednesday, April 19, 2017

बदायूं : फेल हुए बेसिक शिक्षा की हेल्पलाइन नंबर, बिल जमा न होने की वजह से कनेक्शन भी काटा

परिषदीय विद्यालयों की व्यवस्था दुरुस्त रखने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में शुरू की गई हेल्पलाइन सेवा फेल हो गई है। बिल जमा न होने की वजह से कनेक्शन काट दिया गया है।

प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में व्याप्त अव्यवस्थाओं को दूर करने के लिए पूर्व बीएसए आनंद प्रकाश शर्मा ने कार्यालय में हेल्पलाइन सेवा शुरू की थी। बताया गया था कि हेल्पलाइन नंबर पर फोन करके विद्यालयों की किसी भी प्रकार की समस्या की शिकायत की जा सकेगी और सुधार कराया जाएगा। जिसके बाद कुछ दिन तो शिकायतें दर्ज होती रहीं, लेकिन तकरीबन सप्ताह भर बाद सब पुराने र्ढे पर चला गया।

कार्यालय में शिक्षक नेता व अन्य शिकायतकर्ताओं की भीड़-भाड़ को देखते हुए बीएसए प्रेमचंद यादव ने हेल्पलाइन नंबर चालू कराने की बात कही थी। जो अभी तक चालू नहीं कराया गया। वहीं विभागीय जिम्मदारों के अनुसार सत्र शुरू होने के बाद ही बिल जमा कराया जाएगा और शिकायतें प्राप्त की जाएंगी।

Monday, February 20, 2017

संतकबीरनगर : प्रभावी शिक्षा के लिए जारी हेल्पलाइन बेदम, हेल्प लाइन नंबर पर सूचना मिलने के पांच घंटे के भीतर त्वरित कार्रवाई करके समस्या का समाधान करने की थी व्यवस्था

परिषदीय विद्यालयों में पठन-पाठन की स्थिति में सुधार के लिए लगभग एक वर्ष पहले हेल्प लाइन जारी की गई थी। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय द्वारा इस क्रम में आम जन और शिक्षक-शिक्षिकाओं के लिए दो तरह के मोबाइल नंबर दिए गए थे, जिससे आने वाली शिकायतों का एक दिन में ही समाधान हो सके। यह हेल्पलाइन महज सात-आठ माह ही प्रभावी रही और अब यह व्यवस्था ठप पड़ी हुई है। परिषदीय विद्यालयों में मध्याह्न भोजन, व्यवस्था संचालन और शिक्षकों को लेकर आए दिन मिल रही शिकायतों को दूर करने के लिए विभाग द्वारा एक महत्वपूर्ण कदम उठाया गया। तत्कालीन बीएसए महेंद्र प्रताप सिंह ने इसके लिए हेल्प लाइन जारी करने का निर्णय लिया गया था। इसमें शिक्षा व्यवस्था सुधारने के लिए सूचनाओं और शिक्षकों की समस्याओं को लेकर अलग-अलग हेल्पलाइन बनाई गई थी। इसके माध्यम से आम जन व अध्यापक-अध्यापिकाओं द्वारा शिकायत अथवा समस्या दर्ज कराने की सुविधा थी। हेल्प लाइन नंबरों में आम जन के लिए 05547226261 तथा शिक्षक-शिक्षिकाओं के लिए 879584719 नंबर दिए गए, जिस पर शिकायत व सूचना दिए जाने थे। खंड शिक्षा अधिकारी सेमरियावां डा. नरेंद्र सिंह तथा पौली के खंड शिक्षाधिकारी डा. ऋषिकेश सिंह को नोडल अधिकारी बनाकर इसका प्रभावी रुप से क्रियान्वयन करने का जिम्मा सौंपा गया था। हेल्प लाइन पर मध्याह्न भोजन, छात्र और शिक्षकों की उपस्थिति, विद्यालय खुलने-बंद होने, पेयजल, शौचालय, धन उगाही आदि से संबंधित सूचनाएं दर्ज कराया जा सकता था। शिकायत करने वाले का नाम गोपनीय रखने की भी व्यवस्था थी। शिक्षकों द्वारा अपने वेतन और बकाए से संबधित सूचना दर्ज करवाने के बाद उन्हें एक निश्चित समय पर संबंधित समस्या के समाधान के लिए बुलाने का प्रावधान होने से सभी को राहत मिलने लगी थी। इससे कार्यालय में अनावश्यक रूप से जमा होने वाली भीड़ कम होने के साथ ही कामकाज में पारदर्शिता भी बढ़ने लगी थी। महज सात आठ माह तक हेल्पलाइन पर मिलने वाली शिकायतों पर गंभीरता से कार्यवाही हुई। बीएसए महेन्द्र प्रताप सिंह का तबादला होने के साथ ही हेल्पलाइन बेदम हो गई। तब से अब तक न तो इस पर कोई सुनवाई होती और न ही कार्य में पारदर्शिता रह गई है।ने कहा कि परिषदीय विद्यालयों में शिक्षा व्यवस्था सुधार के लिए विभाग पूरी तरह से सक्रिय होकर कार्य कर रहा है। जल्द ही हेल्प लाइन को सक्रिय करके इसपर मिलने वाली शिकायतों पर कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।गजराज यादव, बीएसए

Sunday, December 18, 2016

सीबीएसई स्कूल का छात्र अगर करेगा पिटाई की शिकायत तो बच्चों को पीटने पर स्कूल भरेंगे अर्थदंड, जारी हुआ हेल्पलाइन नम्बर देखें

अगर किसी सीबीएसई स्कूल का छात्र इस बात की शिकायत करता है कि उसके शिक्षक ने उसकी पिटाई की है तो संबंधित शिक्षक के साथ स्कूल पर भी सख्त कार्रवाई होगी। बच्चों को पीटने पर स्कूल प्रबंधन को अर्थदंड के रूप में 25 हजार रुपये तक का जुर्माना देना पड़ सकता है। वहीं अगर यह साबित हो गया कि बच्चे को जानबूझकर मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया गया है तो ऐसा करने वाले शिक्षक की नौकरी भी जा सकती है। सीबीएसई ने इस तरह की शिकायतों के लिए टोल फ्री नंबर जारी किया है। बोर्ड को शिकायत करने की स्थिति में शिकायतकर्ता छात्र या अभिभावक को स्कूल प्रबंधन को भी शिकायत की प्रति उपलब्ध करानी होगी। इससे संबंधित निर्देश सभी स्कूलों के प्राचार्यो को प्रेषित कर दिया गया है। बोर्ड ने यह आदेश एक सर्वे के बाद दिया है। यह सर्वे एक अप्रैल, 2016 से 31 अक्टूबर, 2016 के बीच जमशेदपुर, रांची सहित देश भर के कई प्रमुख शहरों के स्कूलों में कराया गया था।

सर्वे में मुख्य रूप से मिली शिकायतेंशिक्षक बच्चों का नाम काटकर टीसी पकड़ाने की धमकी देते हैं।’परीक्षा में अंक काटने की धमकी दी जाती है।

’बच्चों के अनुसार मैडम उन्हें स्टिक से डराती हैं।1यहां करें शिकायत1स्कूल प्रबंधन अगर बच्चों की पिटाई मामले में कार्रवाई नहीं करता है तो अभिभावक एक सप्ताह के अंदर सीबीएसई से जारी हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर सकते हैं। ये हेल्पलाइन नंबर हैं : -011-22509257, 22509258, 22509259। टोल फ्री नंबर : 1800-11-8002

Friday, November 18, 2016

हरदोई : डीएम ने बीएसए को सभी ब्लाकों के विद्यालयों में आवश्यक मोबाइल नंबर दर्ज कराने का दिया आदेश, स्कूल की दीवारों पर लिखे जाएंगे हेल्प लाइन नंबर


विद्यालयों में बच्चों को बाल अधिकारों का पाठ तो पढ़ाया ही जाएगा, किसी आपात स्थिति में उन्हें मदद लेने के लिए हेल्प लाइन नंबर की भी जानकारी दी जाएगी। हर विद्यालय में चाइल्ड हेल्प लाइन से लेकर नियंत्रण कक्ष तक के नंबर दीवारों पर लिखवाए जाएंगे।

बच्चों के अधिकारों की रक्षा के लिए बाल संरक्षण आयोग तक गठित है और उसी की तरफ से समय समय पर दिशा निर्देश जारी होते रहते हैं। हाल में ही जिलाधिकारी की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गई थी। जिसमें बच्चों को उनके अधिकारों के साथ ही किसी आपात स्थिति का सामना करने के लिए नंबरों की जानकारी देने का निर्णय लिया गया था। डीएम ने बीएसए को सभी ब्लाकों के विद्यालयों में आवश्यक मोबाइल नंबर दर्ज कराने का आदेश दिया था। उसी क्रम में बीएसए मसीहुज्जमा सिद्दीकी ने सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को जारी आदेश में विद्यालयों की दीवारों पर चाइल्ड हेल्प लाइन का नंबर 1098, महिला हेल्प लाइन का नंबर 1090, आशा ज्योति केंद्र का नंबर 181 व पुलिस नियंत्रण कक्ष का नंबर 100 दर्ज कराया जाएगा। बच्चों की आंखों के सामने रोजाना नंबर पड़ेंगे तो वह याद रखेंगे और जरूरत पड़ने पर मदद कर सकेंगे।

Thursday, November 10, 2016

गोरखपुर : बेसिक शिक्षा विभाग का कंट्रोल रूम स्थापित, कंट्रोल रूम का शुभारंभ मुख्य विकास अधिकारी द्वारा, खुद बीएसए दो घंटे कंट्रोल रूम में बैठ सुनेंगे शिकायत

बेसिक शिक्षा विभाग का कंट्रोल रूम बुधवार को विकास भवन में स्थापित हो गया। मुख्य विकास अधिकारी डा. मन्नान अख्तर ने इसका शुभारंभ किया। अब रोजाना खुद बीएसए दो घंटे कंट्रोल रूम में बैठेंगे। मिलने वाली शिकायतों का तत्काल निस्तारण किया जाएगा। इसके लिए जिलाधिकारी ने आवश्यक दिशा-निर्देश जारी कर दिया है। उद्घाटन अवसर पर बीएसए ओम प्रकाश यादव और जिला समन्वयक विवेक जायसवाल आदि विभाग के लोग मौजूद थे।

कंट्रोल रूम में जारी हेल्पलाइन नंबरों से शिकायत और सुझाव मांगे जाएंगे। कोई भी व्यक्त, छात्र, अभिभावक या शिक्षक अपनी बात हेल्पलाइन नंबर 08765959147 या 08765959162 के माध्यम से विभाग तक पहुंचा सकता है। शिकायत और सुझाव पर तत्काल कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। शिकायतों का निपटारा करने के लिए बीएसए रोजाना दो घंटे कंट्रोल रूम में बैठेंगे। निगरानी मुख्य विकास अधिकारी करेंगे। कहीं कोई लापरवाही नहीं चलेगी। सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक (एडी बेसिक) कार्यालय में भी कंट्रोल रूम स्थापित है। गोरखपुर और बस्ती मंडल स्तर की शिक्षा और शिक्षक से संबंधित किसी भी प्रकार की शिकायत और सुझाव कंट्रोल रूम में दर्ज करा सकते हैं। इसके लिए विभाग ने हेल्पलाइन नंबर 0551- 2339276 जारी किया है। शिक्षक और अभिभावकों को सिर्फ एक फोन करना होगा, तत्काल कार्रवाई सुनिश्चित होगी।

Thursday, October 20, 2016

सिद्धार्थनगर : बीएसए दफ्तर में कंट्रोल रूम स्थापित, रेंडम जांची जाएगी उपस्थिति, सभी अध्यापकों को सूचित करने के लिए बीईओ को पत्र जारी


बीएसए दफ्तर में कंट्रोल रूम स्थापित, रेंडम जांची जाएगी उपस्थिति, सभी अध्यापकों को सूचित करने के लिए बीईओ को पत्र जारी

Thursday, September 8, 2016

बुलंदशहर : बीएसए द्वारा शिक्षकों की उपस्थिति तथा जनसामान्य के मदद के लिए किये गए हेल्पलाइन नंबर जारी, दो अनुदेशकों को व्यवस्था संचालन के लिए किया संबद्ध

बुलंदशहर : बीएसए द्वारा शिक्षकों की उपस्थिति तथा जनसामान्य के मदद के लिए किये गए हेल्पलाइन नंबर जारी, दो अनुदेशकों को व्यवस्था संचालन के लिए किया संबद्ध। 

Wednesday, August 31, 2016

वाराणसी : गुणवत्ता अनुश्रवण प्रकोष्ठ (हेल्पलाइन) द्वारा किया गया विद्यालयों का अनुश्रवण, अनिमितता प्राप्त शिक्षकों पर की गयी कार्रवाई, निलंबन या चेतावनी प्राप्त शिक्षकों की सूची देखें

गुणवत्ता अनुश्रवण प्रकोष्ठ (हेल्पलाइन) द्वारा किया गया विद्यालयों का अनुश्रवण, अनिमितता प्राप्त शिक्षकों पर की गयी कार्रवाई,  निलंबन या चेतावनी प्राप्त शिक्षकों की सूची देखें

Saturday, August 13, 2016

एटा : परिषदीय स्कूलों में शैक्षिक सुधार की पहल, बीएसए ने गुणवत्ता प्रकोष्ठ का गठन कर जारी किया अभिभावक हेल्पलाइन नंबर



Wednesday, June 15, 2016

अलीगढ : विद्यालय समयावधि में उपस्थिति और अन्य प्रगति जांचने को जारी किये गए बीएसए कार्यालय के दो हेल्पलाइन नंबर, कॉल रिसीव न करने पर या जवाब न देने पर माना जाएगा अनुपस्थित

अलीगढ : विद्यालय समयावधि में उपस्थिति और अन्य प्रगति जांचने को जारी किये गए बीएसए कार्यालय के दो हेल्पलाइन नंबर, कॉल रिसीव न करने पर  या जवाब न देने पर माना जाएगा अनुपस्थित

Saturday, May 28, 2016

बरेली : परिषदीय विद्यालयों में चाइल्ड हेल्पलाइन नम्बर 1098 दीवार पर अंकित कराने के सम्बन्ध में आदेश जारी

Monday, February 8, 2016

बदायूं : बेमतलब साबित हो रही है बेसिक शिक्षा की हेल्पलाइन,एक महीने में आई मात्र बीस शिकायत,किसी का निस्तारण नही


बेमतलब साबित हो रही है बेसिक शिक्षा की हेल्पलाइन,एक महीने में आई मात्र बीस शिकायत,किसी का निस्तारण नही


कासगंज : अब एक सप्ताह में होंगी शिक्षकों की समस्याएं दूर; हेल्पलाइन पर होगा समाधान